COVID-19 पर बने वीडियो से कमाई करने की जानकारी

ध्यान दें: आप अब भी अपलोड किए जाने वाले नए वीडियो पर पीले रंग के आइकॉन देख सकते हैं. ऐसा इसलिए है, क्योंकि अपने-आप चलने वाले हमारे सिस्टम, COVID-19 से जुड़े वीडियो से ज़्यादा कमाई करने के लिए इसे चलाने की अनुमति देते हैं. अगर आपके वीडियो पर पीले रंग का आइकॉन दिखता है और आपको लगता है कि यह हमारी अपडेट की हुई नीतियों के मुताबिक है, तो कृपया अपील सबमिट करें, ताकि हमारी टीम उसकी समीक्षा करके उसके मुताबिक बदलाव कर सके.

अब COVID-19 पर बने और/या उससे जुड़े उन वीडियो से कमाई की जा सकती है जो विज्ञापन देने वालों के लिहाज़ से अच्छे वीडियो बनाने के दिशा-निर्देशों और कम्यूनिटी दिशा-निर्देशों के मुताबिक हों. 

यहां COVID-19 से जुड़े कुछ ऐसे वीडियो के उदाहरण दिए गए हैं जो हमारी नीतियों के हिसाब से सही नहीं हैं. इस वजह से, इन वीडियो पर आगे भी सीमित विज्ञापन या कोई विज्ञापन नहीं   दिखाया जाएगा:

  • परेशान करने वाले फ़ुटेज: COVID-19 की वजह से परेशान दिखने वाले लोगों के फ़ुटेज. इनमें इस तरह के फ़ुटेज शामिल हैं:
    • अस्पताल में या इलाज की सुविधा वाली जगहों पर बीमार लोगों को दिखाना
    • जबरदस्ती अपने घरों से हटाए जाने पर परेशान दिख रहे लोग
    • ध्यान दें: अस्पताल या लोगों को खांसते हुए दिखाने वाले वीडियो की कमाई तब तक कम नहीं की जाएगी, जब तक उसका वीडियो में कुछ समय के लिए या किसी स्टोरी में संदर्भ के तौर पर इस्तेमाल किया गया हो.
  • इलाज की गलत जानकारी: COVID-19 से जुड़े इलाज की गलत जानकारी दिखाने वाले वीडियो. इसमें उन सभी तरह के वीडियो शामिल हैं जिनमें COVID-19 के मान्य इलाज के अलावा, किसी दूसरी जांच या परीक्षण को बढ़ावा दिया गया हो, बीमारी की वजह के बारे में गलत/आधारहीन दावे किए गए हों, और खतरनाक इलाज या बचाव के उपायों का प्रचार किया गया हो. साथ ही, टीकों को बांटने या उनसे होने वाले असर के बारे में गलत या गुमराह करने वाले दावे किए गए हों या COVID-19 की शुरुआत या उसके फैलने से जुड़ी ऐसी जानकारी दी गई हो जो वैज्ञानिक मान्यताओं से अलग है. यहां इस तरह के वीडियो के कुछ उदाहरण दिए गए हैं: 
    • सरकार या सरकारों ने जैविक हथियार के तौर पर इस्तेमाल के लिए वायरस बनाया
    • कंपनियों ने वायरस बनाया
    • COVID-19, 5G टेक्नोलॉजी से फैलता है
    • COVID-19 खास स्थानीय समूहों में फैलता है
    • ऐसे वीडियो जिनमें दावा किया गया हो कि महामारी फ़र्ज़ी है, किसी चीज़ पर पर्दा डालने के लिए अफ़वाह के तौर पर फैलाई गई है या जान-बूझकर किया गया हमला है
    • COVID-19 के टीकों में माइक्रोचिप है
  • शरारतें और चुनौतियां: ऐसे वीडियो जिनमें COVID-19 से जुड़ी ऐसी शरारतें या चुनौतियां शामिल हों जो सेहत को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों को बढ़ावा देती हों, जैसे कि जान-बूझकर वायरस के संपर्क में आना. इसके तहत, शरारतों या चुनौतियों वाले ऐसे वीडियो भी आते हैं जिन्हें देखकर दर्शक घबरा जाएं. इनमें इस तरह के वीडियो भी शामिल हैं:
    • शौचालय की सीट को चाटने की चुनौती देता हो
    • इसे लोगों को दिखाने का झांसा देता हो 
    • वीडियो में दिख रहे लोगों या खाने के सामानों पर खांसने/छींकने या ऐसा करने का दिखावा किया गया हो
    • सहयोगी को यह कहते हुए दिखाना कि उन्हें कोरोना वायरस है
    • हेजमेट सूट पहनकर दूसरे लोगों की जांच करते हुए दिखाना
    • दूसरों लोगों में वायरस संक्रमण का डर पैदा करना

ध्यान दें: कृपया याद रखें कि ये सब, इसके कुछ उदाहरण हैं. इसके बारे में यह कोई पूरी सूची नहीं है. 

अपने वीडियो खुद प्रमाणित करने के YouTube के प्रोग्राम से जुड़े क्रिएटर्स को, COVID-19 पर बने अपने वीडियो को रेट करने की ज़रूरत नहीं है. संवेदनशील मामलों से जुड़े सवालों के तहत इसे "संवेदनशील इवेंट" के तौर पर रेट किया गया है.

COVID-19 से जुड़े वीडियो बनाने के सबसे सही तरीके

अगर आप COVID-19 से जुड़ा कोई वीडियो बना रहे हैं और उससे कमाई करना चाहते हैं, तो इन दिशा-निर्देशों का पालन करना ज़रूरी है: 

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
59
false