Google Play की पेमेंट पॉलिसी को समझना

Academy Logo

मुफ़्त में सीखने की सुविधा.

Academy for App Success पर जाकर, Google Play की पेमेंट पॉलिसी के बारे में ज़्यादा जानें.

 

Google Play पर मौजूद ऐप्लिकेशन में डिजिटल प्रॉडक्ट और सेवाओं की इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी की सुविधा देने वाले सभी डेवलपर के लिए, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है.

इससे, आपको दुनिया भर के लाखों उपयोगकर्ताओं के साथ आसानी से लेन-देन करने की सुविधा के साथ-साथ उपयोगकर्ताओं को भी सुरक्षित तरीके से पेमेंट करने की सुविधा मिलती है. इसके अलावा, उपयोगकर्ताओं को एक ही सिस्टम से अपने सभी पेमेंट को मैनेज करने की सुविधा भी मिलती है.  Play का बिलिंग सिस्टम, उपयोगकर्ताओं का भरोसा बनाए रखने और Google Play को सुरक्षित रखने में हमारी मदद करता है.

Google Play के बिलिंग सिस्टम के बारे में जानकारी

Google Play के बिलिंग सिस्टम की मदद से, आपको अपने Android ऐप्लिकेशन में डिजिटल प्रॉडक्ट और कॉन्टेंट बेचने की सुविधा मिलती है. वन-टाइम प्रॉडक्ट या ऐसी सदस्यताएं बेचने के लिए, जिनके लिए उपयोगकर्ताओं से समय-समय पर शुल्क लिया जाता है, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जा सकता है. Google Play के बिलिंग सिस्टम को अपने ऐप्लिकेशन से जोड़ने का तरीका जानने के लिए, Android डेवलपर साइट पर जाएं.

जब तक पेमेंट से जुड़ी नीति में किसी खरीदारी को अलग से अनुमति न दी जाए, तब तक इन प्रॉडक्ट और सेवाओं की खरीदारी के लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है:

  • डिजिटल आइटम, जैसे कि वर्चुअल मुद्राएं, खेलने के कुछ और मौके, खेलने के लिए कुछ और समय, ऐड-ऑन आइटम, किरदार या अवतार;
  • सदस्यता सेवाएं, उदाहरण के लिए, फ़िटनेस, गेम, डेटिंग, शिक्षा, संगीत, वीडियो, और अन्य कॉन्टेंट से जुड़ी सदस्यता सेवाएं;
  • ऐप्लिकेशन की मुख्य सुविधाएं या कॉन्टेंट, उदाहरण के लिए, किसी ऐप्लिकेशन का ऐसा वर्शन जिस पर कोई विज्ञापन न हो या नई सुविधाएं जो मुफ़्त वर्शन पर मौजूद नहीं हों; और
  • क्लाउड सॉफ़्टवेयर और सेवाएं, जैसे कि डेटा सेव करने वाली सेवाएं, कारोबार की उत्पादकता बढ़ाने वाला या वित्तीय मामलों को मैनेज करने वाला सॉफ़्टवेयर.

ऐसी खरीदारी जिनके लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम की ज़रूरत नहीं होती है:

  • किराने का सामान, कपड़े, घर का सामान, इलेक्ट्रॉनिक्स जैसी चीज़ें खरीदना या किराये पर लेना;
  • परिवहन सेवाएं, हवाई जहाज़ का किराया, जिम की सदस्यता या खाने की डिलीवरी जैसी शुल्क देकर ली जाने वाली सेवाएं; और
  • क्रेडिट कार्ड या बिजली-पानी जैसी सुविधाओं का बिल चुकाना.

Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल पीयर-टू-पीयर पेमेंट या ऑनलाइन जुए को बढ़ावा देने वाले कॉन्टेंट के लिए नहीं किया जा सकता. इसके अलावा, किसी भी ऐसी प्रॉडक्ट कैटगरी के लिए भी इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता जो Google पेमेंट्स सेंटर के कॉन्टेंट की नीति के मुताबिक गलत मानी जाती है.

पेमेंट से जुड़ी नीति के बारे में जानकारी

हमने 2020 में, पेमेंट से जुड़ी हमारी नीति में दी गई जानकारी को पहले से बेहतर बनाया था. इसमें, साफ़ तौर पर बताया गया था कि अपने ऐप्लिकेशन में डिजिटल प्रॉडक्ट और सेवाएं बेचने वाले सभी डेवलपर के लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है. जो ऐप्लिकेशन किसी अन्य इन-ऐप्लिकेशन बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं उन्हें वह सिस्टम हटाना होगा, ताकि वे पेमेंट से जुड़ी नीति के मुताबिक बन सकें.  

हम हमेशा अपने डेवलपर समुदाय की मदद करने की कोशिश करते हैं, ताकि वे अपने ऐप्लिकेशन में जब भी कोई ज़रूरी बदलाव करें, तो उस दौरान भी ऐप्लिकेशन को Google Play पर उपलब्ध रखा जा सके. ज़्यादातर डेवलपर पहले से ही, लंबे समय से लागू इस नीति का पालन कर रहे हैं. वहीं, जिन डेवलपर ने अपने ऐप्लिकेशन में ज़रूरी बदलाव नहीं किए थे उन्हें ऐसा करने के लिए हमने एक साल का ग्रेस पीरियड दिया था. डेवलपर से मिले सुझावों के हिसाब से, हमने ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाले डेवलपर को यह विकल्प दिया था कि वे अतिरिक्त छह महीनों के लिए ग्रेस पीरियड बढ़ाने का अनुरोध कर सकते हैं. इस तरह, उन्हें अपने ऐप्लिकेशन को पेमेंट से जुड़ी हमारी नीति के मुताबिक बनाने के लिए, 18 महीनों से ज़्यादा का समय दिया गया था. हम डेवलपर पार्टनर के साथ मिलकर काम करते रहते हैं, ताकि हमारे नेटवर्क की बदलती हुई ज़रूरतों को पूरा किया जा सके.

नीति का पालन न करने वाले किसी भी ऐप्लिकेशन को 1 जून, 2022 से Google Play से हटा दिया जाएगा. 

भारत में रहने वाले डेवलपर के पास इस नीति का पालन करने के लिए 31 अक्टूबर, 2022 तक का समय है. पेमेंट लैंडस्केप से जुड़े कुछ खास मामलों की वजह से, यह समयसीमा तय की गई है. ज़्यादा जानकारी के लिए, कृपया अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें.

जिन डेवलपर का ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोग दक्षिण कोरिया में रहते हैं वे अब किसी अन्य इन-ऐप्लिकेशन बिलिंग सिस्टम को भी जोड़ सकते हैं. ज़्यादा जानकारी के लिए, कृपया अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें.

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या अपने ऐप्लिकेशन को Android के किसी अन्य ऐप्लिकेशन स्टोर या अपनी वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जा सकता है? 

हां, अपने ऐप्लिकेशन को आप जैसे चाहें वैसे उपलब्ध कराएं. एक खुले नेटवर्क के तौर पर, ज़्यादातर Android डिवाइसों पर पहले से ही एक से ज़्यादा स्टोर इंस्टॉल होते हैं. उपयोगकर्ता चाहें, तो अन्य स्टोर भी इंस्टॉल कर सकते हैं. Android से डेवलपर को यह आज़ादी और सुविधा मिलती है कि वे अपने ऐप्लिकेशन, Android के किसी अन्य ऐप्लिकेशन स्टोर पर सीधे वेबसाइट से या डिवाइस पर पहले से लोड करके, आसानी से उपलब्ध करा सकते हैं. ऐसा करने के लिए, उन्हें Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने की ज़रूरत नहीं है.

कई कारोबारों के लिए अब यह ज़रूरी हो गया है कि फ़िज़िकल तौर पर उपलब्ध उनकी सेवाएं, ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएं. उदाहरण के लिए, लाइव इवेंट की स्ट्रीमिंग. क्या इन ऐप्लिकेशन के लिए, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है?

हम समझते हैं कि दुनिया भर में महामारी के फैलने से, कारोबारों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा. इनमें, अपनी सेवाओं को सीधे तौर पर उपलब्ध कराने के बजाय डिजिटल तौर पर उपलब्ध कराना और ग्राहकों के साथ नए तरीके से जुड़ना शामिल है. उदाहरण के लिए, ऑनलाइन क्लास लेना और ग्राहकों को व्यक्तिगत तौर पर सुविधाएं उपलब्ध कराने के बजाय ऑनलाइन उपलब्ध कराना. इसलिए, इन कारोबारों के लिए अगले नौ महीनों तक Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. साथ ही, हम अगले साल तक स्थिति का आकलन करते रहेंगे.

क्या Google के ऐप्लिकेशन को भी इस नीति का पालन करना होगा?

हां. डेवलपर के लिए Google Play की नीतियों में, डिजिटल प्रॉडक्ट की इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी के लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने की शर्तें शामिल हैं. ये नीतियां, Google के ऐप्लिकेशन और Google Play पर मौजूद सभी ऐप्लिकेशन पर लागू होती हैं.

क्या अपने उपयोगकर्ताओं को पैसे चुकाने के अन्य तरीकों के बारे में बताया जा सकता है?

हां. अपने ऐप्लिकेशन के बाहर, खरीदारी के अन्य विकल्पों के बारे में उपयोगकर्ताओं को बताया जा सकता है. सदस्यता से जुड़े ऑफ़र और खास कीमत के बारे में ऐप्लिकेशन के बाहर बताया जा सकता है. इसके लिए, ईमेल मार्केटिंग और अन्य चैनलों का इस्तेमाल करें.

किसी ऐप्लिकेशन में डेवलपर, लोगों को Google Play के बिलिंग सिस्टम के अलावा, पैसे चुकाने के किसी अन्य तरीके पर नहीं ले जा सकते. ऐसा तब तक नहीं किया जा सकता, जब तक पेमेंट से जुड़ी नीति में इसकी अनुमति नहीं दी जाती. इस शर्त के तहत डेवलपर, अपने ऐप्लिकेशन को ऐसे वेबपेज से सीधे लिंक नहीं कर सकते जो लोगों को पैसे चुकाने के किसी अन्य तरीके पर ले जा सकता है. इसके अलावा, ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने की अनुमति भी नहीं है जिससे लोगों को ऐप्लिकेशन के बाहर, डिजिटल आइटम खरीदने का बढ़ावा मिलता हो.

डेवलपर, लोगों को ऐसे पेज पर भेज सकते हैं जहां खाते को मैनेज करने से जुड़ी जानकारी उपलब्ध हो. उदाहरण के लिए, निजता नीति, सहायता केंद्र या खाता मैनेजमेंट पेज. ऐसा सिर्फ़ तब किया जा सकता है, जब वेबपेज पैसे चुकाने के किसी ऐसे अन्य तरीके पर न ले जाता हो जिसका इस्तेमाल करने के लिए, पेमेंट से जुड़ी नीति में मना किया गया हो.

डेवलपर, सिर्फ़ इस्तेमाल के लिए उपलब्ध सेवाओं और प्रॉडक्ट के लिए, खरीदारी के विकल्पों के बारे में अन्य जानकारी दे सकते हैं. इन सेवाओं और प्रॉडक्ट में, ऐसे ऐप्लिकेशन शामिल हैं जिनमें लोगों को डिजिटल प्रॉडक्ट या सेवाओं का ऐक्सेस खरीदने की सुविधा नहीं दी जाती. अन्य जानकारी में सीधे दूसरे पेज पर ले जाने वाले लिंक नहीं दिए जा सकते. इसके अलावा, इसमें इस तरह की भाषा का इस्तेमाल भी नहीं किया जा सकता:

  • "इस किताब को सीधे हमारी वेबसाइट से खरीदा जा सकता है"
  • "अपनी सदस्यता को प्रीमियम में अपग्रेड करने के लिए हमारी वेबसाइट पर जाएं"
  • "ऐप्लिकेशन में यह फ़िल्म किराये पर उपलब्ध नहीं है. हालांकि, ourwebsite.com से किराये पर कोई फ़िल्म लेने पर, वह ऐप्लिकेशन में देखने के लिए तुरंत उपलब्ध हो जाएगी"
  • "खेलने के कुछ और मौके चाहिए? ज़्यादा खरीदारी के लिए हमारी वेबसाइट पर जाएं"
क्या मेरे ऐप्लिकेशन को इस्तेमाल करने वाले लोगों से, अन्य प्लैटफ़ॉर्म पर प्रमोशन के बारे में बात की जा सकती है?

हां, उन्हें ईमेल भेजकर या ऐप्लिकेशन के बाहर, अन्य तरीकों से भी अपने ऑफ़र के बारे में बताया जा सकता है, फिर चाहे वे Google Play पर अलग-अलग ही क्यों न हों.

क्या प्लैटफ़ॉर्म के हिसाब से, उपयोगकर्ताओं को ऐप्लिकेशन की अलग-अलग सुविधाएं, कीमतें, और अनुभव ऑफ़र किए जा सकते हैं?

हां. यह ज़रूरी नहीं है कि सभी प्लैटफ़ॉर्म पर सुविधाएं, अनुभव, और कीमतें एक जैसी हों. अलग-अलग प्लैटफ़ॉर्म, सुविधाओं, और कीमत तय करने के मॉडल के हिसाब से, अपने ऐप्लिकेशन के अलग-अलग वर्शन बनाए जा सकते हैं.

क्या Google Play पर, सिर्फ़ इस्तेमाल के लिए डाउनलोड किया जाने वाला ऐप्लिकेशन उपलब्ध कराया जा सकता है?

हां. Google Play हर ऐप्लिकेशन को सिर्फ़ इस्तेमाल के लिए डाउनलोड किए जाने की अनुमति देता है. भले ही, वह पैसे देकर ली जाने वाली सेवा का हिस्सा हो. उदाहरण के लिए, उपयोगकर्ता ऐप्लिकेशन खुलने पर उसमें लॉगिन कर सकता है. साथ ही, पैसे देकर लिया गया कॉन्टेंट कहीं और से भी ऐक्सेस कर सकता है.

क्या मेरी ऐप्लिकेशन कैटगरी के हिसाब से, आपकी बिलिंग से जुड़ी नीति बदल जाती है?

नहीं. सभी ऐप्लिकेशन कैटगरी पर Google Play की पेमेंट से जुड़ी नीति लागू होती है.

क्या अपने ग्राहकों को सीधे तौर पर रिफ़ंड दिया जा सकता है?

हां. अपने ग्राहकों को रिफ़ंड और ग्राहक सहायता सेवा सीधे तौर पर उपलब्ध कराई जा सकती है.

क्या Google Play, क्लाउड गेमिंग ऐप्लिकेशन उपलब्ध कराने की अनुमति देता है?

हां. ऐसे क्लाउड गेम स्ट्रीमिंग ऐप्लिकेशन, Google Play पर उपलब्ध कराए जा सकते हैं जो Google Play की नीतियों के मुताबिक हों.

क्या ऐसे ऐप्लिकेशन को Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना चाहिए जो बीमा जैसी चीज़ें, स्टॉक ट्रेड, निवेश से जुड़ी सलाह या टैक्स रिटर्न तैयार करने और फ़ाइल करने की सुविधा उपलब्ध कराते हैं?

नहीं. बीमा जैसी चीज़ों को खरीदने या स्टॉक ट्रेड, निवेश से जुड़ी सलाह या टैक्स रिटर्न तैयार करने और फ़ाइल करने से जुड़ी सेवाएं खरीदने के लिए, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए.

मेरा ऐप्लिकेशन चिकित्सा से जुड़ी सेवाएं मुहैया कराता है. इस काम में होने वाले लेन-देन के लिए, क्या मुझे Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना चाहिए?

कानून के दायरे में आने वाली चिकित्सा सेवाओं से जुड़े लेन-देन में, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. कानून के दायरे में आने वाली चिकित्सा सेवाओं में, उन लोगों या कंपनियों की सेवाएं शामिल हैं जिन्हें लाइसेंस मिल चुका है. इनका मकसद, स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का पता लगाना, रोकना, उनका इलाज करना, समस्या को कम करना या ठीक करना या उन्हें मैनेज करना है. इन सेवाओं में डॉक्टर से सलाह लेना, दवाओं के लिए डॉक्टर का पर्चा पाना या लाइसेंस रखने वाले पेशेवर से इलाज कराना शामिल है.

इसके अलावा, डिजिटल COVID पासपोर्ट सर्टिफ़िकेट देने वाले ऐप्लिकेशन के लिए, Google Play का बिलिंग सिस्टम इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. ऐसा तब होता है, जब सेवा देने वाली या उसके लिए सीधे तौर पर शुल्क लेने वाली कोई सरकारी एजेंसी होती है.

क्या Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना, उन वस्तुओं या सेवाओं को खरीदने के लिए भी ज़रूरी है जिन्हें ऐप्लिकेशन में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता?

कुछ डिजिटल प्रॉडक्ट या सेवाओं की खरीदारी के लिए, Google Play का बिलिंग सिस्टम इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. इनमें, ऐसे डिजिटल प्रॉडक्ट या सेवाएं शामिल हैं जिन्हें Google Play पर मौजूद ऐप्लिकेशन के बाहर ही इस्तेमाल किया जा सकता है या जिन्हें Google Play पर मौजूद ऐप्लिकेशन में ऐक्सेस नहीं किया जा सकता. उदाहरण के लिए, ऐसी रिंगटोन जिन्हें डिवाइस में इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन ऐप्लिकेशन में नहीं, सिर्फ़ वेब के लिए उपलब्ध ऐसा कॉन्टेंट जिसे ऐप्लिकेशन में कभी भी इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, और ऐसे ऐप्लिकेशन जो क्लाउड से जुड़ी सेवा देने वाले प्लैटफ़ॉर्म को मैनेज करते हैं, लेकिन ऐप्लिकेशन में उस क्लाउड स्टोरेज का ऐक्सेस उपलब्ध नहीं कराते.

क्या अपने ऐप्लिकेशन में उपहार कार्ड बेचने के लिए, Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है?

नहीं. ऐप्लिकेशन में उपहार कार्ड की बिक्री के लिए, Google Play का बिलिंग सिस्टम इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. भले ही, कोई उपहार कार्ड ऑनलाइन भेजा गया हो या डाक से.

क्या Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल किए बिना, अपने ऐप्लिकेशन में लॉयल्टी या इनाम के लिए पॉइंट जारी किए जा सकते हैं?

हां. Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल किए बिना, कमाए गए पॉइंट या इनाम में मिले पॉइंट ऐप्लिकेशन में जारी किए जा सकते हैं. उपयोगकर्ता, Google Play के बिलिंग सिस्टम के बिना ही, इनाम में मिले पॉइंट या कमाए गए इन पॉइंट का इस्तेमाल डिजिटल प्रॉडक्ट और सेवाएं खरीदने में कर सकते हैं. हालांकि, ध्यान रखें कि अगर ऐप्लिकेशन में इन पॉइंट या दूसरी तरह की वर्चुअल मुद्रा की बिक्री की जाती है, तो Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना होगा.

मेरा काम दूरसंचार या केबल सेवा देना है. इस नीति का मेरे ऐप्लिकेशन पर क्या असर होगा?

ग्राहक को फ़िज़िकल तौर पर उपलब्ध कराई जाने वाली सेवा के मौजूदा बिल के साथ, कुछ खास डिजिटल प्रॉडक्ट/सेवाओं के शुल्क को जोड़ने की अनुमति है. ऐसा तब किया जा सकता है, जब आपका काम दूरसंचार, ब्रॉडबैंड, एक से ज़्यादा चैनलों वाले सैटलाइट, केबल या मैनेज किए गए IPTV यानी "फ़िज़िकल सर्विस" की सेवा देना हो. इसमें, ऐसे डिजिटल प्रॉडक्ट या सेवाएं शामिल हैं जो आपके अन्य बिक्री चैनलों पर भी उपलब्ध होती हैं. अन्य बिक्री चैनलों का मतलब वे चैनल हैं जो आपके मोबाइल ऐप्लिकेशन से अलग हैं. ग्राहक के फ़िज़िकल सर्विस बिल का इस्तेमाल पेमेंट के तरीके के तौर पर किया जाना चाहिए. साथ ही, डिजिटल प्रॉडक्ट/सेवाएं सिर्फ़ आपके उन ऐप्लिकेशन में बेची जा सकती हैं जहां लोग, उन्हें मिलने वाली फ़िज़िकल सर्विस को मैनेज कर सकते हैं या फिर जहां फ़िज़िकल सर्विस लेने वाले सदस्यों के लिए ही ऐप्लिकेशन में खरीदारी की सुविधा उपलब्ध होती है.  उदाहरण के लिए:

  • डिजिटल/फ़िज़िकल सर्विस के ऐसे स्टैंडर्ड सदस्यता बंडल ऑफ़र करना जो आपके अन्य बिक्री चैनलों पर ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के लिए उपलब्ध हों. अन्य बिक्री चैनलों का मतलब वे चैनल हैं जो आपके मोबाइल ऐप्लिकेशन से अलग हैं. साथ ही, उपयोगकर्ता को इन सेवाओं का फ़िज़िकल सर्विस बिल भेजा जाता हो.
  • पैसे देकर इस्तेमाल की जाने वाली डिजिटल सेवा के तौर पर ऐसे म्यूज़िक, डिजिटल कॉमिक्स या डिजिटल बुक ऑफ़र करना जिनका बिल लोगों को फ़िज़िकल सर्विस बिल के तौर पर भेजा जाता हो. इनमें, मांग पर उपलब्ध कराए जाने वाले हर वीडियो के लिए पैसे चुकाने से जुड़ी सेवा भी शामिल है.
  • उन उपयोगकर्ताओं को मांग पर वीडियो उपलब्ध कराने की सेवा ऑफ़र करना जिन्होंने एक से ज़्यादा चैनलों वाले सैटलाइट, केबल या मैनेज किए गए IPTV सेवा की सदस्यता ले रखी है.
पेमेंट से जुड़ी Google Play की नीति पर कोरिया के हाल ही के कानून का क्या असर पड़ेगा? अगर मैं Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना छोड़ दूं, तो क्या उसके बाद भी मुझसे शुल्क लिया जाएगा?

नए कानून की वजह से, अब हम सभी डेवलपर को दक्षिण कोरिया में, Google Play के बिलिंग सिस्टम के साथ-साथ कोई अन्य इन-ऐप्लिकेशन बिलिंग सिस्टम उपलब्ध कराने की सुविधा देंगे. यह सुविधा दक्षिण कोरिया के उन उपयोगकर्ताओं को उपलब्ध कराई जा सकती है जो Google Play पर मौजूद ऐप्लिकेशन में इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी के लिए मोबाइल और टैबलेट का इस्तेमाल करते हैं.

किसी अन्य इन-ऐप्लिकेशन बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करके किए जाने वाले लेन-देन पर, डेवलपर से अब भी सेवा शुल्क लिया जाएगा. हालांकि, सेवा शुल्क 4% कम लिया जाएगा. उदाहरण के लिए, अगर Google Play के बिलिंग सिस्टम से होने वाले लेन-देन के लिए सेवा शुल्क 15% है, तो किसी अन्य बिलिंग सिस्टम से किए गए लेन-देन के लिए यह 11% होगा. ज़्यादा जानकारी के लिए, हमारा ब्लॉग पढ़ें.

अगर दक्षिण कोरिया के लोग आपका ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वालों में शामिल हैं, तो आपको अपने ऐप्लिकेशन में कोई अन्य इन-ऐप बिलिंग सिस्टम जोड़ने के लिए ज़्यादा जानकारी, सहायता केंद्र के इस लेख पर मिल सकती है.

भारत में डेवलपर के लिए, पेमेंट की नीति के पालन की समयसीमा अलग क्यों है?

भारत में पेमेंट लैंडस्केप के कुछ खास मामलों की वजह से, पिछले साल भारत में रहने वाले डेवलपर के लिए Google Play की पेमेंट नीति का पालन करने के लिए समयसीमा बढ़ा दी गई थी. भारत में रहने वाले डेवलपर के लिए इस समयसीमा को 31 अक्टूबर, 2022 तक बढ़ाया गया है. इससे, उन्हें प्रॉडक्ट से जुड़ी ज़रूरी सहायता उपलब्ध कराई जा सकेगी, ताकि सुविधाजनक पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करके उपयोगकर्ता बार-बार होने वाला पेमेंट कर सकें. इन पेमेंट सिस्टम में, UPI और वॉलेट भी शामिल हैं. इस वजह से भी डेवलपर को और ज़्यादा समय दिया गया है, ताकि वे बार-बार होने वाले डिजिटल लेन-देन से जुड़े उन दिशा-निर्देशों के हिसाब से बदलाव कर सकें जो भारत में लागू होते हैं. हम भारत में, डेवलपर नेटवर्क की खास ज़रूरतों को पहचानते हैं और उनके आगे बढ़ने के सफ़र में, उनकी मदद करते रहते हैं.

मुझे Google Play की पेमेंट नीति का पालन करने के लिए ग्रेस पीरियड दिया गया था. अगर मेरा ऐप्लिकेशन 1 जून, 2022 तक Google की शर्तों का पालन नहीं करता है, तो क्या होगा?

हम हमेशा अपने डेवलपर समुदाय की मदद करने की कोशिश करते हैं, ताकि वे अपने ऐप्लिकेशन में जब भी कोई ज़रूरी बदलाव करें, तो उस दौरान भी ऐप्लिकेशन को Google Play पर उपलब्ध रखा जा सके. हमने 2020 में, पेमेंट से जुड़ी हमारी नीति में दी गई जानकारी को पहले से बेहतर बनाया था. इसमें, साफ़ तौर पर बताया गया था कि जिन ऐप्लिकेशन में डिजिटल प्रॉडक्ट और सेवाएं बेची जाती हैं उनके लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है. ज़्यादातर डेवलपर पहले से ही, लंबे समय से लागू इस नीति का पालन कर रहे हैं. वहीं, जिन डेवलपर ने अपने ऐप्लिकेशन में ज़रूरी बदलाव नहीं किए थे उन्हें ऐसा करने के लिए हमने एक साल का ग्रेस पीरियड दिया था. डेवलपर से मिले सुझावों के आधार पर हमने 2021 में, डेवलपर को अतिरिक्त छह महीनों के ग्रेस पीरियड के लिए अनुरोध करने का विकल्प दिया था. इस तरह, उन्हें अपने ऐप्लिकेशन को पेमेंट से जुड़ी हमारी नीति के मुताबिक बनाने के लिए, 18 महीनों से ज़्यादा का समय दिया गया था. 

नीति का पालन न करने वाले सभी ऐप्लिकेशन को 1 जून, 2022 से Google Play से हटा दिया जाएगा.

भारत में रहने वाले डेवलपर के पास इस नीति का पालन करने के लिए 31 अक्टूबर, 2022 तक का समय है. पेमेंट लैंडस्केप से जुड़े कुछ खास मामलों की वजह से, यह समयसीमा तय की गई है. ज़्यादा जानकारी के लिए, कृपया अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें.

हाल ही में बनाए गए कानून की वजह से, जिन डेवलपर का ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोग दक्षिण कोरिया में रहते हैं वे अब किसी अन्य इन-ऐप्लिकेशन बिलिंग सिस्टम को भी जोड़ सकते हैं. ज़्यादा जानकारी के लिए, कृपया अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें.

क्या उपयोगकर्ता से क्रिएटर को सीधे मिलने वाले पेमेंट या योगदान के लिए, Google Play का बिलिंग सिस्टम होना ज़रूरी है?

ऐसे मामलों में जहां किसी उपयोगकर्ता से मिलने वाली सभी सलाह या योगदान को क्रिएटर के पास भेज दिया जाता है और पेमेंट के बाद किसी भी डिजिटल कॉन्टेंट या सेवाओं (इसमें स्टिकर, बैज, खास इमोजी वगैरह शामिल हैं) का ऐक्सेस नहीं दिया जाता है, तो हम इसे पीयर-टू-पीयर पेमेंट मानते हैं. साथ ही, इसके लिए Google Play के बिलिंग सिस्टम के इस्तेमाल की ज़रूरत नहीं होती. अगर इनमें से कोई भी शर्त लागू नहीं होती, तो Google Play के बिलिंग सिस्टम को नीति से जुड़ी ज़रूरी शर्तों के हिसाब से इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

क्या Google Play के बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए, पेमेंट की नीति की ज़रूरी शर्तें उन देशों में लागू होती हैं जहां Google Play का बिलिंग सिस्टम लॉन्च नहीं हुआ है?

As long as Google Play’s billing system isn’t available in a particular country, the Payments policy’s requirement to use Google Play’s billing system does not apply in that country. 

We’re always looking to expand support of Google Play’s billing system at which time the Payments policy’s requirement to use Google Play’s billing system will apply.  We’ll let you know when those changes occur. 

मैंने Google Play की पेमेंट की नीति का पालन करने के लिए, अपने ऐप्लिकेशन का अपडेट सबमिट कर दिया है. हालांकि, ऐप्लिकेशन की समीक्षा के लिए लॉगिन क्रेडेंशियल न दिए जाने की वजह से मेरे ऐप्लिकेशन को अस्वीकार कर दिया गया था. Google को लॉगिन क्रेडेंशियल की ज़रूरत क्यों है और मैं अपने ऐप्लिकेशन को समीक्षा के लिए सही तरीके से दोबारा सबमिट कैसे करूं?

अगर आपके पूरे ऐप्लिकेशन या उसके कुछ हिस्सों को ऐक्सेस करने के लिए लॉगिन क्रेडेंशियल, साइन इन की जानकारी, सदस्यताओं, जगह की जानकारी या पुष्टि करने के अन्य तरीकों की ज़रूरत पड़ती है, तो ऐप्लिकेशन के उन हिस्सों को ऐक्सेस करने के लिए आपको सभी ज़रूरी जानकारी देनी होगी. इसके बारे में, Play Console की ज़रूरी शर्तों से जुड़ी नीति में बताया गया है. अगर ऐक्सेस से जुड़ी पाबंदी की वजह से हम आपके ऐप्लिकेशन की समीक्षा नहीं कर पाते हैं, तो आपको अपडेट रिलीज़ करने से रोका जा सकता है. इसके अलावा, आपके ऐप्लिकेशन को Google Play से हटाया भी जा सकता है.

हमें यह जानकारी देने के लिए, "ऐप्लिकेशन का ऐक्सेस" सेक्शन में जाकर Play Console के सहायता केंद्र के लेख में दिए गए निर्देशों का पालन करें. इसके बाद, आपको ऐप्लिकेशन की समीक्षा के लिए, उसे फिर से सबमिट करना होगा.

मिलता-जुलता कॉन्टेंट

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

true
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
92637
false