Set up and manage consent

सहमति मोड के लिए रेफ़रंस

यह लेख Google टैग के उन उपयोगकर्ताओं के लिए है जिन्हें वेबसाइटों, ऐप्लिकेशन या ऑफ़लाइन संसाधनों से, यूरोपियन इकनॉमिक एरिया (ईईए) के असली उपयोगकर्ताओं का डेटा मिलता है.

खास जानकारी: सहमति मोड के पैरामीटर

सहमति टाइप ब्यौरा
ad_storage विज्ञापन से जुड़ी मेमोरी, जैसे कि कुकी को चालू करता है.
ad_user_data विज्ञापन दिखाने से जुड़ा उपयोगकर्ता का डेटा Google को भेजने के लिए, सहमति सेट करता है.
ad_personalization लोगों के हिसाब से विज्ञापन दिखाने के लिए सहमति सेट करता है.
analytics_storage आंकड़ों से जुड़ी मेमोरी, जैसे कि कुकी को चालू करता है. उदाहरण के लिए, विज़िट का कुल समय.

सहमति मोड के पैरामीटर के साथ-साथ, निजता के इन पैरामीटर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है:

मेमोरी का टाइप जानकारी
functionality_storage वेबसाइट या ऐप्लिकेशन पर काम करने वाले डिवाइस की मेमोरी को चालू करता है, जैसे कि भाषा की सेटिंग.
personalization_storage अपनी पसंद के हिसाब से डिवाइस की मेमोरी को चालू करता है, जैसे कि वीडियो के लिए सुझाव
security_storage पुष्टि करने के तरीके, धोखाधड़ी रोकने, और उपयोगकर्ता की सुरक्षा वगैरह से जुड़ी मेमोरी को चालू करता है.

सहमति मोड के साथ टैग के काम करने का तरीका

अगर सहमति के सभी विकल्पों की स्थिति granted होती है, तो टैग इस तरह काम करते हैं:

वेब

मोबाइल ऐप्लिकेशन

  • विज्ञापन से जुड़ी कुकी, पढ़ी और लिखी जा सकती हैं.
  • आईपी पते इकट्ठा किए जाते हैं.
  • वेब पेज का पूरा यूआरएल इकट्ठा किया जाता है. इसमें यूआरएल पैरामीटर की जानकारी भी होती है. जैसे, GCLID / DCLID में, विज्ञापन पर क्लिक की जानकारी.
  • google.com और doubleclick.net पर पहले से सेट की गई तीसरे पक्ष की वेब कुकी और पहले पक्ष की कन्वर्ज़न कुकी (जैसे कि _gcl_*) ऐक्सेस की जा सकती हैं.
  • विज्ञापन के लिए आइडेंटिफ़ायर इकट्ठा किए जा सकते हैं, जैसे कि विज्ञापन आईडी/आईडीएफ़ए.
  • Google Analytics for Firebase SDK से जनरेट किया गया ऐप्लिकेशन-इंस्टेंस आईडी इकट्ठा किया जाता है.

जब एक या उससे ज़्यादा तरह की सहमतियों के लिए अनुमति न दी गई हो (not set या denied), तब इन पर विचार किया जा सकता है:

ad_personalization='denied'

वेब और मोबाइल ऐप्लिकेशन

लोगों की दिलचस्पी के हिसाब से विज्ञापन दिखाने की सुविधा बंद है. इसलिए, ये सुविधाएं डेटा ऐक्सेस नहीं कर सकेंगी:

  • Google Ads, Display & Video 360, और Search Ads 360 में रीमार्केटिंग की सुविधा
  • Google के विज्ञापन वाले प्रॉडक्ट का इस्तेमाल करके लोगों की दिलचस्पी के हिसाब से विज्ञापन दिखाने की सुविधा

ad_user_data='denied'

वेब और मोबाइल ऐप्लिकेशन

ऑनलाइन विज्ञापन दिखाने के लिए, निजी डेटा इकट्ठा करने की सुविधा बंद है. डेटा में ये शामिल हैं:

  • user_id
  • बेहतर कन्वर्ज़न ट्रैकिंग: पहले पक्ष (ग्राहक) का हैश किया गया डेटा

ad_storage='denied'

वेब

मोबाइल ऐप्लिकेशन

  • विज्ञापन से जुड़ी कोई नई कुकी नहीं लिखी जा सकती.
  • पहले पक्ष की कोई भी मौजूदा विज्ञापन कुकी नहीं पढ़ी जा सकती.
  • अनुरोध एक अलग डोमेन से भेजे जाते हैं, ताकि पहले से सेट की गई तीसरे पक्ष की कुकी को अनुरोध के हेडर में भेजे जाने से रोका जा सके.
  • Google Analytics, Google Ads की कुकी को पढ़ या लिख नहीं पाएगा. साथ ही, Google सिग्नल की सुविधाएं इस ट्रैफ़िक के लिए डेटा इकट्ठा नहीं करेंगी.
  • पेज का पूरा यूआरएल इकट्ठा किया जाता है, जिसमें यूआरएल पैरामीटर में मौजूद, विज्ञापन पर क्लिक की जानकारी शामिल हो सकती है. उदाहरण के लिए, GCLID / DCLID. विज्ञापन पर क्लिक की जानकारी का इस्तेमाल, सिर्फ़ ट्रैफ़िक के सटीक मेज़रमेंट का अनुमान लगाने के लिए किया जाता है.
  • आईपी पतों का इस्तेमाल यह जानने के लिए किया जाता है कि आईपी किस देश का है. हालांकि, हमारे Google Ads और Floodlight सिस्टम से आईपी पते कभी भी लॉग नहीं किए जाते. साथ ही, जानकारी इकट्ठा करने के बाद, इन्हें तुरंत मिटा दिया जाता है. ध्यान दें: इंटरनेट कम्यूनिकेशन के तहत आईपी पतों को इकट्ठा करना, Google Analytics की एक सामान्य प्रक्रिया है. Google Analytics में आईपी पते की पहचान छिपाने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • किसी भी विज्ञापन आईडी/आईडीएफ़ए को इकट्ठा नहीं किया जा सकता.
  • Google सिग्नल की सुविधाएं, इस ट्रैफ़िक के लिए डेटा इकट्ठा नहीं करेंगी.
  • आईपी पतों का इस्तेमाल यह जानने के लिए किया जाता है कि आईपी किस देश का है. हालांकि, हमारे Google Ads और Floodlight सिस्टम से आईपी पते कभी भी लॉग नहीं किए जाते. साथ ही, जानकारी इकट्ठा करने के बाद, इन्हें तुरंत मिटा दिया जाता है. ध्यान दें: इंटरनेट कम्यूनिकेशन के तहत आईपी पतों को इकट्ठा करना, Google Analytics की एक सामान्य प्रक्रिया है. Google Analytics में आईपी पते की पहचान छिपाने के बारे में ज़्यादा जानें.

analytics_storage='denied'

वेब

मोबाइल ऐप्लिकेशन

  • पहले पक्ष की Analytics कुकी को पढ़ा या लिखा नहीं जा सकता.
  • आने वाले समय में मेज़रमेंट के लिए, Google Analytics को बिना कुकी वाले पिंग भेजे जाएंगे. Google Analytics 4, मॉडलिंग के लिए बिना कुकी वाले पिंग का इस्तेमाल करेगा.
  • कोई आईडीएफ़वी इकट्ठा नहीं किया जा सकता.
  • आने वाले समय में मेज़रमेंट के लिए, Google Analytics को बिना डिवाइस या बिना उपयोगकर्ता आइडेंटिफ़ायर वाले इवेंट भेजे जाएंगे. Google Analytics 4, मॉडलिंग के लिए इन इवेंट का इस्तेमाल करेगा.

वेब और मोबाइल ऐप्लिकेशन

analytics_storage='denied' होने पर, Google Analytics को बिना कुकी वाले पिंग भेजे जाते हैं. Analytics से जुड़ी किसी भी कुकी को डिवाइस पर सेट और ऐक्सेस नहीं किया जाता या डिवाइस से पढ़ा नहीं जाता. इसलिए, बिना कुकी वाले पिंग Google Analytics के ऐसे इवेंट होते हैं जिनकी पहचान छिपी होती है. साथ ही, इनका इस्तेमाल करके किसी उपयोगकर्ता की पहचान नहीं की जा सकती.

सामान्य एचटीटीपी/ब्राउज़र कम्यूनिकेशन के तहत, बिना कुकी वाले पिंग में यह जानकारी शामिल हो सकती है: उपयोगकर्ता एजेंट, स्क्रीन रिज़ॉल्यूशन, आईपी पता. ध्यान रखें कि Google Analytics 4, आईपी पतों को स्टोर या लॉग नहीं करता.

अगर विज्ञापन देने वाला कोई व्यक्ति या कंपनी user_id और कस्टम डाइमेंशन जैसे अन्य फ़ील्ड सेट करती है, तो उन्हें सामान्य रूप से भेजा जाएगा. बिना कुकी वाले पिंग में इकट्ठा किए गए डेटा को ग्राहक के व्यवहार का मॉडल बनाने और कन्वर्ज़न मॉडलिंग (कन्वर्ज़न का अनुमान लगाने के लिए मशीन लर्निंग का इस्तेमाल करना) के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इससे आपके डेटा की कमियों को दूर किया जाता है. 

ad_storage='denied' और ads_data_redaction='true'

वेब

  • विज्ञापन से जुड़ी कोई नई कुकी नहीं लिखी जा सकती.
  • मौजूद विज्ञापन कुकी में से कोई भी कुकी नहीं पढ़ी जा सकती.
  • अनुरोध एक अलग डोमेन से भेजे जाते हैं, ताकि पहले से सेट की गई तीसरे पक्ष की कुकी को अनुरोध के हेडर में भेजे जाने से रोका जा सके.
  • Google Analytics, Google Ads की कुकी को पढ़ या लिख नहीं पाएगा. साथ ही, Google सिग्नल की सुविधाएं इस ट्रैफ़िक के लिए डेटा इकट्ठा नहीं करेंगी.
  • Google Analytics में, पेज का पूरा यूआरएल इकट्ठा किया जाता है, जिसमें यूआरएल पैरामीटर में मौजूद, विज्ञापन पर क्लिक की जानकारी शामिल हो सकती है. उदाहरण के लिए, GCLID / DCLID. विज्ञापन पर क्लिक की जानकारी का इस्तेमाल, सिर्फ़ ट्रैफ़िक के सटीक मेज़रमेंट का अनुमान लगाने के लिए किया जाता है. Google Ads में, सहमति और कन्वर्ज़न की जानकारी देने के लिए पिंग में मौजूद, विज्ञापन पर क्लिक के आइडेंटिफ़ायर, जैसे कि GCLID / DCLID पैरामीटर छिपा दिए जाते हैं.
  • आईपी पतों का इस्तेमाल यह जानने के लिए किया जाता है कि आईपी किस देश का है. हालांकि, हमारे Google Ads और Floodlight सिस्टम से आईपी पते कभी भी लॉग नहीं किए जाते. जानकारी इकट्ठा करने के बाद, इन्हें तुरंत मिटा दिया जाता है. ध्यान दें: इंटरनेट कम्यूनिकेशन के तहत आईपी पतों को इकट्ठा करना, Google Analytics की एक सामान्य प्रक्रिया है. Google Analytics में आईपी पते की पहचान छिपाने के बारे में ज़्यादा जानें.

इसी विषय से जुड़े लिंक

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू