IP पता

वह अनन्य नंबर है, जो इंटरनेट से कनेक्ट होने वाले हर कंप्यूटर या अन्य डिवाइस को निर्दिष्ट किया जाता है.

  • इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) पते इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (ISPs) द्वारा इंटरनेट से जुड़ने वाले डिवाइस को निर्दिष्ट किए जाते हैं. कभी-कभी, ISP बहुत सारे कंप्यूटर को एक ही IP पता निर्दिष्ट कर देते हैं. परिणामस्वरूप, अनेक कंप्यूटरों का IP पता एक ही हो सकता है.
  • अक्सर IP पतों का उपयोग करके उस स्थान का पता लगाया जा सकता है कि इंटरनेट से जुड़ा कोई कंप्यूटर भौगोलिक रूप से कहां स्थित है. जब आप अपने विज्ञापन अभियान के लिए स्थान लक्ष्यीकरण सेट करते हैं तो IP पतों से Google Ads यह अनुमान लगाता है कि कौन से ग्राहक आपके लक्षित क्षेत्र से कंप्यूटर के ज़रिये जुड़े हुए हैं
  • आप IP बहिष्करण का उपयोग करके किसी निश्चित IP पते पर अपना विज्ञापन दिखाने से रोक सकते हैं.

IP पते कैसे दिखाई देते हैं

IP ​​पते निम्न रूपों में नज़र आ सकते हैं:

वर्शन का नाम टेम्प्लेट वर्णन
IPv4 x.x.x.x x द्वारा 0 और 255 के बीच की संख्याओं की श्रृंखला दिखाई जाती है, जिसे ऑक्टेट कहा जाता है. प्रत्येक IPv4 पते में तीन पीरियड और चार ऑक्टेट होने चाहिए.
IPv6 y : y : y : y : y : y : y : y y द्वारा सेगमेंट नामक अनुभाग दिखाए जाते हैं और यह 0-9 संख्याओं एवं A-F अक्षरों का उपयोग करने वाले 0000 तथा FFFF के बीच का कोई भी मान हो सकता है. इसमें 8 सेगमेंट होने चाहिए और प्रत्येक को कोलन से — पीरियड से नहीं — पृथक किया जाना चाहिए.

IP बहिष्करण के बारे में
स्थान लक्ष्यीकरण से संबंधित लेख देखें

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके