बेहतरीन परफ़ॉर्मेंस में मदद करने वाले कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में उतार-चढ़ाव और बदलावों से जुड़ी समस्या हल करना

समस्या हल करने वाले हमारे इंटरैक्टिव टूल की मदद से, परफ़ॉर्मेंस मैक्स कैंपेन के खर्च में अचानक हुए उतार-चढ़ाव की संभावित वजहों का पता लगाया जा सकता है और उन्हें अच्छे से समझा जा सकता है. साथ ही, उतार-चढ़ाव से जुड़ी समस्याओं को हल किया जा सकता है.
 

इस लेख में, हमने बेहतरीन परफ़ॉर्मेंस में मदद करने वाले कैंपेन में होने वाले उतार-चढ़ाव और बदलावों की अलग-अलग वजहों की जानकरी दी है. यहां यह भी बताया गया है कि समय के साथ कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में बदलाव क्यों हो सकते हैं. इसके साथ ही, इन बदलावों की वजह समझने के लिए Google Ads खाते में मौजूद टूल का इस्तेमाल किस तरह से किया जा सकता है.

ध्यान रखें: आपके कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में बदलाव होना सामान्य बात है.


शुरू करने से पहले

एक ही क्लिक में, परफ़ॉर्मेंस में हुए बदलावों की वजहों की जानकारी पाने के लिए, 'एक्सप्लेनेशंस' का इस्तेमाल करें

एक्सप्लेनेशंस से, बेहतरीन परफ़ॉर्मेंस में मदद करने वाले कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में हुए बड़े बदलावों के बारे में अहम जानकारी मिलती है. साथ ही, यह पता लगाया जा सकता है कि ऐसा क्यों हुआ. डिफ़ॉल्ट रूप से, आपको ऐसे 'एक्सप्लेनेशंस' दिखेंगे जो आपकी चुनी गई तारीख की सीमा की तुलना, उसी समयसीमा वाली पिछली अवधि से करते हैं:

  1. अपने कैंपेन या विज्ञापन ग्रुप पेज पर जाएं.
  2. अपनी डेटा टेबल में, उन वैल्यू पर कर्सर घुमाएं जो बिंदु वाली लाइन के साथ नीले रंग में हैं.
  3. आपको दिखेगा कि यह वैल्यू, पिछली अवधि के बाद कैसे बदली है.
  4. बदलाव की वजह देखने के लिए, एक्सप्लेनेशन देखें पर क्लिक करें.

आपका Google Ads खाता

बिडिंग की रणनीति और ऑप्टिमाइज़ेशन के लक्ष्य के आधार पर, परफ़ॉर्मेंस का आकलन करना

अपने कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस के बारे में किसी नतीजे पर पहुंचने से पहले, यह देखना ज़रूरी है कि चुनी हुई सेटिंग उन मेट्रिक से मैच हो रही हैं या नहीं जिनके लिए, आपके कैंपेन को ऑप्टिमाइज़ किया जा रहा है. अपने कारोबार और विज्ञापन लक्ष्यों के मुताबिक कैंपेन की बिडिंग की रणनीति या ऑप्टिमाइज़ेशन लक्ष्य से जुड़ी सेटिंग को अपडेट करने से, कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस का विश्लेषण करते समय काम की मेट्रिक पर फ़ोकस करने में मदद मिलेगी. इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि किन वजहों से उतार-चढ़ाव हुए. 

उदाहरण के लिए, टारगेट सीपीए की मदद से सेट किए गए हर ऐक्शन के लिए, खर्च के टारगेट (सीपीए) पर या उससे कम में, ज़्यादा से ज़्यादा कन्वर्ज़न मिल सकते हैं. टारगेट सीपीए का इस्तेमाल करने वाले कैंपेन में, हर क्लिक की लागत (सीपीसी) और इंप्रेशन की तुलना में, हर कन्वर्ज़न की लागत और कन्वर्ज़न से जुड़ी अन्य मेट्रिक से, बेहतर परफ़ॉर्मेंस का अनुमान लगाया जा सकता है.

आपका Google Ads खाता

 

परफ़ॉर्मेंस में उतार-चढ़ाव होने की नौ सामान्य वजहें

1. खाते या कैंपेन की सेटिंग में हाल ही में किए गए बदलाव

किसी खाते या कैंपेन की सेटिंग में बदलाव करने से परफ़ॉर्मेंस पर असर पड़ सकता है. इन सेटिंग में बिडिंग की रणनीति, बजट, कन्वर्ज़न के लक्ष्य, ऑडियंस, डिवाइस की जगह की जानकारी, भाषा, और विज्ञापन शेड्यूलिंग से जुड़ी सेटिंग शामिल हो सकती हैं.

ज़्यादा जानें


2. कन्वर्ज़न ट्रैकिंग सेट अप करना और कन्वर्ज़न में लगने वाला समय

आपके कैंपेन में, अपने-आप बिडिंग की सुविधा के लिए इस्तेमाल किए जा रहे किसी कन्वर्ज़न ऐक्शन के लिए, ग्लोबल पिंग या टैग के सक्रिय होने की संख्या में अचानक गिरावट या बढ़ोतरी होने पर, विज्ञापन दिखने की संख्या या विज्ञापन के लिए होने वाले खर्च में कमी आ सकती है. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि Google Ads आपके सेट किए गए कन्वर्ज़न ऐक्शन के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ करता है. 

ज़्यादा जानें


3. बिड और बिडिंग टारगेट

Google Ads, विज्ञापन दिखाने के लिए आपके खाते के पुराने डेटा का इस्तेमाल करता है. अगर बिड, बिड लिमिट या बिड के टारगेट सेट करते समय पुराने डेटा का ध्यान नहीं रखा जाता है, तो हो सकता है कि आपकी परफ़ॉर्मेंस में उतार-चढ़ाव देखने को मिले.

ज़्यादा जानें


4. बजट की सेटिंग

बजट सीमित होने पर, आपके कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस में उतार-चढ़ाव हो सकते हैं.

ज़्यादा जानें


5. क्रिएटिव कवरेज और विविधता

बेहतरीन परफ़ॉर्मेंस में मदद करने वाले कैंपेन के लिए कई तरह के क्रिएटिव होना ज़रूरी है. इन्हें अपने-आप अलग-अलग विज्ञापन फ़ॉर्मैट में जोड़ा जा सकता है. ये विज्ञापन फ़ॉर्मैट, सभी प्लैटफ़ॉर्म पर दिखाए जा सकते हैं.

ज़्यादा जानें


6. टारगेटिंग सेटिंग और ओवरलैप (जगह, भाषा)

अगर आपका कैंपेन, जगह के हिसाब से या भाषा की सेटिंग के हिसाब से, उपयोगकर्ताओं के छोटे ग्रुप को टारगेट कर रहा है, तो परफ़ॉर्मेंस में उतार-चढ़ाव होने की संभावना बढ़ सकती है. आपके खाते में, ऐसे कई कैंपेन या विज्ञापन ग्रुप हो सकते हैं जो एक समान कीवर्ड या अन्य टारगेटिंग की वजह से, ओवरलैप होने वाली नीलामियों में शामिल हो सकते हैं.

ज़्यादा जानें


7. नीति और विज्ञापन की समीक्षा का स्टेटस

एसेट या एसेट ग्रुप में बदलाव करने पर, नीति की समीक्षा के लिए उन्हें फिर से सबमिट कर दिया जाएगा. बेहतरीन परफ़ॉर्मेंस में मदद करने वाले कैंपेन के लिए, Google Ads की सभी नीतियों का पालन करना ज़रूरी है.

ज़्यादा जानें


8. खाते से जुड़ी अन्य समस्याएं

पेमेंट, बिलिंग ट्रांसफ़र या खाते के लेवल पर अन्य समस्याओं की वजह से, आपके खाते और कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस पर असर पड़ सकता है.

ज़्यादा जानें


9. नीलामी से जुड़े फै़क्टर

आपने जिन नीलामियों में हिस्सा लिया है उनमें मौजूद विज्ञापन देने वाले दूसरे लोगों के फ़ैसलों से भी आपके कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस पर असर पड़ सकता है. 

ज़्यादा जानें

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
true
Achieve your advertising goals today!

Attend our Performance Max Masterclass, a livestream workshop session bringing together industry and Google ads PMax experts.

Register now

खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू