विज्ञापन रैंक

एक ऐसा मान, जिसका इस्तेमाल आपके विज्ञापन के क्रम (किसी पेज पर दूसरे विज्ञापनों की तुलना में आपके विज्ञापन कौन से क्रम पर हैं, इसकी जानकारी) का पता लगाने और यह जानने के लिए किया जाता है कि आपके विज्ञापन दिखाई देंगे या नहीं. विज्ञापन रैंक का हिसाब लगाने के लिए आपकी बोली की रकम, नीलामी के समय आपके विज्ञापन की क्वालिटी (इसमें अपेक्षित क्लिकथ्रू दर, विज्ञापन प्रासंगिकता, और लैंडिंग पेज का अनुभव भी शामिल हैं), विज्ञापन रैंक की निचली सीमाएं, नीलामी की प्रतिस्पर्धात्मकता, किसी व्यक्ति की खोज का संदर्भ (जैसे उसकी जगह की जानकारी, खोज करने का समय, खोज शब्द कैसे हैं, पेज पर दिखाई देने वाले दूसरे विज्ञापन और खोज के नतीजे, और इसी तरह के दूसरे उपयोगकर्ता सिग्नल और विशेषताएं), और एक्सटेंशन के असर और दूसरे विज्ञापन फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल किया जाता है.

  • एक्सटेंशन और विज्ञापन फ़ॉर्मैट के अपेक्षित प्रभाव का अनुमान लगाते समय, हम प्रासंगिकता, क्लिकथ्रू दर और खोज परिणाम पेज पर एक्सटेंशन या फ़ॉर्मैट के महत्व जैसे कारकों पर गौर करते हैं. इसलिए प्रतिस्पर्धा में आपकी बोली से ऊंची बोली लगने के बावजूद, आप उच्च रूप से प्रासंगिक कीवर्ड और विज्ञापनों का इस्तेमाल करके कम मूल्य पर अधिक ऊंचा स्थान पा सकते हैं.
  • जब आपका विज्ञापन दिखाए जाने के योग्य होता है और किसी नीलामी में प्रतिस्पर्धा करता है, तब आपके विज्ञापन की रैंक का फिर से हिसाब लगाया जाता है. इसलिए उस समय आपकी प्रतिस्पर्धा, व्यक्ति की खोज के संदर्भ और आपकी क्वालिटी के आधार पर आपके विज्ञापन के क्रम में हर बार उतार-चढ़ाव नज़र आ सकता है.

विज्ञापन रैंक और स्थिति के बारे में ज़्यादा जानकारी

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके