[GA4] डेटा इंपोर्ट के बारे में जानकारी

बाहरी सोर्स से डेटा अपलोड करें और उसे अपने Analytics डेटा के साथ जोड़ें

डेटा इंपोर्ट का इस्तेमाल क्यों करें?

आपके यहां जिस बिज़नेस सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है वह अपना डेटा खुद जनरेट करता है. आपके कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट (सीआरएम) में ग्राहक की लॉयल्टी रेटिंग, लाइफ़टाइम वैल्यू, और प्रॉडक्ट की प्राथमिकताएं जैसी जानकारी हो सकती है. अगर आप एक वेब पब्लिशर हैं, तो आपका कॉन्टेंट-मैनेजमेंट सिस्टम, लेखक और लेख की कैटगरी जैसे डाइमेंशन को स्टोर कर सकता है. अगर आपका ई-कॉमर्स कारोबार है, तो आइटम की कीमत, स्टाइल, और साइज़ जैसे एट्रिब्यूट स्टोर होते हैं.

Analytics की मदद से, आपकी वेबसाइटों और ऐप्लिकेशन की परफ़ॉर्मेंस और ट्रैफ़िक को मेज़र किया जाता है.

आम तौर पर, हर डेटा सिर्फ़ अपने साइलो (डेटा कलेक्शन) में मौजूद होता है और अन्य साइलो से वह किसी भी तरह का इंटरैक्शन नहीं करता है. डेटा इंपोर्ट की सुविधा से, सभी डेटा को एक तय शेड्यूल में Analytics में जोड़ा जा सकता है. इससे साइलो (किसी एक ही सिस्टम में डेटा का कंट्रोल) की समस्या खत्म होती है. साथ ही, नई इनसाइट का इस्तेमाल और डेटा का ऐक्सेस आसान हो जाता है.

डेटा इंपोर्ट कैसे काम करता है

डेटा अपलोड करना

ऐसी CSV फ़ाइलें अपलोड की जा सकती हैं जिनमें किसी Analytics प्रॉपर्टी के बाहर का डेटा होता है. कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट या कॉन्टेंट मैनेजमेंट सिस्टम जैसे किसी ऑफ़लाइन बिज़नेस टूल की मदद से, इन CSV फ़ाइलों को एक्सपोर्ट किया जा सकता है. इसके अलावा, कम डेटा होने पर टेक्स्ट एडिटर या स्प्रेडशीट में मैन्युअल तौर पर फ़ाइलें बनाई जा सकती हैं.

डेटा इंपोर्ट की सुविधा, आपके अपलोड किए गए ऑफ़लाइन डेटा को Analytics के इकट्ठा किए गए इवेंट डेटा के साथ जोड़ती है. इंपोर्ट किए गए डेटा से आपकी रिपोर्ट बेहतर होती है, तुलनाएं ज़्यादा सटीक होती हैं, और ऑडियंस में भी बढ़ोतरी होती है. इससे आपको ऑनलाइन और ऑफ़लाइन गतिविधि की पूरी जानकारी मिलती है.

डेटा को जोड़ना

इंपोर्ट किए गए डेटा के आधार पर, डेटा को दो अलग-अलग तरीकों से जोड़ा जाता है:

  • कलेक्शन/प्रोसेसिंग टाइम: इकट्ठा और प्रोसेस किए जा रहे Analytics के डेटा के साथ आपका इंपोर्ट किया गया डेटा जोड़ा जाता है. इस डेटा को ऐसे प्रोसेस किया जाता है जैसे इसे इवेंट के साथ इकट्ठा किया गया हो. इस तरह जो नया डेटा जनरेट होता है वह Analytics की एग्रीगेट टेबल में दिखता है. इंपोर्ट किए गए डेटा को Analytics के पुराने डेटा यानी पहले से प्रोसेस हो चुके डेटा के साथ नहीं जोड़ा जा सकता. आपने जो डेटा फ़ाइल इंपोर्ट की है उसे मिटाने पर, उसमें कोई और डेटा नहीं जोड़ा जा सकता. हालांकि, पहले जोड़े गए डेटा में कोई बदलाव नहीं होता है.

    उपयोगकर्ता का डेटा और ऑफ़लाइन-इवेंट का डेटा, कलेक्शन/प्रोसेसिंग के समय जोड़ा जाता है.
  • रिपोर्टिंग/क्वेरी के समय: अगर आपने कोई रिपोर्ट खोली है और Analytics ने रिपोर्टिंग डेटा के लिए एक क्वेरी जारी की है, तो आपका इंपोर्ट किया गया डेटा, Analytics डेटा के साथ जोड़ दिया जाता है. इस तरह से डेटा को कुछ ही समय के लिए जोड़ा जाता है. अगर इंपोर्ट की गई डेटा फ़ाइल को मिटा दिया जाता है, तो फिर कोई डेटा नहीं जोड़ा जा सकेगा. साथ ही, जोड़े गए डेटा को Analytics में ऐक्सेस भी नहीं किया जा सकेगा.

    लागत और आइटम का डेटा, रिपोर्टिंग या क्वेरी के समय जुड़ जाता है.

    रिपोर्टिंग या क्वेरी के समय का डेटा, Analytics में ऑडियंस बनाते समय या एक्सप्लोरेशन में सेगमेंट बनाते समय उपलब्ध नहीं होता.

इंपोर्ट किया जा सकने वाला मेटाडेटा

मेटाडेटा

इंपोर्ट होने वाला मेटाडेटा, प्रॉपर्टी में पहले से इकट्ठा और प्रोसेस किए गए डेटा में जुड़ जाता है. आम तौर पर मेटाडेटा, कस्टम डाइमेंशन या मेट्रिक में सेव किया जाता है. हालांकि, कुछ मामलों में शायद आप पहले से इकट्ठा की गई डिफ़ॉल्ट जानकारी को ओवरराइट करना चाहें. उदाहरण के लिए, अपडेट की गई कैटगरी के साथ प्रॉडक्ट कैटलॉग इंपोर्ट करना.

इस तरह का डेटा इंपोर्ट किया जा सकता है:

  • लागत डेटा: तीसरे पक्ष (Google से बाहर के) की विज्ञापन नेटवर्क कंपनी के क्लिक, लागत, और इंप्रेशन डेटा
  • आइटम का डेटा: साइज़, रंग, स्टाइल या प्रॉडक्ट से जुड़े अन्य डाइमेंशन जैसे प्रॉडक्ट मेटाडेटा
  • उपयोगकर्ता का डेटा: उपयोगकर्ता का मेटाडेटा. उदाहरण के लिए, लॉयल्टी रेटिंग या लाइफ़टाइम कस्टमर वैल्यू, जिसका इस्तेमाल करके सेगमेंट और रीमार्केटिंग सूचियां बनाई जा सकती हैं
  • ऑफ़लाइन इवेंट: ऐसे सोर्स से आने वाले ऑफ़लाइन इवेंट जिनमें इंटरनेट कनेक्शन न हो या जो रीयल-टाइम इवेंट कलेक्शन के साथ काम न करते हों

सीमाएं

डिवाइस का कुल स्टोरेज

10 जीबी (स्टैंडर्ड प्रॉपर्टी)

एक टीबी (360 प्रॉपर्टी)

डेटा सोर्स का साइज़ एक जीबी
हर दिन अपलोड किए जाने की संख्या

हर दिन हर प्रॉपर्टी के लिए 120 अपलोड 

डेटा इंपोर्ट करने का तरीका

डेटा इंपोर्ट करने पर, एक डेटा सोर्स बनता है. जिस CSV फ़ाइल को अपलोड करना है और आपकी CSV फ़ाइल के फ़ील्ड में मौजूद Analytics फ़ील्ड की मैपिंग का कॉम्बिनेशन ही डेटा सोर्स कहलाता है. जैसे:

 

डुप्लीकेट कुंजियों वाली फ़ाइल अपलोड न करें (उदाहरण के लिए, user_id नाम वाले दो फ़ील्ड)

डेटा सोर्स के बारे में ज़्यादा जानें

डेटा अपलोड करने के लिए, एसएफ़टीपी का इस्तेमाल करने की ज़रूरी शर्तें

अगर आपको पांचवें चरण में एसएफ़टीपी विकल्प का इस्तेमाल करना है, तो पक्का करें कि आपका एसएफ़टीपी सर्वर, ssh-rsa और ssh-dss होस्ट-की एल्गोरिदम के साथ काम करता है. अपने होस्ट-की एल्गोरिदम की पुष्टि करने और एसएफ़टीपी-सर्वर यूआरएल को फ़ॉर्मैट करने के तरीके के बारे में ज़्यादा जानें.

इंपोर्ट करने की प्रोसेस शुरू करना

  1. प्रॉपर्टी कॉलम में, डेटा इंपोर्ट पर क्लिक करें.
  2. नया डेटा सोर्स बनाएं या मौजूदा डेटा सोर्स चुनें. नीचे दिए गए सेक्शन देखें.

कोई नया डेटा सोर्स बनाना

  1. डेटा सोर्स बनाएं पर क्लिक करें.
  2. अपने डेटा सोर्स के लिए नाम डालें.
  3. डेटा टाइप चुनें:
    • लागत डेटा (सिर्फ़ क्वेरी-टाइम इंपोर्ट)
    • आइटम का डेटा (रिपोर्टिंग/क्वेरी-टाइम इंपोर्ट)
    • यूज़र आईडी के हिसाब से उपयोगकर्ता का डेटा (कलेक्शन/प्रोसेसिंग-टाइम इंपोर्ट)
    • क्लाइंट आईडी के हिसाब से उपयोगकर्ता का डेटा (कलेक्शन/प्रोसेसिंग-टाइम इंपोर्ट)
    • ऑफ़लाइन इवेंट का डेटा (कलेक्शन/प्रोसेसिंग-टाइम इंपोर्ट)
  4. अनुरोध किए जाने पर, शर्तों की समीक्षा करें पर क्लिक करें. यह मैसेज, डिवाइस या उपयोगकर्ता का डेटा इंपोर्ट करने पर दिखता है.
  5. इनमें से कोई एक काम करें:
    • मैन्युअल CSV अपलोड करें का विकल्प चुनकर, अपने कंप्यूटर पर कोई CSV फ़ाइल चुनें. इसके बाद, खोलें पर क्लिक करें.
    या
    • एसएफ़टीपी चुनें.
    • एसएफ़टीपी सर्वर का उपयोगकर्ता नाम: अपने एसएफ़टीपी सर्वर के लिए अपना उपयोगकर्ता नाम डालें.
    • एसएफ़टीपी सर्वर का यूआरएल: अपने एसएफ़टीपी सर्वर का यूआरएल डालें.
    • फ़्रीक्वेंसी: हर दिन, हर हफ़्ते, और हर महीने अपलोड करने की फ़्रीक्वेंसी चुनें.
    • शुरू करने का समय: वह समय चुनें जब आपको अपलोड शुरू करना है.
    • डेटा सोर्स बन जाने के बाद, आपके एसएफ़टीपी सर्वर की सार्वजनिक कुंजी उस इंटरफ़ेस में दिखेगी जहां डेटा सोर्स बनाया जा रहा है. साथ ही, वह डेटा सोर्स की जानकारी में उपलब्ध होगी (नीचे देखें).
  6. मैपिंग स्टेज पर जाने के लिए, आगे बढ़ें पर क्लिक करें.
  7. जिन Analytics फ़ील्ड और इंपोर्ट किए गए फ़ील्ड को एक-दूसरे के साथ मैप करना है उन्हें चुनें. फ़ील्ड के नाम में ज़रूरत के हिसाब से बदलाव करें.
  8. इंपोर्ट करें पर क्लिक करें.

किसी मौजूदा डेटा सोर्स में डेटा अपलोड करना

  1. मौजूदा डेटा सोर्स की लाइन में, अभी इंपोर्ट करें पर क्लिक करें.
  2. अगर डेटा सोर्स को CSV इंपोर्ट के लिए कॉन्फ़िगर किया गया है, तो वह CSV फ़ाइल चुनें जिसे आपको इंपोर्ट करना है और खोलें पर क्लिक करें.

    CSV फ़ाइल में वही फ़ील्ड या फ़ील्ड के सबसेट शामिल होने चाहिए जो मूल फ़ाइल के हैं. अगर आपको एक ही तरह के डेटा के लिए अलग-अलग फ़ील्ड इंपोर्ट करने हैं, तो आपको मौजूदा डेटा सोर्स को मिटाकर एक नया डेटा सोर्स बनाना होगा.

एसएफ़टीपी होस्ट-की एल्गोरिदम की पुष्टि करें, एसएफ़टीपी-सर्वर यूआरएल फ़ॉर्मैट करें

एल्गोरिदम की पुष्टि करना

ऐसे कई तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके यह पुष्टि की जा सकती है कि आपका एसएफ़टीपी सर्वर, ssh-rsa या ssh-dss में से किस होस्ट-की एल्गोरिदम का इस्तेमाल करता है. उदाहरण के लिए, OpenSSH रिमोट-लॉगिन क्लाइंट का इस्तेमाल करके, इस कमांड से अपने सर्वर लॉग की जांच की जा सकती है:

ssh -vv <your sftp server name>

अगर आपका सर्वर उनमें से किसी भी एल्गोरिदम के साथ काम करता है, तो आपको अपने सर्वर लॉग में नीचे दी गई लाइन की तरह एक लाइन दिखेगी:

debug2: host key algorithms: rsa-sha2-512, rsa-sha2-256, ssh-rsa

एसएफ़टीपी-सर्वर यूआरएल फ़ॉर्मैट करना

अगर आपका एसएफ़टीपी-सर्वर यूआरएल गलत तरीके से फ़ॉर्मैट किया गया है, तो आपका इंपोर्ट सेटअप काम नहीं करेगा और अंदरूनी गड़बड़ी का मैसेज दिखेगा.

आम तौर पर, एसएफ़टीपी-सर्वर यूआरएल के तीन हिस्से होते हैं, जिन पर डेटा इंपोर्ट करने वाली फ़ाइलें अपलोड करते समय ध्यान रखना ज़रूरी होता है. उदाहरण के लिए:

sftp://example.com//home/jon/upload.csv में ये चीज़ें होती हैं:

  • डोमेन: example.com
  • होम डायरेक्ट्री: //home/jon
  • फ़ाइल पाथ: /upload.csv

ऊपर दिए गए उदाहरण में, अपलोड की गई फ़ाइल होम डायरेक्ट्री में मौजूद है.

यूआरएल के डोमेन वाले हिस्से को कई तरह से फ़ॉर्मैट किया जा सकता है. इसके लिए, पोर्ट के नंबर के साथ या उसके बिना, सर्वर के IPv4 या IPv6 पते या डोमेन नेम का इस्तेमाल किया जाता है:

  • डोमेन नेम: sftp://example.com
  • IPv4 (पोर्ट नंबर के साथ): sftp://142.250.189.4:1234
  • IPv4 (पोर्ट नंबर के बिना): sftp://142.250.189.4
  • IPv6 (पोर्ट नंबर के साथ): sftp://[2607:f8b0:4007:817::2004]:1234
  • IPv6 (पोर्ट नंबर के बिना): sftp://[2607:f8b0:4007:817::2004]

अगर आप पोर्ट नंबर शामिल नहीं करते हैं, तो डिफ़ॉल्ट पोर्ट 22 होता है.

होम डायरेक्ट्री को शामिल करने या बाहर रखने के लिए, यूआरएल को सही तरीके से फ़ॉर्मैट करें. सही तरीके से फ़ॉर्मैट किए गए यूआरएल के इन उदाहरणों में डोमेन की पहचान करने के लिए अलग-अलग फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल किया गया है. उदाहरण में पोर्ट नंबर शामिल हैं, लेकिन आप चाहें, तो पोर्ट नंबर इस्तेमाल न करें.

  • होम डायरेक्ट्री शामिल करें:
    • sftp://example.com//home/jon/upload.csv (डोमेन नेम)
    • sftp://142.250.189.4:1234//home/jon/upload.csv (पोर्ट नंबर के साथ IPv4)
  • होम डायरेक्ट्री बाहर रखें:
    • sftp://example.com/upload.csv (डोमेन नेम)
    • sftp://[2607:f8b0:4007:817::2004]:1234/upload.csv (पोर्ट नंबर के साथ IPv6)

अगर आपकी अपलोड की गई फ़ाइल, होम डायरेक्ट्री की सबडायरेक्ट्री में मौजूद है, तो आपका यूआरएल कुछ इस तरह दिखेगा:

sftp://example.com//home/jon/data/upload.csv

इस मामले में, आप इस तरह के फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • होम डायरेक्ट्री शामिल करें:
    • sftp://example.com//home/jon/data/upload.csv
    • sftp://142.250.189.4:1234//home/jon/data/upload.csv (पोर्ट नंबर के साथ IPv4)
  • होम डायरेक्ट्री बाहर रखें:
    • sftp://example.com/data/upload.csv
    • sftp://[2607:f8b0:4007:817::2004]:1234/data/upload.csv (पोर्ट नंबर के साथ IPv6)

अगर आपकी अपलोड की गई फ़ाइल आपकी होम डायरेक्ट्री (//home/jon) या होम डायरेक्ट्री की सबडायरेक्ट्री (//home/jon/data) में सेव न होकर, /foo/bar डायरेक्ट्री में सेव हुई है, तो अपलोड की गई फ़ाइल का सही तौर पर फ़ॉर्मैट किया गया यूआरएल कुछ ऐसा दिखेगा:

sftp://example.com//foo/bar/upload.csv (//foo/barहोम डायरेक्ट्री की जगह ले लेता है)

डेटा सोर्स की जानकारी देखना, अपने एसएफ़टीपी सर्वर की सार्वजनिक कुंजी पाना, नया डेटा इंपोर्ट करना, और किसी डेटा सोर्स को मिटाना

  1. प्रॉपर्टी कॉलम में, डेटा इंपोर्ट पर क्लिक करें.
  2. डेटा सोर्स की लाइन में, उसके बाद पर क्लिक करें.

हर अपलोड की गई फ़ाइल का नाम, डेटा टाइप, सार्वजनिक कुंजी, और इतिहास देखा जा सकता है.

  • सार्वजनिक कुंजी: एसएफ़टीपी सर्वर की सार्वजनिक कुंजी का इस्तेमाल, आपके सर्वर और Analytics के डेटा-इंपोर्ट सर्वर के बीच सुरक्षित और निजी कनेक्शन पक्का करने के लिए किया जाता है. यह कुंजी, ऐसी मिलती-जुलती निजी कुंजी से मेल खाती है जिसे Analytics सेव करता है, लेकिन कभी शेयर नहीं करता है. यह ज़रूरी है कि आप अपने सर्वर पर इस सार्वजनिक कुंजी को अनुमति दें, ताकि यह पक्का हो सके कि डेटा इंपोर्ट सुरक्षित तरीके से काम कर सके.
  • % इंपोर्ट किया गया: इंपोर्ट की गई लाइनों की संख्या को, इंपोर्ट की गई फ़ाइल में मौजूद लाइनों की संख्या से भाग दिया जाता है. 100% का मतलब है कि सभी लाइनों को इंपोर्ट किया गया.
  • मैच रेट: इंपोर्ट की गई फ़ाइल में मौजूद उन कुंजियों का अनुपात होता है जिन्हें पिछले 90 दिनों में आपकी प्रॉपर्टी में ढूंढा जा सकता है. 100% का मतलब है कि पिछले 90 दिनों का डेटा आपके लिए ज़रूरी और काम का है.

नया डेटा इंपोर्ट करने के लिए:

अभी इंपोर्ट करें पर क्लिक करें और अपने कंप्यूटर पर कोई ऐसी CSV फ़ाइल चुनें जो काम की हो.

डेटा सोर्स मिटाने के लिए:

  1. ज़्यादा > डेटा सोर्स मिटाएं पर क्लिक करें.
  2. मिटाने की सूचना पढ़ें, फिर डेटा सोर्स मिटाएं पर क्लिक करें.

कलेक्शन/प्रोसेसिंग-टाइम डेटा मिटाया जा सकता है, लेकिन अगर उस डेटा को हटाना है जिसे Analytics से प्रोसेस किए गए सभी इवेंट से पहले अपलोड किया गया था, तो आपको किसी उपयोगकर्ता या उपयोगकर्ता प्रॉपर्टी को मिटाने के बारे में फ़ॉलो-अप करना पड़ सकता है (ज़्यादा जानें). पहले से इंपोर्ट की गई कोई फ़ाइल मिटाने से, इंपोर्ट पूरा होने के बाद से इकट्ठा हुए इवेंट से जुड़ा प्रोसेस किया गया डेटा नहीं मिटेगा.

 

रिज़र्व किए गए नाम और प्रीफ़िक्स

नीचे दिए गए इवेंट के नाम, इवेंट-पैरामीटर के नाम, उपयोगकर्ता-प्रॉपर्टी के नाम, और प्रीफ़िक्स को रिज़र्व किया गया है, जिसका इस्तेमाल Analytics करेगा. अगर ऐसा डेटा अपलोड करने की कोशिश की जाती है जिसमें रिज़र्व किए गए नाम या प्रीफ़िक्स शामिल हैं, तो वह डेटा अपलोड नहीं किया जाएगा.

जैसे:

  • रिज़र्व नाम वाले किसी इवेंट को इंपोर्ट करने की कोशिश करने पर, वह इवेंट और उसके पैरामीटर इंपोर्ट नहीं होंगे.
  • अगर आपने मान्य नाम वाला इवेंट इंपोर्ट करने की कोशिश की है, लेकिन उसका कोई पैरामीटर रिज़र्व किए गए नाम का इस्तेमाल करता है, तो इवेंट इंपोर्ट हो जाएगा, लेकिन रिज़र्व नाम वाला पैरामीटर इंपोर्ट नहीं होगा.

रिज़र्व किए गए इवेंट के नाम

  • ad_activeview
  • ad_activeview
  • ad_exposure
  • ad_impression
  • ad_query
  • adunit_exposure
  • app_clear_data
  • app_install
  • app_remove
  • app_update
  • गड़बड़ी
  • first_open
  • first_visit
  • in_app_purchase
  • notification_dismiss
  • notification_foreground
  • notification_open
  • notification_receive
  • os_update
  • screen_view
  • session_start
  • user_engagement

रिज़र्व किए गए इवेंट-पैरामीटर के नाम

  • firebase_conversion

रिज़र्व की गई उपयोगकर्ता प्रॉपर्टी के नाम

  • first_open_after_install
  • first_open_time
  • first_visit_time
  • last_deep_link_referrer
  • user_id

रिज़र्व किए गए प्रीफ़िक्स (इवेंट पैरामीटर और उपयोगकर्ता प्रॉपर्टी पर लागू होते हैं)

  • ga_
  • google_
  • firebase_

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
false
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू