हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) के बारे में जानकारी

हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) का मतलब है कि पिछले 7 या 30 दिन में किसी व्यक्ति को आपके कैंपेन से दिखाए गए वीडियो विज्ञापन की औसत संख्या क्या है (1 दिन के लिए या फिर 1 से ज़्यादा दिन के लिए). हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) की मदद से, आप देख सकते हैं कि समय के साथ आपकी हर हफ़्ते या महीने की औसत फ़्रीक्वेंसी की परफ़ॉर्मेंस में किस तरह के बदलाव हो रहे हैं. ऐसा आप हर तारीख के लिए 7 या 30 दिन की लुकबैक विंडो बनाकर कर सकते हैं. इस लेख में बताया गया है कि आपके वीडियो विज्ञापन के लिए हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) का हिसाब किस तरह लगाया जाता है.

हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी की तुलना में हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन)

यूनीक रीच मेट्रिक से उन लोगों की कुल संख्या पता चलती है जिन्हें विज्ञापन दिखाया गया है. Google Ads में आप आंकड़ों की टेबल में एडीशनल रीच मेट्रिक जोड़ सकते हैं. इसके लिए, आप “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी”, “हर उपोयगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन)” या “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (30 दिन)” कॉलम का इस्तेमाल कर सकते हैं.  अगर आप देखना चाहते हैं कि किसी खास समयसीमा में एक ही उपयोगकर्ता को आपके विज्ञापन कितनी बार दिखाए गए हैं, तो Google Ads में “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी" चुनें. अगर आप देखना चाहते हैं कि आपके विज्ञापनों के लिए फ़्रीक्वेंसी हर हफ्ते या महीने में किस तरह बदलती है, तो Google Ads में “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन)” या “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी. (30 दिन) चुनें.

उदाहरण

आप जानना चाहते हैं कि 9 दिन की तारीख की सीमा में कितने लोगों को आपका विज्ञापन दिखाया गया. अगर आप उस तारीख की सीमा के लिए “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी" देखते हैं, तो आपको उन सभी 9 दिन की औसत फ़्रीक्वेंसी दिखेगी. अगर आप उस तारीख की सीमा के लिए “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन)” या “हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (30 दिन)” देखते हैं, तो आप देखेंगे कि उस तारीख की सीमा में हर 9 दिन के लिए, औसत 7 या 30 दिन की फ़्रीक्वेंसी में कैसे बदलाव होता है.

हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) का हिसाब लगाना

आप Google Ads में 1 दिन या 1 से ज़्यादा दिन चुनते हैं, इस आधार पर Google Ads के आंकड़ों की टेबल में हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) अलग-अलग दिखती है. चुने गए दिन बदलने के लिए, Google Ads में परफ़ॉर्मेंस ग्राफ़ के ऊपर मौजूद तारीख की सीमा चुनने वाले पर क्लिक करें. 

ध्यान दें: अगर उपलब्ध है, तो रोज़ की फ़्रीक्वेंसी की जानकारी Google Ads में 3 दिन के बाद दिखती है.

एक दिन की गिनती

अगर आप तारीख की सीमा चुनने वाले में 1 दिन चुनते हैं, तो किसी कैंपेन में हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) का हिसाब लगाने के लिए, 7 या 30 दिन की लुकबैक विंडो में इंप्रेशन की कुल संख्या को उसी लुकबैक विंडो में कैंपेन के कुल यूनीक उपयोगकर्ता की संख्या से भाग देना होगा.

उदाहरण

Google Ads में, आप चुने गए एक कैंपेन में 30 जनवरी, 2020 की हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन) देखना चाहते हैं. इसके लिए Google Ads, 24 जनवरी, 2020 से लेकर 30 जनवरी, 2020 तक कैंपेन के कुल इंप्रेशन को देखेगा और उस संख्या को चुनी गई समय अवधि के दौरान के कुल यूनीक उपयोगकर्ताओं की संख्या से भाग देगा. 

मान लें कि आपके कैंपेन को पिछले 7 दिन में 1,000 इंप्रेशन और 200 यूनीक उपयोगकर्ता मिले हैं. पिछले 7 दिन के लिए आपकी हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी 5 होगी (या 1,000 / 200 = 5).

एक से ज़्यादा दिन की गिनती

अगर आप तारीख की सीमा वाले सिलेक्टर में कोई तारीख की सीमा चुनते हैं, तो किसी कैंपेन में हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन की फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) का हिसाब लगाने के लिए, तारीख की सीमा में हर दिन के लिए, 7 या 30 दिन वाली लुकबैक विंडो में इंप्रेशन की कुल संख्या को उसी लुकबैक विंडो में, हर दिन के लिए कुल यूनीक उपयोगकर्ता की कुल संख्या से भाग देना होगा.

उदाहरण

Google Ads में, आप चुने गए किसी कैंपेन के लिए 29 जनवरी, 2020 और 30 जनवरी, 2020 की हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन) देखना चाहते हैं. Google Ads, लुकबैक विंडो में 29 जनवरी, 2020 और 30 जनवरी, 2020 के लिए कुल इंप्रेशन के योग को देखेगा और उस तारीख की सीमा में हर दिन के कुल यूनीक उपयोगकर्ताओं के योग से उस संख्या को भाग देगा.

मान लें कि आपके पास अपने कैंपेन के लिए ये इंप्रेशन और यूनीक उपयोगकर्ता हैं:

  • 29 जनवरी, 2020 से पिछले 7 दिन में 1,400 इंप्रेशन और 700 यूनीक उपयोगकर्ता.
  • 30 जनवरी, 2020 से पिछले सात दिन में 1,000 इंप्रेशन और 200 यूनीक उपयोगकर्ता.

पिछले 7 दिन में, हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी 2.7 होगी (या [1,400+1,000] / [700+200] = 2.7).

लुकबैक विंडो की वजह से, अगर आपके कैंपेन को पिछले 7 या 30 दिन में इंप्रेशन मिले हैं, तो आप कैंपेन खत्म होने की तारीख के बाद का फ़्रीक्वेंसी डेटा भी देख सकते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपका कैंपेन 30 जनवरी, 2020 को खत्म हो गया है और आप 3 फरवरी, 2020 के लिए फ़्रीक्वेंसी डेटा देखते हैं, तो आप लुकबैक विंडो की वजह से अब भी कैंपेन के लिए फ़्रीक्वेंसी डेटा देख सकते हैं.

हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) के लिए रिपोर्टिंग डेटा ढूंढना

Google Ads में आप इस मेट्रिक के लिए रिपोर्टिंग डेटा, "हर उपोयगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन)" और "हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (30 दिन)" कॉलम में देख सकते हैं. ये कॉलम आपको "कैंपेन" के आंकड़ों की टेबल और "वीडियो" के आंकड़ों की टेबल में मिलेंगे. आंकड़ों की टेबल में कॉलम जोड़ने के लिए:

  1. Google Ads खाते में साइन इन करें.
  2. आंकड़ों की टेबल देखने के लिए, बाईं ओर दिए गए पेज मेन्यू से, कैंपेन पर क्लिक करें.
  3. आंकड़ों की टेबल के ऊपर दिए गए फ़िल्टर बटन फ़िल्टर पर क्लिक करें.
  4. रीच मेट्रिक चुनें. इसके बाद, हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 दिन) या हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (30 दिन) चुनें. अगर रिपोर्टिंग के बारे में ज़्यादा जानकारी उपलब्ध है, तो हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) कॉलम के नीचे दिखेगी.

1 से ज़्यादा दिन के लिए डेटा रिपोर्टिंग

जब आप तारीख की सीमा चुनने वाले में कोई तारीख की सीमा चुनते हैं, तो आपको हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी के नीचे, चुने गए दिन के लिए, कम से कम फ़्रीक्वेंसी मान और ज़्यादा से ज़्यादा फ़्रीक्वेंसी मान की सीमा भी दिखेगी. 

समय के साथ हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी (7 या 30 दिन) बदलने की पूरी जानकारी देखने के लिए, लाइन ग्राफ़ दिखाने वाले कॉलम में किसी मान पर माउस घुमाएं. इसके बाद, आप उस खास दिन से पिछले 7 या 30 दिन की हर उपयोगकर्ता पर औसत इंप्रेशन फ़्रीक्वेंसी देखने के लिए, लाइन ग्राफ़ पर माउस घुमाएं.


ध्यान दें: लाइन ग्राफ़ सिर्फ़ 30 दिन या इससे कम की तारीख की सीमा के लिए रोज़ के मान की रिपोर्ट दिखा सकता है. जब आपकी चुनी गई तारीख की सीमा 30 दिन से ज़्यादा की होती है, तब आपको उस सीमा में आखिरी के 30 दिन का ही डेटा दिखेगा.

कम से कम और ज़्यादा से ज़्यादा फ़्रीक्वेंसी मान और लाइन ग्राफ़, दोनों ही आपको यह देखने में मदद करते हैं कि चुने गए दिन में, कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में किसी भी तरह के बदलाव हुए हैं या नहीं. 

इसी विषय से जुड़े कुछ लिंक

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके