क्लोकिंग

क्लोकिंग, मानव उपयोगकर्ताओं और खोज इंजनों को भिन्न सामग्री या URL प्रस्तुत करने की प्रक्रिया है. क्लोकिंग को Google के वेबमास्टर दिशानिर्देशों का उल्लंघन माना जाता है, क्योंकि यह हमारे उपयोगकर्ताओं को उनके अपेक्षित परिणामों के बजाए भिन्न परिणाम देता है.

क्लोकिंग के कुछ उदाहरणों में निम्न शामिल हैं:

  • उपयोगकर्ताओं को चित्रों या फ़्लैश का कोई पृष्ठ दिखाते समय खोज इंजन के लिए HTML लेख वाले पृष्ठ प्रदर्शित करना
  • जब पृष्ठ का अनुरोध करने वाला उपयोगकर्ता-एजेंट एक खोज इंजन हो, न कि कोई मानव विज़िटर, केवल तब पृष्ठ पर लेख या कीवर्ड शामिल करना

अगर आपकी साइट ऐसी तकनीकों का उपयोग करती है, जिन्हें एक्सेस करने में खोज इंजनों को कठिनाई हो रही हो, जैसे कि JavaScript, चित्र या फ़्लैश, तो क्लोकिंग के बिना उस सामग्री को खोज इंजनों और उपयोगकर्ताओं के लिए एक्सेस योग्य बनाने हेतु हमारे सुझाव देखें.

अगर कोई साइट हैक हो जाती है, तो ऐसे में यह सामान्य बात है कि हैकर, साइट स्वामी के लिए हैक का पता लगाने की प्रक्रिया को कठिन बनाने हेतु क्लोकिंग का उपयोग करेगा. हैक की गई साइटों के बारे में और पढ़ें.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?