Data Studio का नाम बदलकर अब Looker Studio कर दिया गया है. Looker Studio का अब भी मुफ़्त में इस्तेमाल किया जा सकता है. इसमें वे सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं जिनके बारे में आपको पहले से पता है. Looker Studio Pro, एंटरप्राइज़ के लिए बेहतर एसेट मैनेजमेंट, टीम के साथ मिलकर काम करने की नई सुविधाएं, और तकनीकी सहायता का ऐक्सेस मुहैया कराता है. ज़्यादा जानें.

आसानी से बताने/सिखाने वाली गाइड

Looker Studio पर काम करने के लिए बुनियादी बातें जानें.

इस लेख में छह चरण दिए गए हैं, जिनमें Looker Studio इस्तेमाल करने का तरीका बताया गया है. इन चरणों को पढ़ने के बाद, Looker Studio का आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है.

इस पूरे सहायता केंद्र में, शब्दावली के लिंक चुने गए शब्दों पर ज़्यादा जानकारी देते हैं. खास जानकारी देखने के लिए लिंक पर कर्सर घुमाएं या फिर पूरी परिभाषा देखने के लिए, लिंक पर क्लिक करें. इस लेख के आखिर में एक टेबल है, जिसमें यहां इस्तेमाल होने वाले शब्दों के बारे में अहम जानकारी दी गई है.
 
Looker Studio एक सुविधाजनक टूल है: एक जैसे नतीजे पाने के लिए आम तौर पर कई तरीके होते हैं. यहां जिस वर्कफ़्लो के बारे में बताया गया है वह सिर्फ़ एक उदाहरण है.

1रिपोर्ट से शुरुआत करना

रिपोर्ट की मदद से, अपने डेटा को विज़ुअलाइज़ किया जा सकता है और अहम जानकारी हासिल की जा सकती है. साथ ही, इस जानकारी को दूसरों के साथ शेयर भी किया जा सकता है.

निर्देश

Looker Studio में साइन इन करने पर, आपको होम पेज दिखेगा. इसमें पहले से रिपोर्ट टैब खुला होगा. जिन रिपोर्ट का ऐक्सेस आपके पास है वे स्क्रीन के बीच में दिखती हैं. प्लस बटन का इस्तेमाल करके, एक नई रिपोर्ट बनाई जा सकती है या सबसे ऊपर, पहले से बने रिपोर्ट टेंप्लेट में से किसी एक से शुरुआत की जा सकती है.

Looker Studio का होम पेज. नई रिपोर्ट बनाने के लिए, "प्लस" बटन पर क्लिक करने से जुड़ा उदाहरण.

रिपोर्ट देखें

आपके साथ शेयर की गई रिपोर्ट देखने के लिए, स्क्रीन पर दिख रही सूची में मौजूद रिपोर्ट के नाम पर क्लिक करें.

रिपोर्ट में बदलाव करें

  1. रिपोर्ट देखें.
  2. ऊपर दाएं कोने में, बदलाव करने वाला आइकॉनबदलाव करें पर क्लिक करें.

अगर आपको 'बदलाव करें' बटन नहीं दिखता है, तो इसका मतलब है कि रिपोर्ट को सिर्फ़ "देखें" ऐक्सेस के साथ शेयर किया गया है. अगर रिपोर्ट के मालिक ने इसकी अनुमति दी है, तो एक कॉपी बनाकर, उसमें बदलाव किया जा सकता है.

रिपोर्ट बनाएं

  1. सबसे ऊपर बाईं ओर, बनाएं पर क्लिक करें.
  2. रिपोर्ट चुनें.

कुछ ही समय में, आपको रिपोर्ट एडिटर दिखेगा, जिसमें रिपोर्ट में डेटा जोड़ें पैनल खुला हुआ होगा.

2रिपोर्ट में डेटा जोड़ना

डेटा सोर्स, आपके डेटा के कनेक्शन मैनेज करने और उन फ़ील्ड को कॉन्फ़िगर करने में आपकी मदद करते हैं जिन्हें आपको अपनी रिपोर्ट में इस्तेमाल करना है.

नई रिपोर्ट बनाने पर, रिपोर्ट में डेटा जोड़ें पैनल खुलता है. इसमें आपको दो विकल्प मिलते हैं: A) मौजूदा डेटा सोर्स जोड़ें या B) नया डेटा सोर्स बनाएं.

A) Analytics के सैंपल डेटा से कनेक्ट करना

  1. रिपोर्ट में डेटा जोड़ें पैनल में, मेरे डेटा सोर्स पर क्लिक करें.
  2. [Sample] Google Analytics Data डेटा सोर्स चुनें.
  3. सबसे नीचे दाईं ओर, जोड़ें पर क्लिक करें.
  4. डेटा सोर्स आपकी रिपोर्ट में जुड़ जाएगा.
  5. इसके बाद, आपको एक टेबल दिखेगी, जिसमें उस डेटा सोर्स के फ़ील्ड मौजूद होंगे.
  6. टेबल का डेटा और स्टाइल बदलने के लिए, दाईं ओर मौजूद प्रॉपर्टी पैनल का इस्तेमाल करें.
  7. अपनी रिपोर्ट का नाम बदलने के लिए, सबसे ऊपर बाईं ओर, बिना टाइटल वाली रिपोर्ट पर क्लिक करें और एक नया नाम डालें.

B) अपने डेटा से कनेक्ट करना

  1. रिपोर्ट में डेटा जोड़ें पैनल में, डेटा से कनेक्ट करें पर क्लिक करें.
  2. यह डेटा सोर्स जिस तरह का डेटा उपलब्ध कराएगा उसी तरह के कनेक्टर को चुनें. जैसे, Google Analytics या Sheets.
  3. स्क्रीन पर मैसेज दिखने पर, Looker Studio को अपने डेटा के ऐक्सेस की अनुमति देने के लिए, अनुमति दें पर क्लिक करें.
  4. अपने खाते की जानकारी दें.
  5. सबसे नीचे दाईं ओर, जोड़ें पर क्लिक करें.
  6. इसके बाद, आपको एक टेबल दिखेगी, जिसमें उस डेटा सोर्स के फ़ील्ड मौजूद होंगे.
  7. टेबल का डेटा और स्टाइल बदलने के लिए, दाईं ओर मौजूद प्रॉपर्टी पैनल का इस्तेमाल करें.
  8. अपनी रिपोर्ट का नाम बदलने के लिए, सबसे ऊपर बाईं ओर, बिना टाइटल वाली रिपोर्ट पर क्लिक करें और एक नया नाम डालें.

3रिपोर्ट में चार्ट और कंट्रोल जोड़ना

रिपोर्ट कैनवस में, कॉम्पोनेंट जोड़ने के लिए, मेन्यू और टूलबार का इस्तेमाल करें.

निर्देश

  1. एडिटर के सबसे ऊपर मौजूद टूलबार में, चार्ट जोड़ें पर क्लिक करें. इसके बाद, सूची में से कोई चार्ट चुनें.
  2. कैनवस पर वहां क्लिक करें जहां चार्ट दिखाना है.
  3. अपने हिसाब से चार्ट की जगह या साइज़ बदलें.
    ऐसा ऐनिमेशन जिसमें उपयोगकर्ता को रिपोर्ट में बदलाव करके, एफ़एए फ़्लाइट की जानकारी वाली BigQuery डेटा सोर्स के आधार पर टाइम सीरीज़ जोड़ते हुए दिखाया गया है. इस ऐनिमेशन में उपयोगकर्ता, चार्ट को कैनवस पर लाने के लिए कैनवस पर क्लिक करता है. इसके बाद, चार्ट का साइज़ बदलने के लिए, उसके कोने को खींचता है. इसके बाद, उपयोगकर्ता चार्ट के हेडर पर माउस घुमाकर चार्ट को "कंट्रोल" करता है और उसे कैनवस पर रखता है.
  4. प्रॉपर्टी पैनल में, फ़ील्ड पर क्लिक करके डाइमेंशन और मेट्रिक जोड़ें या उनमें बदलाव करें या फिर चार्ट पैनल की दाईं ओर मौजूद डेटा पैनल से उन्हें खींचें और छोड़ें.
    ऐनिमेशन में, एक उपयोगकर्ता को टाइम सीरीज़ चुनते हुए दिखाया गया है. चार्ट प्रॉपर्टी पैनल के सेटअप टैब में, चार्ट की तारीख की सीमा वाला डाइमेंशन, फ़्लाइट की तारीख पर सेट होता है. ऐनिमेशन में, एक उपयोगकर्ता को टाइम सीरीज़ चुनते हुए दिखाया गया है. ऐनिमेशन में, एक उपयोगकर्ता को टाइम सीरीज़ चुनते हुए दिखाया गया है.
  5. डेटा पैनल से किसी फ़ील्ड को कैनवस पर खींचकर नए चार्ट भी बनाए जा सकते हैं.
    ऐनिमेशन में उपयोगकर्ता को स्कोरकार्ड बनाते हुए दिखाया गया है. इसके लिए, उपयोगकर्ता डेटा टैब में फ़ील्ड की सूची को नीचे की ओर स्क्रोल करके, रिकॉर्ड की गिनती वाली मेट्रिक को रिपोर्ट कैनवस पर खींचता है. स्कोरकार्ड में, 56,074,571 रिकॉर्ड दिखते हैं.

 

4अपनी रिपोर्ट देखना

देखें कि आपकी रिपोर्ट दूसरे दर्शकों को कैसी दिखती है.

निर्देश

व्यू मोड की मदद से, लोग पूरा डेटा देख सकते हैं और ऐसे किसी भी इंटरैक्टिव कंट्रोल का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसे आपने रिपोर्ट में डाला है. हालांकि, वे रिपोर्ट के स्ट्रक्चर में कोई बदलाव नहीं कर सकते.

व्यू मोड और बदलाव मोड के बीच स्विच करें

  1. ऊपर दाईं ओर मौजूद, देखें पर क्लिक करें. अब आप व्यू मोड में हैं.
  2. बदलाव मोड पर वापस जाने के लिए, बदलाव करने वाला आइकॉनबदलाव करें पर क्लिक करें.

5रिपोर्ट शेयर करना

दूसरे दर्शकों के साथ रिपोर्ट शेयर करें. दूसरे एडिटर के साथ मिलकर काम करें.

निर्देश

एडिटर को रिपोर्ट में बदलाव करने के लिए Google खाते में साइन इन करना ज़रूरी है, लेकिन दर्शकों को रिपोर्ट देखने के लिए साइन इन करने की ज़रूरत नहीं होती.

रिपोर्ट शेयर करें

  1. ऊपर दाईं ओर मौजूद, शेयर आइकॉन पर क्लिक करें.
  2. जिन लोगों और/या ग्रुप के साथ आपको रिपोर्ट शेयर करनी है उनके नाम डालें.
  3. किस ईमेल पते को रिपोर्ट में किस लेवल का ऐक्सेस मिलना चाहिए, यह तय करने के लिए बेहतर विकल्पों का इस्तेमाल करें.
रिपोर्ट शेयर करने से इसका डेटा सोर्स शेयर नहीं होता. दर्शक आपकी रिपोर्ट में डेटा देख सकते हैं या नहीं, यह डेटा सोर्स के क्रेडेंशियल पर निर्भर करता है.
 
हालांकि, दूसरे लोगों या ग्रुप के साथ रिपोर्ट शेयर करने और उन्हें बदलाव करने का ऐक्सेस देने पर, वे अब भी चार्ट में डेटा सोर्स से फ़ील्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं. भले ही, डेटा सोर्स उनके साथ शेयर न किया गया हो.

6डेटा सोर्स शेयर करना

अपने डेटा सोर्स के आधार पर दूसरों को भी अपनी रिपोर्ट बनाने की सुविधा दें.

निर्देश

अगर आपको दूसरों को अपनी रिपोर्ट सिर्फ़ दिखानी है या दूसरों से उनमें बदलाव करवाना है, तो डेटा सोर्स शेयर करने की कोई ज़रूरत नहीं है.

डेटा सोर्स शेयर करने के लिए, आपको इसे सीधे डेटा सोर्स के होम पेज (रिपोर्ट से नहीं) से ऐक्सेस करना होगा. डेटा सोर्स देखने या उसमें बदलाव करने के लिए, आपको Google खाते में साइन इन करना होगा.

डेटा सोर्स शेयर करें

  1. अपनी रिपोर्ट में सबसे ऊपर बाईं ओर, लोगोLooker Studio का लोगो पर क्लिक करके, Looker Studio के होम पेज पर वापस आएं.
  2. बाईं ओर, डेटा सोर्स पर क्लिक करें.
  3. आपने दूसरे चरण में जिस डेटा सोर्स को चुना था उसे खोजें.
  4. दाईं ओर, ज़्यादा ज़्यादा पर क्लिक करें.
  5. शेयर करें शेयर आइकॉन पर क्लिक करें.
  6. उन लोगों और/या ग्रुप के नाम डालें जिनके साथ आपको अपना डेटा सोर्स शेयर करना है.
  7. किस ईमेल पते को डेटा सोर्स में किस लेवल का ऐक्सेस मिलना चाहिए, यह तय करने के लिए बेहतर विकल्पों का इस्तेमाल करें.

डेटा सोर्स को बदलाव करने के ऐक्सेस के साथ शेयर करते समय सावधानी बरतें. हालांकि, डेटा सोर्स शेयर करने से मौजूदा डेटा का ऐक्सेस नहीं मिलता, लेकिन डेटा सोर्स में किसी भी तरह का बदलाव होने से, उन मौजूदा चार्ट के साथ इसकी सेटिंग में गड़बड़ी हो सकती है जो इसका इस्तेमाल करते हैं. व्यू ऐक्सेस के साथ डेटा सोर्स शेयर करने से लोग रिपोर्ट बना सकते हैं, लेकिन डेटा सोर्स में बदलाव नहीं कर सकते.

मुख्य सिद्धांत

इस टेबल में, लेख और पूरे सहायता केंद्र में इस्तेमाल किए गए कुछ अहम शब्दों और सिद्धांतों के बारे में बताया गया है.

सिद्धांत इसके इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी
रिपोर्ट

यह Looker Studio की एसेट होती है, जिसमें कॉम्पोनेंट का कलेक्शन होता है. इसकी मदद से, दर्शक को आपके डेटा से मिली जानकारी और इनसाइट दिखती हैं.

रिपोर्ट के बारे में ज़्यादा जानें.

कॉम्पोनेंट

यह एक विजेट है जिसे किसी रिपोर्ट में, चार्ट, टेबल, और इंटरैक्टिव तारीख की सीमा के कंट्रोल के साथ-साथ फ़िल्टर कंट्रोल जैसे डेटा को दिखाने के लिए जोड़ा जाता है. डेटा कॉम्पोनेंट को उनकी जानकारी डेटा सोर्स से मिलती है.

अपनी रिपोर्ट की व्याख्या में, टेक्स्ट, आकार, इमेज, और एम्बेड किए गए कॉन्टेंट कॉम्पोनेंट जोड़े जा सकते हैं.

कनेक्टर / डेटा सोर्स

Looker Studio को अपने डेटा से कनेक्ट करने के लिए ये कॉम्पोनेंट ज़रूरी हैं:

  • कनेक्टर, Looker Studio को आपके डेटा से कनेक्ट करते हैं. अपने डेटा से कनेक्ट किए जाने पर, Looker Studio में डेटा सोर्स बन जाता है.
  • डेटा सोर्स, कनेक्टर के खास इंस्टेंस को दिखाते हैं: उदाहरण के लिए, किसी BigQuery टेबल या क्वेरी, Google Analytics प्रॉपर्टी या Google शीट से कनेक्शन. डेटा सोर्स की मदद से, उस कनेक्शन इंस्टेंस को बनाने के लिए इस्तेमाल किए गए कनेक्टर से मिले फ़ील्ड और विकल्प को कॉन्फ़िगर किया जा सकता है. साथ ही, डेटा सोर्स, रिपोर्ट व्यूअर के साथ सुरक्षित तरीके से जानकारी और इनसाइट शेयर करने का तरीका मुहैया कराता है. शायद ऐसे रिपोर्ट व्यूअर के पास पूरे डेटा का सीधा ऐक्सेस न हो.

अपने डेटा से कनेक्ट करने के बारे में ज़्यादा जानें.

फ़ील्ड

यह डेटा का एक कॉलम होता है.

Looker Studio में दो तरह के बुनियादी फ़ील्ड होते हैं:

  • डाइमेंशन में वे चीज़ें आती हैं जिन्हें आपको मेज़र करना है. इनमें वे चीज़ें भी शामिल होती हैं जो आपके डेटा को कैटगरी में बांटने के तरीकों के तौर पर इस्तेमाल की जाती हैं.
  • मेट्रिक वे संख्याएं हैं जो डाइमेंशन में मौजूद चीज़ों को मेज़र करती हैं.

रिपोर्ट में फ़ील्ड के बारे में ज़्यादा जानें.

क्रेडेंशियल

वह तकनीक जिससे डेटा सोर्स यह तय करता है कि उसका दिया गया डेटा कौन देख सकता है.

डेटा सोर्स के क्रेडेंशियल के बारे में ज़्यादा जानें.

व्यू मोड / बदलाव मोड
  • बदलाव मोड की मदद से, रिपोर्ट के स्ट्रक्चर में बदलाव किया जा सकता है और इंटरैक्टिव कंट्रोल का इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही, इससे डेटा सोर्स को बदला जा सकता है, जोड़ा जा सकता है या हटाया जा सकता है.
    • जो लोग किसी रिपोर्ट या डेटा सोर्स में बदलाव कर सकते हैं उन्हें एडिटर कहा जाता है.
  • व्यू मोड की मदद से, वह डेटा देखा जा सकता जिसे देखने की आपको अनुमति है. साथ ही, यह आपको इंटरैक्टिव कंट्रोल का इस्तेमाल करने की सुविधा देता है. व्यू मोड से, रिपोर्ट के स्ट्रक्चर में बदलाव नहीं किया जा सकता.
    • जो लोग रिपोर्ट या डेटा सोर्स सिर्फ़ देख सकते हैं उन्हें व्यूअर कहा जाता है.
शेयर करने और ऐक्सेस करने की अनुमतियां

रिपोर्ट और डेटा सोर्स को किसी के साथ शेयर करते समय, यह तय किया जा सकता है कि वे एसेट को कैसे ऐक्सेस करें:

  • बदलाव करें के ऐक्सेस से लोग एसेट में बदलाव कर सकते हैं और उसे शेयर कर सकते हैं. यह ऐक्सेस उन्हें एडिटर बनाता है.
  • देखें के ऐक्सेस से लोग एसेट देख सकते हैं, लेकिन वे इसमें न तो बदलाव कर सकते हैं और न ही इसे शेयर कर सकते हें. यह ऐक्सेस उन्हें व्यूअर बनाता है.

शेयर करने के बेहतर विकल्पों की मदद से, एसेट ऐक्सेस करने के अलग-अलग पहलुओं को कंट्रोल किया जा सकता है. जैसे, डेटा डाउनलोड करना या रिपोर्ट प्रिंट करना.

लिंक शेयर करने के विकल्पों की मदद से, इंटरनेट पर अपने एसेट को ज़्यादा बड़े पैमाने पर शेयर किया जा सकता है.

शेयर करने के बारे में ज़्यादा जानें.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
true
true
true
102097
false