दर्शकों की दिलचस्पी दिखाने वाली मेट्रिक की गिनती करने का तरीका

YouTube पर, दर्शकों की दिलचस्पी दिखाने वाली मेट्रिक (व्यू, पसंद, नापसंद, और सदस्यताएं) से पता चलता है कि कितनी बार आपके किसी वीडियो या चैनल से इंटरैक्ट किया गया है. ये मेट्रिक, आपके चैनल या वीडियो की लोकप्रियता जानने का एक अहम पैमाना हो सकती हैं.

हम यह पक्का करना चाहते हैं कि आपकी मेट्रिक अच्छी क्वालिटी की हों. साथ ही, आपके वीडियो को वाकई लोग ही देख रहे हों न कि कंप्यूटर प्रोग्राम की मदद से उसके मेट्रिक को बढ़ाया गया हो. व्यू, पसंद, नापसंद, और सदस्यता की कौनसी संख्या सही और कौनसी फ़र्ज़ी है, यह पता करने में हमारे सिस्टम को थोड़ा समय लगता है.

ध्यान दें: आपका वीडियो पब्लिश होने के बाद, हमारे सिस्टम में वीडियो की मेट्रिक दिखने में कुछ समय लगता है. हालांकि, ऐसा शुरू के कुछ घंटों में होता है.

मेट्रिक में बदलाव करना

लोगों की दिलचस्पी वाले इवेंट की सही संख्या की गिनती हो जाने के बाद, मेट्रिक की गिनती पहले के मुकाबले जल्दी-जल्दी अपडेट होनी चाहिए. इन बदलावों में लगने वाला समय, वीडियो या चैनल की लोकप्रियता और इन पर आए व्यू पर निर्भर करता है. इस बात का ध्यान रखें कि हम लोगों की दिलचस्पी वाले इवेंट की पुष्टि और उनमें बदलाव लगातार करते रहते हैं.

कुछ वीडियो और चैनलों पर, आपकी मेट्रिक की गिनती रुकी हुई लग सकती है या हो सकता है कि उन मेट्रिक की वैल्यू आपकी उम्मीद के मुताबिक न हो. मेट्रिक की पुष्टि एल्गोरिदम से होती है. इससे कॉन्टेंट क्रिएटर्स, दर्शकों, और विज्ञापन देने वालों के लिए सही और बेहतर अनुभव बनाए रखने में मदद मिलती है. मेट्रिक बिल्कुल सही हैं या नहीं, इसकी पुष्टि करने के लिए YouTube कुछ समय तक इनकी संख्या के बढ़ने की दर को धीमा कर सकता है, इन्हें रोक सकता है या मेट्रिक की संख्या में बदलाव कर सकता है. साथ ही, वीडियो को हल्की क्वालिटी में चलाकर देखे जाने की संख्या को हटा सकता है.

ध्यान दें: एक ही वीडियो को देखने के लिए, अलग-अलग डिवाइसों का इस्तेमाल करना और एक ही वीडियो को कई विंडो या टैब में स्ट्रीम करना, हल्की क्वालिटी में वीडियो चलाने के कुछ उदाहरण हैं.

पैसे देकर विज्ञापन के तौर पर दिखाए गए वीडियो के व्यू

अगर आपका वीडियो YouTube पर विज्ञापन के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, तो हम उस विज्ञापन के व्यू को, आपके वीडियो के व्यू में जोड़ सकते हैं. पैसे देकर विज्ञापन के तौर पर दिखाए गए वीडियो के व्यू, आपके वीडियो के व्यू में जोड़े जाते हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है, क्योंकि इससे यह पता चलता है कि दर्शक ने आपके वीडियो में दिलचस्पी दिखाई है.

  • स्किप किए जा सकने वाले इन-स्ट्रीम विज्ञापन: पैसे देकर विज्ञापन के तौर पर दिखाए गए वीडियो के व्यू, आपके वीडियो के व्यू में तब जोड़े जाएंगे, जब:
    • कोई 11 से 30 सेकंड तक के लंबे विज्ञापन को पूरा देखे
    • कोई 30 सेकंड से ज़्यादा लंबे विज्ञापन को कम से कम 30 सेकंड तक देखे
    • कोई विज्ञापन के साथ इंटरैक्ट करे
  • इन-फ़ीड वीडियो विज्ञापन: पैसे देकर विज्ञापन के तौर पर दिखाए गए वीडियो के व्यू को आपके वीडियो के व्यू में तब जोड़ा जाएगा, जब कोई दर्शक विज्ञापन पर क्लिक करे और विज्ञापन वाला वीडियो चलना शुरू हो जाए

YouTube Analytics में वीडियो के व्यू देखना

YouTube Analytics की मदद से, अपने अपलोड किए गए वीडियो के व्यू की संख्या के बारे में बेहतर तरीके से समझा जा सकता है. ध्यान रखें कि रीयल टाइम गतिविधि में वीडियो को देखे जाने की संभावित संख्या का सिर्फ़ अनुमान होता है. हो सकता है कि यह संख्या, वॉच पेज पर मौजूद संख्या से अलग हो.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
59
false
false