HLS स्ट्रीम सेट अप करना

'YouTube लाइव' पर HLS (एचटीटीपी लाइव स्ट्रीमिंग) डेटा डालने के प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करके, एचडीआर में स्ट्रीम करें या RTMP के साथ काम न करने वाले कोडेक इस्तेमाल करें.

शुरू करने से पहले

पक्का करें कि आपका एन्कोडर HLS के साथ काम करता हो और आपको YouTube पर लाइव स्ट्रीमिंग करने की बुनियादी जानकारी हो.

पहला चरण: यह देखना कि HLS से YouTube पर डेटा डालने का प्रीसेट है या नहीं

अगर आपके एन्कोडर में HLS से YouTube पर डेटा डालने का प्रीसेट मौजूद है, तो उसे चुनें. आपको अपनी स्ट्रीम कुंजी को कॉपी करके चिपकाना पड़ सकता है, जैसा कि RTMP स्ट्रीम के लिए किया जाता है. अब आप स्ट्रीम करने के लिए तैयार हैं.

अगर आपके एन्कोडर में HLS से YouTube पर डेटा डालने का प्रीसेट मौजूद नहीं है, तो सीधे दूसरे चरण “डेटा डालने का यूआरएल सेट करना” पर जाएं.

(दूसरा चरण) सर्वर का यूआरएल सेट करना

  1. YouTube के लाइव कंट्रोल रूम > स्ट्रीम पर जाएं. "स्ट्रीम कुंजी चुनें" सेक्शन में, नई स्ट्रीम कुंजी बनाएं पर क्लिक करें और स्ट्रीम प्रोटोकॉल के तौर पर, HLS को चुनें. 

ध्यान दें: अगर आप एचडीआर क्वालिटी में स्ट्रीमिंग करना चाहते हैं, तो “मैन्युअल रिज़ॉल्यूशन चालू करें" से सही का निशान हटाएं.

  1. HLS डेटा डालने का "स्ट्रीम यूआरएल" अपडेट हो जाएगा. यूआरएल को “rtmp” के बजाय “https” से शुरू होना चाहिए. इस यूआरएल को अपने एन्कोडर में कॉपी करें. 
  2. अगर आपको डेटा डालने के लिए किसी बैक अप यूआरएल की ज़रूरत है, तो "बैक अप सर्वर का यूआरएल" कॉपी करें. स्ट्रीम कुंजी पहले से ही इस यूआरएल का हिस्सा है, इसलिए आपको "स्ट्रीम कुंजी" अलग से कॉपी नहीं करनी पड़ेगी.
 

ध्यान दें: जब HLS चुना जाता है, तो "वीडियो स्ट्रीम होने और उसके दिखने के समय का अंतर बहुत कम करें" का विकल्प बंद हो जाता है. HLS में, RTMP की तरह लगातार स्ट्रीम करने के बजाय वीडियो के सेगमेंट भेजे जाते हैं. इसलिए, HLS में वीडियो स्ट्रीम होने और उसके दिखने के समय का अंतर ज़्यादा होता है.

तीसरा चरण: HLS की सेटिंग अपडेट करना

'YouTube लाइव' के लिए ज़रूरी, HLS की इन सेटिंग को भी ध्यान से अपडेट करें:

  • सेगमेंट की अवधि: इसे एक से चार सेकंड के बीच रखें. सेगमेंट की अवधि कम रखने से, वीडियो स्ट्रीम होने और उसके दिखने के समय का अंतर कम हो जाता है.
  • सेगमेंट का फ़ॉर्मैट: टीएस (ट्रांसपोर्ट स्ट्रीम) में होना चाहिए.
  • बाइट रेंज मौजूद नहीं है.
  • किसी ऐसी चलती हुई प्लेलिस्ट का इस्तेमाल करें जिसमें पांच से ज़्यादा सेगमेंट बाकी न हों.
  • एचटीटीपीएस POST/PUT का इस्तेमाल ज़रूर करें.
  • एचटीटीपीएस के इस्तेमाल के अलावा, एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) करने का कोई और तरीका काम नहीं करता.

ऐसे एन्कोडर जो HLS आउटपुट के साथ काम करते हैं

  • Cobalt एन्कोडर
  • Harmonic
  • Mirillis Action: अगर HEVC वीडियो कोडेक चुना जाता है, तो डेटा डालने के लिए अपने-आप HLS का इस्तेमाल होता है.
  • OBS
  • Telestream
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
59
false