Search Console के पुराने वर्शन से नए वर्शन पर जाना

मौजूदा उपयोगकर्ताओं को पुराने वर्शन से नए वर्शन पर जाने में मदद करने वाला गाइड

हम Search Console का नया वर्शन बना रहे हैं और कुछ समय बाद पुराने वर्शन की जगह यही वर्शन इस्तेमाल किया जा सकेगा. अगर आप काफ़ी समय से Search Console का पुराना वर्शन इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इस गाइड की मदद से आप पुराने और नए वर्शन के बीच के मुख्य अंतर के बारे में जान पाएंगे.

सामान्य बदलाव

Search Console के नए वर्शन में ये सुधार किए गए हैं:

  • पुराने वर्शन में खोज के आंकड़ों का तीन महीने का डेटा देखा जा सकता है, जबकि नए वर्शन में आप 16 महीने का डेटा देख सकते हैं
  • नए वर्शन में किसी खास पेज के बारे में ज़्यादा जानकारी देखी जा सकती है. इस जानकारी में इंडेक्स कवरेज, कैननिकल यूआरएल, और मोबाइल पर इस्तेमाल में आसानी के डेटा के साथ दूसरा डेटा भी शामिल होता है
  • नए वर्शन में आप साइट के पेजों के क्रॉल होने के क्रम पर नज़र रख सकते हैं. इसकी मदद से आप अपनी साइट पर निगरानी रख सकते हैं और पेजों को क्रॉल करने में हुई समस्या को दूर कर सकते हैं. साथ ही, आप समस्याओं को ठीक करने के बाद, पेजों को फिर से क्रॉल करने का अनुरोध भी कर सकते हैं.
  • नई और बेहतर रिपोर्ट के साथ-साथ आगे टूल के बारे में भी बताया गया है.
  • यह वर्शन मोबाइल डिवाइस पर काम करता है.

टूल और रिपोर्ट की तुलना

हमने पुराने वर्शन की कई रिपोर्ट और टूल के नए वर्शन बनाए हैं. साथ ही, आने वाले समय में हम दूसरी रिपोर्ट और टूल के नए वर्शन बनाना जारी रखेंगे. यहां Search Console के पुराने और नए वर्शन के टूल और रिपोर्ट की तुलना की गई है. जैसे-जैसे हम नई रिपोर्ट जोड़ते जाएंगे, इस सूची में बदलाव होते रहेंगे.

हमारी पुरज़ोर सिफ़ारिश है कि जब Search Console के नए वर्शन में किसी पुरानी रिपोर्ट का नया वर्शन मौजूद हो, तब आप रिपोर्ट का नया वर्शन ही इस्तेमाल करें. रिपोर्ट के पुराने वर्शन जल्द ही हटा दिए जाएंगे.
Search Console के पुराने वर्शन में रिपोर्ट Search Console के नए वर्शन में रिपोर्ट का नाम तुलना
खोज के आंकड़े

प्रदर्शन

नई रिपोर्ट में 16 महीनों का डेटा देखा जा सकता है और इसका इस्तेमाल करना ज़्यादा आसान है.
रिच कार्ड हर पेज की एनहैंसमेंट रिपोर्ट नई रिपोर्ट में डीबग करने की ज़्यादा जानकारी दी जाती है. साथ ही, समस्याएं ठीक करने के बाद, आप एक क्लिक करके पेज को फिर से क्रॉल करने का अनुरोध कर सकते हैं.
दूसरी साइटों पर मौजूद आपकी साइट के लिंक
साइट के दूसरे पेज पर ले जाने वाले लिंक
लिंक नई रिपोर्ट में दो तरह की रिपोर्ट को साथ में दिखाया जाता है. पहली, आपकी साइट के उन लिंक की रिपोर्ट, जो दूसरी साइटों पर मौजूद होते हैं और दूसरी, आपकी साइट के दूसरे पेजों पर ले जाने वाले लिंक की रिपोर्ट. इस मिली-जुली रिपोर्ट में लिंक की कुल संख्या बताई जाती है, जो पिछले वर्शन के मुकाबले ज़्यादा सटीक होती है.
इंडेक्स करने की स्थिति इंडेक्स कवरेज की स्थिति नई रिपोर्ट में पुरानी रिपोर्ट की सभी जानकारी शामिल की गई है. इसके अलावा, इसमें साइट को क्रॉल करने की स्थिति के बारे में पूरी जानकारी भी शामिल की गई है, जो Google के इंडेक्स से ली जाती है.
साइटमैप रिपोर्ट साइटमैप नई रिपोर्ट में पुरानी रिपोर्ट की जानकारी को बेहतर तरीके से दिखाया जाता है. पुरानी रिपोर्ट में साइटमैप को सबमिट किए बिना ही उसकी जाँच की जा सकती थी, लेकिन नई रिपोर्ट में ऐसा नहीं किया जा सकता. नई रिपोर्ट में साइटमैप सबमिट करने के बाद ही उसकी जाँच की जा सकती है.
Accelerated Mobile Pages एएमपी की स्थिति नई रिपोर्ट में गड़बड़ियों के कई दूसरे प्रकारों की जानकारी दी गई है. साथ ही, इसमें एक तय तरीका भी बताया गया है, जिसका इस्तेमाल करके आप ऐसे पेजों को फिर से इंडेक्स करने का अनुरोध कर सकते हैं, जिनकी गड़बड़ियों को आपने ठीक कर लिया है.
मैन्युअल रूप से की गईं कार्रवाइयों की रिपोर्ट मैन्युअल रूप से की गईं कार्रवाइयों की रिपोर्ट नई रिपोर्ट में साइट पर मैन्युअल रूप से की गईं कार्रवाइयों का इतिहास देखा जा सकता है. इन कार्रवाइयों में समीक्षा करने के अनुरोध और उनके नतीजे भी शामिल होते हैं.
Fetch as Google यूआरएल की जाँच करने वाला टूल यूआरएल की जाँच करने वाले टूल से, इंडेक्स किए गए यूआरएल और यूआरएल के मौजूदा वर्शन के बारे में जानकारी देखी जा सकती है. साथ ही, इस टूल का इस्तेमाल करके पेज को क्रॉल करने के लिए अनुरोध भी किया जा सकता है. नई जानकारी में कैननिकल पेज के यूआरएल के साथ-साथ noindex/nocrawl के ज़रिए ब्लॉक किए गए पेजों के बारे में बताया जाता है. साथ ही, इससे यह भी पता चलता है कि यूआरएल Google के इंडेक्स में शामिल है या नहीं.
मोबाइल पर इस्तेमाल में आसानी की रिपोर्ट मोबाइल पर इस्तेमाल में आसानी की रिपोर्ट नई रिपोर्ट में पुरानी रिपोर्ट की ही जानकारी दिखाई जाती है, लेकिन इसे इस्तेमाल करना ज़्यादा आसान होता है. इसके अलावा, इस रिपोर्ट में एक तय तरीका बताया जाता है, जिससे आप मोबाइल पर पेज इस्तेमाल करने में आने वाली समस्याओं को ठीक करने के बाद, पेज को फिर से इंडेक्स करने का अनुरोध कर सकते हैं.
क्रॉल करने में होने वाली गड़बड़ियों की रिपोर्ट इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट और यूआरएल की जाँच करने वाला टूल

नई इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट में पूरी साइट को क्रॉल करने पर मिलने वाली गड़बड़ियां दिखाई जाती हैं. वहीं, यूआरएल की जाँच करने वाले नए टूल में, सिर्फ़ किसी खास यूआरएल को क्रॉल करने पर मिलने वाली गड़बड़ियां दिखाई जाती हैं. इन रिपोर्ट की मदद से समस्या की गंभीरता का पता लगाया जा सकता है. साथ ही, एक जैसी समस्या वाले पेजों की पहचान करके उन्हें एक अलग समूह में रखा जा सकता है.

पुरानी रिपोर्ट में पिछले तीन महीनों में आने वाली हर समस्या को गड़बड़ी के तौर पर दिखाया जाता था, जिसमें कुछ पुरानी, कम समय तक रहने वाली या गैर-ज़रूरी गड़बड़ियां भी शामिल होती थीं. नई रिपोर्ट में सिर्फ़ पिछले महीने की ऐसी गड़बड़ियां दिखाई जाती हैं, जिनका Google के खोज नतीजों पर असर पड़ता है: यहां आपको सिर्फ़ वह समस्या दिखाई जाती है, जिसकी वजह से आपके पेज को इंडेक्स से हटाए जाने या उसे इंडेक्स किए जाने पर रोक लगाए जाने का खतरा हो. 

साथ ही, यहां हम समस्याओं को उनकी गंभीरता के मुताबिक क्रम में रखते हुए पहले ज़्यादा गंभीर समस्या दिखाते हैं; उदाहरण के लिए, 404 गड़बड़ियों को गड़बड़ी के तौर पर सिर्फ़ तब गिना जाता है जब आप हमसे खास तौर पर किसी यूआरएल को क्रॉल करने के लिए कहते हैं, जैसे कि साइटमैप की मदद से.

यहां आपको Googlebot को मिलने वाली आपकी साइट की सभी समस्याएं नहीं दिखाई जाती हैं. इसके बजाय इन सुविधाओं की मदद से आप ऐसी समस्याओं पर ध्यान दे पाते हैं, जिनका आपकी साइट पर Google के इंडेक्स में असर पड़ता है.

इन गड़बड़ियों को फिर से व्यवस्थित किया जाता है या इन्हें नई इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट में नहीं दिखाया जाता:​

यूआरएल की गड़बड़ियां - डेस्कटॉप

गड़बड़ियों का पुराना नाम गड़बड़ी का नया नाम
सर्वर की गड़बड़ी इंडेक्स कवरेज में सर्वर की सभी गड़बड़ियों को सर्वर की गड़बड़ी (5xx) के तौर पर दिखाया जाता है.
सॉफ़्ट 404

आपने क्रॉल किए जाने के लिए गड़बड़ी को सबमिट किया है या नहीं, इस आधार पर इसे इंडेक्स कवरेज में इनमें से किसी एक के तौर पर दिखाया जाता है:

  • गड़बड़ी: सबमिट किया गया यूआरएल सॉफ़्ट 404 की तरह लगता है
  • शामिल नहीं किया गया: सॉफ़्ट 404
एक्सेस करने की मंज़ूरी नहीं मिली

आपने क्रॉल किए जाने के लिए गड़बड़ी को सबमिट किया है या नहीं, इस आधार पर इसे इंडेक्स कवरेज में इनमें से किसी एक के तौर पर दिखाया जाता है:

  • गड़बड़ी: सबमिट किए गए यूआरएल से बिना मंज़ूरी वाले अनुरोध का मैसेज मिला (401)
  • इंडेक्स में शामिल नहीं किए गए पेज: बिना मंज़ूरी वाले अनुरोध (401) की वजह से रोक लगाई गई
नहीं मिला

आपने क्रॉल किए जाने के लिए गड़बड़ी को सबमिट किया है या नहीं, इस आधार पर इसे इंडेक्स कवरेज में इनमें से किसी एक के तौर पर दिखाया जाता है:

  • गड़बड़ी: सबमिट किया गया यूआरएल नहीं मिला (404)
  • शामिल नहीं किया गया: नहीं मिला (404)
कोई दूसरी समस्या इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट में क्रॉल करने में समस्या मिली.

यूआरएल की गड़बड़ियां - स्मार्टफ़ोन

इस समय कोई जानकारी नहीं है, लेकिन हमें उम्मीद है कि हम यह समस्या हल कर लेंगे.

साइट की गड़बड़ियां

नए Search Console में साइट की गड़बड़ियां नहीं दिखाई जाती हैं.

सुरक्षा से जुड़ी समस्याएं सुरक्षा की समस्याओं वाली नई रिपोर्ट सुरक्षा की समस्याओं वाली नई रिपोर्ट में पुरानी रिपोर्ट की ज़्यादातर सुविधाओं को बदल दिया गया है. साथ ही, इसमें आपकी साइट की समस्याओं का इतिहास दिखाया जाता है.
स्ट्रक्चर्ड डेटा रिच नतीजों की जाँच और रिच नतीजों की रिपोर्ट अलग-अलग यूआरएल की जाँच करने के लिए, रिच नतीजों की जाँच करने की सुविधा (या यूआरएल की जाँच करने वाला टूल) इस्तेमाल करें. पूरी साइट की जाँच करने के लिए, अपनी साइट के अलग-अलग रिच नतीजों की रिपोर्ट देखें. हालांकि, हर तरह के रिच नतीजों की रिपोर्ट नहीं मिल पा रही है, फिर भी हम ज़्यादा से ज़्यादा रिच नतीजे शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं.
एचटीएमएल कोड में सुधार करना कोई नहीं इसके लिए कोई रिपोर्ट मौजूद नहीं है; कृपया शीर्षक और स्निपेट को बेहतर बनाने वाले सबसे अच्छे तरीके अपनाएं.
ऐसे संसाधन, जिन पर रोक लगी है यूआरएल की जाँच करने वाला टूल पूरी साइट पर ऐसे संसाधनों को देखने की सुविधा उपलब्ध नहीं है जिन पर रोक लगी हुई है. हालांकि, आप यूआरएल की जाँच करने वाले टूल का इस्तेमाल करके अलग-अलग यूआरएल पर मौजूद इन संसाधनों की सूची देख सकते हैं.
Android ऐप्लिकेशन कोई नहीं मार्च 2019 के बाद Search Console में Android ऐप्लिकेशन की सुविधा काम नहीं करेगी.
प्रॉपर्टी सेट कोई नहीं मार्च 2019 के बाद Search Console में प्रॉपर्टी सेट की सुविधा काम नहीं करेगी.

 

एक ही तरह के डेटा को दोबारा सबमिट न करें - Search Console के पुराने वर्शन में शामिल डेटा और उस पर किए गए अनुरोध को Search Console के नए वर्शन में भी शामिल कर दिया जाता है. आपको इन्हें दोनों वर्शन पर सबमिट करने की ज़रूरत नहीं है. उदाहरण के लिए, अगर आपने पुराने Search Console में दोबारा विचार करने का अनुरोध या कोई साइटमैप सबमिट किया है, तो आपको उसे Search Console में फिर से सबमिट करने की ज़रूरत नहीं है.

पहले से किए जा रहे कामों को करने के नए तरीके

Search Console के नए वर्शन में कुछ आम तौर पर किए जाने वाले कामों को करने के तरीकों में बदलाव किए गए हैं. यहां आम तौर पर किए जाने वाले कुछ कामों के बारे में बताया गया है.

Search Console के नए वर्शन पर काम न करने वाली सुविधाएं

यहां कुछ ऐसी सुविधाएं दी गई हैं, जो फ़िलहाल Search Console के नए वर्शन पर काम नहीं करतीं. इन सुविधाओं को इस्तेमाल करने के लिए आपको Search Console के पुराने वर्शन का इस्तेमाल करना होगा.

  • पेज को क्रॉल किए जाने का डेटा (हर दिन क्रॉल किए जाने वाले पेज, हर दिन डाउनलोड होने वाला डेटा (केबी में), और पेज डाउनलोड करने में लगा समय)
  • robots.txt फ़ाइल की जाँच करने वाला टूल
  • 'Google सर्च' में यूआरएल पैरामीटर प्रबंधित करना
  • अंतरराष्ट्रीय उपयोगकर्ताओं को टारगेट करना (hreflang टैग प्रबंधित करना या साइट को टारगेट करने के लिए अपनी पसंद का देश सेट करना)
  • डेटा को हाइलाइट करने वाला टूल
  • अपने मैसेज पढ़ना और उन्हें मैनेज करना
  • साइट का पता बदलने वाला टूल
  • पसंदीदा डोमेन सेट करना
  • Search Console की प्रॉपर्टी को Analytics की प्रॉपर्टी के साथ जोड़ना
  • लिंक को छोड़ देना
  • इंडेक्स से पुरानी सामग्री हटाना
  • ब्लॉक किए गए संसाधनों की रिपोर्ट
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?