यूआरएल जांचने वाला टूल

यूआरएल की जांच से जुड़ी रिपोर्ट और जांच के बारे में जानकारी

यूआरएल जांचने वाला टूल किसी पेज के उस वर्शन की जानकारी देता है जिसे Google ने इंडेक्स किया है. साथ ही, इससे यह जांच की जा सकती है कि कोई यूआरएल, इंडेक्स किया जा सकता है या नहीं. इसमें स्ट्रक्चर्ड डेटा, वीडियो, लिंक किए गए एएमपी, और पेज को इंडेक्स करने के बारे में जानकारी शामिल होती है. साथ ही, यह जानकारी भी शामिल होती है कि किसी पेज को इंडेक्स किया जा सकता है या नहीं.

यूआरएल जांचने वाले टूल को ऐक्सेस करने के दो तरीके हैं:
  • Search Console की किसी भी स्क्रीन पर सबसे ऊपर मौजूद खोज बार में, सभी शर्तें पूरी करने वाला वह यूआरएल टाइप करें जिसकी जांच करनी है. यूआरएल का मौजूदा प्रॉपर्टी में होना ज़रूरी है.
  • ज़्यादातर रिपोर्ट में, पेज के यूआरएल के बगल में जांच करें लिंक दिया होता है. उस पर क्लिक करें. इस विकल्प को देखने के लिए, कभी-कभी आपको यूआरएल पर कर्सर घुमाना पड़ता है.

 

यूआरएल जांचने वाला टूल खोलें

 

यूआरएल जांचने वाला टूल - Google Search Console की ट्रेनिंग

इस टूल की मदद से किए जाने वाले सामान्य काम

  • Google इंडेक्स में किसी यूआरएल की स्थिति देखना: पेज के उस वर्शन की जानकारी पाएं जिसे Google ने इंडेक्स किया है. देखें कि Google किन वजहों से आपका पेज इंडेक्स कर पाया या नहीं कर पाया.
  • किसी लाइव यूआरएल को जांचना: जांच करें कि आपकी साइट के पेज को इंडेक्स किया जा सकता है या नहीं.
  • यूआरएल को इंडेक्स करने का अनुरोध करना: Google से यूआरएल को क्रॉल करने का अनुरोध करें.
  • पेज का रेंडर किया गया वर्शन देखना: स्क्रीनशॉट की मदद से देखें कि Googlebot को कोई पेज कैसा दिखता है.
  • साइट पर लोड किए गए रिसॉर्स, JavaScript आउटपुट, और दूसरी जानकारी देखना: रिसॉर्स की सूची, पेज का कोड, और ज़्यादा जानकारी देखने के लिए, क्रॉल किया गया पेज देखें > ज़्यादा जानकारी (इंडेक्स किया गया नतीजा) पर क्लिक करें या जांचा गया पेज देखें > ज़्यादा जानकारी (लाइव टेस्ट) पर क्लिक करें.
  • पेज मौजूद न होने की समस्या हल करना: किसी पेज को इंडेक्स न किए जाने की कई वजहें हो सकती हैं. यूआरएल की जांच करने से, आपको इनमें से कुछ समस्याएं हल करने में मदद मिल सकती है.
  • अपने कैननिकल पेज के बारे में जानना: पेज के इंडेक्स किए गए वर्शन की जांच करें और पेज को इंडेक्स करना > Google का चुना गया कैननिकल फ़ील्ड देखें. सिर्फ़ पेज के इंडेक्स किए गए डेटा में, उसका कैननिकल वर्शन तय किया जा सकता है. लाइव टेस्ट से यह अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि जांच किए गए वर्शन को कैननिकल माना जाएगा या नहीं.

इन चीज़ों की जांच नहीं की जाती है

जांच के नतीजों में नीचे दी गई चीज़ों की जांच नहीं की जाती. हालांकि, किसी पेज को Google पर दिखाने के लिए इन चीज़ों की ज़रूरत होती है:


Google इंडेक्स में किसी यूआरएल की स्थिति देखना

प्रॉपर्टी के उस यूआरएल की ज़्यादा जानकारी देखने के लिए अनुरोध किया जा सकता है जिसे Google ने इंडेक्स किया है. इस जानकारी में, यूआरएल को इंडेक्स किया जा सकता है या नहीं, प्रॉपर्टी पर मिले ज़्यादा बेहतर नतीजे (रिच रिज़ल्ट) या वीडियो, मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी वगैरह शामिल होती है.

Google इंडेक्स में किसी यूआरएल के बारे में जानकारी देखने के लिए:

  1. यूआरएल जांचने वाला टूल खोलें.
  2. जांच करने के लिए पूरा यूआरएल डालें. इन बातों पर ध्यान दें:
    • यह ज़रूरी है कि यूआरएल मौजूदा प्रॉपर्टी में शामिल हो. अगर आपको ऐसे यूआरएल की जांच करनी है जिसका मालिकाना हक आपके पास नहीं है, तो ऐसे टेस्ट का इस्तेमाल करें जिसके लिए मालिकाना हक होना ज़रूरी नहीं है. जैसे, रिच रिज़ल्ट की जांच, मोबाइल-फ़्रेंडली जांच या एएमपी जांच.
    • एएमपी और बिना एएमपी वाले यूआरएल की जांच करना: एएमपी और बिना एएमपी वाले यूआरएल, दोनों की जांच की जा सकती है. साथ ही, इस टूल से आपको किसी पेज के एएमपी और बिना एएमपी वाले वर्शन, दोनों के बारे में जानकारी मिलती है.
    • पेज के कैननिकल/वैकल्पिक वर्शन की स्थिति: अगर पेज का वैकल्पिक/डुप्लीकेट वर्शन है, तो यह टूल उस पेज के कैननिकल वर्शन की जानकारी भी दिखाता है. ऐसा तब होता है, जब यह वर्शन आपके मालिकाना हक वाली प्रॉपर्टी में मौजूद हो.
  3. नतीजों को समझना सेक्शन पढ़ें.
  4. अगर डेटा मिलने के बाद आपने समस्याओं को ठीक कर लिया है, तो लाइव यूआरएल की जांच करके देखें कि Google को ये समस्याएं अब भी दिख रही हैं या नहीं. ध्यान दें कि सभी समस्याओं की जांच नहीं की जा सकती.
  5. यूआरएल को इंडेक्स कराने का अनुरोध भी किया जा सकता है.

मालिकाना हक वाली हर एक प्रॉपर्टी की जांच के लिए, हर दिन तय संख्या में अनुरोध भेजे जा सकते हैं.

इंडेक्स किए गए यूआरएल की स्थिति के बारे में जानकारी

खास बातें

  • यह लाइव टेस्ट नहीं है. यहां दिखाए जाने वाले नतीजे, किसी पेज के हाल ही में इंडेक्स किए गए वर्शन से लिए जाते हैं, न कि वेब पर मौजूद किसी लाइव वर्शन से. Google, इंडेक्स में शामिल की गई जानकारी का इस्तेमाल खोज नतीजे दिखाने के लिए करता है. मुमकिन है कि Google ने जब पिछली बार आपका पेज क्रॉल किया था, तो उसके बाद पेज में कुछ बदलाव किए गए हों या पेज अब उपलब्ध न हो. Google को पेज का मौजूदा वर्शन कैसा दिखता है, यह जानने के लिए पेज पर मौजूद लाइव टेस्ट बटन को चुनें.
  • "यह यूआरएल Google पर मौजूद है" का मतलब यह नहीं है कि आपका पेज, Search के नतीजों में ज़रूर दिखेगा. इस रिपोर्ट में उन सभी शर्तों की जांच नहीं की जाती है जो किसी यूआरएल को Google पर दिखाए जाने के लिए ज़रूरी होती हैं. आपका यूआरएल खोज नतीजों में दिख रहा है या नहीं, यह देखने के लिए Google पर अपना यूआरएल खोजें.
  • पेज की उपलब्धता वाले सेक्शन में मौजूद "पिछली बार क्रॉल किए जाने" की तारीख से पता चलता है कि इस जानकारी को जनरेट करने के लिए पेज को कब क्रॉल किया गया था.

नतीजों को समझना

  1. आपका यूआरएल, Google Search के नतीजों में दिखने की ज़रूरी शर्तें पूरी करता है या नहीं, यह जानने के लिए टूल में सबसे ऊपर जाकर, उसके पेज की पूरी स्थिति के बारे में जानें: यह यूआरएल Google पर मौजूद है का मतलब है कि यूआरएल, Search के नतीजों में दिखने की ज़रूरी शर्तें पूरी करता है, लेकिन उसके वहां दिखने की गारंटी नहीं है. यह यूआरएल Google पर मौजूद नहीं है का मतलब है कि यूआरएल, Search के नतीजों में नहीं दिखाया जा सकता.
  2. ज़्यादा जानकारी देखने के लिए, पेज के इंडेक्स होने की स्थिति सेक्शन को बड़ा करके देखें:
    • खोजना: Google को यूआरएल कैसे मिला.
    • क्रॉल करना: Google, पेज को क्रॉल कर पाया या नहीं, पेज को कब क्रॉल किया गया था या यूआरएल क्रॉल करते समय किस तरह की दिक्कतें आईं. अगर स्थिति से पता चलता है कि यूआरएल Google पर मौजूद नहीं है, तो आम तौर पर इसकी वजह भी यहीं दी गई होती है.
    • इंडेक्स करना: वह कैननिकल यूआरएल जिसे Google ने इस पेज के लिए चुना है.
  3. बेहतर बनाना: अगर आपके पास स्ट्रक्चर्ड डेटा है और दिया गया पेज एएमपी है या उससे कोई एएमपी जुड़ा है, तो आपको इसकी जानकारी 'बेहतर बनाना' सेक्शन में दिखेगी. इस सेक्शन में, आपके पेज को मोबाइल पर इस्तेमाल करने से जुड़ी Google की जांच भी शामिल होती है.
  4. अनुरोध के बारे में जानकारी देखने के लिए, क्रॉल किया गया पेज देखें पर क्लिक करें. इस जानकारी में, एचटीटीपी अनुरोध और उसके रिस्पॉन्स के साथ-साथ उसका एचटीएमएल भी शामिल होता है. अगर यह लिंक बंद है, तो इसका मतलब है कि पेज फ़ेच नहीं हो पाया. इसकी वजह जानने के लिए, बंद किए गए लिंक पर कर्सर घुमाएं.

 

इंडेक्स की स्थिति में यहां दी गई जानकारी शामिल होती है:

पूरे पेज की स्थिति
पेज का पूरा स्टेटस, पेज के सबसे ऊपर एक कार्ड में दिखता है

रिपोर्ट के सबसे ऊपर वाले सेक्शन में इस बात की खास जानकारी दी जाती है कि यूआरएल, Google Search के नतीजों में दिखने की ज़रूरी शर्तें पूरी करता है या नहीं. साथ ही, यहां कुछ चेतावनियां भी दिखती हैं. इस जांच के ये नतीजे हो सकते हैं:

यूआरएल Google पर उपलब्ध है

  • इसका क्या मतलब है: यूआरएल को इंडेक्स किया गया है और यह Google Search के नतीजों में दिख सकता है. साथ ही, पेज को बेहतर बनाने के लिए शामिल की गई चीज़ों (स्ट्रक्चर्ड डेटा, लिंक किए गए एएमपी पेज, और इसी तरह की कई दूसरी चीज़ें) के बावजूद पेज पर कोई गड़बड़ी नहीं मिली.
    • अहम जानकारी: "यह यूआरएल Google पर मौजूद है" का मतलब यह नहीं है कि आपका पेज, Search के नतीजों में ज़रूर दिखेगा. यूआरएल जांचने वाला टूल से, उन सभी शर्तों की जांच नहीं की जाती है जो किसी यूआरएल को Google पर दिखाए जाने के लिए ज़रूरी होती हैं.
    • आपका यूआरएल Google पर मौजूद है या नहीं, यह देखने के लिए Google पर अपना यूआरएल खोजें.
  • आगे क्या करें: आम तौर पर, कुछ करने की ज़रूरत नहीं होती है. हालांकि, इंडेक्स कवरेज या पेज को बेहतर बनाने से जुड़ी जानकारी वाले सेक्शन से पता लगाया जा सकता है कि Google के पास, आपके पेज के बारे में क्या जानकारी है.

यह यूआरएल Google पर मौजूद है, लेकिन इसमें कुछ गड़बड़ियां हैं

  • इसका क्या मतलब है: इसका मतलब है कि यूआरएल Google पर मौजूद है, लेकिन कुछ समस्याओं की वजह से हो सकता है कि पेज को बेहतर बनाने के लिए किए गए बदलाव न दिखें. इस यूआरएल से जुड़े किसी एएमपी पेज में समस्या होने की वजह से ऐसा हो सकता है. इसके अलावा, रेसिपी या नौकरी के विज्ञापन जैसे रिच रिज़ल्ट के लिए, पेज पर मौजूद गलत स्ट्रक्चर्ड डेटा की वजह से भी ऐसा हो सकता है. ज़्यादा चेतावनियां देखने के लिए, ऊपर दिए यह यूआरएल Google पर मौजूद है सेक्शन में शामिल "अहम जानकारी" पढ़ें.
  • आगे क्या करें: टूल में दी गई चेतावनी या गड़बड़ी की जानकारी पढ़ें और बताई गई समस्याओं को ठीक करने की कोशिश करें.

यूआरएल Google पर उपलब्ध नहीं है

  • इसका क्या मतलब है: यह यूआरएल Google Search के नतीजों में नहीं दिखेगा.
  • आगे क्या करें: पेज को इंडेक्स करना सेक्शन में दी गई जानकारी पढ़ें और जानें कि पेज को इंडेक्स क्यों नहीं किया गया. साथ ही, देखें कि क्या किसी समस्या को ठीक करने की ज़रूरत है. अगर किसी समस्या के सभी इंस्टेंस को ठीक कर लिया जाता है, तो हमारा सुझाव है कि आप कुछ पेजों का लाइव टेस्ट करके, ठीक की गई समस्या की जांच करें. ऐसा तब ही करें, जब पेज पर ऐसी समस्या मौजूद हो जिसकी जांच की जा सकती है. इसके बाद, Google को समस्या ठीक होने की जानकारी देने के लिए, समस्या ठीक होने की पुष्टि करें पर क्लिक करें.

यह यूआरएल का वैकल्पिक वर्शन है

  • इसका क्या मतलब है: यह यूआरएल एक एएमपी है जो बिना एएमपी वाले कैननिकल पेज का वैकल्पिक वर्शन है. टूल में, इस तौर पर क्रॉल किया गया वैल्यू से पता चलता है कि किस तरह के क्रॉलर (मोबाइल या डेस्कटॉप) इसे वैकल्पिक वर्शन मानते हैं. आपके पास पेज की उपलब्धता में जाकर, इंडेक्स किए गए यूआरएल को Google का चुना गया कैननिकल यूआरएल वाली वैल्यू के तौर पर देखने का विकल्प होता है.
  • आगे क्या करें: आम तौर पर, कुछ करने की ज़रूरत नहीं होती. हालांकि, Google के चुने गए कैननिकल यूआरएल की जांच करके देखा जा सकता है कि कैननिकल यूआरएल वही है जो आपको कैननिकल के तौर पर चाहिए था.
पेज को इंडेक्स करना (क्या Google, पेज को फ़ेच और इंडेक्स कर सकता है?)

इस सेक्शन से जानकारी मिलती है कि Google, पेज को ढूंढकर उसे इंडेक्स कर सका है या नहीं.

इंडेक्स करने की स्थिति
इससे पता चलता है कि यूआरएल को इंडेक्स किया गया है या नहीं. सेक्शन के शीर्षक में, यूआरएल की स्थिति के बारे में कम शब्दों में बताया जाता है. इससे, यूआरएल के Google पर मौजूद होने या न होने के बारे में जानकारी मिलती है. ये वैल्यू दिख सकती हैं:
  • पेज को इंडेक्स किया गया है
  • पेज को इंडेक्स नहीं किया गया है और इंडेक्स नहीं किया गया वाली वैल्यू के बारे में यहां बताया गया है.
  • पेज को इंडेक्स नहीं किया गया है: Google को यह यूआरएल नहीं मिल सका: इसका मतलब है कि Google ने इस यूआरएल को पहले कभी नहीं देखा है.
इसे ठीक करने के लिए, लाइव यूआरएल की जांच करें और पेज की उपलब्धता देखें. जिन समस्याओं को आप ठीक कर सकें उन्हें ठीक कर लें. इसके बाद, इंडेक्स कराने के लिए पेज को सबमिट करें और समस्या ठीक करने की पुष्टि करें.
साइटमैप
ऐसा साइटमैप जिसे साइटमैप रिपोर्ट की मदद से सबमिट किया गया है या जिसकी जानकारी इस साइट की robots.txt फ़ाइल में मौजूद है, जो इस यूआरएल पर ले जाती है. इस रिपोर्ट में ऐसे साइटमैप की जानकारी नहीं दिखती है जिनका पता दूसरे तरीकों से लगाया जाता है. बड़ी या नई साइटों के मामलों में, क्रॉल कराए जाने वाले पेजों के बारे में Google को बताने के लिए, साइटमैप सबमिट करना बेहतर रहता है. ऐसी समस्याएं देखें जिनके बारे में पहले से जानकारी है.
वह पेज जिस पर यह यूआरएल मिला
वह पेज जिसका इस्तेमाल Google ने शायद इस यूआरएल का पता लगाने के लिए किया था. ऐसा हो सकता है कि जानकारी देने वाला पेज इस यूआरएल से सीधे जुड़ा हो या इससे जुड़े पेज की पहली कड़ी या दूसरी कड़ी का हिस्सा हो. अगर यह वैल्यू मौजूद नहीं है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि जानकारी देने वाला कोई भी पेज मौजूद नहीं है. इसका मतलब सिर्फ़ यह है कि शायद यूआरएल जांचने वाले टूल के लिए यह जानकारी इस समय उपलब्ध नहीं है. अगर आपको "यूआरएल के बारे में ऐसे दूसरे सोर्स से जानकारी मिल सकती है जिनके बारे में फ़िलहाल, बताया नहीं गया है" दिखता है, तो इसका मतलब है कि Google को यह यूआरएल दूसरे सोर्स से मिला है. ये सोर्स, साइटमैप या जानकारी देने वाले पेज के अलावा कोई और सोर्स हो सकते हैं. हालांकि, फ़िलहाल इस टूल के लिए यूआरएल के बारे में बताने वाली कोई जानकारी मौजूद नहीं है.
पिछली बार क्रॉल किए जाने का समय
इसमें उस तारीख और स्थानीय समय की जानकारी होती है जब Google ने पिछली बार इस पेज को क्रॉल किया था. इस टूल में दिखने वाली सारी जानकारी, पिछली बार क्रॉल किए गए इस वर्शन से ली जाती है.
इस तौर पर क्रॉल किया गया है
क्रॉल करने के लिए किस तरह का उपयोगकर्ता एजेंट इस्तेमाल किया गया (डेस्कटॉप या मोबाइल).
क्या क्रॉल करने की अनुमति है?
इससे पता चलता है कि क्या आपकी साइट ने Google को पेज क्रॉल करने की अनुमति दी है या robots.txt नियम से उसे ब्लॉक किया है. अगर क्रॉल करने की अनुमति नहीं है, लेकिन आपको इसकी अनुमति देनी है, तो Google को पेज क्रॉल करने से रोकने वाले नियम का पता लगाने और उस नियम को हटाने के लिए, robots.txt टेस्टर का इस्तेमाल करें. आपने जिस यूआरएल की जांच यहां की है उसका इस्तेमाल करके, अपने नियम की जांच करें. आपके पास अपने ब्राउज़र में <site_root>/robots.txt पर जाकर, robots.txt फ़ाइल को खोलने की अनुमति होनी चाहिए. जैसे, https://example.com/robots.txt.
पेज को फ़ेच करने की स्थिति
इससे पता चलता है कि Google आपके सर्वर से पेज को ऐक्सेस कर सका या नहीं. अगर किसी अन्य वजह से पेज इंडेक्स नहीं किया जाता है, तो भी उसे फ़ेच किया जा सकता है. जिन वैल्यू का इस्तेमाल किया जा सकता है उनकी जानकारी यहां दी गई है:
  • पेज फ़ेच किया गया: इंडेक्स करते समय, पेज को फ़ेच किया जा सका.
  • पेज फ़ेच नहीं किया गया और इंडेक्स न हो पाने की इन वजहों में से एक.
  • उपलब्ध नहीं है: ऐसी गड़बड़ी जो पहले से मौजूद स्थिति की वजहों में शामिल नहीं है. यह एक सामान्य गड़बड़ी का मैसेज है. माफ़ करें, हमारे पास इसके बारे में कोई और जानकारी नहीं है.
क्या इंडेक्स करने की अनुमति है?
इससे पता चलता है कि आपके पेज को इंडेक्स करने की अनुमति साफ़ तौर पर दी गई है या नहीं. अगर इंडेक्स करने की अनुमति नहीं है, तो उसकी वजह यहां दिखाई जाती है. अनुमति न होने की वजह से, पेज Google Search के नतीजों में नहीं दिखेगा. इंडेक्स करने से रोकने के लिए, अपने यूआरएल पर noindex टैग या डायरेक्टिव का इस्तेमाल करें.
अहम जानकारी: अगर आपके पेज को robots.txt का इस्तेमाल करके ब्लॉक किया गया है (क्या क्रॉल करने की अनुमति है? देखें), तो इस सवाल का जवाब हमेशा "हां" होगा कि क्या पेज को इंडेक्स करने की अनुमति है? ऐसा इसलिए क्योंकि, noindex निर्देशों को Google न तो देख पाएगा और न ही उनके हिसाब से कार्रवाई कर पाएगा. ऐसा होने पर, आपका पेज Search के नतीजों में दिख सकता है, भले ही आपकी साइट ने इसे इंडेक्स करने पर रोक लगाई हो.
वह यूआरएल जिसकी पहचान उपयोगकर्ता ने कैननिकल के तौर पर की है
अगर आपका पेज, किसी यूआरएल को साफ़ तौर पर कैननिकल यूआरएल बताता है, तो यह जानकारी यहां दिखेगी. अगर आपका पेज वैकल्पिक पेज नहीं है, तो यहां कोई नहीं वैल्यू बिलकुल ठीक है. अगर आपका पेज, वैकल्पिक पेजों के सेट में से एक है, तो हमारा सुझाव है कि आप कैननिकल यूआरएल की साफ़ तौर पर जानकारी दें. कैननिकल यूआरएल की जानकारी इन तरीकों से दी जा सकती है: <link rel="canonical"> टैग, एचटीटीपी हेडर, साइटमैप या कुछ अन्य तरीके. इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि Google आपके पसंदीदा कैननिकल यूआरएल को चुनेगा, लेकिन हम इस पर विचार करेंगे. जब तक वेबसाइट मालिक खुद किसी एएमपी पेज को कैननिकल वर्शन के तौर पर सेट नहीं करते, तब तक एएमपी पेजों के लिए कैननिकल के तौर पर, बिना एएमपी वाले वर्शन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.
वह यूआरएल जिसे Google ने कैननिकल के तौर पर चुना है

यह ऐसा पेज है जिसे Google ने कैननिकल (आधिकारिक) यूआरएल के तौर पर चुना है. इसे कैननिकल के तौर पर तब चुना गया, जब Google को आपकी साइट पर इससे मिलते-जुलते पेज मिले. अगर उपयोगकर्ता ने किसी यूआरएल की पहचान कैननिकल यूआरएल के रूप में की है, तो Google उस यूआरएल को चुन सकता है. कभी-कभी Google किसी दूसरे यूआरएल को भी चुन सकता है जो उसके हिसाब से कैननिकल का बेहतर उदाहरण हो सकता है. अगर पेज का कोई भी दूसरा वर्शन नहीं है, तो Google का चुना हुआ कैननिकल ही वह यूआरएल होता है जिसकी जांच की जाती है. अगर आपको यहां कोई ऐसा पेज दिखता है जो आपके हिसाब से सही नहीं है, तो आपको पेज के लिए कैननिकल वर्शन साफ़ तौर पर बताना चाहिए.

यह ज़रूरी नहीं है कि Search के नतीजों में हर बार कैननिकल यूआरएल ही दिखाया जाए: उदाहरण के लिए, अगर किसी पेज का डेस्कटॉप और मोबाइल वर्शन, दोनों मौजूद हैं, तो उपयोगकर्ता के डिवाइस के हिसाब से Google सही यूआरएल दिखा सकता है.

ध्यान दें कि यह वैल्यू, हमारी इंडेक्स वैल्यू से कुछ घंटे पुरानी हो सकती है.

वीडियो को इंडेक्स करना (पेज पर मौजूद वीडियो)

यह सेक्शन सिर्फ़ तब दिखता है, जब इंडेक्स किए गए पेज पर कोई वीडियो मौजूद हो. इंडेक्स होने की स्थिति से यह पता चलता है कि इस पेज पर मौजूद वीडियो को इंडेक्स किया गया था या उसे इंडेक्स नहीं किया जा सका.

हर पेज पर सिर्फ़ एक वीडियो को इंडेक्स किया जा सकता है. अगर पेज पर सिर्फ़ एक वीडियो मौजूद है, तो उस वीडियो की जानकारी दिखेगी. अगर पेज पर एक से ज़्यादा वीडियो मौजूद हैं, तो Google सबसे ज़्यादा प्राथमिकता के हिसाब से, वीडियो को इंडेक्स करने की कोशिश करता है. साथ ही, एक वीडियो को इंडेक्स करने के बाद, इंडेक्स करने की प्रोसेस को रोक देता है. अगर पेज पर मौजूद किसी वीडियो को इंडेक्स कर लिया जाता है, तो रिपोर्ट में दी गई जानकारी उसी वीडियो से जुड़ी होती है. अगर उसे इंडेक्स नहीं किया जाता है, तो यह जानकारी, इंडेक्स करने के लिए चुने गए वीडियो से जुड़ी होती है. वीडियो को इंडेक्स करने के बारे में ज़्यादा जानें.

वीडियो को इंडेक्स करने की स्थिति

उस पेज के लिए वीडियो इंडेक्स करने की ये स्थितियां दिखाई जा सकती हैं जिस पर वीडियो मिला है:

  • वीडियो इंडेक्स किया गया: Google को पेज पर एक या एक से ज़्यादा वीडियो मिले. इनमें से किसी एक वीडियो को इंडेक्स किया गया है.
  • वीडियो को इंडेक्स नहीं किया गया: Google को पेज पर एक या इससे ज़्यादा वीडियो मिले. हालांकि, इनमें से किसी को भी इंडेक्स नहीं किया जा सका.

वीडियो की ज़्यादा जानकारी

रिपोर्ट में दिखाई गई वीडियो की ज़्यादा जानकारी यहां दी गई है.

वीडियो को इंडेक्स करते समय आने वाली समस्याएं

वीडियो को इंडेक्स न करने की वजह, वीडियो की जानकारी सेक्शन में दी गई समस्याओं में से कोई भी एक समस्या हो सकती है. अगर पेज पर एक से ज़्यादा वीडियो मिलते हैं, तो दिखाई गई समस्या उस वीडियो के लिए लागू होती है जिसे इंडेक्स करने के लिए चुना गया है.

गड़बड़ी जानकारी
Google, पेज पर मौजूद मुख्य वीडियो को इंडेक्स नहीं कर सका

Google, ऐसा कोई वीडियो नहीं ढूंढ पाया जिसे इस पेज के लिए मुख्य वीडियो के तौर पर दिखाया जा सके.

हमारा सुझाव है कि आप इस समस्या को हल करने से पहले अन्य सभी समस्याएं हल करें. कुछ मामलों में, Googlebot में रेंडरिंग से जुड़ी समस्या होने से ऐसा हो सकता है. इसलिए, यह मुमकिन है कि आप इसे हल न कर पाएं. हालांकि, आप यह पक्का करें कि वह वीडियो, पेज पर मौजूद मुख्य वीडियो हो.

यूआरएल की जांच करने वाले टूल की मदद से, अपने किसी पेज के लिए लाइव टेस्ट करके देखें. इसके बाद, स्क्रीनशॉट को देखकर जानें कि वह पेज Google को किस तरह दिख रहा है. (पेज के यूआरएल की जांच करें पर जाएं. इसके बाद, लाइव यूआरएल की जांच करें > जांचे गए पेज को देखें > स्क्रीनशॉट पर क्लिक करें). अगर वीडियो स्क्रीन की शुरुआत में नहीं है, तो जांच करने के लिए, आपको कोई दूसरा तरीका आज़माना होगा.

पेज पर वीडियो की जगह और साइज़ का पता नहीं लगाया जा सका पेज लोड होने पर, वीडियो प्लेयर वहां मौजूद नहीं है. आम तौर पर, यह गड़बड़ी तब होती है, जब प्लेयर की जगह पर कोई इमेज (अक्सर कोई स्क्रीनशॉट या वीडियो प्लेयर की इमेज) मौजूद हो. दरअसल, प्लेयर पर क्लिक करके ही कोई वीडियो चलाया जा सकता है. इस गड़बड़ी को ठीक करने के लिए, पेज लोड होने के दौरान बिना छेड़छाड़ किए वीडियो प्लेयर को उसके सही साइज़ और जगह पर लोड होने दें.
वीडियो का साइज़ बहुत बड़ा या बहुत छोटा है पेज के हिसाब से, वीडियो चलाने की जगह बहुत ज़्यादा या बहुत कम है. वीडियो के साइज़ से जुड़े दिशा-निर्देश पढ़ें और वीडियो प्लेयर के साइज़ को पेज के हिसाब से सेट करें.
mRSS काम नहीं कर रहा; इसकी जगह schema.org इस्तेमाल करके देखें वीडियो की जानकारी देने के लिए, आपने mRSS (मीडिया आरएसएस) का इस्तेमाल किया है. Google को इस जानकारी को प्रोसेस करने में कोई समस्या हुई. वीडियो की जानकारी देने के लिए, schema.org मार्कअप का इस्तेमाल करके देखें.
वीडियो का यूआरएल गलत है वीडियो के यूआरएल का फ़ॉर्मैट गलत है. उदाहरण के लिए, इसमें खाली जगह जैसे अमान्य वर्ण या "http" के बजाय "htttttp" जैसे गलत प्रोटोकॉल का इस्तेमाल किया गया है.
वीडियो का फ़ॉर्मैट काम नहीं कर रहा

वीडियो को कोड में बदलने का तरीका काम नहीं कर रहा. वीडियो के यूआरएल के फ़ाइल एक्सटेंशन की वजह से ऐसा होता है. ध्यान रखें कि आप ऐसे फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल करें जो काम करता हो. साथ ही, वह यूआरएल डालें जो वीडियो के फ़ॉर्मैट के बारे में सही जानकारी देता हो. फ़ाइल एक्सटेंशन, फ़ाइल के नाम में डॉट के बाद वाले तीन या चार वर्ण होते हैं.

सही उदाहरण:

  • https://example.com/videos/video1.mp4
  • https://example.com/videos/video1.mpeg

गलत उदाहरण: https://example.com/videos/video1.ogg

 

वीडियो के फ़ॉर्मैट की जानकारी नहीं है

वीडियो का फ़ाइल एक्सटेंशन ऐसा है जो Google के साथ काम करने वाले किसी भी वीडियो फ़ॉर्मैट से मेल नहीं खाता या फिर उसमें वीडियो के फ़ॉर्मैट का कोई एक्सटेंशन मौजूद नहीं है. Google, वीडियो के यूआरएल के आधार पर, फ़ाइल के फ़ॉर्मैट का पता लगाता है. पक्का करें कि वीडियो ऐसे फ़ॉर्मैट में हो जो काम करता हो और उसमें सही फ़ाइल एक्सटेंशन मौजूद हो.

  • सही उदाहरण: https://example.com/video1.mp4
  • गलत उदाहरण:
    • https://example.com/videos/myvideo
    • https://example.com/videos/myvideo.324fvsf4rf
वीडियो के थंबनेल का यूआरएल उपलब्ध नहीं है

इस वीडियो के लिए कोई थंबनेल इमेज नहीं दी गई थी और Google आपके लिए ऐसी कोई इमेज जनरेट नहीं कर सका. स्ट्रक्चर्ड डेटा, साइटमैप या mRSS फ़ाइल की मदद से, अपने वीडियो के लिए थंबनेल का लिंक दें.

यह मुमकिन है कि आपने स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल करके, थंबनेल का यूआरएल दिया हो और आपको यह गड़बड़ी मिली हो. ऐसे में, पक्का करें कि इस वीडियो के लिए एचटीएमएल टैग में दिए गए थंबनेल का यूआरएल और स्ट्रक्चर्ड डेटा में दिए गए थंबनेल का यूआरएल एक ही हो. अगर किसी पेज पर, किसी वीडियो के बारे में जानकारी देने के लिए एक से ज़्यादा सोर्स का इस्तेमाल किया गया है, तो उन सभी सोर्स (साइटमैप, एचटीएमएल टैग, मेटा टैग, और स्ट्रक्चर्ड डेटा) में वीडियो का शीर्षक, थंबनेल यूआरएल, और वीडियो यूआरएल एक ही होना चाहिए.

थंबनेल का फ़ॉर्मैट काम नहीं कर रहा थंबनेल इमेज का यह फ़ॉर्मैट काम नहीं करता. थंबनेल फ़ाइल एक्सटेंशन के आधार पर इसका पता चला है. पक्का करें कि थंबनेल सिर्फ़ ऐसे इमेज फ़ॉर्मैट में हो जो काम करते हों. साथ ही, सही फ़ॉर्मैट एक्सटेंशन के बारे में भी बताएं.
थंबनेल का साइज़ गलत है इस थंबनेल का साइज़ गलत था और Google आपके लिए थंबनेल जनरेट नहीं कर सका. सही साइज़ वाला थंबनेल दें.
थंबनेल को robots.txt ने ब्लॉक किया robots.txt के नियम के तहत, दिए गए थंबनेल को ऐक्सेस करने के लिए, Google को ब्लॉक किया गया है. अगर इमेज को किसी दूसरी साइट पर होस्ट किया गया है, तो उसे अनब्लॉक करने के लिए, साइट से संपर्क करें. इसके अलावा, Google को थंबनेल की इमेज का लिंक देकर भी उसे अनब्लॉक कराया जा सकता है. इसके लिए, ज़रूरी है कि दिए गए लिंक को ऐक्सेस करने के लिए Google को लॉगिन करने की ज़रूरत न पड़े. यह भी ज़रूरी है कि robots.txt के नियमों के तहत, उस थंबनेल को ऐक्सेस करने के लिए, Google को ब्लॉक न किया गया हो.
थंबनेल पारदर्शी है थंबनेल की पारदर्शिता के लिए जो स्तर तय किया गया है, यह थंबनेल उससे ज़्यादा पारदर्शी है. यह ज़रूरी है कि थंबनेल इमेज के कम से कम 80% हिस्से का ऐल्फ़ा लेवल, 250 से ज़्यादा हो. वीडियो को इंडेक्स करने के लिए, पारदर्शी थंबनेल इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है.
थंबनेल को ऐक्सेस नहीं किया जा सका Google, दिए गए थंबनेल को उससे जुड़े यूआरएल पर ऐक्सेस नहीं कर सका. (यह robots.txt से जुड़ी समस्या नहीं है.) इमेज को शायद पासवर्ड से सुरक्षित किया गया है या अब वह दिए गए यूआरएल पर मौजूद नहीं है.
वीडियो प्रोसेस नहीं हुआ Google को पेज पर कम से कम एक वीडियो मिला, लेकिन उसने वीडियो को इंडेक्स नहीं किया.
अभी तक वीडियो प्रोसेस नहीं हुआ इस वीडियो को प्रोसेस किया जा रहा है; कुछ दिन बाद देखें कि प्रोसेसिंग पूरी हुई या नहीं.
होस्ट करने वाली सेवा के प्लैटफ़ॉर्म पर वीडियो नहीं मिला होस्ट करने वाली सेवा के प्लैटफ़ॉर्म पर वीडियो मौजूद नहीं है या वह होस्ट करने वाली ऐसी किसी निजी सेवा के प्लैटफ़ॉर्म पर है, जिसे Google का क्रॉलर ऐक्सेस नहीं कर सकता. इसकी पुष्टि करने के लिए, वीडियो का आईडी इस्तेमाल करके, होस्ट करने वाली सेवा के प्लैटफ़ॉर्म पर जाएं. इसके बाद, वीडियो होस्ट करने वाली सेवा के लिए, अपने पेज का सही आईडी या यूआरएल अपडेट करें.
थंबनेल मौजूद नहीं है या गलत है थंबनेल नहीं दिया गया, उपलब्ध नहीं है या गलत है. तकनीकी वजहों से, सिस्टम इन समस्याओं में फ़र्क़ नहीं कर सकता. पक्का करें कि सही फ़ाइल एक्सटेंशन के साथ, थंबनेल का मान्य यूआरएल दिया गया हो. यह ज़रूरी है कि यूआरएल सही फ़ॉर्मैट में दिया गया हो. साथ ही, पक्का करें कि Google, थंबनेल को ऐक्सेस कर सकता हो.
गलत थंबनेल यह थंबनेल किसी वजह से गलत है. वह वजह क्या है इसकी जानकारी, थंबनेल से जुड़ी गड़बड़ियों की इस सूची में मौजूद नहीं है. पुष्टि करें कि आपने थंबनेल इमेज की जानकारी दी है और वह, थंबनेल के लिए सभी ज़रूरी दिशा-निर्देशों के मुताबिक है और Google के लिए उपलब्ध है.
पेज को बेहतर बनाना (मोबाइल पर इस्तेमाल, एएमपी, और भी बहुत कुछ)

यह सेक्शन, पेज में हुए ऐसे बदलावों की जानकारी देता है जो उसे, Search के नतीजों में बेहतर तरीके से दिखाने के लिए किए गए थे. Google को ये बदलाव आपके यूआरएल को पिछली बार इंडेक्स करने के दौरान मिले थे. अगर यूआरएल को इंडेक्स नहीं किया जा सका या पेज में किए गए बदलावों की पहचान नहीं की जा सकी, तो यह सेक्शन खाली रहेगा.

बेहतर बनाने की सुविधा के किसी सेक्शन पर क्लिक करने पर, उस सुविधा का सब-पेज खुल जाएगा. जांच के मुख्य पेज पर वापस जाने के लिए, पेज के सबसे ऊपर मौजूद यूआरएल की जांच करें पर क्लिक करें.

फ़िलहाल, यह टूल हर संभावित बदलाव को नहीं दिखाता. नीचे कुछ ऐसे बदलावों के बारे में जानकारी दी गई है जिन्हें यह टूल, यूआरएल इंडेक्स करने के दौरान पहचान सकता है:

मोबाइल पर इस्तेमाल

पता लगाएं कि मोबाइल डिवाइस पर आपके पेज का इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है या नहीं. मोबाइल पर इस्तेमाल के लिहाज़ से, सभी पेजों की जांच नहीं की जाती.

ऐसा हो सकता है कि मोबाइल पर इस्तेमाल करने के लिए जिस यूआरएल की जांच की गई है, वह डाले गए यूआरएल से अलग हो. इंडेक्स करने के दौरान Google, किसी भी कैननिकल यूआरएल के लिए सबसे अच्छा मोबाइल वर्शन तय करने की कोशिश करता है. इसलिए, यूआरएल को चुनते और उसकी जांच करते समय, रीडायरेक्ट, rel=alternate, और लिंक किए गए एएमपी वर्शन को फ़ॉलो किया जाता है.

इस जांच के ये नतीजे हो सकते हैं:

  • पेज को मोबाइल पर इस्तेमाल किया जा सकता है: ऐसा हो सकता है कि यह पेज, मोबाइल डिवाइस पर ठीक से काम करे.
  • पेज को मोबाइल पर इस्तेमाल नहीं किया जा सकता: कुछ समस्याओं की वजह से मोबाइल डिवाइस पर, पेज ठीक से काम नहीं करेगा. संभावित गड़बड़ियों की जानकारी देखें.

मोबाइल पर इस यूआरएल के इस्तेमाल से जुड़ी ज़्यादा जानकारी के लिए, जानकारी वाले सेक्शन को बड़ा करें.

कोड को डीबग करने और उसकी जांच करने में मदद पाने और मोबाइल पर इस्तेमाल करने से जुड़ी जांच को इंटरैक्टिव बनाने के लिए, मोबाइल-फ़्रेंडली टूल का इस्तेमाल करें.

एएमपी

अगर बिना एएमपी वाले किसी पेज की जांच, लिंक किए गए एएमपी वर्शन के साथ की जाती है या एएमपी पेज की सीधे तौर पर जांच की जाती है, तो एएमपी वाले नतीजे को चुनकर इसकी जानकारी देखी जा सकती है. एएमपी को इंडेक्स करने और दूसरे मामलों से जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए, इस जानकारी का इस्तेमाल करें.

यहां दिखाई गई जानकारी उस एएमपी वर्शन से जुड़े मामलों में इस्तेमाल होती है जिसके बारे में मौजूदा पेज पर बताया गया है. यह जानकारी मौजूदा पेज से जुड़े मामलों में तब तक इस्तेमाल नहीं की जाती, जब तक एएमपी कोई कैननिकल पेज न हो.

एएमपी की सामान्य गड़बड़ियों के अलावा, आपको Google से जुड़ी एएमपी की ये गड़बड़ियां दिख सकती हैं.

यह देखने के लिए कि क्या आपकी साइट के दूसरे पेजों पर किसी खास गड़बड़ी का असर हुआ है, गड़बड़ी की जानकारी देने वाली लाइन चुनकर रिपोर्ट खोलें विकल्प चुनें.

यूआरएल जांचने वाले टूल से एएमपी या वेब स्टोरी वाले पेज की जांच करने पर, ये नतीजे मिल सकते हैं:

  • एएमपी पेज मान्य है / वेब स्टोरी मान्य है: एएमपी मान्य है और इंडेक्स किया गया है.
  • एएमपी पेज अमान्य है / वेब स्टोरी अमान्य है: एएमपी में किसी तरह की गड़बड़ी है जो इसे इंडेक्स किए जाने से रोकती है.
  • एएमपी पेज इंडेक्स नहीं किया गया है / वेब स्टोरी इंडेक्स नहीं की गई है (इंडेक्स किया गया वर्शन) या एएमपी पेज इंडेक्स नहीं किया जा सकता / वेब स्टोरी इंडेक्स नहीं की जा सकती (लाइव जांच): पेज को इंडेक्स करने से रोक दिया गया है, ऐसा आम तौर पर robots.txt के नियम या noindex डायरेक्टिव की वजह से होता है.
  • एएमपी पेज मान्य है (चेतावनियों के साथ) / वेब स्टोरी मान्य है (चेतावनियों के साथ): एएमपी को इंडेक्स किया जा सकता है, लेकिन कुछ ऐसी समस्याएं हैं जो पूरी सुविधाएं पाने से रोक सकती हैं. इसके अलावा, यह ऐसे टैग या विशेषताओं का इस्तेमाल करता है जो अब बंद कर दिए गए हैं और आने वाले समय में अमान्य हो सकते हैं.
  • यह एएमपी पेज नहीं है: जिस पेज की जांच की गई है वह एएमपी पेज नहीं है.

इंटरैक्टिव एएमपी कोड डीबगर के लिए, एएमपी जांच का इस्तेमाल किया जा सकता है.

पेज पर रिच रिज़ल्ट मिलना

पेज पर मिले किसी भी तरह के रिच रिज़ल्ट (स्ट्रक्चर्ड डेटा) के बारे में जानकारी देखी जा सकती है. इस जानकारी में यूआरएल पर मिली मान्य चीज़ों की संख्या और हर चीज़ के बारे में ज़रूरी बातें शामिल होती हैं. साथ ही, अगर यूआरएल पर चेतावनियां या गड़बड़ियां मिली हैं, तो उनके बारे में भी जानकारी शामिल होती है. पेज पर मिले किसी भी स्ट्रक्चर्ड डेटा के बारे में जानकारी और मार्क की गई समस्याओं को देखने के लिए, पता लगाए गए आइटमों को बड़ा करें. रिपोर्ट में हाइलाइट की गई समस्या पर क्लिक करें, ताकि जहां भी मुमकिन हो वहां समस्या वाला कोड देखा जा सके.

ऐसे इंटरैक्टिव स्ट्रक्चर्ड डेटा डीबगर जिसमें स्ट्रक्चर्ड डेटा में बदलाव और उसकी जांच की जा सकती है, वहां रिच रिज़ल्ट टेस्ट का इस्तेमाल करें. इसमें, कुछ तरह के स्ट्रक्चर्ड डेटा की झलक भी दिखती है.

यहां दिए गए रिच रिज़ल्ट के बारे में जानकारी देखी जा सकती है:

मेरा रिच रिज़ल्ट यहां मौजूद नहीं है!
फ़िलहाल, इस टूल के साथ सभी तरह के रिच रिज़ल्ट काम नहीं करते. ऐसा हो सकता है कि टूल के साथ काम न करने वाले ज़्यादा बेहतर नतीजे (रिच रिज़ल्ट), पेज पर मौजूद हों और मान्य भी हों. वे Search के नतीजों में दिख सकते हैं, लेकिन टूल में नहीं दिखेंगे.

रिस्पॉन्स का अतिरिक्त डेटा

रिस्पॉन्स का अतिरिक्त डेटा, जैसे कि अनुरोध के जवाब में दिखाया गया एचटीएमएल, एचटीटीपी हेडर, JavaScript कंसोल आउटपुट, और पेज पर लोड होने वाले किसी भी रिसॉर्स को देखने के लिए, क्रॉल किए गए पेज देखें पर क्लिक करें.
रिस्पॉन्स की अतिरिक्त जानकारी, सिर्फ़ ऐसे यूआरएल के लिए उपलब्ध है जिनकी स्थिति इन दोनों में से कोई एक है: यूआरएल Google पर मौजूद है या यूआरएल Google पर मौजूद है, लेकिन उसमें कुछ गड़बड़ियां हैं.
डेटा जनरेट करने के लिए किस तरह का क्रॉलर इस्तेमाल किया जाता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने साइट के किस पेज पर साइड पैनल खोला है:
  • रिपोर्ट के ऊपरी हिस्से से खोले जाने पर, एचटीटीपीएस की सब-रिपोर्ट और स्ट्रक्चर्ड डेटा की सब-रिपोर्ट बेहतर बनाने की सुविधा और परफ़ॉर्मेंस में दिखती है. क्रॉलर टाइप की जानकारी देखने के लिए, पेज की उपलब्धता> क्रॉल किया गया > इस तौर पर क्रॉल किया गया पर जाएं
  • जब साइड पैनल को एएमपी या मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ी रिपोर्ट से खोला जाता है, तो क्रॉलर टाइप के तौर पर Googlebot स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल किया जाता है.
रेंडर किए गए पेज का स्क्रीनशॉट, सिर्फ़ लाइव टेस्ट में देखा जा सकता है.

 

लाइव यूआरएल की जांच

प्रॉपर्टी में मौजूद किसी यूआरएल के इंडेक्स होने, मोबाइल पर इस्तेमाल किए जाने, स्ट्रक्चर्ड डेटा से जुड़ी समस्याओं वगैरह की जांच करने के लिए, उस यूआरएल के लिए लाइव टेस्ट चलाएं. लाइव टेस्ट का इस्तेमाल, अपने पेज की समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जा सकता है. साथ ही, यह पता किया जा सकता है कि समस्या ठीक हुई या नहीं.

इंडेक्स होने के दौरान आ सकने वाली गड़बड़ियों की जानकारी पाने के लिए, लाइव टेस्ट करने का तरीका:

  1. यूआरएल की जांच करें. ध्यान दें: अगर पेज अब तक इंडेक्स नहीं हुआ है या उसे इंडेक्स ही नहीं किया जा सका है, तो परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. ज़रूरी यह है कि इस पेज को लॉगिन किए बिना ऐक्सेस किया जा सके.
  2. लाइव यूआरएल की जांच करें पर क्लिक करें.
  3. दी गई जानकारी को समझने के लिए, लाइव टेस्ट के नतीजों को समझना पढ़ें.
  4. आपके पास पेज पर Google इंडेक्स या लाइव टेस्ट पर क्लिक करके, इंडेक्स किए गए यूआरएल की जांच के नतीजों और लाइव टेस्ट के नतीजों के बीच टॉगल करने का विकल्प होता है.
  5. लाइव टेस्ट फिर से करने के लिए, पेज पर 'टेस्ट फिर से चलाएं' बटन पर क्लिक करें.
  6. स्क्रीनशॉट और एचटीटीपी रिस्पॉन्स हेडर के साथ पेज के बारे में जानकारी पाने के लिए, क्रॉल किया गया पेज देखें पर क्लिक करें.

हर प्रॉपर्टी के लिए, हर दिन लाइव जांच करने की एक तय सीमा होती है.

लाइव टेस्ट के नतीजों के बारे में जानकारी

खास बातें:

  • यह एक लाइव टेस्ट है: यह टूल, यूआरएल को फ़ेच करता है और रीयल टाइम में उसकी जांच करता है. लाइव टेस्ट में दिखाई गई जानकारी, इंडेक्स किए गए यूआरएल की जानकारी से अलग हो सकती है. ऐसा इन वजहों से हो सकता है.
  • लाइव टेस्ट के दौरान, किसी साइटमैप में यूआरएल की मौजूदगी की जांच नहीं की जाती है. इसके अलावा, ऐसे किसी पेज की भी जांच नहीं की जाती जो यूआरएल को लिंक करता हो.
  • लाइव टेस्ट में इंडेक्स करने से जुड़ी सभी संभावित समस्याओं की जांच नहीं की जाती, जैसे कि पेज डुप्लीकेट है या वैकल्पिक. डुप्लीकेट पेजों को इंडेक्स नहीं किया जाता.
  • लाइव टेस्ट में, आपके पेज के क्वालिटी और सुरक्षा से जुड़े दिशा-निर्देशों के मुताबिक होने या उससे जुड़े मैन्युअल ऐक्शन, कॉन्टेंट हटाए जाने की कार्रवाई या कुछ समय के लिए ब्लॉक किए गए यूआरएल की जानकारी नहीं मिलती है.
  • लाइव यूआरएल के इंडेक्स होने या न होने की स्थिति, इंडेक्स किए गए यूआरएल की पेज की उपलब्धता की स्थिति से अलग हो सकती है. ऐसा इन वजहों से हो सकता है:
    • आपने लाइव यूआरएल में कुछ बदलाव किए हैं या किसी गड़बड़ी को ठीक किया है, जैसे कि noindex टैग या robots.txt रोक को हटाना या जोड़ना और इन बदलावों को फ़िलहाल इंडेक्स नहीं किया गया है. इंडेक्स किए गए और लाइव नतीजों के बीच फ़र्क़ देखें. इसके अलावा, इंडेक्स किए गए वर्शन और लाइव वर्शन के बीच फ़र्क़ देखने के लिए, अपनी साइट पर पेज के वर्शन का इतिहास देखें.
    • लाइव टेस्ट में, इंडेक्स किए गए वर्शन में शामिल इंडेक्स की सभी स्थितियों की जांच नहीं की जाती है. लाइव टेस्ट में, इंडेक्स किए गए वर्शन की कुछ स्थितियों की जांच नहीं की जाती या उनके नतीजों में सही जानकारी नहीं मिलती. इन स्थितियों को लाइव टेस्ट में अलग तरीके से दिखाया जाता है. लाइव टेस्ट में जिन स्थितियों की जानकारी नहीं मिलती उनके बारे में जानने के लिए, इंडेक्स होने की स्थिति से जुड़े सेक्शन में दी गई जानकारी देखें.

क्या जांच के नतीजे मान्य होने का मतलब है कि मेरे पेज को इंडेक्स किया जाएगा?

नहीं. लाइव यूआरएल की जांच से सिर्फ़ यह पता चलता है कि इंडेक्स करने के लिए, Googlebot आपके पेज को ऐक्सेस कर सकता है या नहीं. आपका पेज Google इंडेक्स में शामिल किया जाएगा या नहीं, यह पता करने के लिए कोई तय जांच नहीं है. भले ही, लाइव टेस्ट का नतीजा मान्य हो या नतीजे में आपको कोई चेतावनी दिखे, फिर भी इंडेक्स किए जाने के लिए आपके पेज को दूसरी शर्तें पूरी करनी होंगी. उदाहरण के लिए:

  • पेज पर मैन्युअल ऐक्शन या कानूनी कार्रवाई नहीं होनी चाहिए.
  • यह पेज इंडेक्स किए गए किसी पेज का डुप्लीकेट नहीं होना चाहिए. यह दूसरे पेजों से अलग होना चाहिए या इसे मिलते-जुलते पेजों के सेट के कैननिकल वर्शन के तौर पर चुना जाना चाहिए.
  • पेज की क्वालिटी इंडेक्स किए जाने की ज़रूरत के हिसाब से होनी चाहिए.

 

लाइव टेस्ट के नतीजों में यह जानकारी शामिल होती है:

पूरी पेज की स्थिति (लाइव टेस्ट)
रिपोर्ट के सबसे ऊपर वाले सेक्शन से आपको यह पता चलता है कि लाइव यूआरएल को इंडेक्स किया जा सकता है या नहीं. अगर जांच के नतीजों में पता चलता है कि यूआरएल को इंडेक्स किया जा सकता है, तो भी यह ज़रूरी नहीं कि वह Search के नतीजों में दिखे. इसका मतलब सिर्फ़ यह होता है कि यूआरएल को क्रॉल और पार्स किया जा सकता है. यूआरएल जांचने वाले टूल से मैन्युअल ऐक्शन, कॉन्टेंट हटाए जाने से जुड़ी जानकारी, क्वालिटी और सुरक्षा से जुड़ी समस्याएं या कुछ समय के लिए ब्लॉक किए गए यूआरएल की जानकारी नहीं मिलती है.
अहम जानकारी: लाइव टेस्ट में, इंडेक्स करने की सभी स्थितियों की जांच नहीं की जाती है. इस टेबल में जिन समस्याओं के आगे "नहीं" लिखा है उनकी जांच लाइव टेस्ट में नहीं की जाती है. पेज को इंडेक्स किए जाने पर ये समस्याएं आ सकती हैं, भले ही लाइव यूआरएल की स्थिति कुछ भी हो.
अगर पेज पर रीडायरेक्ट का इस्तेमाल किया गया है, तो Google उस पेज की जांच करेगा जिस पर रीडायरेक्ट किया जा रहा है. साथ ही, टेस्ट में पेज पर रीडायरेक्ट मौजूद होने के बारे में नहीं बताया जाएगा. इसके अलावा, यह भी नहीं बताया जाएगा कि टेस्ट में किस यूआरएल की जांच की गई है. इंडेक्स की गई रिपोर्ट में, पेज पर रीडायरेक्ट मौजूद होने की जानकारी दिखेगी.

इस जांच के ये नतीजे हो सकते हैं:

Google को यूआरएल मिला

  • इसका क्या मतलब है: यूआरएल को ब्लॉक नहीं किया गया है और इसमें ऐसी कोई गड़बड़ी नहीं मिली है जिसकी वजह से इसे पूरी तरह इंडेक्स करने में रुकावट आए. अगर Google किसी यूआरएल को इंडेक्स करता है, तो वह Google Search के नतीजों में दिख सकता है. इसके लिए, यह ज़रूरी है कि यूआरएल, क्वालिटी और सुरक्षा से जुड़े दिशा-निर्देशों का पालन करता हो. साथ ही, इस पर मैन्युअल ऐक्शन या कॉन्टेंट हटाए जाने की कार्रवाइयां न की गई हों. इसके अलावा, यह भी ज़रूरी है कि इसे कुछ समय के लिए ब्लॉक न किया गया हो. देखें कि किन समस्याओं की जांच नहीं की जाती है.
  • आगे क्या करें: अगर पेज का मौजूदा वर्शन इंडेक्स किए गए वर्शन से अलग है, तो रिपोर्ट में इंडेक्स करने का अनुरोध करें पर क्लिक करके इसे इंडेक्स करने का अनुरोध किया जा सकता है. इसके अलावा, आपके पास साइटमैप सबमिट करने का विकल्प है या पेज को सामान्य तौर पर क्रॉल किए जाने का इंतज़ार किया जा सकता है.

Google को यूआरएल मिला, लेकिन उसमें कुछ समस्याएं हैं

  • इसका क्या मतलब है: Google, यूआरएल को इंडेक्स कर सकता है, लेकिन यूआरएल में कुछ समस्याएं मौजूद हैं. इन समस्याओं की वजह से, हो सकता है कि पेज को बेहतर बनाने के लिए आपने जो बदलाव किए हैं वे न दिखें. इस यूआरएल से जुड़े किसी एएमपी पेज में समस्या होने की वजह से ऐसा हो सकता है. इसके अलावा, रेसिपी या नौकरी के विज्ञापन जैसे रिच रिज़ल्ट के लिए, पेज पर मौजूद गलत स्ट्रक्चर्ड डेटा की वजह से भी ऐसा हो सकता है. देखें कि किन समस्याओं की जांच नहीं की जाती.
  • आगे क्या करें: टूल में दी गई चेतावनी या गड़बड़ी की जानकारी पढ़ें और बताई गई समस्याओं को ठीक करने की कोशिश करें.

Google को यूआरएल नहीं मिला

  • इसका क्या मतलब है: किसी गंभीर समस्या की वजह से यह यूआरएल, Google Search के नतीजों में नहीं दिख सकता.
  • आगे क्या करें: इसकी वजह के बारे में ज़्यादा जानने के लिए, उपलब्धता सेक्शन में दी गई जानकारी पढ़ें.
यूआरएल की उपलब्धता का लाइव टेस्ट

टूल के इस सेक्शन में दी गई जानकारी से यह पता चलता है कि Google, पेज को इंडेक्स कर सकता है या नहीं. हालांकि, अगर जांच के नतीजों में पता चलता है कि यूआरएल को इंडेक्स किया जा सकता है, तो भी यह ज़रूरी नहीं है कि वह Search के नतीजों में दिखे.

जांच के दौरान, यह पता नहीं चलता है कि पेज, Google के क्वालिटी और सुरक्षा से जुड़े दिशा-निर्देशों, किसी मैन्युअल ऐक्शन या सुरक्षा से जुड़ी समस्याओं, कॉन्टेंट हटाने की प्रक्रिया या कुछ समय के लिए ब्लॉक किए गए यूआरएल जैसी शर्तों को पूरा करता है. Google Search के नतीजों में अपने पेज को दिखाने के लिए ज़रूरी है कि इंडेक्स होने के दौरान पेज इन सभी शर्तों को पूरा करता हो.

यूआरएल की उपलब्धता की स्थिति
लाइव यूआरएल उपलब्ध होने की स्थिति. इस जांच के ये नतीजे हो सकते हैं:
समय
लाइव टेस्ट किस समय किया गया था.
इस तौर पर क्रॉल किया गया है
लाइव टेस्ट के लिए, किस तरह का उपयोगकर्ता एजेंट इस्तेमाल किया गया था.
क्या क्रॉल करने की अनुमति है?
इससे पता चलता है कि आपकी साइट, Google को पेज क्रॉल करने (पेज पर जाने) की अनुमति देगी या robots.txt नियम का इस्तेमाल करके उसे ब्लॉक कर देगी. अगर Google को पेज क्रॉल करने से नहीं रोकना है, तो आपको robots.txt की रोक हटा लेनी चाहिए. ध्यान दें कि इसका मतलब इंडेक्स करने की अनुमति देना नहीं है, जो कि "क्या इंडेक्स करने की अनुमति है?" की वैल्यू से दी जाती है. ब्लॉक किए गए पेज को ठीक करने का तरीका जानें.
पेज को फ़ेच करने की स्थिति
इससे पता चलता है कि Google आपके सर्वर से पेज को ऐक्सेस कर सका या नहीं. अगर क्रॉल करने की अनुमति नहीं है, तो इस फ़ील्ड में पेज फ़ेच न होने की जानकारी दी जाएगी. अगर क्रॉल करने की अनुमति दी गई है, तो भी हो सकता है कि पेज फ़ेच न हो. इसकी कई वजहें हो सकती हैं. पेज को फ़ेच नहीं कर पाने के बारे में ज़्यादा जानकारी यहां देखें.
  • पेज फ़ेच किया गया: इंडेक्स करते समय, पेज को फ़ेच किया जा सका.
  • पेज फ़ेच नहीं किया गया और इंडेक्स न किए जाने की इन स्थितियों में से कोई एक या पूरी साइट पर मौजूद गड़बड़ी.
  • अंदरूनी गड़बड़ी: क्रॉल करने के दौरान Google की ओर से हुई गड़बड़ी जो इन समस्याओं में शामिल नहीं है. कृपया थोड़ी देर बाद कोशिश करें.
  • उपलब्ध नहीं है: ऐसी गड़बड़ी जो पहले से मौजूद स्थिति की वजहों में शामिल नहीं है. यह एक सामान्य गड़बड़ी का मैसेज है. माफ़ करें, हमारे पास इसके बारे में कोई और जानकारी नहीं है.
क्या इंडेक्स करने की अनुमति है?
इससे पता चलता है कि आपके पेज ने इंडेक्स करने पर साफ़ तौर पर रोक लगाई है या नहीं. अगर इंडेक्स करने की अनुमति नहीं है, तो उसकी वजह बताई जाती है. अनुमति न होने की वजह से, पेज Google Search के नतीजों में नहीं दिखेगा. अहम जानकारी अगर आपके पेज को robots.txt का इस्तेमाल करके ब्लॉक किया गया है ("क्या क्रॉल करने की अनुमति है?" देखें), तो "क्या इंडेक्स करने की अनुमति है?" का जवाब हमेशा "हां" होगा, क्योंकि noindex के निर्देश को Google न तो देख पाएगा और न ही उसके हिसाब से कार्रवाई कर पाएगा. इस वजह से आपका पेज, Search के नतीजों में दिख सकता है.
वह यूआरएल जिसकी पहचान उपयोगकर्ता ने कैननिकल के तौर पर की है
अगर आपका पेज साफ़ तौर पर किसी कैननिकल यूआरएल की जानकारी देता है, तो वह जानकारी यहां दिखेगी. अगर आपका पेज डुप्लीकेट नहीं है, तो यहां कोई नहीं वैल्यू बिलकुल ठीक है. अगर आपका पेज, मिलते-जुलते या डुप्लीकेट पेज के किसी सेट का हिस्सा है, तो हमारा सुझाव है कि आप कैननिकल यूआरएल की जानकारी साफ़ तौर पर दें. कैननिकल यूआरएल की जानकारी इन तरीकों से दी जा सकती है: <link rel="canonical"> टैग, एचटीटीपी हेडर, साइटमैप या कुछ अन्य तरीके. इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि Google इस यूआरएल को चुनेगा, लेकिन हम इस बात का ध्यान रखेंगे. जब तक वेबसाइट मालिक खुद किसी एएमपी पेज को कैननिकल वर्शन के तौर पर सेट नहीं करते, तब तक एएमपी पेजों के लिए कैननिकल के तौर पर, बिना एएमपी वाले वर्शन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

 

लाइव टेस्ट में, इंडेक्स कवरेज से जुड़ी समस्याओं की जांच नहीं की जाती
लाइव टेस्ट से, पेज की सभी स्थितियों का पता नहीं चल सकता या पूरे भरोसे के साथ यह अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि पेज इंडेक्स होगा या नहीं. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि कुछ समस्याओं की जांच, रीयल टाइम में नहीं होती या नहीं की जा सकती. जैसे, कौनसा कैननिकल चुना गया या किसी यूआरएल को साइटमैप में सबमिट किया गया था या नहीं. अगर किसी स्थिति की जांच नहीं की जाती है, तो हो सकता है कि लाइव टेस्ट के नतीजे में, Google को यूआरएल मिला दिखे. हालांकि, लाइव टेस्ट में स्थिति की जांच न होने की वजह से, उसे इंडेक्स नहीं किया जा सकेगा.
यहां इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट से, इंडेक्स होने से जुड़ी उन समस्याओं की जानकारी दी गई है जिनकी जांच लाइव टेस्ट में नहीं की जा सकती:
दूसरी बेहतर सुविधाएं: मोबाइल पर इस्तेमाल, एएमपी, स्ट्रक्चर्ड डेटा (लाइव टेस्ट)

मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी

ज़्यादा जानकारी के लिए, इंडेक्स किया गया मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ा सेक्शन देखें.

किस यूआरएल की जांच की गई है?

अगर सबमिट किए गए यूआरएल से कोई एएमपी यूआरएल जुड़ा है, तो मोबाइल पर इस्तेमाल* के लिए एएमपी यूआरएल की जांच की जाएगी. हालांकि, एएमपी पेज अमान्य होने पर, जांच नहीं की जाएगी. अगर सबमिट किए गए यूआरएल से जुड़ा कोई एएमपी यूआरएल नहीं है या उससे जुड़ा एएमपी पेज अमान्य है, तो टेस्ट, मोबाइल उपयोगकर्ता एजेंट के साथ, सबमिट किए गए यूआरएल का अनुरोध करेगा. साथ ही, टेस्ट में रीडायरेक्ट को फ़ॉलो किया जाएगा और फ़ाइनल यूआरएल की जांच की जाएगी. रिपोर्ट में यह जानकारी शामिल नहीं होती कि किस यूआरएल की जांच की गई है.
ध्यान दें कि पेज को इंडेक्स करने के दौरान कई जटिल तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है. साथ ही, पेज के वैकल्पिक यूआरएल, डुप्लीकेट यूआरएल, और अन्य चीज़ों पर विचार किया जाता है. इसलिए, आपको इंडेक्स किए गए पेज को मोबाइल पर इस्तेमाल करने से जुड़ी जांच के नतीजों को भरोसेमंद मानना चाहिए. साथ ही, इस बात का ध्यान रखें कि मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़े लाइव टेस्ट में जांचे गए यूआरएल और इंडेक्स करने के दौरान इस्तेमाल किए गए यूआरएल में अंतर हो सकता है.

एएमपी

ज़्यादा जानकारी के लिए, इंडेक्स किया गया एएमपी वाला सेक्शन देखें.

किस यूआरएल की जांच की गई है?
किस एएमपी यूआरएल की जांच करनी है, यह तय करने के लिए टेस्ट उस यूआरएल को फ़ेच करता है जिसे डेस्कटॉप उपयोगकर्ता एजेंट का इस्तेमाल करके सबमिट किया गया था. साथ ही, टेस्ट में सभी तरह के रीडायरेक्ट को फ़ॉलो किया जाता है. उसके बाद:
  • अगर फ़ाइनल यूआरएल एएमपी है, तो यूआरएल की जांच की जाएगी.
  • अगर फ़ाइनल यूआरएल को किसी एएमपी से लिंक किया गया है, तो लिंक किए गए एएमपी की जांच की जाएगी.
  • अगर फ़ाइनल यूआरएल न तो एएमपी है और न ही उसे किसी एएमपी पेज से लिंक किया गया है, तो टेस्ट में एएमपी के लिए कोई नतीजा नहीं दिखेगा.

स्ट्रक्चर्ड डेटा

ज़्यादा जानकारी के लिए, इंडेक्स किया गया एएमपी वाला सेक्शन देखें.

रिस्पॉन्स का अतिरिक्त डेटा (लाइव टेस्ट)

अतिरिक्त रिस्पॉन्स डेटा, जैसे कि रेंडर किए गए पेज का स्क्रीनशॉट, रिस्पॉन्स में मिला एचटीएमएल, एचटीटीपी हेडर, JavaScript कंसोल आउटपुट, और पेज पर लोड होने वाले रिसॉर्स को देखने के लिए, जांचे गए पेज की जानकारी देखें पर क्लिक करें.
लाइव टेस्ट में रिस्पॉन्स का अतिरिक्त डेटा सिर्फ़ तब उपलब्ध होता है, जब जांच की स्थिति, Google को यूआरएल मिला या Google को यूआरएल मिला, लेकिन उसमें समस्याएं हैं हो.
डेटा जनरेट करने के लिए किस तरह का क्रॉलर इस्तेमाल किया जाता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने साइट के किस पेज पर साइड पैनल खोला है:
  • रिपोर्ट के ऊपरी हिस्से से खोले जाने पर, एचटीटीपीएस की सब-रिपोर्ट और स्ट्रक्चर्ड डेटा की सब-रिपोर्ट बेहतर बनाने की सुविधा और परफ़ॉर्मेंस में दिखती है. क्रॉलर टाइप की जानकारी देखने के लिए, पेज की उपलब्धता> क्रॉल किया गया > इस तौर पर क्रॉल किया गया पर जाएं
  • जब साइड पैनल को एएमपी या मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ी रिपोर्ट से खोला जाता है, तो क्रॉलर टाइप के तौर पर Googlebot स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल किया जाता है.
पूरी साइट पर उपलब्धता से जुड़ी समस्याएं

अगर उपलब्धता की लाइव स्थिति से यह पता चलता है कि पूरी साइट पर समस्याएं मौजूद हैं, तो पेज फ़ेच के लिए ये वैल्यू दिख सकती हैं:

  • डीएनएस सर्वर काम नहीं कर रहा है: आम तौर पर, यह समस्या थोड़े समय के लिए होती है, जो कुछ मिनट में अपने-आप ठीक हो जाती है.
  • डीएनएस की गड़बड़ी: होस्ट के बारे में जानकारी नहीं है: आपके डीएनएस सर्वर से यूआरएल की समस्या ठीक नहीं हो पाई. यह समस्या थोड़े समय के लिए हो सकती है, जो कुछ ही मिनट में अपने-आप ठीक हो जाती है.
  • डीएनएस की गड़बड़ी: निजी आईपी पता दिया गया है: आपके डीएनएस ने ऐसा आईपी पता भेजा है जो खास/निजी तौर पर शामिल नहीं की गई सीमा में है. जैसे, RFC 1918 निजी आईपी पता (उदाहरण के लिए, 10.0.0.1)
  • सर्वर कनेक्शन की गड़बड़ी: सर्वर ने कनेक्शन अस्वीकार कर दिया, उस तक पहुंचा नहीं जा सका या उससे कनेक्ट नहीं किया जा सका. ज़्यादा जानें.
  • सर्वर से गलत जवाब मिला: सर्वर, अनुरोध किए गए प्रोटोकॉल के साथ काम नहीं करता. रिस्पॉन्स या हेडर को छोटा किया गया है या रिस्पॉन्स को पार्स नहीं किया जा सका (उदाहरण के लिए, सर्वर से मिले रिस्पॉन्स डेटा को गलत तरीके से कंप्रेस करने की स्थिति में). ज़्यादा जानें.
  • अमान्य सर्वर SSL सर्टिफ़िकेट: आपकी साइट का एसएसएल सर्टिफ़िकेट अमान्य है. Google, साइट पर एचटीटीपीएस यूआरएल की जांच तब तक नहीं करेगा, जब तक मान्य सर्टिफ़िकेट नहीं होगा.
  • Robots.txt तक नहीं पहुंचा जा सका: अगर robots.txt फ़ाइल मौजूद है, लेकिन उसे ऐक्सेस नहीं किया जा सकता, तो Google किसी वेबसाइट को क्रॉल नहीं करेगा. क्रॉल करने के बारे में आंकड़े देने वाली रिपोर्ट में यह देखा जा सकता है कि आपकी robots.txt फ़ाइल उपलब्ध है या नहीं.
  • होस्टलोड ज़्यादा बढ़ गया है: किसी साइट को क्रॉल करने या उसकी जांच के अनुरोध स्वीकार करने के लिए, Google ने एक सीमा तय की है. आपकी वेबसाइट उस सीमा तक पहुंच चुकी है. Google तब तक जांच नहीं कर सकता, जब तक आपका ट्रैफ़िक लोड (Google के अनुमान के मुताबिक) कम नहीं हो जाता.

ध्यान दें कि सर्वर की गड़बड़ियां थोड़े समय के लिए हो सकती हैं. इसलिए, किसी लाइव टेस्ट के दौरान आपको सर्वर की ऐसी गड़बड़ियां मिल सकती हैं जो पेज को क्रॉल करते समय नहीं होंगी. इसके उलट, पेज को क्रॉल करते समय गड़बड़ियां मिलने के बावजूद लाइव टेस्ट पूरा हो सकता है.

रेंडर किया गया पेज देखना

Googlebot किसी पेज को किस तरह देखता है, यह जानने के लिए रेंडर किए गए पेज का स्क्रीनशॉट देखा जा सकता है. इसका इस्तेमाल यह पुष्टि करने के लिए किया जा सकता है कि पेज के सभी एलिमेंट मौजूद हैं और आपके मुताबिक दिख रहे हैं. अगर पेज आपके मुताबिक नहीं दिखता है, तो इसकी वजह यह हो सकती है कि कुछ रिसॉर्स को Googlebot ने ब्लॉक किया हो.

स्क्रीनशॉट सिर्फ़ उस लाइव टेस्ट के लिए उपलब्ध होता है जिसके नतीजे में कोई गड़बड़ी न मिली हो. इंडेक्स किए गए यूआरएल या ऐसे यूआरएल के लिए स्क्रीनशॉट उपलब्ध नहीं होते जिन्हें लाइव टेस्ट में फ़ेच नहीं किया जा सका. स्क्रीनशॉट जनरेट करने के लिए, यह ज़रूरी है कि पेज को ऐक्सेस किया जा सके. अगर आपका पेज फ़ायरवॉल से सुरक्षित किया गया है, तो आपके पास टनल का इस्तेमाल करके उसे यूआरएल जांचने वाले टूल में भेजने का विकल्प होता है.

रेंडर किया गया पेज देखने के लिए:

  1. अपनी साइट के होम पेज की जांच करें.
  2. इंडेक्स के नतीजों वाले पेज पर लाइव यूआरएल की जांच करें पर क्लिक करें.
  3. ज़्यादा जानकारी के लिए पेज के नतीजे वाले कार्ड में जांचे गए पेज देखें पर क्लिक करें. अगर यह विकल्प उपलब्ध नहीं है, तो लाइव टेस्ट के लिए पेज को ऐक्सेस न कर पाना इसकी एक आम वजह है.
  4. स्क्रीनशॉट टैब पर क्लिक करें.

इंडेक्स करने या फिर से इंडेक्स करने का अनुरोध करना

जांचे गए किसी यूआरएल को इंडेक्स करने का अनुरोध किया जा सकता है. यूआरएल को इंडेक्स करने में एक या दो हफ़्ते लग सकते हैं. इस टूल की मदद से, यूआरएल को इंडेक्स किए जाने की स्थिति देखी जा सकती है.

इंडेक्स करने का अनुरोध करने से जुड़ी कुछ चेतावनियां:
  • आम तौर पर, इंडेक्स करने में करीब एक दिन का समय लगता है, लेकिन कुछ मामलों में इससे ज़्यादा समय भी लग सकता है.
  • अनुरोध सबमिट करने से इस बात की गारंटी नहीं मिलती कि पेज 'Google इंडेक्स' में दिखेगा.
  • एक दिन में इंंडेक्स करने के कितने अनुरोध सबमिट किए जा सकते हैं, इसकी सीमा तय होती है. कई पेजों को इंडेक्स करने के लिए Google को साइटमैप सबमिट करने की कोशिश करें.

यूआरएल को इंडेक्स करने का अनुरोध करने के लिए:

  1. पेज के यूआरएल की जांच करें.
  2. यूआरएल की जांच के नतीजे वाले पेज पर इंडेक्स करने का अनुरोध करें पर क्लिक करें. इंडेक्स किए जाने में हो रही गड़बड़ियों की जांच करने के लिए, पेज की तेज़ी से जांच की जाती है. इस जांच में किसी भी तरह की गड़बड़ी न मिलने पर, पेज को इंडेक्स किए जाने की सूची में सबमिट कर दिया जाएगा. अगर लाइव टेस्ट में पाया जाता है कि पेज को इंडेक्स नहीं किया जा सकता, तो पेज को इंडेक्स करने का अनुरोध नहीं किया जा सकेगा.

नए या अपडेट किए गए पेजों को इंडेक्स करने के लिए अनुरोध करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपडेट किए गए पेजों को <lastmod> से मार्क करके, साइटमैप सबमिट करें.

पेज मौजूद न होने की समस्या हल करना

अगर आपको लगता है कि आपके पेज को इंडेक्स नहीं किया गया है, तो इस समस्या की पुष्टि करने और उसे हल करने का तरीका यहां बताया गया है.

  1. पेज की इंडेक्स स्थिति देखें. यूआरएल की जांच करने के लिए, यूआरएल जांच करने वाले टेक्स्टबॉक्स में यूआरएल डालें या Search Console की किसी भी अन्य रिपोर्ट में दिए गए यूआरएल के आगे दिए 'जांच करें' बटन पर क्लिक करें. हो सकता है कि यह बटन देखने के लिए, आपको किसी यूआरएल पर कर्सर घुमाना पड़े.
  2. जांच के शुरुआती नतीजों में, आपको यूआरएल से जुड़ी वह जानकारी दिखती है जो Google के पास, Google इंडेक्स में मौजूद है. Google इंडेक्स के इन नतीजों का इस्तेमाल, खोज के नतीजों को जनरेट करने के लिए किया जाता है. ध्यान दें: शुरुआत में दिखने वाला यह पेज, यूआरएल का लाइव टेस्ट नहीं है. लाइव टेस्ट की जानकारी बाद में दिखाई जाती है.
  3. क्रॉल करने के दिए गए समय के बाद, अगर आपने पेज में बदलाव किया है, तो लाइव यूआरएल की जांच करें पर क्लिक करके, पेज के मौजूदा वर्शन की जांच की जा सकती है. अगर पेज के सबसे ऊपर दिखने वाली स्थिति मान्य है, तो शायद पेज को इंडेक्स किया जा सकता है. ध्यान दें कि इंडेक्स करने से जुड़ी सभी समस्याओं को लाइव टेस्ट से नहीं जांचा जा सकता.
ऐसी समस्याएं जिनकी जानकारी पहले से है
  • कुछ मामलों में, हम ऐसे पेज के लिए साइटमैप की रिपोर्ट नहीं देते जिसे साइटमैप से सबमिट किया गया है. हम इसे ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं.
  • स्क्रीनशॉट जैसी जानकारी, पेज के मोबाइल वर्शन से ली जाती है, भले ही जांचे गए पेज को किसी मान्य एएमपी से लिंक किया गया हो.

    अगर लिंक किया गया एएमपी पेज अमान्य है, तो Google उस पेज की जांच करके यह पता नहीं करेगा कि पेज मोबाइल-फ़्रेंडली है या नहीं. अगर किसी वजह से, लिंक किया गया कोई एएमपी पेज मान्य और अमान्य के बीच स्विच करता है, तो लिंक किए गए उस पेज के मोबाइल-फ़्रेंडली होने की स्थिति बदल सकती है. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि Google, एएमपी पेज (जब एएमपी पेज मान्य हो) और लिंक किए गए ऐसे पेज की जांच के बीच स्विच करता है जो एएमपी पेज (जब एएमपी पेज मान्य न हो) नहीं है.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

आगे दिए गए कदमों को आज़माएं:

true
क्या आप Search Console पहली बार इस्तेमाल कर रहे हैं?

क्या आपने पहले कभी Search Console इस्तेमाल नहीं किया? चाहे आप इसे सीखना चाहते हों, एसईओ विशेषज्ञ हों या वेबसाइट डेवलपर हों, आप यहां से शुरुआत कर सकते हैं.

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
false
false
true
83844