नए "मेरा AdMob पेज" की मदद से आपको अपने ऐप्लिकेशन के हिसाब से सुधार के सही सुझाव मिलेंगे और आप अपने खाते को बेहतर तरीके से मैनेज कर पाएंगे. साथ ही, आपको इस पेज से सभी ज़रूरी सेट अप पूरे करने में भी मदद मिलेगी.

AdMob और AdSense कार्यक्रम की नीतियां

अमेरिका के निजता कानूनों का पालन करने में पब्लिशर की मदद करना

AdMob में डेटा प्रोसेसिंग की सेटिंग कंट्रोल करें

Google के लिए, उपयोगकर्ता हमेशा से सबसे अहम रहे हैं. हम उपयोगकर्ताओं को लेकर अपनी जवाबदेही का पूरा ध्यान रखते हैं और उनकी निजी जानकारी नहीं बेचते. हम मेरा विज्ञापन केंद्र, मेरा खाता, और कई दूसरी सुविधाओं से, उपयोगकर्ताओं के विज्ञापन अनुभवों को कंट्रोल करने और पारदर्शी बनाने में मदद करते हैं, ताकि उन्हें अपना खाता मैनेज करने में आसानी हो. हमने लोगों के हिसाब से विज्ञापन दिखाने की नीतिबनाई है. इसके मुताबिक, हम लोगों के हिसाब से दिखाए जाने वाले विज्ञापनों में संवेदनशील जानकारी का इस्तेमाल नहीं करते. जैसे, स्वास्थ्य, नस्ल, धर्म या सेक्शुअल ओरिएंटेशन (यौन रुझान) की जानकारी. हम Coalition for Better Ads, Google News Initiative, और ads.txt जैसी पहल से भी जुड़े हैं, ताकि विज्ञापनों के लिए बेहतर और मज़बूत नेटवर्क तैयार किया जा सके.

Google, उपभोक्ताओं की निजी जानकारी की सुरक्षा करने वाले कानूनों को अहमियत देता है. हमने मई 2018 में कई अपडेट लॉन्च किए. ऐसा करने का मकसद सामान्य डेटा से जुड़े सुरक्षा कानून (जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन) का पालन करने में, पब्लिशर की मदद करना था.

हम उन सुविधाओं पर काम कर रहे हैं जो डेटा को सीमित तौर पर प्रोसेस करने की सुविधा देती हैं. ये सुविधाएं पब्लिशर के लिए हैं, ताकि वे अमेरिका के राज्यों के निजता कानूनों का पालन कर सकें. 

सेवा देने वाली कंपनी की शर्तें

Google में, डेटा की सुरक्षा के लिए शर्तें पहले से लागू हैं. ये शर्तें, यूरोप के सामान्य डेटा से जुड़े सुरक्षा कानून (जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन) के मुताबिक हैं. अब हम सेवा देने वाले की शर्तें भी ऑफ़र कर रहे हैं. डेटा सुरक्षा की मौजूदा शर्तों के साथ-साथ, ये शर्तें भी 1 जनवरी, 2023 से लागू होंगी. जो ग्राहक हमारे ऑनलाइन अनुबंध और अपडेट किए गए प्लैटफ़ॉर्म के अनुबंध से जुड़े हैं उन्हें डेटा सुरक्षा की शर्तों के मुताबिक, हमारे मौजूदा अनुबंधों में शामिल कर लिया जाएगा. ऐसे ग्राहकों को अपने अनुबंध में, सेवा देने वाले की शर्तें जोड़ने के लिए कुछ नहीं करना होता.

डेटा प्रोसेसिंग की सेटिंग चुनना

डिफ़ॉल्ट तौर पर, AdMob में डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी नहीं लगी होती है. साथ ही, उपयोगकर्ताओं को आपकी साइट या ऐप्लिकेशन पर दिलचस्पी के मुताबिक विज्ञापन दिखाए जाते हैं. डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी लगाने के लिए, आपको सीपीआरए सेटिंग में बदलाव करने होंगे. इसके अलावा, कैलिफ़ोर्निया में रहने और ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाले उपयोगकर्ताओं को, सिर्फ़ 'लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापन' दिखाने के लिए भी सीपीआरए सेटिंग में बदलाव करना होगा. ये सेटिंग ऐसे डेटा पर लागू नहीं होती हैं जिसे अपने खाते के अलावा, कहीं और शेयर किया जा रहा हो. उदाहरण के लिए, मीडिएशन का इस्तेमाल करके शेयर किया जाने वाला डेटा.

ध्यान दें: AdMob का यूज़र इंटरफ़ेस (यूआई), सीपीआरए सेटिंग के बारे में बताता है. हालांकि, यह सेटिंग निजता कानून के दायरे में आने वाले सभी अमेरिकी राज्यों पर लागू होगी.

अगर आपको अपने पूरे खाते के लिए सीपीआरए डेटा प्रोसेसिंग की सेटिंग बदलनी है, तो यह तरीका अपनाएं:

  1. https://apps.admob.com पर अपने AdMob खाते में साइन इन करें.
  2. साइडबार में, निजता और मैसेज सेवा पर क्लिक करें. 
  3. सीपीआरए पर क्लिक करें.
  4. बदलाव करें पर क्लिक करें.
  5. आपको जिस विकल्प को अपने AdMob खाते के लिए लागू करना है उसे चुनें.
    • डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी न लगाएं: Google, निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों में, ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाले उपयोगकर्ताओं को दिलचस्पी के मुताबिक विज्ञापन दिखाएगा.
    • डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी लगाएं: Google, निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों में, ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाले उपयोगकर्ताओं को सिर्फ़ लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापन दिखाएगा.
  6. सेव करें पर क्लिक करें.
अगर आपने अपने खाते के लिए, डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी नहीं लगाने का विकल्प चुना है, तो विज्ञापन अनुरोध के लेवल पर यह पाबंदी लगाई जा सकती है.

डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी न लगाएं

“डेटा प्रोसेसिंग पर पाबंदी न लगाएं“ विकल्प चुनने पर, उन विज्ञापन पार्टनर को चुना जा सकता है जिनके पास ऐसे उपयोगकर्ताओं के लिए बिड रिक्वेस्ट पाने की अनुमति होती है जो Google के मुताबिक, कैलिफ़ोर्निया में हैं.

किन विज्ञापन पार्टनर को मंज़ूरी मिलेगी, यह तय करने के लिए इन चरणों को पूरा करें.

  1. https://apps.admob.com पर अपने AdMob खाते में साइन इन करें.
  2. साइडबार में, निजता और मैसेज सेवा पर क्लिक करें. 
  3. सीपीआरए पर क्लिक करें.
  4. बदलाव करें पर क्लिक करें
  5. “अपने विज्ञापन पार्टनर की समीक्षा करें” सेक्शन में, आपको जिस सूची का इस्तेमाल करना है उसे चुनें.
    • चालू विज्ञापन पार्टनर का इस्तेमाल करें: इस सुविधा की सेटिंग में दिए गए सभी उपलब्ध विज्ञापन पार्टनर की सूची का इस्तेमाल करें. सभी चालू विज्ञापन पार्टनर, ऐसे उपयोगकर्ताओं से बिड रिक्वेस्ट पाने की ज़रूरी शर्तें पूरी करते हैं जो Google के मुताबिक निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों में रहते हैं. नए विज्ञापन पार्टनर अपने-आप जुड़ जाते हैं और उन्हें ये रिक्वेस्ट पाने की अनुमति होती है. नए विज्ञापन पार्टनर के जुड़ने पर, आपके AdMob खाते के उपयोगकर्ताओं को सूचना दी जाती है.
    • कस्टम विज्ञापन पार्टनर: कस्टम सूची बनाने के लिए, सभी उपलब्ध विज्ञापन पार्टनर की सूची में अपनी पसंद के मुताबिक बदलाव करें. सिर्फ़ चुनिंदा विज्ञापन पार्टनर ऐसे उपयोगकर्ताओं से बिड रिक्वेस्ट पाने की ज़रूरी शर्तें पूरी करते हैं जो Google के मुताबिक निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों में रहते हैं. इस विकल्प के तहत, प्लैटफ़ॉर्म से नए विज्ञापन पार्टनर के जुड़ने पर, आपके AdMob खाते के उपयोगकर्ताओं को सूचना दी जाती है. आपकी कस्टम सूची में, नए विज्ञापन पार्टनर अपने-आप नहीं जुड़ते हैं. आपको उन्हें मैन्युअल तौर पर जोड़ना होता है.
  6. सेव करें पर क्लिक करें.

सीमित डेटा प्रोसेसिंग

जब कोई प्रकाशक सीमित डेटा प्रोसेसिंग मोड चालू करता है, तो डेटा के इस्तेमाल करने के तरीकों को Google सीमित कर देगा. Google इस काम को प्रकाशक के निर्देश पर करता है. साथ ही, Google सिर्फ़ ऐसे विज्ञापन दिखाना शुरू करेगा जो दर्शकों की पसंद को ध्यान में नहीं रखकर दिखाए जाते हैं. लोगों के हिसाब से न दिखाए जाने वाले विज्ञापन, ऐसे विज्ञापन होते हैं जो उपयोगकर्ता के पिछले व्यवहार के मुताबिक नहीं होते. वे उपयोगकर्ता की मौजूदा जगह की जानकारी के मुताबिक, भौगोलिक-टारगेटिंग की साधारण जानकारी (जैसे, शहर के स्तर पर, लेकिन पिन कोड नहीं) के संदर्भ के हिसाब से टारगेट किए जाते हैं. इसके अलावा, वे मौजूदा साइट या ऐप्लिकेशन या क्वेरी की मौजूदा शर्तों के हिसाब से भी तय किए जाते हैं. Google, पसंद के मुताबिक तय की गई सभी ऑडियंस टारगेटिंग की अनुमति नहीं देता. इसमें उम्र, शिक्षा वगैरह के हिसाब से टारगेट करना और सीमित डेटा प्रोसेसिंग में मौजूद उपयोगकर्ता सूची वाली टारगेटिंग भी शामिल है.

सीमित डेटा प्रोसेसिंग के विकल्प:

पब्लिशर को यह खुद तय करना होगा कि वे सीमित डेटा प्रोसेसिंग मोड को कब और कैसे चालू करेंगे. यह काम, नियमों या शर्तों के पालन से जुड़ी जवाबदेहियों और कानूनी विश्लेषण के हिसाब से किया जाता है. इसके लिए यहां दो सामान्य स्थितियां दी गई हैं.

  1. कुछ पब्लिशर अपनी प्रॉपर्टी के लिए, "मेरी निजी जानकारी न बेचें" लिंक को, न दिखाने का विकल्प चुन सकते हैं. ऐसे पब्लिशर, नेटवर्क कंट्रोल की मदद से अपने सभी प्रोग्रामेटिक ट्रैफ़िक के लिए, सीमित डेटा प्रोसेसिंग को चालू करने का विकल्प चुन सकते हैं. यह काम, निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों के उपयोगकर्ताओं के लिए किया जा सकता है. अगर पब्लिशर इस विकल्प को चुनते हैं, तो उपयोगकर्ताओं की जगह की जानकारी का पता लगाने के लिए Google उनके आईपी पतों का इस्तेमाल करेगा. साथ ही, उन उपयोगकर्ताओं के लिए सीमित डेटा प्रोसेसिंग मोड भी चालू करेगा जिनके पास निजता कानून के दायरे में आने वाले अमेरिकी राज्यों के आईपी पते हैं.
  2. इसके अलावा, दूसरे पब्लिशर अपनी प्रॉपर्टी के लिए, "मेरी निजी जानकारी न बेचें" के लिंक को, दिखाने का विकल्प चुन सकते हैं. जब कोई उपयोगकर्ता अपनी निजी जानकारी बेचने की सहमति देने की प्रोसेस से ऑप्ट आउट करता है, तो इस तरह के हर अनुरोध के आधार पर, ये पब्लिशर सीमित डेटा प्रोसेसिंग सिग्नल भेजने का विकल्प चुन सकते हैं. इस बारे में ज़्यादा जानने के लिए, Android और iOS से जुड़े डेवलपर के दस्तावेज़ देखें.

अब, ऐसे पार्टनर जिन्होंने Global Privacy Control लागू किया है, वे GPC ऑप्ट-आउट सिग्नल मिलने पर प्रतिबंधित डेटा प्रोसेसिंग मोड को चालू कर सकते हैं.

तीसरे पक्ष की डिमांड के लिए सीमित डेटा प्रोसेसिंग

जब नेटवर्क कंट्रोल का इस्तेमाल करके, सीमित डेटा प्रोसेसिंग मोड चालू किया जाता है या SDK टूल की मदद से, सीमित डेटा प्रोसेसिंग सिग्नल पास किया जाता है, तब मोबाइल ऐप्लिकेशन के लिए, बिडिंग और मीडिएशन की सुविधा पर यह असर होता है:

  • सीमित डेटा प्रोसेसिंग के विज्ञापन अनुरोध, तीसरे पक्ष के आरटीबी बिडर के पास भेजे जाते हैं. ज़्यादा जानकारी के लिए, यह लेख पढ़ें.
  • मीडिएशन की सुविधा बंद नहीं है *
* सीमित डेटा प्रोसेसिंग मोड, आपके ऐप्लिकेशन से मीडिएशन पार्टनर को डेटा भेजने पर रोक नहीं लगाता है. इसलिए, तीसरे पक्षों को जो डेटा भेजा जाता है उस पर, सीमित डेटा प्रोसेसिंग से जुड़े Google के अनुबंध लागू नहीं होते. आपको यह पक्का करना होगा कि इस तरह के तीसरे पक्षों के मामले में, ज़रूरी शर्तों को पूरा करने के लिए सभी अहम कदम उठाए गए हों.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

true
' data-mime-type=
बिडिंग में ज़्यादा इन्वेंट्री (विज्ञापन दिखाने की जगह) को शामिल करके, अपनी कमाई में बढ़ोतरी करें!

हमें पता चला है कि ज़रूरी शर्तें पूरी करने वाले सभी ट्रैफ़िक को, आपने AdMob बिडिंग की सुविधा में माइग्रेट नहीं किया है. बिडिंग की सुविधा यह पक्का करती है कि आपको अपने इंप्रेशन से ज़्यादा से ज़्यादा आय हो, क्योंकि विज्ञापन सोर्स एक-दूसरे से रीयल-टाइम में मुकाबला करते हैं. आज ही बिडिंग की सुविधा का इस्तेमाल शुरू करके, अपनी आय बढ़ाएं और ऑपरेशन को बेहतर बनाएं!

अभी माइग्रेट करें!

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
true
true
true
73175