Google Ads का इस्तेमाल करके अपनी वेबसाइट को टैग करना

Google Ads में कुछ सुधार किए गए हैं, ताकि आप बेहतर तरीके से अपनी ऑडियंस के बारे में ज़्यादा जानकारी देख सकें और उन्हें मैनेज कर पाएं. साथ ही, ऑडियंस मैनेजमेंट और ऑप्टिमाइज़ेशन भी आपके लिए आसान हो जाए. इन सुधारों के बारे में यहां बताया गया है:

  • नई ऑडियंस रिपोर्टिंग
    ऑडियंस की डेमोग्राफ़िक्स, सेगमेंट, और बाहर रखी गई ऑडियंस के बारे में ज़्यादा जानकारी वाली रिपोर्ट अब एक ही जगह पर जोड़ी गई है. कैंपेन आइकॉन Campaigns Icon पर क्लिक करें. इसके बाद, "ऑडियंस, कीवर्ड, और कॉन्टेंट" टैब खोलें और ऑडियंस पर क्लिक करें. इस रिपोर्ट पेज से आसानी से अपनी ऑडियंस को मैनेज किया जा सकता है. ऑडियंस रिपोर्टिंग के बारे में ज़्यादा जानें.
  • नए शब्द
    हम ऑडियंस रिपोर्ट और Google Ads में नए शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं. उदाहरण के लिए, अब "ऑडियंस टाइप" को ऑडियंस सेगमेंट और "रीमार्केटिंग" को “आपका डेटा” कहा जाता है. इस ऑडियंस टाइप में मिलते-जुलते, कस्टम, इन-मार्केट, और अफ़िनिटी ऑडियंस (एक जैसी पसंद वाली ऑडियंस) शामिल हैं. ऑडियंस रिपोर्ट में मौजूद शब्दों और वाक्यांशों में हुए अपडेट के बारे में ज़्यादा जानें.
ध्यान दें: ग्लोबल साइट टैग (gtag.js) का नाम अब Google टैग हो गया है. इस बदलाव के बाद, नए और मौजूदा gtag.js इंस्टॉलेशन की मदद से, आपको ज़्यादा सुविधाएं मिलेंगी. साथ ही, डेटा क्वालिटी को बेहतर बनाने और नई सुविधाओं को अपनाने में भी मदद मिलेगी. इसके लिए, आपको अलग से कोई कोड नहीं जोड़ना होगा. Google टैग के बारे में ज़्यादा जानें.

अपनी वेबसाइट या ऐप्लिकेशन में ऑडियंस सोर्स सेट अप करने के लिए, वेबसाइट को Google टैग से टैग करें. इससे, आपको उन लोगों तक पहुंचने में मदद मिलेगी जिन्होंने आपकी वेबसाइट पर विज़िट किया या आपके ऐप्लिकेशन का इस्तेमाल किया. Google टैग, आपके डेटा सेगमेंट का इस्तेमाल करके Google के साइट मेज़रमेंट, कन्वर्ज़न ट्रैकिंग, और प्रॉडक्ट के लिए वेब टैगिंग लाइब्रेरी का काम करता है. यह कोड वाला एक ब्लॉक है, जो आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों को आपके डेटा सेगमेंट में जोड़ता है. इसकी मदद से विज्ञापनों को, वेबसाइट पर आने वाले इन लोगों पर टारगेट किया जा सकता है.

डाइनैमिक रीमार्केटिंग के लिए, आप इवेंट स्निपेट का भी इस्तेमाल करें. यह आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों और साइट पर उनकी कार्रवाइयों के बारे में, Google Ads को सटीक डेटा देता है.

इस लेख में, ट्रैकिंग के लिए स्निपेट का इस्तेमाल करने और Google टैग का इस्तेमाल करके ट्रैकिंग सेट अप करने का तरीका बताया गया है. यहां दिए गए किसी भी सेक्शन पर जाएं:

साथ ही, डाइनैमिक रीमार्केटिंग के लिए, साइट को टैग करने का तरीका जानें. इसके अलावा, ऐप्लिकेशन को डाइनैमिक रीमार्केटिंग के लिए सेट अप करने का तरीका भी जानें.

शुरू करने से पहले

  • आपको अपनी वेबसाइट के कोड के बारे में जानकारी होनी चाहिए. अगर ऐसा नहीं है, तो किसी डेवलपर या तकनीकी बैकग्राउंड वाले व्यक्ति की मदद लें.
  • अगर आपको अपना विज्ञापन दिखाना है, तो इसके लिए आपके डेटा सेगमेंट में वेबसाइट पर आने वाले लोगों की कम से कम तय संख्या की शर्त पूरी होनी चाहिए. आपके डेटा सेगमेंट में आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों और ऐप्लिकेशन उपयोगकर्ताओं का डेटा शामिल होता है.
  • अपनी वेबसाइट को टैग करने के बाद, वेबसाइट पर आने वाले लोग आपके सेट किए गए नियमों के आधार पर डेटा सेगमेंट में अपने-आप जुड़ जाएंगे.
ध्यान दें: Google Ads उन पेजों पर टैग लागू करने की अनुमति नहीं देता है जहां नीति के मुताबिक पाबंदी वाले ऑफ़र मौजूद हों. लोगों के हिसाब से विज्ञापन दिखाने की नीति के बारे में ज़्यादा जानें

निर्देश

Google Ads टैग का इस्तेमाल करके, अपनी वेबसाइट पर आने वाले लोगों और ऐप्लिकेशन के उपयोगकर्ताओं को शामिल करके ऑडियंस सेगमेंट बनाएं

Google Ads में पहली बार ट्रैकिंग सेट अप करने के लिए, आपको अपनी वेबसाइट पर एक कोड स्निपेट जोड़ना होगा: Google टैग और वैकल्पिक इवेंट स्निपेट.

Google टैग इंस्टॉल करने के बाद, यह टैग उन पेजों के बारे में जानकारी कैप्चर करेगा जिन्हें आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोगों ने देखा. इस जानकारी में पेज का यूआरएल और शीर्षक शामिल होते हैं. इस जानकारी का इस्तेमाल आपके डेटा सेगमेंट को बनाने के लिए किया जाता है, जिनमें आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोग और ऐप्लिकेशन उपयोगकर्ता शामिल होते हैं.

आपको अपनी वेबसाइट के हर पेज पर Google टैग इंस्टॉल करना होगा. हालांकि, हर Google Ads खाते के लिए सिर्फ़ एक Google टैग की ज़रूरत है.

इवेंट स्निपेट सेट अप करना

इवेंट स्निपेट का इस्तेमाल करके, वेबसाइट पर आने वाले लोगों का चुनिंदा डेटा और वे क्या-क्या कार्रवाई करते हैं यह जानकारी Google Ads को भेजी जा सकती है. इसमें प्रॉडक्ट देखना, खरीदारी करना, ऑनलाइन फ़ॉर्म भरना, और रजिस्ट्रेशन सेट अप करने जैसे काम शामिल हैं. इवेंट स्निपेट को भेजे गए डेटा का इस्तेमाल, डाइनैमिक रीमार्केटिंग सूचियां बनाने के लिए भी किया जा सकता है.

इवेंट स्निपेट का इस्तेमाल, ऐसी दूसरी कार्रवाइयों का आकलन करने के लिए भी किया जा सकता है जिनकी गिनती डाइनैमिक रीमार्केटिंग इवेंट के तौर पर की जाती है. इस स्निपेट को, साइट के उन पेजों पर इंस्टॉल करें जिनका आकलन करना हो और जहां इवेंट होता है. इनमें ऐसे इवेंट शामिल होते हैं जहां खरीदार किसी रीटेल साइट से खरीदारी करता है या यात्रा की किसी साइट पर एयरलाइन टिकट खोजता है. अलग-अलग तरह के कारोबारों के लिए, इवेंट पैरामीटर के बारे में ज़्यादा जानें

पक्का करें कि उपयोगकर्ताओं को डेटा कलेक्शन के बारे में सही और पूरी जानकारी मिल रही है और जहां कानूनी तौर पर ज़रूरी है वहां उनकी सहमति ली जा रही है.

Google टैग और इवेंट स्निपेट बनाना या उनमें बदलाव करना

  1. Google Ads में साइन इन करें.
  2. ऊपर दाईं ओर मौजूद, टूल आइकॉन Google Ads | टूल [आइकॉन] पर क्लिक करें. इसके बाद, “शेयर की गई लाइब्रेरी” लेबल वाले सेक्शन में, ऑडियंस मैनेजर पर क्लिक करें.
  3. बाईं ओर मौजूद, आपके डेटा सोर्स पर क्लिक करें. इससे सोर्स का एक ग्रुप खुल जाता है. इनकी मदद से, डेटा सेगमेंट और ऑडियंस सेगमेंट बनाए जा सकते हैं.
  4. "Google Ads टैग" कार्ड में, टैग सेट अप करें पर क्लिक करें.
    • अगर आपने टैग पहले से ही सेट अप किया हुआ है, तो “Google Ads टैग” कार्ड में, सबसे ऊपर दाईं ओर मौजूद, तीन बिंदु वाले आइकॉन 3 dot icon पर क्लिक करें. इसके बाद, सोर्स में बदलाव करें चुनें. अगर आपको सिर्फ़ कोड ही मिल रहा है, तो सीधे छठे निर्देश पर जाएं.
  5. चुनें कि टैग किस तरह का डेटा इकट्ठा करेगा: ऐसे सेगमेंट जिनमें आपकी वेबसाइट पर आने वाले लोग और ऐप्लिकेशन के उपयोगकर्ता शामिल हैं या ऐसा डाइनैमिक रीमार्केटिंग जिसमें खास एट्रिब्यूट या पैरामीटर मौजूद हैं.
    • टैग के साथ, यूज़र आईडी पैरामीटर भी शामिल किया जा सकता है. यूज़र आईडी पैरामीटर शामिल करके, वेबसाइट पर आने वाले हर व्यक्ति के लिए टैग में एक यूज़र आईडी पास की जा सकती है, जिससे क्रॉस-डिवाइस लिंक करने जैसी सुविधाएं चालू हो जाती हैं.
    • अगर खास एट्रिब्यूट या पैरामीटर चुना जाता है, तो आपके पास उस कारोबार के टाइप को चुनने का विकल्प होगा जो आपके प्रॉडक्ट और सेवाओं को बेहतर तरीके से दिखाता है.
  6. बनाएं और जारी रखें पर क्लिक करें.
    • किसी मौजूदा टैग के लिए, यह बटन सेव करें और जारी रखें कहेगा.
  7. इंस्टॉलेशन स्क्रीन दिखने पर, Google टैग और इवेंट स्निपेट इस्तेमाल के लिए तैयार हो जाएंगे. आपके पास कोड को कॉपी करने, Google Tag Manager का इस्तेमाल करने, टैग को डाउनलोड करने या किसी वेब डेवलपर को टैग, ईमेल करने का विकल्प होगा.
    • अपनी साइट में रीमार्केटिंग को जोड़ने के लिए, कोड को कॉपी करके वेबसाइट के <head></head> टैग के बीच पेस्ट करें.
      अगर आपको अपनी वेबसाइट पर इवेंट स्निपेट का इस्तेमाल करना है, तो इसे ज्यों-का-त्यों कॉपी करके पेस्ट नहीं करें. इसमें ऐसे प्लेसहोल्डर वैल्यू होते हैं जिन्हें आपके वेब डेवलपर को डाइनैमिक तौर पर तब भरना होता है, जब वे अपने वेब सर्वर में स्निपेट कोड को इंटिग्रेट करते हैं. अपने कारोबार के टाइप के आधार पर इवेंट पैरामीटर इस्तेमाल करने का तरीका जानें
    • Google टैग, आपकी साइट के हर पेज में जुड़ा होना चाहिए. हालांकि, इवेंट स्निपेट सिर्फ़ उन खास पेजों में जोड़ना ज़रूरी है जिन्हें आपको डाइनैमिक रीमार्केटिंग इवेंट के लिए ट्रैक करना है.
      ध्यान दें: अगर आपने Display & Video 360, Search Ads 360, Campaign Manager 360, Google Analytics या किसी और Google Ads खाते का इस्तेमाल करके, Google टैग को पहले से ही सेट अप किया हुआ है, तो इसे अपनी वेबसाइट में दोबारा जोड़ने की ज़रूरत नहीं है. हालांकि, कन्वर्ज़न ट्रैकिंग और आपके डेटा सेगमेंट, दोनों काम करे इसके लिए आपको कॉन्फ़िगरेशन कमांड (कोड का वह हिस्सा, जिसमें आपका कन्वर्ज़न आईडी होता है) जोड़ना होगा. आपको इसे आखिरी टैग </script> के ठीक ऊपर मौजूद, Google टैग के हर इंस्टेंस में जोड़ना होगा. यहां दिए गए उदाहरण में, “TAG_ID” का मतलब आपके खाते का कन्वर्ज़न आईडी है:

      gtag('config', 'TAG_ID');

      अगर आपने ऊपर दी गई सूची में शामिल प्रॉडक्ट के अलावा, दूसरे प्रॉडक्ट का Google टैग लगाया है, तो इसे पसंद के मुताबिक बनाना होगा. इससे Google Ads में आकलन की सुविधा चालू की जा सकेगी. अगर आपने पुराने इवेंट स्निपेट का इस्तेमाल किया है, तो आपको उस नए इवेंट स्निपेट में बदलाव करने का संकेत दिया जा सकता है जो सुझाया गया है.

  8. हो गया पर क्लिक करें.
  9. इसके बाद पुष्टि के लिए "आगे क्या करना है" पूछने वाली स्क्रीन में, हो गया पर फिर से क्लिक करें.
    • ज़रूरी नहीं है: अगर आपने Google Analytics जैसे किसी दूसरे Google प्रॉडक्ट से, Google टैग को पहले जोड़ा है, तो पक्का करें कि आपने ग्लोबल साइट टैग (नीचे हाइलाइट किया गया है) से, टैग के हर मौजूदा इंस्टेंस में 'कॉन्फ़िगरेशन' कमांड जोड़ा है. ध्यान रखें कि "AW-123456789", आईडी का सिर्फ़ एक उदाहरण है. Google टैग बॉक्स में, आपको 'कॉन्फ़िगरेशन' कमांड के इस हिस्से की जगह, खाते का कन्वर्ज़न आईडी डालना होगा.
      <script async src="https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=TAG-ID"> </script>
      <script>
      window.dataLayer = window.dataLayer | | [ ] ;
      function gtag ( ) {dataLayer.push (arguments ) ; }
      gtag ('js' , new Date ( ) ) ;
      gtag ('config', 'TAG-ID') ;
      </script>

बेहतर विकल्प

अपने डेटा का कलेक्शन बंद करना

आप अब लोगों के हिसाब से दिखाए जाने वाले विज्ञापनों के डेटा को इकट्ठा करने की सेटिंग बंद कर सकते हैं. ऐसा आप उन उपयोगकर्ताओं के लिए कर सकते हैं जो पसंद के मुताबिक बनाए गए विज्ञापनों को नहीं देखना चाहते. इसके अलावा, आप अपनी शर्तों को पूरा करने के लिए भी इस सेटिंग को बंद कर सकते हैं. आप अपनी साइट पर आने वाले खास उपयोगकर्ताओं के लिए ग्लोबल साइट टैग में बदलाव कर सकते हैं. साथ ही, लोगों के हिसाब से दिखाए जाने वाले विज्ञापनों के डेटा को इकट्ठा करने की सेटिंग बंद कर सकते हैं. इसके अलावा, अपने Google Ads खाते के ऑडियंस मैनेजर सेक्शन में, किसी खास जगह के रहने वाले उपयोगकर्ताओं को शामिल न करने का विकल्प चुन सकते हैं.

पहले-पक्ष की कुकी सेटिंग बंद करना

यह पक्का करने के लिए कि Google Ads आपके सभी कन्वर्ज़न मेज़र करे, चाहे आपकी साइट पर आने वाले लोग किसी भी ब्राउज़र का इस्तेमाल कर रहे हों, आपका Google टैग आपके डोमेन पर नई कुकी सेट करता है. ये कुकी, आपकी वेबसाइट पर लोगों को लाने वाले विज्ञापन क्लिक के बारे में जानकारी स्टोर करेंगी.

अगर आपको यह पसंद नहीं है कि डेटा टैग आपकी साइट के डोमेन पर पहले-पक्ष की कुकी सेट करे, तो स्क्रिप्ट टैग लोड करने से पहले टैग कॉन्फ़िगरेशन में यहां दी गई लाइन जोड़ें:

var google_conversion_linker = false;

अगर conversion_async.js का इस्तेमाल किया जा रहा है, तो नीचे हाइलाइट किए गए भाग को google_trackConversion कॉल में जोड़ें:

window.google_trackConversion( { google_conversion_linker : false } );

आपको ऐसा करने का सुझाव इसलिए नहीं दिया जाता, क्योंकि इससे कन्वर्ज़न का मेज़रमेंट सटीक नहीं होगा.

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
true
Achieve your advertising goals today!

Attend our Performance Max Masterclass, a livestream workshop session bringing together industry and Google ads PMax experts.

Register now

खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
10589155131088466242
true
खोज मदद केंद्र
true
true
true
true
true
73067