सूचना

नए "मेरा AdMob पेज" की मदद से आपको अपने ऐप्लिकेशन के हिसाब से सुधार के सही सुझाव मिलेंगे और आप अपने खाते को बेहतर तरीके से मैनेज कर पाएंगे. साथ ही, आपको इस पेज से सभी ज़रूरी सेट अप पूरे करने में भी मदद मिलेगी.

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा (एलटीडी) की मदद से, पब्लिशर सीमित तौर पर विज्ञापन दिखा सकते हैं. विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा के तहत, लोगों के हिसाब से विज्ञापन दिखाने के लिए निजी डेटा इकट्ठा करने, शेयर करने, और इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है. ध्यान दें कि:

  • विज्ञापन दिखाने के लिए इस्तेमाल होने वाले हमारे एसडीके टूल के कोड को पहले की तरह ही उपयोगकर्ताओं के मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम पर इंस्टॉल या कैश मेमोरी में सेव किया जाएगा. साथ ही, डिवाइसों पर विज्ञापन क्रिएटिव भेजने की प्रोसेस जारी रहेगी और कुछ मामलों में यह कैश मेमोरी में भी सेव किया जाएगा. बेसिक विज्ञापन दिखाए जाने के दौरान, आईपी पतों जैसे डेटा का इस्तेमाल होता रहेगा. बेसिक विज्ञापन दिखाए जाने के दौरान, आईपी पतों जैसे डेटा का इस्तेमाल होता रहेगा.
  • जब प्रोग्राम के हिसाब से सीमित तौर पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों को दिखाने की सुविधा चालू होगी, उसी समय अमान्य ट्रैफ़िक का पता लगाने के लिए, सिर्फ़ कुकी और लोकल स्टोरेज का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि धोखाधड़ी और गलत इस्तेमाल से बचने के लिए मदद मिल सके. Google को इस्तेमाल के इस उदाहरण के लिए, पब्लिशर की सहमति नहीं चाहिए.

अगर कोई पब्लिशर, IAB टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन में दिए सहमति फ़्रेमवर्क का इस्तेमाल करता है, तो मकसद 1 के लिए सहमति न मिलने पर, हम शर्तें पूरी करने वाले विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाने की कोशिश करेंगे. इसके अलावा, पब्लिशर मैन्युअल तरीके से सिग्नल भेज सकता है. इसके लिए, लागू करने का तरीका देखें. इसके बाद, Google, शर्तें पूरी करने वाले विज्ञापन को सीमित तौर पर दिखाने की कोशिश करेगा, भले ही उपयोगकर्ता किसी भी जगह पर हो.

फ़िलहाल, ऐप्लिकेशन में एलटीडी सिर्फ़ IAB टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन में दिए गए फ़्रेमवर्क के मुताबिक काम करेंगे.

लोकल आइडेंटिफ़ायर का इस्तेमाल

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाने की सुविधा चालू होने पर, दिलचस्पी के हिसाब से विज्ञापन दिखाने की सुविधा और ऐसी सभी सुविधाएं बंद हो जाती हैं जिनमें लोकल आइडेंटिफ़ायर का इस्तेमाल ज़रूरी होता है. इसका मतलब है कि विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाने के लिए, कुछ सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं.

इन सुविधाओं के साथ, विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता

इनमें से किसी भी सुविधा का इस्तेमाल करने वाले लाइन आइटम पर, विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता:

  • दिलचस्पी के मुताबिक किसी भी तरह के विज्ञापन दिखाना
  • ऑडियंस टारगेटिंग
  • खोज में विज्ञापन के असर का मेज़रमेंट
  • विज्ञापन के असर के मेज़रमेंट को लेकर सर्वे
  • रीमार्केटिंग 
  • दिलचस्पी पर आधारित कैटगरी
  • टेलीकॉम कंपनी के आधार पर टारगेट करना
  • बैंडविथ टारगेटिंग
  • ऐसी सुविधाएं जो किसी लोकल आइडेंटिफ़ायर पर निर्भर होती हैं. इनमें शामिल हैं:​​​​​
    • कन्वर्ज़न ट्रैकिंग मेट्रिक
    • इन-ऐप्लिकेशन कन्वर्ज़न ट्रैकिंग
    • यूनीक रीच का मेज़रमेंट
    • “यह विज्ञापन म्यूट करें”
    • क्रम में चलने वाला क्रिएटिव रोटेशन
    • वीडियो क्रिएटिव रोटेशन और स्टोरीबोर्डिंग
    • फ़्रीक्वेंसी कैपिंग
    • कुकी रीच, यूनीक रीच या इन-ऐप्लिकेशन कन्वर्ज़न के बारे में रिपोर्टिंग
    • प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सेटिंग के आधार पर कुछ अमान्य ट्रैफ़िक का पता लगाना

डिमांड के लिए ज़रूरी शर्तें

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा, AdMob में वॉटरफ़ॉल मीडिएशन के साथ काम करती है. सीमित तौर पर विज्ञापन दिखाने का सिग्नल मिलने पर, AdMob में कैंपेन काम नहीं करेंगे. प्रोग्रामैटिक डिमांड और कैंपेन, विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा के साथ इस्तेमाल करने के लिए सिर्फ़ तब उपलब्ध होते हैं, जब पब्लिशर ने प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को चालू किया हो.

प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा

प्रोग्रामैटिक बिडिंग की सुविधा, विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा की ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाली इन्वेंट्री के लिए उपलब्ध है. इस मोड की मदद से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा का इस्तेमाल करने वाला पब्लिशर, पेज के कॉन्टेंट के हिसाब से विज्ञापन प्लेसमेंट के लिए प्रोग्रामैटिक डिमांड कर सकेगा. साथ ही, इस मोड में Authorized Buyers, कैंपेन, एसडीके बिडिंग, और Google की मांग को भी नीलामी में शामिल किया जा सकता है.

अगर पब्लिशर, विज्ञापन दिखाने के इस नए मोड का इस्तेमाल करते हैं, तो Google, सहमति वाले और बिना सहमति वाले ट्रैफ़िक के लिए, अमान्य ट्रैफ़िक का पता लगाने के लिए, सिर्फ़ कुकी और लोकल स्टोरेज का इस्तेमाल करेगा. इसी तरह, प्रोग्रामैटिक डिमांड का इस्तेमाल (और अमान्य ट्रैफ़िक का पता लगाने वाली कुकी और लोकल स्टोरेज का इस्तेमाल) तब किया जाएगा, जब (1) कोई सर्टिफ़ाइड सहमति मैनेजमेंट प्लैटफ़ॉर्म (सीएमपी) मौजूद न हो, (2) विज्ञापन अनुरोध में विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा चालू हो या (3) किसी उपयोगकर्ता ने IAB यूरोप के पारदर्शिता और सहमति फ़्रेमवर्क (टीसीएफ़) के मकसद 1 के लिए सहमति न दी हो, और सीमित तौर पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों के लिए ज़रूरी, सभी अन्य कानूनी आधार के सिग्नल टीसी स्ट्रिंग में मौजूद हों.

अगर कोई सीएमपी मौजूद नहीं है, तो पब्लिशर को ईयू उपयोगकर्ता की सहमति से जुड़ी नीति के सभी ज़रूरी प्रावधानों का पालन करने के लिए कहा जाएगा. इनमें, ऐसे हर पक्ष की साफ़ तौर पर पहचान ज़ाहिर करना होगा जो असली उपयोगकर्ताओं का निजी डेटा इकट्ठा कर सकता है, उसे हासिल कर सकता है या उसका इस्तेमाल कर सकता है. साथ ही, असली उपयोगकर्ताओं को इस बारे में ज़रूरी जानकारी के साथ-साथ उसका ऐक्सेस भी देना होगा, जिससे उन्हें पता चल सके कि वह पक्ष उन उपयोगकर्ताओं का निजी डेटा कैसे इस्तेमाल करता है.

प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा का इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. सहमति लेने के लिए पब्लिशर जिन टूल का इस्तेमाल करेंगे, कानूनी तौर पर उनकी ज़िम्मेदारी पार्टनर की ही होगी. इसमें, ऑनलाइन विज्ञापन में कुकी और लोकल स्टोरेज का इस्तेमाल करने की सहमति भी शामिल है. इस मोड का इस्तेमाल करना है या नहीं, इसके लिए पब्लिशर को ज़रूरी नियमों और लागू दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए, अपनी कानूनी टीम के साथ काम करना चाहिए.

ऐसे पब्लिशर जो उपयोगकर्ता की सहमति के बिना, अमान्य ट्रैफ़िक का पता लगाने वाली कुकी और लोकल स्टोरेज का इस्तेमाल नहीं करना चाहते, उन्हें इस सुविधा से ऑप्ट-आउट कर लेना चाहिए. हालांकि, इसके लिए उन्हें AdMob के यूज़र इंटरफ़ेस में जाकर इस सुविधा को बंद करना होगा.

प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा बंद करें

प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा, डिफ़ॉल्ट रूप से चालू होती है. हालांकि, इसे किसी भी समय बंद किया जा सकता है. प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को बंद करने के लिए, यह तरीका अपनाएं:

  1. https://apps.admob.com पर अपने AdMob खाते में साइन इन करें.
  2. सेटिंग and then खाते की जानकारी सेक्शन पर जाएं.
  3. प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा बंद करें.
अगर किसी ऐप्लिकेशन को AdMob और Ad Manager, दोनों में मैनेज किया जाता है, तो यह सेटिंग, प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को बंद कर देगी. भले ही, Ad Manager की सेटिंग कुछ भी हो.

प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को चालू करें

अगर विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा के लिए, प्रोग्रामैटिक बिडिंग पहले से बंद है, तो उसे चालू करने के लिए यह तरीका अपनाएं:

  1. https://apps.admob.com पर अपने AdMob खाते में साइन इन करें.
  2. सेटिंग and then खाते की जानकारी सेक्शन पर जाएं.
  3. प्रोग्राम के हिसाब से विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को चालू करें.

क्रिएटिव के लिए ज़रूरी शर्तें

मीडिएशन

मीडिएशन के लिए, Google के ईयू उपयोगकर्ता की सहमति से जुड़े टूल का इस्तेमाल करके, लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापनों पर, क्रिएटिव से जुड़ी कोई नीति लागू नहीं होगी. साथ ही, मीडिएशन के ज़रिए इस्तेमाल किए जाने वाले एलटीडी क्रिएटिव के लिए भी यही सुविधा लागू की जाएगी. आम तौर पर, टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन के तहत सभी क्रिएटिव, लागू नीतियों का पालन करते हैं. फिर भी, हम यह जांच करते हैं कि विज्ञापन टेक्नोलॉजी से जुड़ी सेवा देने वाली कंपनियां और दूसरे प्रोग्रामैटिक डिमांड सोर्स, Google की नीति का उल्लंघन तो नहीं कर रहे हैं. साथ ही, हम यह भी जांच करते हैं कि डेटा प्रोसेस करने के लिए उनके पास कम से कम एक कानूनी आधार ज़रूर हो.

Implementation

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को लागू करने के लिए, यूज़र इंटरफ़ेस में कोई नया कंट्रोल नहीं है. पब्लिशर यह बता सकते हैं कि विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को लागू किया जाए या नहीं.
  • GMA SDK: पब्लिशर, Android और iOS पर विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा चालू करने के लिए, प्लैटफ़ॉर्म के शेयर किए गए स्टोरेज में, gad_has_consent_for_cookies कुंजी का इस्तेमाल कर सकते हैं.
IAB टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन का इस्तेमाल करने वाले पब्लिशर के लिए, हम टीसी स्ट्रिंग में मौजूद कुकी या आईडी सहमति सिग्नल (मकसद 1) का पालन करेंगे. विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने का अनुरोध तब किया जाएगा, जब मकसद 1 के लिए सहमति न हो, लेकिन मकसद 2, 7, 9, और 10 के लिए कानूनी हित या सहमति ले ली गई हो.
विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाने के अनुरोधों के लिए, इन-ऐप्लिकेशन कन्वर्ज़न की रिपोर्टिंग उपलब्ध नहीं होगी. हालांकि, विज्ञापन दिखाने पर पाबंदी वाले डाइमेंशन का इस्तेमाल करके, विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाने के इंप्रेशन की रिपोर्टिंग पाई जा सकती है.
 

सहमति मैनेजमेंट प्लैटफ़ॉर्म के लिए ज़रूरी कार्रवाई

निजता और मैसेज सेवा का इस्तेमाल करने वाले पब्लिशर, IAB टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन का इस्तेमाल करके सहमति जताने वाले मैसेज बनाकर भेज सकते हैं.

विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा को सपोर्ट करने के लिए, IAB टीसीएफ़ के 2.2 वर्शन के दूसरे सहमति मैनेजमेंट प्लैटफ़ॉर्म (सीएमपी) को कुछ भी करने की ज़रूरत नहीं है. मौजूदा टीसी स्ट्रिंग में, विज्ञापन दिखाने का सही मोड चुनने के लिए सभी ज़रूरी सिग्नल शामिल हैं. अगर विज्ञापन टेक्नोलॉजी से जुड़ी सेवा देने वाली किसी कंपनी के तौर पर, Google की ये शर्तें पूरी की जाती हैं, तो हम सीमित तौर पर दिखाए जाने वाले विज्ञापन दिखाएंगे:

  • मकसद 1 के लिए सहमति नहीं है
  • मकसद 2, 7, 9, और 10 के लिए कानूनी हित या सहमति होनी चाहिए

पसंद के मुताबिक सहमति टूल का इस्तेमाल करने के लिए, कुकी के लिए सहमति लेना ज़रूरी है. अगर उपयोगकर्ता सहमति नहीं देता है, तो आईडी के बिना विज्ञापन दिखाने का सिग्नल देने के लिए, नए एपीआई का इस्तेमाल करना होगा.

पब्लिशर के पास विज्ञापन दिखाने के ये मोड उपलब्ध रहेंगे:

विज्ञापन दिखाने वाला मोड दिलचस्पी के मुताबिक विज्ञापन लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापन विज्ञापनों को सीमित तौर पर दिखाए जाने की सुविधा
प्रोग्रामेटिक नॉन-प्रोग्रामेटिक
अमान्य ट्रैफ़िक और धोखाधड़ी से सुरक्षा इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है
Google की प्रोग्राम के हिसाब से डिमांड इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है
तीसरे पक्ष के खरीदारों की प्रोग्रामैटिक डिमांड इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल किया जा सकता है इनका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
true
Show your support to promote DEI in Gaming by turning intentions into action!

Check out the newly launched Diversity in Gaming website, where you can find video stories and written pledges from global gaming developers. This campaign centers on 3 pillars: diverse teams, diverse games and diverse audiences showing how diversity is not just good for gamers, but for business as well. Show your support by taking the pledge to promote DEI in Gaming and share it on social!

Learn More

खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू