Chrome में सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा का सुरक्षा लेवल चुनना

Chrome में 'Google सुरक्षित ब्राउज़िंग' का इस्तेमाल करने पर आपको चेतावनियां मिलती हैं. ये चेतावनियां आपको मैलवेयर के साथ-साथ, नुकसान पहुंचाने वाली साइटों और एक्सटेंशन से सुरक्षित रहने में मदद करती हैं. इनसे आपको फ़िशिंग, नुकसान पहुंचाने वाले और तंग करने वाले विज्ञापनों, और सोशल इंजीनियरिंग वाले हमलों से सुरक्षित रहने में भी मदद मिलती है.

सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा, वेब को क्रॉल करती है और उस पर मौजूद डेटा का विश्लेषण करती है. इससे उन साइटों का पता चल पाता है जो नुकसान पहुंचा सकती हैं. इसके बाद, यह सुविधा इन साइटों को अपनी सूचियों में जोड़ देती है. जब भी कोई व्यक्ति किसी वेबसाइट पर जाता है या कुछ डाउनलोड करने की कोशिश करता है, तो Chrome उस व्यक्ति के चुने हुए सुरक्षा लेवल के आधार पर, सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा का इस्तेमाल करके जांच करता है.

सुरक्षा लेवल के तौर पर इनमें से कोई मोड चुना जा सकता है:

  • बेहतर सुरक्षा मोड: यह ब्राउज़िंग के लिए Google का सबसे सुरक्षित मोड है. यह आपको जाने-पहचाने और संभावित नए खतरों से सुरक्षित रखता है.
  • स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड: डिफ़ॉल्ट रूप से, स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड आपको जाने-पहचाने खतरों से सुरक्षित रखता है.
  • 'कोई भी सुरक्षा नहीं' मोड (इसका सुझाव नहीं दिया जाता): सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा को बंद भी किया जा सकता है. हालांकि, इसे बंद करने पर आपको ऐसी वेबसाइटों, डाउनलोड, और एक्सटेंशन से सुरक्षा नहीं मिलेगी जो नुकसान पहुंचा सकते हैं. Google के अन्य प्रॉडक्ट में सुरक्षित ब्राउज़िंग की सेटिंग पर इसका कोई असर नहीं होगा.

Chrome से चेतावनी मिलने के बाद, आपके पास किसी असुरक्षित साइट पर जाने या कोई फ़ाइल डाउनलोड करने का विकल्प होता है.

सुरक्षित ब्राउज़िंग के सुरक्षा लेवल के बारे में जानकारी

बेहतर सुरक्षा मोड

बेहतर सुरक्षा मोड चालू करने पर, आपको ऐसी साइटों, डाउनलोड, और एक्सटेंशन के बारे में चेतावनियां मिलेंगी जो खतरनाक हो सकती हैं और जिनके बारे में Google को पहले से पता नहीं था.

किसी साइट पर आपके जाने के बाद Chrome, 'Google सुरक्षित ब्राउज़िंग' को उस साइट का यूआरएल और पेज के कॉन्टेंट का नमूना, एक्सटेंशन से जुड़ी गतिविधि का डेटा, और सिस्टम की जानकारी भेजता है. इससे यह जांच की जाती है कि क्या ये चीज़ें नुकसान पहुंचा सकती हैं. इस प्रोसेस के दौरान, डाउनलोड किए जाने वाले संदिग्ध कॉन्टेंट को भी बारीकी से स्कैन किया जाता है. 'Google सुरक्षित ब्राउज़िंग' को भेजी गई जानकारी का इस्तेमाल सिर्फ़ सुरक्षा के मकसद से किया जाता है.

अगर आपने Google खाते से साइन इन किया है, तो सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा इस डेटा को आपके Google खाते में सेव करती है, ताकि Google की सभी सेवाओं पर आपको सुरक्षा मिल पाए. उदाहरण के लिए, डेटा सुरक्षा से जुड़े किसी मामले के बाद, सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा Gmail में आपकी सुरक्षा बढ़ा सकती है.

बेहतर सुरक्षा मोड:

  • यह मोड, वेब पर आपकी और अन्य सभी लोगों की सुरक्षा को बेहतर बनाता है.
  • अगर आपने किसी ऐसे पासवर्ड का इस्तेमाल किया है जो डेटा के गलत इस्तेमाल की वजह से दूसरों के साथ शेयर हो गया है, तो यह मोड आपको चेतावनी दिखाता है.
  • यह आपके ब्राउज़र या डिवाइस की स्पीड को धीमा नहीं करता है.
स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड

Chrome का इस्तेमाल करने पर, स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड डिफ़ॉल्ट रूप से चालू रहता है. इसमें आपको ऐसी साइटों, डाउनलोड, और एक्सटेंशन के बारे में चेतावनियां मिलेंगी जिन्हें खतरनाक बताया गया है.

व्यक्ति जिस साइट पर गया है उसके पेजों के यूआरएल Google को फ़ॉरवर्ड होने से पहले, Chrome उसे अलग-अलग निजता सर्वर के ज़रिए उन यूआरएल का अस्पष्ट हिस्सा भेजता है. ऐसा इसलिए किया जाता है, ताकि उस व्यक्ति का आईपी पता छिपाया जा सके. व्यक्ति जिस पेज पर गया उसका यूआरएल और व्यक्ति के डिवाइस का आईपी पता, न तो Google देख सकता है और न ही निजता सर्वर को मैनेज करने वाला तीसरा पक्ष देख सकता है. Google, सुरक्षित ब्राउज़िंग की सुविधा से जुड़ी सूचियों के आधार पर यूआरएल के अस्पष्ट हिस्से की जांच करता है. अगर इनमें से किसी भी सूची में वह यूआरएल मिलता है, तो आपको चेतावनी दी जाती है.

स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड:

  • इसमें Google को पूरा यूआरएल और पेज का कुछ कॉन्टेंट भेजा जाता है. हालांकि, ऐसा तब होता है, जब साइट पर किसी संदिग्ध गतिविधि का पता चलता है.
  • इसमें आपको और अन्य सभी लोगों को वेब पर अपनी सुरक्षा बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है.
  • इसमें आपको तब चेतावनी मिल सकती है, जब डेटा के गलत इस्तेमाल की वजह से दूसरों के साथ शेयर किए गए पासवर्ड का इस्तेमाल किया जा रहा हो.

सुरक्षित ब्राउज़िंग में सुरक्षा का लेवल बदलना

  1. अपने कंप्यूटर पर Chrome खोलें.
  2. सबसे ऊपर दाईं ओर, ज़्यादा और देखें इसके बाद सेटिंग को चुनें.
  3. बाईं ओर, निजता और सुरक्षा इसके बाद सुरक्षा को चुनें.
  4. अपनी पसंद के हिसाब से, "सुरक्षित ब्राउज़िंग" का लेवल चुनें.
    • बेहतर सुरक्षा मोड
    • स्टैंडर्ड सुरक्षा मोड
    • 'कोई भी सुरक्षा नहीं' मोड

ज़्यादा निजी और सुरक्षित ब्राउज़िंग अनुभव पाने के लिए, बेहतर सुरक्षा सेटिंग की समीक्षा की जा सकती है और उन्हें मैनेज भी किया जा सकता है. Chrome की अन्य सुरक्षा सेटिंग को मैनेज करने का तरीका जानें.

मिलते-जुलते संसाधन

खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
8488286405067610661
true
खोज मदद केंद्र
true
true
true
true
true
237