एआई से बनाया गया कॉन्टेंट

जब जनरेटिव एआई मॉडल ज़्यादा जगहों पर डेवलपर के लिए उपलब्ध होंगे, तब इन मॉडल को अपने ऐप्लिकेशन में शामिल किया जा सकेगा. इनकी मदद से, ज़्यादा से ज़्यादा उपयोगकर्ताओं को अपने ऐप्लिकेशन से जोड़ा जा सकेगा और उन्हें बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव भी दिया जा सकेगा. Google Play यह पक्का करने में डेवलपर की मदद करना चाहता है कि एआई से बनाया गया कॉन्टेंट सभी उपयोगकर्ताओं के लिए सुरक्षित हो. साथ ही, उपयोगकर्ताओं से मिले सुझावों की मदद से डेवलपर बेहतर ऐप्लिकेशन तैयार कर सकें.

एआई से बनाया गया कॉन्टेंट

उपयोगकर्ता के दिए गए प्रॉम्प्ट के आधार पर, जनरेटिव एआई मॉडल की मदद से तैयार किए गए कॉन्टेंट को, एआई से बनाया गया कॉन्टेंट कहा जाता है. एआई से बनाए गए कॉन्टेंट के कुछ उदाहरण यहां दिए गए हैं:

  • वे टेक्स्ट जो जनरेटिव एआई चैटबॉट बातचीत के दौरान लिखता है. इसमें, चैटबॉट से इंटरैक्शन करना ही ऐप्लिकेशन की मुख्य सुविधा होती है
  • टेक्स्ट, इमेज या वॉइस प्रॉम्प्ट के आधार पर एआई की मदद से तैयार की गई इमेज

उपयोगकर्ता को आपत्तिजनक कॉन्टेंट से बचाने के लिए और Google Play की नीति के पालन के लिए, उन सभी ऐप्लिकेशन को डेवलपर के लिए बनाई गई Google Play की मौजूदा नीतियों का पालन करना होगा जो एआई की मदद से कॉन्टेंट तैयार करते हैं. इसके तहत, बच्चों के यौन शोषण को बढ़ावा देने और धोखा देने वाले प्रतिबंधित कॉन्टेंट को तैयार करने पर रोक लगाना और उसे प्रतिबंधित करना शामिल है.

एआई की मदद से कॉन्टेंट तैयार करने वाले ऐप्लिकेशन के लिए ज़रूरी है कि उनके अंदर ही, उपयोगकर्ताओं के लिए आपत्तिजनक कॉन्टेंट को रिपोर्ट या फ़्लैग करने की सुविधा उपलब्ध हो. इसके लिए, उपयोगकर्ताओं को ऐप्लिकेशन बंद करके बाहर न निकलना पड़े. साथ ही, उपयोगकर्ताओं की रिपोर्ट की मदद से डेवलपर, कॉन्टेंट फ़िल्टर करने की सुविधा के बारे में जानकारी दें और अपने ऐप्लिकेशन पहले से बेहतर बनाएं.

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू