अपने रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापन मैनेज करना

Display Network के लिए, विज्ञापन का डिफ़ॉल्ट टाइप अब रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापन होगा. ये विज्ञापन, रिस्पॉन्सिव विज्ञापनों की जगह लेंगे. इन विज्ञापनों में रिस्पॉन्सिव (स्क्रीन के हिसाब से आकार बदलने वाले) विज्ञापनों की सभी सुविधाएं होती हैं. इनमें हर तरह के एक से ज़्यादा एसेट का इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही, इससे विज्ञापनों पर आपको ज़्यादा कंट्रोल मिलता है. अगर आप रिस्पॉन्सिव (स्क्रीन के हिसाब से आकार बदलने वाले) विज्ञापनों को चला रहे हैं, तो आपको उन्हें रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापनों के तौर पर सेव करने के लिए कहा जाएगा.

रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापन, एसेट से बने विज्ञापन होते हैं. इसका मतलब यह है कि इ्न्हें बनाने के लिए आपको अपने एसेट (इमेज, हेडलाइन टेक्स्ट, लोगो, और विवरण) को अपलोड करना होगा. इसके बाद, इंप्रेशन के समय सबसे अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव देने के लिए Google इन एसेट को जोड़कर विज्ञापन बनाएगा.

इस लेख में आप अपने रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापनों को मैनेज करने के लिए सबसे आसान तरीकों के बारे में जानेंगे.

अपनी एसेट को मैनेज करना

About responsive display ads

इमेज

इमेज आपके विज्ञापन का सबसे ज़रूरी हिस्सा है. इससे लोगों को आपके कारोबार, प्रॉडक्ट, और ब्रैंड को समझने में मदद मिलती है. पक्का करें कि आप सिर्फ़ बढ़िया क्वालिटी वाले इमेज का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसमें सीधे तौर पर आपका फ़ोकस आपके कारोबार, प्रॉडक्ट या ब्रैंड पर है. आप अपने रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापनों में इस्तेमाल करने के लिए ज़्यादा-से-ज़्यादा 15 मार्केटिंग इमेज अपलोड कर सकते हैं. इनका इस्तेमाल न करें:

  • धुंधले इमेज
  • टेढ़े-मेढ़े/उल्टे-सीधे आकार वाले इमेज
  • ऐसी इमेज जिनमें मिरर इमेज शामिल है
  • खराब रंग, उल्टे रंग, बहुत ज़्यादा फ़िल्टर किए गए इमेज
  • बॉर्डर वाले इमेज
  • कोलाज वाले इमेज
  • डिजिटल रूप से बनाए गए बैकग्राउंड वाले इमेज
  • आपके इमेज के ऊपर लिखे गए टेक्स्ट, जिन्हें छोटे आकार वाले विज्ञापनों में पढ़ना मुश्किल होता है.

लोगो

लोगो वैकल्पिक हैं और आप ज़्यादा-से-ज़्यादा 5 अलग-अलग लोगो अपलोड कर सकते हैं. अगर आप लोगो नहीं डालना चाहते हैं, तो Google न्यूट्रल आइकन देगा, उदाहरण के लिए ग्लोब या आपके ब्रैंड नाम का पहला अक्षर. जब आप लोगो डालते हैं तो नीचे बताई गई बातों का ध्यान रखें:

  • आप 1:1 या 4:1 आसपेक्ट रेशियो वाले लोगो अपलोड कर सकते हैं. हमारा सुझाव है कि आप अपने लोगो को दोनों साइज़ में अपलोड करें.
  • पक्का करें कि आपका लोगो बिल्कुल बीच में हो और सही तरह से कटा हुआ हो.
  • लोगो के साथ कोई भी छोटा टेक्स्ट या अतिरिक्त "फ़्लेयर" न जोड़ें.
  • व्हाइट बैकग्राउंड वाले इमेज सही होते हैं, लेकिन हम सुझाव देते हैं कि आप पारदर्शी बैकग्राउंड वाले इमेज का इस्तेमाल करें.
  • कोई भी व्हाइट स्पेस या पैडिंग, लोगो के 1/16वें साइज़ से ज़्यादा नहीं होना चाहिए. उदाहरण के लिए, अगर आपके लोगो का आकार 400x400 पिक्सल है, तो आपका पैडिंग 25 पिक्सल से ज़्यादा नहीं होना चाहिए.

विवरण

आप ब्रैंड या प्रॉडक्ट के लिए ज़्यादा से ज़्यादा पांच विवरण बना सकते हैं. इसके अलावा, हर विवरण में ज़्यादा-से-ज़्यादा 90 वर्ण रख सकते हैं. आम तौर पर विवरण किसी हेडलाइन (जिसके बारे में यहां बताया गया है) के साथ होता है. साथ ही, इसमें आपकी हेडलाइन से जुड़ी बातों को लिखा जाना चाहिए. विवरण का इस्तेमाल ज़्यादा जानकारी देकर अपनी खास बात को बताने के लिए करें.

हेडलाइन

आप अपने हर रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापन के लिए, 30 वर्णों की पांच अलग-अलग हेडलाइन अपलोड कर सकते हैं. बहुत अच्छी परफ़ॉर्मेंस के लिए, पक्का करें कि आपकी हेडलाइन में कुछ खास बात हो. पूरी जानकारी डालें और अपनी खास बात को सही से बताएं.

नीचे दी गई चीज़ों पर विचार करें:

  • आपकी हेडलाइन के अंत में विराम चिह्न का होना ज़रूरी नहीं है
  • अपने विवरण के टेक्स्ट को बार-बार न डालें.
  • हेडलाइन में अपने कारोबार का नाम न डालें.

लंबी हेडलाइन

आप अपनी लंबी हेडलाइन में अपने ब्रैंड या प्रॉडक्ट की खास बात को बताने के लिए 90 वर्ण डाल सकते हैं. कुछ ऐसा करने की कोशिश करें जो उपयोगकर्ताओं के लिए दिलचस्प और उपयोगी हो. आपका विज्ञापन जहां भी दिखाया जाएगा, उस आधार पर आप अपनी लंबी हेडलाइन को अतिरिक्त विवरण टेक्स्ट के बिना दिखा सकते हैं. पक्का करें कि लंबी हेडलाइन अपने आप में पूरी हो और कुछ खास बात बताती हो.

डाइनैमिक रीमार्केटिंग के लिए फ़ीड जोड़ना

अपने कैंपेन को फ़ीड में जोड़ने से आम तौर पर बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव मिलता है. आपने प्रॉडक्ट के बारे में जो जानकारी दी है उसकी क्वालिटी से यह तय करने मेंं मदद मिलती है कि कौनसे उपयोगकर्ता आपके विज्ञापनों को देखने में दिलचस्पी लेंगे. अच्छी क्वालिटी और ज़्यादा जानकारी वाले फ़ीड मुहैया कराने से, आप उपयोगकर्ताओं को ज़्यादा काम के विज्ञापन दिखा सकते हैं. डाइनैमिक रीमार्केटिंग के लिए विज्ञापन बनाने के बारे में ज़्यादा जानें.

परफ़ॉर्मेंस लेबल के बारे में जानकारी

आप अपने कैंपेन के लिए जो अलग-अलग क्रिएटिव एसेट अपलोड करेंगे वे अलग-अलग नतीजे देंगी. साथ ही, आप समय के साथ वह डेटा देख पाएंगे. एसेट के, आंकड़ों के हिसाब से अहम डेटा इकट्ठा करने के बाद, आप एक परफ़ॉर्मेंस लेबल देख सकेंगे. इस लेबल से, एसेट रिपोर्ट में मौजूद आपकी हर एसेट, जैसे कि विवरण, हेडलाइन या इमेज के लिए डेटा के आधार पर परफ़ॉर्मेंस का असर पता चलता है. विज्ञापन में बदलाव करते समय आपको अपनी किसी भी एसेट के बगल में कम परफ़ॉर्मेंस की सूचना दिख सकती है. यहां Google Ads टूल, आपकी ज़रूरत के मुताबिक बदलाव करने के साथ-साथ, एसेट का बेहतर सेट बनाने में भी मदद करेगा.

विज्ञापन की खूबियां

विज्ञापन की खूबियां आपके विज्ञापन के कॉन्टेंट की प्रासंगिकता, संख्या, और विविधता का अनुमान लगाती हैं. पक्का करें कि आपके विज्ञापन का कॉन्टेंट यूनीक और काम का हो. इससे, आप संभावित ग्राहकों को उनकी ज़रूरत के हिसाब से विज्ञापन दिखा सकते हैं. साथ ही, इससे विज्ञापन की परफ़ॉर्मेंस बेहतर होती है.

रिस्पॉन्सिव डिसप्ले विज्ञापन के लिए यह पूरी रेटिंग और बदली स्थिति दिखाने वाले संकेत हैं. यह रेटिंग एसेट की संख्या और विविधता पर आधारित है. बड़ी संख्या में यूनीक एसेट जोड़कर, आप यह रेटिंग बेहतर बना सकते हैं. साथ ही, अपने ग्राहकों के लिए सबसे अच्छा क्रिएटिव जनरेट करने की संभावना बढ़ा सकते हैं. यह Google Ads के नए अनुभव में आपकी विज्ञापन रिपोर्ट के कॉलम के तौर पर दिखती है. विज्ञापन की खूबियों के बारे में ज़्यादा जानें

विज्ञापन की खूबियों के दो और कॉम्पोनेंट हैं:

  1. अगला तरीका: एक असरदार सुझाव या विज्ञापन सेट अप में सुधार करने के लिए अगला तरीका.
  2. एसेट की स्थिति: हर तीन मुख्य एसेट टाइप (इमेज, छोटी हेडलाइन, विवरण) की स्थिति की रेटिंग.

इसी विषय से जुड़े कुछ लिंक

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

false
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
73067
false