संवेदनशील जानकारी ऐक्सेस करने वाली अनुमतियां और एपीआई

इस नीति में बदलाव होने जा रहे हैं!

बदलावों की खास जानकारी और अपडेट की गई, डेवलपर के लिए नीति की कॉपी को यहां जाकर देखें. 

संवेदनशील जानकारी को ऐक्सेस करने वाले सिर्फ़ ऐसे एपीआई और अनुमतियों के लिए अनुरोध करें जो उपयोगकर्ताओं के काम की हों. आप संवेदनशील जानकारी को ऐक्सेस करने वाले सिर्फ़ ऐसे एपीआई या अनुमतियों के लिए अनुरोध कर सकते हैं जो आपके ऐप्लिकेशन में, उन मौजूदा सुविधाओं या सेवाओं को लागू करने के लिए ज़रूरी हैं जिनके बारे में आपने Google Play के स्टोर पेज पर बताया हो. आप ऐसे एपीआई या अनुमतियों का इस्तेमाल नहीं कर सकते जिनमें उन सुविधाओं या मकसद के लिए उपयोगकर्ता या डिवाइस के डेटा को ऐक्सेस किया जाता है जिनकी जानकारी न दी गई हो. इनका इस्तेमाल उन सुविधाओं या मकसद के लिए भी नहीं किया जा सकता जो ऐप्लिकेशन में मौजूद न हों या जिनकी अनुमति न हो. अनुमतियों या एपीआई की मदद से, ऐक्सेस की गई निजी या संवेदनशील जानकारी कभी भी बेची नहीं जा सकती.

संवेदनशील जानकारी को ऐक्सेस करने वाले एपीआई या अनुमतियों के लिए, ज़रूरत के मुताबिक (ज़्यादा अनुमति मांगने की सुविधा की मदद से) डेटा ऐक्सेस करने का अनुरोध करें, ताकि उपयोगकर्ता यह समझ सकें कि आपके ऐप्लिकेशन को अनुमति क्यों चाहिए. डेटा का इस्तेमाल सिर्फ़ उन मकसद के लिए करें जिनके लिए उपयोगकर्ता ने सहमति दी है. अगर आप बाद में दूसरे मकसद के लिए डेटा का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो आपको उपयोगकर्ताओं से पूछना होगा और यह पक्का करना होगा कि वे डेटा के दूसरे इस्तेमाल के लिए पूरी तरह से सहमत हों.

पाबंदी वाली अनुमतियां

ऊपर बताई गई अनुमतियों के अलावा, पाबंदी वाली अनुमतियां वे होती हैं जिन्हें हमारे डेवलपर दस्तावेज़ में खतरनाक, खास,  अहम के तौर पर शामिल किया गया है या जिनके बारे में नीचे बताया गया है. ये अनुमतियां नीचे दी गई अन्य ज़रूरी शर्तों और पाबंदियों पर निर्भर करती हैं:

  • पाबंदी वाली अनुमति की मदद से, ऐक्सेस किए जाने वाले उपयोगकर्ता या डिवाइस के संवेदनशील डेटा को तीसरे पक्ष को ट्रांसफ़र तब ही किया जा सकता है, जब यह उस ऐप्लिकेशन की मौजूदा सुविधाएं या सेवाएं देने या उन्हें बेहतर बनाने के लिए ज़रूरी हो जिससे डेटा इकट्ठा किया गया था. आप लागू कानून का पालन करने या मर्जर, मालिकाना हक या एसेट की बिक्री के लिए भी, उपयोगकर्ताओं को कानूनी रूप से ज़रूरी सूचना देकर डेटा ट्रांसफ़र कर सकते हैं. इसके अलावा, किसी भी तरह से उपयोगकर्ता के डेटा ट्रांसफ़र करने पर पाबंदी है.
  • अगर उपयोगकर्ता पाबंदी वाली अनुमति देने से मना कर देते हैं, तो उनके फ़ैसलों का सम्मान करें. साथ ही, किसी गैर ज़रूरी अनुमति पर सहमति देने के लिए उपयोगकर्ताओं पर दबाव नहीं बनाया जा सकता, न ही उनके फ़ैसले को बदलने की कोशिश की जा सकती है. ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले वे लोग जो अपनी संवेदनशील जानकारी का ऐक्सेस नहीं देते, उनसे अनुमति लेने के लिए ज़रूरी कोशिशें करनी होंगी. उदाहरण के तौर पर, अगर वे कॉल लॉग का ऐक्सेस नहीं देते, तो उन्हें मैन्युअल तरीके से फ़ोन नंबर डालने की अनुमति देना.
  • अनुमतियों का इस्तेमाल करते समय, आधिकारिक तौर पर बताए गए Android डेवलपर के लिए ऐप्लिकेशन की अनुमतियां पाने के सबसे सही तरीकों या मौजूदा नीतियों का उल्लंघन करना साफ़ मना है. इनमें खास अधिकारों का गलत इस्तेमाल भी शामिल है.

पाबंदी वाली कुछ खास अनुमतियां, नीचे बताई गई दूसरी ज़रूरी शर्तों पर निर्भर हो सकती हैं. इन पाबंदियों का मकसद ऐप्लिकेशन को इस्तेमाल करने वालों की निजता को सुरक्षित रखना है. हम नीचे दी गई ज़रूरी शर्तों में गिनती के अपवादों की अनुमति दे सकते हैं. ऐसा हम उन बेहद खास मामलों में ही कर सकते हैं जहां ऐप्लिकेशन काफ़ी दमदार या बहुत ज़रूरी सुविधा देते हों और उसे मुहैया कराने का कोई दूसरा तरीका मौजूद नहीं हो. हम दिए गए अपवादों का आकलन, उपयोगकर्ताओं की निजता या सुरक्षा पर पड़ने वाले असर के मुताबिक करते हैं.

 

मैसेज (एसएमएस) और कॉल लॉग की अनुमतियां

मैसेज (एसएमएस) और कॉल लॉग की अनुमतियों को निजी और संवेदनशील जानकारी नीति और आगे दी गई पाबंदियों के तहत, इस्तेमाल करने वाले का संवेदनशील डेटा माना जाता है:

पाबंदी वाली अनुमति ज़रूरत
कॉल लॉग अनुमति ग्रुप (जैसे READ_CALL_LOG, WRITE_CALL_LOG, PROCESS_OUTGOING_CALLS) इसे डिवाइस पर डिफ़ॉल्ट मैसेज (एसएमएस) या सहायक हैंडलर के रूप में सही तरीके से रजिस्टर किया जाना चाहिए.
मैसेज (एसएमएस) अनुमति ग्रुप (जैसे READ_SMS, SEND_SMS, WRITE_SMS, RECEIVE_SMS, RECEIVE_WAP_PUSH, RECEIVE_MMS) इसे डिवाइस पर डिफ़ॉल्ट मैसेज (एसएमए) या सहायक हैंडलर के रूप में सही तरीके से रजिस्टर किया जाना चाहिए.

 

जिन ऐप्लिकेशन में डिफ़ॉल्ट मैसेज (एसएमएस), फ़ोन या सहायक हैंडलर की सुविधा नहीं है, हो सकता है कि वे मेनिफ़ेस्ट में ऊपर दी गई अनुमतियों के बारे में न बताएं. इसमें मेनिफ़ेस्ट का प्लेसहोल्डर टेक्स्ट भी शामिल है. इसके अलावा, ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वालों को ऊपर दी गई कोई भी अनुमति स्वीकार करने का संकेत देने से पहले, मैसेज (एसएमएस), फ़ोन या सहायक हैंडलर के रूप में ऐप्लिकेशन रजिस्टर होने चाहिए और जब वे डिफ़ॉल्ट हैंडलर न रह जाएं, तो उन्हें उसी समय अनुमति का इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए. अनुमति दिए गए इस्तेमाल और अपवाद इस सहायता केंद्र पेज पर दिए गए हैं.

ऐप्लिकेशन सिर्फ़ अनुमति मिली हुई मुख्य फ़ंक्शन की सुविधा देने के लिए अनुमति (और अनुमति से पाए हुए किसी भी डेटा) का इस्तेमाल कर सकते हैं. मुख्य फ़ंक्शन की सुविधा को ऐप्लिकेशन के खास मकसद के तौर पर बताया गया है. इसमें मुख्य सुविधाओं का एक सेट शामिल हो सकता है, जिन्हें ऐप्लिकेशन की जानकारी में खास तौर से बताया जाना चाहिए और उनका प्रचार किया जाना चाहिए. मुख्य सुविधा (सुविधाओं) के बिना ऐप्लिकेशन "अधूरा" रहता है या किसी काम का नहीं रहता. इस डेटा का ट्रांसफ़र, शेयर करना या लाइसेंस लेकर किया गया इस्तेमाल, सिर्फ़ ऐप्लिकेशन के अंदर मुख्य सुविधाओं या सेवाओं को देने के लिए होना चाहिए. इसका इस्तेमाल किसी और मकसद (जैसे दूसरे ऐप्लिकेशन या सेवाओं, विज्ञापन या मार्केटिंग के मकदस में सुधार) के लिए बढ़ाया नहीं जा सकता है. डेटा पाने के लिए आप दूसरे तरीकों (दूसरी अनुमतियों, एपीआई, या तीसरे-पक्ष स्रोतों सहित) का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं. जिसमें ऊपर बताई गई अनुमतियां शामिल हैं.

 

जगह की जानकारी की अनुमतियां

डिवाइस की जगह की जानकारी को उपयोगकर्ता की निजी और संवेदनशील जानकारी माना जाता है. यह निजी और संवेदनशील जानकारी से जुड़ी नीति, बैकग्राउंड में जगह की जानकारी ऐक्सेस करने का अनुरोध करने की नीति, और नीचे दी गई शर्तों पर निर्भर करती है:

  • आपका ऐप्लिकेशन, ऐप्लिकेशन में मौजूदा सुविधाएं या सेवाएं देने की सुविधा बंद हो जाने के बाद, जगह की जानकारी (उदाहरण के लिए, ACCESS_FINE_LOCATION, ACCESS_COARSE_LOCATION, ACCESS_BACKGROUND_LOCATION) की अनुमति की मदद से सुरक्षित डेटा को ऐक्सेस नहीं कर सकेगा.
  • सिर्फ़ विज्ञापन दिखाने या आंकड़े पाने के लिए, आपको ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वालों से जगह की जानकारी इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं मांगनी चाहिए. विज्ञापन दिखाने के लिए इस डेटा के इस्तेमाल की अनुमति देने वाले ऐप्लिकेशन को हमारी विज्ञापन नीति के मुताबिक होना चाहिए.
  • ऐप्लिकेशन को मौजूदा सुविधा या सेवा देने के लिए उतने ही दायरे का अनुरोध करना चाहिए जो ज़रूरी है. उदाहरण के लिए, अच्छे की बजाय ठीक और बैकग्राउंड की बजाय फ़ोरग्राउंड. साथ ही, ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोगों को यह उम्मीद करनी चाहिए कि सुविधा या सेवा को जगह की उतनी जानकारी की ज़रूरत है जितनी के लिए ऐक्सेस का अनुरोध किया गया है. उदाहरण के लिए, हम ऐसे ऐप्लिकेशन अस्वीकार कर सकते हैं जो कोई खास वजह बताए बिना बैकग्राउंड की जगह की जानकारी का अनुरोध करते हैं या इसे ऐक्सेस करते हैं.
  • बैकग्राउंड में जगह की जानकारी ऐक्सेस करने का अनुरोध, सिर्फ़ ऐसी सुविधाएं देने के लिए किया जा सकता है जो उपयोगकर्ता के लिए फ़ायदेमंद हों और ऐप्लिकेशन के मुख्य फ़ंक्शन से जुड़ी हों.

फ़ोरग्राउंड सेवा (ऐप्लिकेशन के पास ऐक्सेस सिर्फ़ तब हो, जब वह स्क्रीन पर दिख रहा हो, जैसे कि "इस्तेमाल के दौरान") की अनुमति का इस्तेमाल करके, ऐप्लिकेशन की जगह की जानकारी को ऐक्सेस कर सकते हैं. ऐसा सिर्फ़ तब होना चाहिए, जब जगह की जानकारी का इस्तेमाल:

  • उपयोगकर्ताओं की शुरू की गई इन-ऐप्लिकेशन कार्रवाई को जारी रखने के लिए करना पड़े और
  • ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति की शुरू की गई कार्रवाई पूरी होने के तुरंत बाद, इसे बंद कर दिया जाए.

खास तौर पर, बच्चों के लिए बनाए गए ऐप्लिकेशन को परिवार के लिए बनाए गए ऐप्लिकेशन से जुड़ी नीति का पालन करना होगा.

नीति से जुड़ी ज़रूरी शर्तों के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, यह सहायता लेख पढ़ें.

 

सभी फ़ाइलें ऐक्सेस करने की अनुमति

निजी और संवेदनशील जानकारी नीति और नीचे दी गई ज़रूरी शर्तों के मुताबिक, ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति के डिवाइस पर मौजूद फ़ाइलों और डायरेक्ट्री का डेटा उसका निजी और संवेदनशील डेटा माना जाता है:

  • ऐप्लिकेशन को डिवाइस की उसी मेमोरी के ऐक्सेस का अनुरोध करना चाहिए जो ऐप्लिकेशन के काम करने के लिए ज़रूरी हो. किसी तीसरे पक्ष के लिए, डिवाइस की उस मेमोरी के ऐक्सेस का अनुरोध नहीं किया जाना चाहिए जो ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोगों को मिलने वाली सुविधा के काम करने के लिए ज़रूरी न हो.
  • डिवाइस की शेयर की गई मेमोरी का ऐक्सेस प्रबंधित करने के लिए, उन Android डिवाइस को MANAGE_EXTERNAL_STORAGE अनुमति लेनी होगी जो R या उसके बाद के वर्शन पर काम कर रहे हैं. जो ऐप्लिकेशन R वर्शन को टारगेट करते हैं और डिवाइस की शेयर की गई मेमोरी (“सभी फ़ाइलों का ऐक्सेस”) का ऐक्सेस बढ़ाने का अनुरोध करते हैं उन्हें प्रकाशित करने से पहले उनकी समीक्षा ज़रूरी है. इस समीक्षा में यह साफ़ होना चाहिए कि ऐप्लिकेशन को सही तौर पर ऐक्सेस दिया गया है. जो ऐप्लिकेशन इस अनुमति का इस्तेमाल करते हैं उन्हें ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोगों को साफ़ तौर पर यह सूचना देनी चाहिए कि वे "खास ऐप्लिकेशन के लिए ऐक्सेस" सेटिंग में जाकर इस तरह के ऐप्लिकेशन के लिए, "सभी फ़ाइलों का ऐक्सेस" चालू करें. R वर्शन से जुड़ी ज़रूरी शर्तों के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, यह सहायता लेख पढ़ें.

 

पैकेज (ऐप्लिकेशन) से जुड़ी जानकारी देखने की अनुमति

डिवाइस का इस्तेमाल करके, इंस्टॉल किए गए ऐप्लिकेशन की इन्वेंट्री के बारे में मांगी गई जानकारी को निजी और संवेदनशील जानकारी नीति के तहत, इस्तेमाल करने वाले का निजी और संवेदनशील डेटा माना जाता है. इसके लिए इन बातों का ध्यान रखा जाता है:

जिन ऐप्लिकेशन का मुख्य उद्देश्य लॉन्च करना, खोजना या डिवाइस पर मौजूद दूसरे ऐप्लिकेशन के साथ काम करना होता है, वे डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए दूसरे ऐप्लिकेशन देख सकते हैं, जैसा कि नीचे बताया गया है:

  • ऐप्लिकेशन की ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी देखने की क्षमता: वह क्षमता जिससे किसी ऐप्लिकेशन को, डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए ऐप्लिकेशन ("पैकेज") की पूरी ("या ज़्यादा से ज़्यादा") जानकारी दिखती है.
    • एपीआई लेवल 30 या इसके बाद के वर्शन को टारगेट करने वाले ऐप्लिकेशन के लिए, QUERY_ALL_PACKAGES अनुमति की मदद से, डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए अन्य ऐप्लिकेशन की ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी देखने की क्षमता को सीमित किया गया है. अगर ऐप्लिकेशन को किसी एक और सभी ऐप्लिकेशन के साथ मिलकर काम करने की ज़रूरत होगी और/या उसे अन्य ऐप्लिकेशन के बारे में जानकारी रखने की ज़रूरत होगी, तभी उसे यह अनुमति मिलेगी. 
    • उन तरीकों पर भी पाबंदी है जिनके इस्तेमाल से QUERY_ALL_PACKAGES की अनुमति से जुड़ी ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी शेयर करने या दिखाने की सुविधा के लेवल का अनुमान लगाया जा सकता है. इन तरीकों का इस्तेमाल सिर्फ़ तब किया जा सकता है, जब QUERY_ALL_PACKAGES की अनुमति का इस्तेमाल, उपयोगकर्ता को दी जाने वाली आपके ऐप्लिकेशन की मुख्य सुविधा के लिए ज़रूरी हो. इसके अलावा, आपका ऐप्लिकेशन किसी दूसरे ऐप्लिकेशन के साथ किस तरह काम करता है, इसका पता लगाने के लिए भी इन तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है.
    • QUERY_ALL_PACKAGES अनुमति का इस्तेमाल किन-किन मामलों में किया जा सकता है, यह जानने के लिए इस सहायता केंद्र लेख को पढ़ें.
  • कम से कम जानकारी देखना: कम से कम जानकारी देखने का मतलब है कि जब कोई ऐप्लिकेशन, बेहतर तरीके से टारगेट करने वाले ("ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी" देखने के बजाय) तरीके का इस्तेमाल करके, कुछ खास ऐप्लिकेशन के बारे में क्वेरी करता है और इस तरह, कम से कम डेटा ऐक्सेस करता है. उदाहरण के लिए, उन खास ऐप्लिकेशन से जुड़ी जानकारी के लिए क्वेरी करना जिनके बारे में आपके ऐप्लिकेशन के मेनिफ़ेस्ट में बताया जाता है. अगर आपका ऐप्लिकेशन, इन ऐप्लिकेशन के साथ मिलकर काम करने की नीति का पालन करता हो या इन्हें मैनेज करता हो, तो आप इस तरीके का इस्तेमाल करके उन ऐप्लिकेशन से जुड़ी जानकारी के लिए क्वेरी कर सकते हैं. 
  • किसी डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए ऐप्लिकेशन की इन्वेंट्री की जानकारी देखने की अनुमति सिर्फ़ तब होनी चाहिए, जब आपके ऐप्लिकेशन के मुख्य मकसद को पूरा करने के लिए या वे मुख्य सुविधाएं देने के लिए ऐसा करना ज़रूरी हो जिन्हें आपका ऐप्लिकेशन इस्तेमाल करने वाले लोग ऐक्सेस करते हैं. 

Play पर मौजूद ऐप्लिकेशन की क्वेरी से मिलने वाला ऐप्लिकेशन इन्वेंट्री डेटा न तो कभी बेचा जा सकता है और न ही आंकड़े जुटाने या विज्ञापनों से कमाई करने के मकसद से उसे शेयर किया जा सकता है.

 

सुलभता एपीआई

सुलभता एपीआई का इस्तेमाल इनके लिए नहीं किया जा सकता:

  • उपयोगकर्ता की अनुमति के बिना, उपयोगकर्ता सेटिंग में बदलाव करने के लिए. हालांकि, माता-पिता के कंट्रोल वाले ऐप्लिकेशन की मदद से, माता-पिता या अभिभावक की अनुमति के बाद या एंटरप्राइज़ मैनेजमेंट सॉफ़्टवेयर की मदद से, संगठन के एडमिन की अनुमति से ऐसा किया जा सकता है; 
  • उपयोगकर्ताओं को किसी ऐप्लिकेशन या सुविधा को बंद करने या अनइंस्टॉल करने से रोकने के लिए, 
  • Android में पहले से मौजूद, निजता सेटिंग और सूचनाएं देने की सुविधा में बदलाव करने के लिए या
  • यूज़र इंटरफ़ेस में बदलाव करने या फ़ायदा उठाने के लिए इस तरह से इस्तेमाल करना जिससे कि धोखाधड़ी की संभावना हो या डेवलपर के लिए बनाई गई Google Play की नीतियों का उल्लंघन हो. 

सुलभता एपीआई के इस्तेमाल के बारे में, Google Play के स्टोर पेज पर बताया जाना चाहिए.

IsAccessibilityTool के लिए दिशा-निर्देश

ऐसे ऐप्लिकेशन जो खास तौर पर दिव्यांग व्यक्तियों के लिए हैं वे IsAccessibilityTool का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे, उन ऐप्लिकेशन को सुलभता ऐप्लिकेशन के तौर पर सूची में शामिल किया जाता है.

ऐसे ऐप्लिकेशन जो IsAccessibilityTool का इस्तेमाल करने की ज़रूरी शर्तें पूरी नहीं करते, हो सकता है कि वे फ़्लैग की सुविधा का इस्तेमाल न कर पाएं. इसके अलावा, उन्हें उपयोगकर्ता के डेटा से जुड़ी नीति में बताई गई जानकारी देनी होगी और सहमति की ज़रूरी शर्तों को पूरा करना होगा. ऐसा इसलिए, क्योंकि आम तौर पर उयोगकर्ताओं को यह जानकारी नहीं होती कि ऐप्लिकेशन में सुलभता की सुविधा उपलब्ध है. ज़्यादा जानकारी के लिए, AccessibilityService एपीआई का सहायता केंद्र लेख पढ़ें.

ऐप्लिकेशन के किसी खास फ़ंक्शन को इस्तेमाल करने के लिए, सुलभता एपीआई के बजाय, एपीआई और अनुमतियों का इस्तेमाल करना ज़्यादा सही होता है. 

 

पैकेज इंस्टॉल करने की अनुमति के लिए अनुरोध करना

REQUEST_INSTALL_PACKAGES अनुमति से किसी ऐप्लिकेशन को इस बात की अनुमति मिल जाती है कि वह ऐप्लिकेशन के पैकेज इंस्टॉल करने के लिए, अनुरोध कर सके.​​ इस अनुमति का इस्तेमाल करने के लिए, आपके ऐप्लिकेशन के मुख्य फ़ंक्शन में नीचे बताई गई सुविधाएं शामिल होनी चाहिए: 

  • ऐप्लिकेशन के पैकेज भेजने या पाने की सुविधा; और
  • उपयोगकर्ता, ऐप्लिकेशन के पैकेज इंस्टॉल करने की प्रक्रिया शुरू कर सके, इसके लिए सुविधा चालू करना. 

इन कामों की अनुमति है:

  • वेब ब्राउजिंग या वेब खोज; या
  • ऐसी कम्यूनिकेशन सेवाएं जिसमें अटैचमेंट की सुविधा काम करे; या
  • फ़ाइल शेयर, ट्रांसफ़र या मैनेज करने की सुविधा; या
  • एंटरप्राइज़ से जुड़े डिवाइस को मैनेज करने की सुविधा. 

मुख्य फ़ंक्शन, ऐप्लिकेशन का खास मकसद होता है. मुख्य फ़ंक्शन के साथ-साथ इस मुख्य फ़ंक्शन में शामिल अन्य सभी मुख्य सुविधाओं के बारे में ऐप्लिकेशन के ब्यौरे में साफ़ तौर पर जानकारी ज़ाहिर करनी चाहिए और उन्हें प्रमोट किया जाना चाहिए. 

हो सकता है कि REQUEST_INSTALL_PACKAGES अनुमति इस्तेमाल करके, एसेट फ़ाइल में अन्य APKs को खुद से अपडेट नहीं किया जा सके. इसके अलावा, उसमें बदलाव नहीं किया जा सके या उनका बंडल नहीं बनाया जा सके. हालांकि, डिवाइस मैनेज करने के मकसद से ऐसा किया जा सकता है. पैकेज को अपडेट करने या इंस्टॉल करने की सभी प्रक्रियाएं, Google Play की डिवाइस और नेटवर्क के गलत इस्तेमाल से जुड़ी नीति के मुताबिक होनी चाहिए. साथ ही, यह भी ज़रूरी है कि उपयोगकर्ता ही इन प्रक्रियाओं को शुरू और पूरी करे.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
92637
false