नए "मेरा AdMob पेज" की मदद से आपको अपने ऐप्लिकेशन के हिसाब से सुधार के सही सुझाव मिलेंगे और आप अपने खाते को बेहतर तरीके से मैनेज कर पाएंगे. साथ ही, आपको इस पेज से सभी ज़रूरी सेट अप पूरे करने में भी मदद मिलेगी.

AdMob और AdSense कार्यक्रम की नीतियां

टीसीएफ़ के वर्शन 2.0 को लागू करने में आने वाली समस्या का हल

IAB Europe ने पारदर्शिता और सहमति फ़्रेमवर्क का 2.0 वर्शन तैयार किया है. इसे IAB Tech Lab और इसकी सदस्य कंपनियों के साथ मिलकर बनाया गया है. Google पर, टीसीएफ़ का 2.0 वर्शन अब पूरी तरह काम करता है.

Google, प्रकाशकों को उन गड़बड़ियों की रिपोर्ट देगा जिनका हमने पता लगाया है. इससे उन्हें, IAB यूरोप के पारदर्शिता और सहमति फ़्रेमवर्क के 2.0 वर्शन के लॉन्च से जुड़ी गड़बड़ियों और गलत कॉन्फ़िगरेशन को मैनेज करने के लिए समय मिल सकेगा. इन गड़बड़ियों को ठीक करने के लिए, प्रकाशकों को 150 दिन की छूट की अवधि भी मिलेगी.


इस लेख में, टीसीएफ़ के 2.0 वर्शन को लागू करने में होने वाली गड़बड़ियों को ठीक करने के बारे में ज़्यादा जानकारी दी गई है. इसमें ये भी शामिल हैं:


अपडेट की गई सलाह

अपडेट

  • हर 13 महीने में उपयोगकर्ता की फिर से सहमति लेने के लिए, टीसीएफ़ की ज़रूरी शर्तों के बारे में रिमाइंडर: 

    You are required by IAB TCF policy to remind users about their consent choices at least once every 13 months. If the consent decision is more than 13 months old, the TC string will no longer be considered valid by Google and Google will not serve ads to that user. We suggest that you work with your CMP to remind users about their consent choices before the 13-month limit is reached.

  • गड़बड़ी टाइप 3.2 को हटा दिया गया है. पिछले 13 महीनों में अपडेट की गई टीसी स्ट्रिंग मान्य रहेंगी.

सामान्य गड़बड़ियों के लिए समाधान

Ad Manager, AdSense, और AdMob में आम तौर पर होने वाली गड़बड़ियों को हल करने के लिए, नीचे दिया गया तरीका अपनाएं:

काम न करने वाली टीसी स्ट्रिंग का इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ताओं से, दोबारा सहमति लेने पर विचार करें
(गड़बड़ियां 1.1, 3.1, 4.1, 5.1, 5.2, और 6.1)

मिलती-जुलती गड़बड़ी(गड़बड़ियां)

गड़बड़ी 1.1. यह सलाह 3.14.1, 5.1, 5.2, और 6.1 गड़बड़ियों पर भी लागू हो सकती है.

अपडेट की गई सलाह

उपयोगकर्ताओं से, सहमति देने के लिए फिर से अनुरोध करें.

वजह

अगर पब्लिशर ने पहले ही आउट-ऑफ़-बैंड, दुनिया भर में लागू होने वाली स्ट्रिंग, अमान्य सीएमपी आईडी (टेस्टिंग से), अमान्य जीवीएल आईडी (टेस्टिंग से) इस्तेमाल कर लिए हैं या फिर Google को सही तरीके से सहमति वाले वेंडर के तौर पर नहीं रखा गया है, तो उन्हें सहमति देने के लिए फिर से अनुरोध करने का फ़ायदा मिलेगा.

गड़बड़ियां 1.1, 1.2, 1.3: यह देखना ज़रूरी है कि क्या ये गड़बड़ियां बड़ी संख्या में ट्रैफ़िक दिखाती हैं. अगर ऐसा है, तो सीएमपी से जुड़ी कोई समस्या हो सकती है. साथ ही, पक्का करें कि ज़रूरी मकसद के साथ-साथ, कानूनी हित और सहमति वाले वेंडर (वेंडर आईडी 755) होने के तौर पर, Google को सहमति मिली हो.

IAB के स्टैंडर्ड

IAB के स्टैंडर्ड के मुताबिक, सीएमपी 13 महीने के लिए सहमति वाली स्ट्रिंग को कैश मेमोरी में डाल सकता है.

कुछ सीएमपी ने पहले, सहमति की पहली तारीख डाली है और फिर उसे आगे बढ़ाया है; यह सही नहीं है. सहमति की तारीख, हर बार किसी खास सहमति स्ट्रिंग की नई तारीख होनी चाहिए.
सुझाया गया: अपने सीएमपी के लिए, 500 मि॰से॰ में AddEventHandler से जवाब पाएं
(गड़बड़ियां 2.1a, 2.1b, 2.2a, 2.2b, और 2.2c)

मिलती-जुलती गड़बड़ी(गड़बड़ियां)

गड़बड़ी 2.1a. यह सलाह गड़बड़ी 2.1b, 2.2a 2.2b, और 2.2c पर भी लागू हो सकती है.

अपडेट की गई सलाह

हालांकि, अब टाइम आउट की ज़रूरत नहीं है. इसलिए, हमारा सुझाव है कि सीएमपी लागू करने के तरीकों को बारीकी से देखें. इसके बाद, पक्का करें कि वे EventEventListener getTCData को तुरंत जवाब दें. 

अगर सीएमपी से जवाब नहीं मिलता, तो अनुरोध से कमाई नहीं की जा सकती.

वजह

Google, यह बताते हुए IAB की शर्तों का पालन करता है कि सीएमपी को AddEventListener के फ़ंक्शन का तुरंत जवाब देना चाहिए. अगर सीएमपी से तुरंत जवाब नहीं मिलता है, तो हो सकता है कि अनुरोध से कमाई न की जा सके.

इसके अलावा, सीएमपी के जवाब, इवेंट की उस चेन का हिस्सा हैं जो इस बात पर असर डालते हैं कि विज्ञापन अनुरोध कितनी जल्दी किया जा सकता है. पेज लोड होने और विज्ञापन अनुरोधों के बीच के समय में कमी होने का मतलब है कि पब्लिशर के लिए इंप्रेशन कम हो गए हैं. 

IAB के स्टैंडर्ड

IAB के लागू किए जाने वाले स्टैंडर्ड: IAB AddEventListener के स्टैंडर्ड (GitHub पर)

AddEventListener कॉलबैक फ़ंक्शन का, मौजूदा टीसी डेटा के साथ रजिस्ट्रेशन होते ही उसे तुरंत कॉल किया जाना चाहिए, भले ही सीएमपी का स्टेटस loading दिखा रहा हो और उसमें पूरा टीसी डेटा मौजूद न हो. इससे, कॉलिंग स्क्रिप्ट अपने रजिस्टर किए गए listenerId को ऐक्सेस कर सकता है. इसके अलावा, हर टीसी स्ट्रिंग में होने वाले बदलाव पर, कॉलबैक को तब तक कॉल किया जाना चाहिए, जब तक कि RemoveEventListener का इस्तेमाल करके उसे हटा नहीं लिया जाता.

गड़बड़ी की रिपोर्ट

अगर हमें पता चलता है कि उपयोगकर्ताओं की एक या उससे ज़्यादा साइटों या ऐप्लिकेशन की टीसी स्ट्रिंग पर कोई समस्या है, तो हम पब्लिशर को प्रॉडक्ट के यूज़र इंटरफ़ेस में इसकी जानकारी देंगे. खाते के “ईयू (यूरोपीय संघ) के, उपयोगकर्ता की सहमति” वाले पेज पर, पब्लिशर टीसीएफ़ गड़बड़ी की रिपोर्ट डाउनलोड करें पर क्लिक करके, गड़बड़ी की पूरी जानकारी वाली रिपोर्ट डाउनलोड कर सकते हैं. इस रिपोर्ट में उन गड़बड़ियों की जानकारी मिलेगी जिनका पता पिछले सात दिनों में लगाया गया है.

यह रिपोर्ट सिर्फ़ तब उपलब्ध होती है, जब पिछले सात दिनों में गड़बड़ियां मिली हों.
“ईयू (यूरोपीय संघ) के, उपयोगकर्ता की सहमति” वाले पेज और टीसीएफ़ की गड़बड़ी वाली रिपोर्ट को ऐक्सेस करने के लिए, ये तरीका अपनाएं: 
  • Ad Manager: एडमिन and then ईयू उपयोगकर्ता की सहमति पर क्लिक करें.
  • AdMob और AdSense: ब्लॉक करने के कंट्रोल and then ईयू उपयोगकर्ता की सहमति पर क्लिक करें.

रिपोर्ट में, मिलने वाली हर गड़बड़ी के बारे में नीचे दी गई सारी जानकारी शामिल होगी: 

  • डोमेन/MobileAppID: वह साइट या मोबाइल ऐप्लिकेशन जिसे गलत तरीके से कॉन्फ़िगर किया गया है.
  • विज्ञापन यूनिट पाथ: गड़बड़ी से जुड़ी विज्ञापन यूनिट.
  • गड़बड़ी कोड: गड़बड़ी के लिए तय किया गया कोड. 
  • गड़बड़ी की संख्या: गड़बड़ी वाली उन क्वेरी की संख्या जो पिछले हफ़्ते देखी गई थीं.
  • गड़बड़ी की पिछली तारीख: वह तारीख जिसमें पिछली बार गड़बड़ी मिली थी. 

पब्लिशर, रिपोर्ट में शामिल गड़बड़ी के कोड का इस्तेमाल करके, नीचे समस्या हल करने की जानकारी देने वाली टेबल में दिए गए सुझावों को अपना सकते हैं. इन सुझावों की मदद से, वे ज़रूरत के हिसाब से कार्रवाई कर सकते हैं और गड़बड़ियां हल कर सकते हैं.

समस्या का हल

गलत तरीके से कॉन्फ़िगर किए गए IAB टीसीएफ़ के 2.0 वर्शन के इंटिग्रेशन से जुड़ी समस्या को हल करने में पब्लिशर की मदद के लिए, हमने कुछ टेबल बनाई हैं. इनमें टीसी स्ट्रिंग में आम तौर पर होने वाली गड़बड़ियां शामिल की गई हैं. साथ ही, इनमें समस्या का हल करने से जुड़े सुझाव भी दिए हैं. ये टेबल नीचे दी गई हैं.

विज्ञापन अनुरोध के लेवल पर होने वाली समस्याओं के साथ-साथ, सिस्टम की परफ़ॉर्मेंस को समझने के लिए, टेबल का इस्तेमाल करें.

सहमति लेने की सीमित स्थितियां

स्थिति 1.1 और 1.3 में, विज्ञापन अनुरोध हमेशा खाली छोड़ दिए जाते हैं और उन्हें भरा नहीं जाता है. स्थिति 1.2 में ऐसा नहीं होता. इन तीनों स्थितियों को हमेशा गलत तरीके से कॉन्फ़िगर की गई गड़बड़ियों के मुकाबले ज़्यादा अहमियत दी जाएगी, भले ही किसी दिए गए अनुरोध में कई गड़बड़ियां हों.

स्थिति ब्यौरा आपके लिए सुझाई गई ज़रूरी कार्रवाई
1.1 वेंडर के तौर पर, Google को सहमति या कानूनी हित के तहत अनुमति नहीं है. विज्ञापन अनुरोध छोड़ दिए जाते हैं और उन्हें भरा नहीं जाता. पक्का करें कि क्या उपयोगकर्ता ने जान-बूझकर, Google को वेंडर के तौर पर अस्वीकार किया है या सीएमपी को लागू करने में हुई गड़बड़ियों की वजह से ऐसा हुआ है या फिर इसकी वजह पब्लिशर की पाबंदियां हैं.
1.2 मकसद 1 के लिए, ईईए (यूरोपीय आर्थिक क्षेत्र) के देशों और यूके (यूनाइटेड किंगडम) को सहमति नहीं है.

यह पक्का करें कि क्या उपयोगकर्ता ने मकसद 1 को जान-बूझकर अस्वीकार किया है या ऐसा, सीएमपी लागू करने में होने वाली गड़बड़ियों की वजह से है.

जर्मन पब्लिशर को यह पक्का करना चाहिए कि अगर वे उपयोगकर्ताओं से सहमति के लिए नहीं कह रहे हैं, तो वे PublisherCC और PurposeOneTreatment फ़ील्ड को सही तरीके से सेट कर रहे हैं.
1.3 मकसद 1 के लिए सहमति है, लेकिन Basic Ads के लिए कानूनी आधार मौजूद नहीं है. विज्ञापन अनुरोध छोड़ दिए जाते हैं और उन्हें भरा नहीं जाता.

पक्का करें कि क्या उपयोगकर्ता ने जान-बूझकर दूसरे मकसद के लिए, कानूनी हितों को अस्वीकार किया है या सीपीएम को लागू करने में हुई गड़बड़ियों की वजह से ऐसा हुआ है.

गलत तरीके से कॉन्फ़िगरेशन

गलत तरीके से कॉन्फ़िगरेशन की वजह से गड़बड़ियां होने पर, विज्ञापन अनुरोध नहीं भरे जाएंगे.

गड़बड़ी ब्यौरा आपके लिए सुझाई गई ज़रूरी कार्रवाई
2.1a सीएमपी की स्थिति stub, loading या error की वजह से, टैग या SDK टूल को टीसी स्ट्रिंग नहीं मिल रही है.

अगर आप विज्ञापनों का अनुरोध करने के लिए, मैन्युअल तरीके से फ़ंक्शन का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो पक्का करें कि नतीजा getTCData TCData.eventStatus = 'tcloaded' या 'cmpuishown' + 'useractioncomplete' हो. इससे पता चलता है कि सीएमपी, उपयोगकर्ता को सहमति से जुड़े विकल्प देने के लिए तैयार है.

अगर आप विज्ञापन का अनुरोध करने के लिए, मैन्युअल तरीके से फ़ंक्शन का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, तो अपने सीएमपी के साथ काम करें, ताकि यह पक्का हो सके कि वे getTCData के लिए काम करें और उन्हें नतीजे के तौर पर TCData.eventStatus = 'tcloaded' या 'cmpuishown' + 'useractioncomplete' दिखे. इससे यह पता चलता है कि उपयोगकर्ता की सहमति, एपीआई से इस्तेमाल के लिए तैयार है.

2.1b

दोनों शर्तें तब पूरी होती हैं, जब:

  • सीएमपी सेट & gdpr=1
  • &gdpr_consent= अनुरोध में मौजूद है. हालांकि, TC स्ट्रिंग खाली है.
अपने सीएमपी को यह पक्का करने के लिए कहें कि उनके एपीआई सही तरीके से लागू किए गए हों. ये IAB टीसीएफ़ की खास तकनीकी जानकारी के आधार पर लागू किए जाने चाहिए.
2.2a

इस टीसी स्ट्रिंग को पढ़ा और समझा नहीं जा सकता, क्योंकि इसे Base64 कोड में नहीं बदला गया है.

उदाहरण: “2”

सीएमपी (या पब्लिशर) को gdpr_consent= पैरामीटर में, सिर्फ़ base64 कोड में बदला हुआ डेटा भेजना चाहिए.
2.2b

डीकोड करने की गड़बड़ी की वजह से, टीसी स्ट्रिंग पढ़ा और समझा नहीं जा सकता.

उदाहरण: इसमें बिट की गलत संख्या शामिल है

सीएमपी को टीसी स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना होगा.
2.2c

डेटा की गड़बड़ी की वजह से, टीसी स्ट्रिंग को पढ़ा और समझा नहीं जा सकता.

उदाहरण: टाइमस्टैंप सही नहीं है, वेंडर आईडी ज़्यादा बड़ा है
 

सीएमपी को टीसी स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना होगा.

टीसी स्ट्रिंग से जुड़ी गड़बड़ियां

किसी विज्ञापन अनुरोध से जुड़ी टीसी स्ट्रिंग में होने वाली समस्याएं. विज्ञापन अनुरोध छोड़ दिए जाएंगे और उन्हें भरा नहीं जाएगा.

गड़बड़ी ब्यौरा आपके लिए सुझाई गई ज़रूरी कार्रवाई
3.1 अमान्य सीएमपी आईडी.

यह पक्का करें कि IAB से पुष्टि किए गए सीएमपी का इस्तेमाल किया जा रहा है. साथ ही, यह भी देखें कि उसका आईडी, टीसी स्ट्रिंग में सही तरीके से सेट किया गया है.

टीसी स्ट्रिंग जनरेट करने के दौरान, अगर कोई सीएमपी मान्य था, लेकिन बाद में IAB ने उस टीसी स्ट्रिंग को मिटा दिया, तो ऐसी स्थिति में आपको मान्य सीएमपी का इस्तेमाल करके, फिर से सहमति लेनी होगी.

3.2 अब इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. पुराना मतलब: टीसी स्ट्रिंग, 13 महीने से ज़्यादा पुरानी हो गई है. सीएमपी को पुरानी टीसी स्ट्रिंग मिटा देनी चाहिए और फिर से सहमति लेनी चाहिए.
3.3 टीसी स्ट्रिंग को अपडेट किए हुए 13 महीने से ज़्यादा हो गए हैं. सीएमपी को पुरानी टीसी स्ट्रिंग मिटा देनी चाहिए और फिर से सहमति लेनी चाहिए.

फिर से सहमति लेनी ज़रूरी है

उपयोगकर्ता से सहमति लेनी ज़रूरी है. अगर आपको किसी उपयोगकर्ता से 13 महीने पहले या Google के जीवीएल में जुड़ने से पहले सहमति मिली है, तो आपको उपयोगकर्ता की सहमति फिर से लेनी होगी. ऐसा न करने पर, विज्ञापन अनुरोध छोड़ दिए जाएंगे और उन्हें भरा नहीं जाएगा.

गड़बड़ी ब्यौरा सुझाई गई कार्रवाई
4.1 टीसी स्ट्रिंग, जीवीएल के उस वर्शन का इस्तेमाल करके जनरेट की गई थी जिसमें Google अभी तक शामिल नहीं था. जीवीएल के अपडेट किए गए वर्शन का इस्तेमाल करके फिर से सहमति पाएं, जिसमें अब Google शामिल है.

ग्लोबल स्कोप और आउट-ऑफ़-बैंड स्कोप

ग्लोबल स्कोप और आउट-ऑफ़-बैंड स्कोप से जुड़ी समस्याएं (Ad Manager, AdMob, AdSense). अगर टीसी स्ट्रिंग से “आउट-ऑफ़-बैंड” या “ग्लोबल स्कोप” का पता चलता है, तो विज्ञापन नहीं दिखेंगे.

गड़बड़ी ब्यौरा सुझाई गई कार्रवाई
5.1 TC स्ट्रिंग में आउट-ऑफ़-बैंड की सहमति की अनुमति है. अपने सीएमपी को, TC स्ट्रिंग से आउट-ऑफ़-बैंड सिग्नल हटाने के निर्देश दें.
5.2 ग्लोबल स्कोप वाले TC स्ट्रिंग. सीपीएम को, टीसी स्ट्रिंग को अपडेट करने के निर्देश दें, ताकि वह खास सेवा देने वाला बन सके.

विज्ञापनों का लगातार दिखना

मौजूदा सेटिंग का इस्तेमाल करके, लोगों के हिसाब से दिखाए जाने वाले और लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापन दिखाए जाते रहेंगे. इससे, कमाई पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

गड़बड़ी ब्यौरा सुझाई गई कार्रवाई
6.1 TC स्ट्रिंग का वर्शन 1 या 1.1 (वर्शन 1.0 की स्ट्रिंग) है. सीएमपी को टीसीएफ़ के 2.0 वर्शन की स्ट्रिंग भेजनी होगी.

Google समस्याओं को हैंडल करेगा

इन समस्याओं के होने पर, Google ज़रूरत के हिसाब से खुद ही इन्हें कम करेगा. साथ ही, टीसीएफ़ को सामान्य तरीके से हैंडल करने पर ध्यान देगा.

गड़बड़ी ब्यौरा सुझाई गई कार्रवाई
7.1 gdprAppies एक मान है, जो या तो तय नहीं है या अमान्य है या साफ़ तौर पर सेट नहीं है. हालांकि, एक मान्य TC स्ट्रिंग मौजूद है. लागू नहीं
7.2 TC स्ट्रिंग, जीवीएल वर्शन के साथ जनरेट की गई थी. यह वर्शन, मौजूदा वर्शन से नया है जिसे Google की विज्ञापन दिखाने की टेक्नोलॉजी के तौर पर जाना जाता है. लागू नहीं
7.3 कुछ मकसद, सुविधाएं, और/या वेंडर तय सीमा से बाहर हैं. इसके बारे में जानकारी नहीं है. लागू नहीं
7.4 TC स्ट्रिंग का tcf_policy_version, जीवीएल के सबसे नए वर्शन के मुकाबले ज़्यादा पुराना है. सीएमपी को पुरानी TC स्ट्रिंग को मिटा देना चाहिए. साथ ही, जीवीएल के सबसे नए वर्शन का इस्तेमाल करके, फिर से सहमति लेनी चाहिए.
7.5

किसी अनुरोध में &gdpr=1 है. हालांकि, उसके पास अनुरोध के यूआरएल में &gdpr_consent पैरामीटर, बिल्कुल भी नहीं है.

लागू नहीं
7.6 प्रकाशक के देश का कोड अमान्य है. हालांकि, मकसद 1 के लिए सहमति मौजूद है.  सीएमपी को टीसी स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना होगा.
7.7 अमान्य भाषा कोड. सिर्फ़ सीमित विज्ञापन दिखाए जाएंगे. सीएमपी को टीसी स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना होगा.
7.8 टीसी स्ट्रिंग के वर्शन का फ़ील्ड न तो 1 है और न ही 2. सिर्फ़ सीमित विज्ञापन दिखाए जाएंगे. सीएमपी को टीसी स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना होगा.
7.9 AC स्ट्रिंग का वर्शन 1 नहीं है. सीएमपी को अतिरिक्त सहमति वाली स्ट्रिंग के वर्शन को 1 पर सेट करना होगा.

अतिरिक्त सहमति वाली स्ट्रिंग से जुड़ी समस्याएं

इन समस्याओं के होने पर, Google अतिरिक्त सहमति (AC) वाली स्ट्रिंग को अमान्य मानेगा. साथ ही, किसी भी अन्य वेंडर को टीसी स्ट्रिंग से आगे नहीं माना जाएगा.

गड़बड़ी ब्यौरा सुझाई गई कार्रवाई
8.1 AC स्ट्रिंग, वर्शन अलग करने वाले (~) का इस्तेमाल नहीं कर रही है. सहमति जता चुके वेंडर की सूची में मौजूद वर्शन नंबर को अलग करने के लिए, सीएमपी को AC स्ट्रिंग के दूसरे वर्ण के तौर पर, "~" का इस्तेमाल करना चाहिए.
8.2 AC स्ट्रिंग में ऐसी विक्रेता सूची शामिल है जो अनुमानित फ़ॉर्मैटिंग का पालन नहीं करती (int64s की सूची, जो ' . ' से अलग की गई है ) सीएमपी को AC स्ट्रिंग लागू करने से जुड़ी गड़बड़ियों को ठीक करना चाहिए.

 

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

true
'मेरा AdMob पेज' - यह आपके हिसाब से तैयार किया गया पेज है. इसकी मदद से आप AdMob पर ज़्यादा से ज़्यादा मुनाफ़ा कमाने के तरीकों के बारे में जान पाएंगे.

पेश है 'मेरा AdMob पेज' नए अवतार में. यह ऐसा सहायता पेज है जो खास तौर पर आपके लिए बनाया गया है. इसमें, आपके खाते के लिहाज़ से काम की जानकारी दी गई है. इस पेज की मदद से, आप अपने खाते को बेहतर तरीके से मैनेज कर सकते हैं. साथ ही, यह भी देख सकते हैं कि सभी ज़रूरी सेट अप पूरे किए गए हैं या नहीं. इसके अलावा, आपके ऐप्लिकेशन को बेहतर बनाने के लिए सुधार के सही सुझाव भी मिलेंगे. ज़्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ बने रहें!

ज़्यादा जानें

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
73175
false
false