पार्स नहीं किए जा सकने वाले स्ट्रक्चर्ड डेटा की रिपोर्ट

इस रिपोर्ट में आपकी साइट पर स्ट्रक्चर्ड डेटा दिया गया है, जिसे पार्स नहीं किया जा सका. ऐसा सिंटैक्स में गंभीर गड़बड़ी की वजह से हुआ है. पार्स करने की गड़बड़ी की वजह से स्ट्रक्चर्ड डेटा के चाहे गए प्रकार (नौकरी, इवेंट वगैरह) को तय नहीं किया जा सका.

रिपोर्ट खोलें

रिपोर्ट इस्तेमाल करना

इस रिपोर्ट के सभी आइटम स्ट्रक्चर्ड डेटा गड़बड़ियां हैं; कोई चेतावनी या सही आइटम नहीं.

गड़बड़ियों को गंभीरता के हिसाब से अपने आप क्रम में लगाया जाता है. गंभीरता की पहचान सबसे ज़्यादा समस्या वाले पेजों और दूसरी चीज़ों के हिसाब से की जाती है.

कई पेजों पर असर डालने वाली एक गड़बड़ी होने की सबसे सामान्य वजह टेम्प्लेट में मौजूद गड़बड़ी है.

  1. समस्या वाले पेजों, गड़बड़ी की जानकारी, और डीबग करने वाले टूल के लिंक देखने के लिए गड़बड़ी की जानकारी वाली पंक्ति पर क्लिक करें. नीचे दी गई टेबल में गड़बड़ी के प्रकारों के बारे में पूरी जानकारी दी गई है.
  2. व्यवस्थित डेटा की जाँच करने वाले टूल का इस्तेमाल करके समस्या को ठीक करें. साथ ही, अपने स्ट्रक्चर्ड डेटा के सिंटैक्स की जाँच करें.
  3. समस्या ठीक करने के बाद गड़बड़ी की जानकारी वाले पेज पर ठीक किए जाने की पुष्टि करें पर क्लिक करें.

ध्यान दें कि पार्सिंग की गड़बड़ी को ठीक करने के बाद आप और ज़्यादा चेतावनियों या गड़बड़ियों को ट्रिगर कर सकते हैं क्योंकि आइटम को कभी भी पार्स नहीं किया जा सकता.

गड़बड़ी के प्रकार

इस रिपोर्ट में, नीचे दिए गए गड़बड़ी के प्रकारों के बारे में बताया गया है :

गड़बड़ी के प्रकार जानकारी
जेएसओएन दस्तावेज़ अमान्य है जेएसओएन में टॉप लेवल के सिंटैक्स में गड़बड़ी मिली.
मान का प्रकार गलत है प्रॉपर्टी के लिए डाले गए मान का प्रकार गलत है. उदाहरण के लिए, किसी प्रॉपर्टी में संख्या या ऐरे लिखा जाना चाहिए था, लेकिन आपने स्ट्रिंग लिख दिया है.
पार्स करने में गड़बड़ी हुई : ':' का चिह्न नहीं डाला गया ':' का चिह्न मौजूद नहीं है.
पार्स करने में गड़बड़ी हुई : ',' या '}' नहीं डाला गया ',' या क्लोज़िंग ब्रैकेट मौजूद नहीं है.
पार्स करने में गड़बड़ी हुई : '}' या ऑब्जेक्ट मेंबर का नाम नहीं डाला गया
 
क्लोज़िंग ब्रैकेट या ऑब्जेक्ट मेंबर का नाम मौजूद नहीं है.
पार्स करने में गड़बड़ी हुई : ऐरे लिखते समय ',' या ']' नहीं डाला गया ऐरे के मान को पार्स करने में गड़बड़ी हुई : ऐरे लिखते समय ',' या ']' नहीं डाला गया है.
इतनी लंबाई के टोकन को पार्स नहीं किया जा सका किसी वजह से यह नहीं पता लगाया जा सका कि प्रॉपर्टी या मान की शुरुआत या आखिर में क्या लिखा गया था.
अमान्य संख्या प्रॉपर्टी के मान में संख्या होनी चाहिए थी, लेकिन इसमें मान के किसी दूसरे प्रकार का इस्तेमाल किया गया है.
स्ट्रिंग में एंप्टी एस्केप सीक्वेंस मौजूद है

किसी स्ट्रिंग का मान लिखने में एंप्टी एस्केप सीक्वेंस का वर्ण शामिल नहीं किया गया : उदाहरण के लिए :

"description" : "Call me \ John"

के बजाय

"description" : "Call me \"John\"" लिखा जाना चाहिए था.

स्ट्रिंग में गलत एस्केप सीक्वेंस मौजूद है

किसी स्ट्रिंग के मान में गलत एस्केप सीक्वेंस डाला गया है. उदाहरण के लिए :

"description" : "Some \q unknown sequence"

यूनिकोड का वर्ण अधूरा है यूनिकोड के सरोगेट पेयर में आखिरी के छह वर्ण मौजूद नहीं हैं.
यूनिकोड का वर्ण अमान्य है यूनिकोड के सरोगेट पेयर के दूसरे हिस्से की शुरुआत में \u टोकन मौजूद नहीं है.
यूनिकोड का एस्केप सीक्वेंस अमान्य है : इसमें चार अंक होने ज़रूरी हैं यूनिकोड के एस्केप सीक्वेंस में सिंटैक्स की गड़बड़ी है : इसमें चार अंक होने ज़रूरी हैं.
यूनिकोड का एस्केप सीक्वेंस अमान्य है : इसमें हेक्साडेसिमल अंक होना ज़रूरी है यूनिकोड के एस्केप सीक्वेंस में सिंटैक्स की गड़बड़ी है : इसमें हेक्साडेसिमल अंक होना चाहिए था, लेकिन वह मौजूद नहीं है.
डुप्लीकेट यूनीक प्रॉपर्टी आपने अपने व्यवस्थित डेटा के ऑब्जेक्ट में यूनीक प्रॉपर्टी के लिए दो मान डाले हैं. उदाहरण के लिए, @context के लिए दो मान डाले गए हैं.
टॉप लेवल का एलिमेंट अमान्य है आपके जेएसओएन-एलडी में मौजूद टॉप लेवल की सामग्री अमान्य है.
ऐसी सामग्री के बारे में बताया गया है जो मौजूद नहीं है itemref ऐट्रिब्यूट के ज़रिए ऐसे आईडेंटिफ़ायर के बारे में बताया गया है जो मौजूद नहीं है.

 

समस्या की जानकारी वाला पेज

रिच नतीजे की ज़रूरी जानकारी वाले पेज पर समस्या वाली पंक्ति को चुनें. ऐसा करने पर वह पेज खुलेगा जिसमें समस्या के बारे में पूरी जानकारी होगी. कोई समस्या अलग-अलग पेजों पर मौजूद सामग्रियों पर असर डाल सकती है या फिर किसी एक पेज की कई सामग्रियों पर असर डाल सकती है.

समस्या की जानकारी वाले पेज पर, नीचे दी गई जानकारी दिखती है :

राज्य
इस समस्या की पुष्टि की स्थिति
पहली बार पता चलने की तारीख
आपकी साइट पर यह समस्या पहली बार पता चलने की तारीख. इस तरह की सभी समस्याएं शायद हल हो जाएं और फिर 90 दिनों के अंदर दोबारा दिखाई देनी शुरू हो जाएं. ऐसा होने पर यह तारीख मूल रूप से सबसे पहले समस्या दिखाई देने की तारीख होगी, दोबारा दिखाई देने की शुरुआत वाली तारीख नहीं.
उदाहरण
उन रिच नतीजों की सूची जिन पर इस समस्या का असर हुआ है. शायद आपकी साइट पर इस समस्या के मौजूद होने के हर इंस्टेंस की जानकारी न दिखाई जाए. इसकी कई वजहें हो सकती हैं. उदाहरण के लिए, कुछ जगहों पर यह समस्या पिछली बार आपकी साइट क्रॉल होने के बाद आई हो या कुछ समस्याओं का असर 1,000 से ज़्यादा चीज़ों पर हुआ हो.
पिछली बार क्रॉल किए जाने का समय
वह समय जब इस समस्या वाले पेज को पिछली बार क्रॉल किया गया था.
पुष्टि की जानकारी

अपनी साइट पर एक खास तरह की समस्या के सभी इंस्टेंस ठीक कर लेने के बाद, आप Google से अनुरोध करके अपने किए हुए बदलावों की पुष्टि करा सकते हैं. अगर किसी समस्या के सभी इंस्टेंस ठीक कर लिए जाते हैं, तो समस्या की स्थिति दिखाने वाले टेबल में इसे 'ठीक कर लिया गया' के तौर पर दिखाया जाता है और यह टेबल के सबसे निचले हिस्से में चली जाती है. Search Console, समस्या की पुष्टि की स्थिति के साथ-साथ समस्या के हर इंस्टेंस की पुष्टि की स्थिति पर भी नज़र रखता है. जब समस्या के सभी इंस्टेंस ठीक हो जाते हैं, तो उसे 'ठीक कर लिया गया' माना जाता है. (पुष्टि किए जाने की सही स्थिति जानने के लिए, समस्या की पुष्टि की स्थिति और इंस्टेंस की पुष्टि की स्थिति देखें.)

समस्या के 'जीवनकाल' से जुड़ी ज़्यादा जानकारी...

किसी वेबसाइट पर मौजूद समस्या के 'जीवनकाल' में, उसकी पहचान किए जाने के समय से लेकर उसके आखिरी इंस्टेंस के पूरी तरह ठीक किए जाने के 90 दिन बाद तक का समय शामिल होता है. अगर 90 दिनों के बाद समस्या फिर से दिखाई नहीं देती है, तो इसे रिपोर्ट इतिहास से हटा दिया जाता है.

जिस तारीख पर समस्या की पहली बार पहचान की गई हो, उसे समस्या के 'जीवनकाल' का वह समय माना जाता है जब पहली बार उसका पता लगाया गया. समस्या पता चलने की तारीख में कोई बदलाव नहीं होता. इसलिए:

  • अगर किसी समस्या के सभी इंस्टेंस ठीक कर लेने के 15 दिनों बाद, इसका नया इंस्टेंस फिर से दिखाई देता है तो समस्या "ठीक नहीं की गई है" के रूप में दिखाई देती है. इसके पता चलने की मूल तारीख भी "पहली बार पता चलने की तारीख" ही होती है.
  • समस्या के आखिरी इंस्टेंस को ठीक कर लिए जाने के 91 दिन बाद, अगर समस्या फिर से दिखाई देती है तो पिछली समस्या को 'ठीक कर ली गई है' माना जाता है. यही वजह है कि इसे नई समस्या के रूप में दर्ज किया जाता है और इसके पता चलने की तारीख "आज" की होती है.

पुष्टि की प्रोसेस सामान्य रूप से कैसे काम करती है

यहां वह खास जानकारी दी गई है, जिससे यह पता चलता है कि जब आप किसी समस्या के लिए समस्या हल होने की पुष्टि करें पर क्लिक करते हैं, तो क्या होता है. इस प्रोसेस में कई दिनों का समय लग सकता है और आपको ईमेल के ज़रिए इससे जुड़ी सूचनाएं मिलती रहेंगी.

  1. जब आप समस्या हल होने की पुष्टि करें पर क्लिक करते हैं, तो Search Console तुरंत कुछ पेजों की जाँच करता है.
    • जाँचे जा रहे किसी भी पेज में मौजूदा समस्या मिलने पर, पुष्टि की प्रोसेस खत्म हो जाती है और पुष्टि किए जाने की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होता.
    • अगर इन पेजों (जो नमूनों के तौर पर जाँचे जा रहे हैं) में मौजूदा गड़बड़ी नहीं मिलती है, तो पुष्टि की प्रोसेस शुरू हो गई की स्थिति के साथ जारी रहती है. अगर पुष्टि करने पर दूसरी तरह की समस्याएं मिलती हैं, तो इन्हें इसी तरह की दूसरी समस्याओं में गिना जाता है और पुष्टि की प्रोसेस जारी रहती है.
  2. Search Console, सूची के हिसाब से उन यूआरएल पर काम करता है, जो इस समस्या से प्रभावित हुए हैं. दोबारा क्रॉल करने के लिए तैयार की गई इस सूची में पूरी साइट के बजाय, सिर्फ़ वही यूआरएल शामिल किए जाते हैं जिन पर इस समस्या के इंस्टेंस मौजूद हैं. Search Console जिन यूआरएल को जाँचता है उन सभी का रिकॉर्ड पुष्टि के इतिहास में रखता है, जिसे 'समस्या की जानकारी पेज' पर देखा जा सकता है.
  3. यूआरएल जाँचे जाने पर:
    1. अगर समस्या न मिले, तो इंस्टेंस की पुष्टि की स्थिति बदलकर पास हो रही है हो जाती है. पुष्टि शुरू होने के बाद अगर यह पहला इंस्टेंस है जिसकी जाँच की जा रही है, तो समस्या की पुष्टि की स्थिति बदलकर सब ठीक लग रहा है हो जाती है.
    2. अगर अब यूआरएल देखा नहीं जा सकता, तो इंस्टेंस की पुष्टि की स्थिति बदलकर अन्य (दूसरा) हो जाती है (जो किसी गड़बड़ी की स्थिति नहीं होती है).
    3. इंस्टेंस अगर अब भी मौजूद है, तो समस्या की स्थिति बदलकर फ़ेल हो जाती है. अगर सामान्य तरीके से क्रॉल करने पर यह नया पेज मिला है, तो इसे मौजूदा समस्या का एक और इंस्टेंस माना जाता है.
  4. सभी गड़बड़ियां और चेतावनी वाले यूआरएल जाँचे जाने के बाद समस्या की गिनती 0 रह जाती है, तो समस्या की स्थिति बदलकर पास हो जाती है. ज़रूरी जानकारी : भले ही समस्या के असर वाले पेज की संख्या घटकर 0 और समस्या की स्थिति बदलकर पास हो जाती है, तब भी पेज पर मूल गंभीरता का लेबल (गड़बड़ी या चेतावनी) दिखाया जाएगा.

भले ही आपने कभी भी "पुष्टि शुरू करें" पर क्लिक न किया हो, पर Google किसी समस्या के ठीक कर लिए गए इंस्टेंस पहचान सकता है. नियमित रूप से किए जाने वाले क्रॉल के दौरान अगर Google को पता चलता है कि किसी समस्या के सभी इंस्टेंस ठीक कर लिए गए हैं, तो यह रिपोर्ट पर समस्या की स्थिति बदलकर "लागू नहीं" कर देगा.

किसी यूआरएल या साइट के किसी हिस्से में आई समस्या को "ठीक कर लिया गया" कब माना जाता है?

नीचे दी गईं शर्तों में से किसी एक के पूरे होने पर, यूआरएल या साइट के किसी हिस्से की समस्या को 'ठीक कर लिया गया' माना जाता है :

  • जब यूआरएल क्रॉल किया जाता है और पेज पर समस्या नहीं मिलती. एएमपी टैग की गड़बड़ी के लिए इसका मतलब है कि आपने टैग को ठीक कर लिया है या इसे हटा दिया है (अगर टैग की ज़रूरत नहीं है). पुष्टि किए जाने पर इसे "पास" माना जाएगा.
  • अगर किसी वजह से पेज Google को नहीं मिलता (पेज हटा दिया गया है, पेज पर noindex नियम लागू है, पेज देखने के लिए मंज़ूरी लेना ज़रूरी है और भी दूसरी वजहें), तो उस यूआरएल के लिए समस्या को 'ठीक कर लिया गया' माना जाएगा. पुष्टि के दौरान इसे पुष्टि की "अन्य" स्थिति के रूप में गिना जाता है.

दोबारा पुष्टि करने का तरीका

जब आप किसी फ़ेल हो गई पुष्टि के लिए दोबारा पुष्टि करें पर क्लिक करते हैं, तो सभी फ़ेल इंस्टेंस के लिए पुष्टि दोबारा शुरू हो जाती है. साथ ही, सामान्य रूप से क्रॉल किए जाने पर मिले इस समस्या के नए इंस्टेंस की भी पुष्टि होती है.

दोबारा पुष्टि किए जाने का अनुरोध करने से पहले आपको मौजूदा समय में चल रही पुष्टि की प्रोसेस पूरी होने तक इंतज़ार करना चाहिए, भले ही आपने अनुरोध किए जाने के बाद कुछ समस्याएं ठीक की हों.

जो इंस्टेंस पुष्टि में पास हो चुके हैं (पास के निशान वाले) या अब जिन्हें देखा नहीं जा सकता (अन्य के निशान वाले) उन्हें दोबारा नहीं जाँचा जाता. साथ ही जब आप 'दोबारा पुष्टि करें' पर क्लिक करते हैं, तो इन्हें इतिहास से हटा दिया जाता है.

पुष्टि किए जाने का इतिहास

आप यह देख सकते हैं कि जिस पुष्टि का अनुरोध आपने किया है, उसकी प्रक्रिया कितनी पूरी हुई है. इसके लिए समस्या की जानकारी वाले पेज पर पुष्टि की जानकारी के लिंक पर क्लिक करें.

एएमपी रिपोर्ट और इंडेक्स की स्थिति की रिपोर्ट देखने के लिए, पुष्टि के इतिहास वाले पेज की सामग्री को यूआरएल के हिसाब से समूह में रखा जाता है. मोबाइल पर इस्तेमाल में आसानी की रिपोर्ट और रिच नतीजों की रिपोर्ट में, सामग्रियों को यूआरएल और व्यवस्थित डेटा की सामग्री के हिसाब से समूह में रखा जाता है. इसके लिए सामग्रियों की पहचान उनके नाम के मान से की जाती है. पुष्टि की स्थिति उस खास समस्या पर लागू होती है जिसकी आप जाॅंच कर रहे हैं. किसी पेज पर एक समस्या का लेबल "पास" हो सकता है, लेकिन दूसरी समस्याओं का लेबल "फ़ेल", "पुष्टि होनी बाकी है" या "कुछ और" हो सकता है.

समस्या की पुष्टि की स्थिति

किसी भी समस्या पर नीचे दी गई समस्या की स्थितियां लागू होती हैं:

  • शुरू नहीं हुई है: इस समस्या के इंस्टेंस वाले एक या उससे ज़्यादा पेज हैं जिनकी आपने कभी भी पुष्टि करने की कोशिश नहीं की है. अगले चरण:
    1. गड़बड़ी के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए समस्या पर क्लिक करें. एएमपी जाँच इस्तेमाल करके लाइव पेज पर गड़बड़ियों के उदाहरण देखने के लिए एक-एक पेज को ध्यान से देखें. (हो सकता है कि एएमपी जाँच के ज़रिए पेज पर गड़बड़ी दिखाई न दे. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि Google को यह गड़बड़ी मिलने और समस्या की रिपोर्ट तैयार करने के बाद, आपने लाइव पेज पर गड़बड़ी ठीक कर ली है.
    2. जिस नियम का उल्लंघन किया गया है उसके बारे में जानने के लिए जानकारी पेज पर "ज़्यादा जानें" पर क्लिक करें.
    3. किसी खास समस्या के बारे में जानकारी पाने के लिए, टेबल में एक उदाहरण यूआरएल पंक्ति पर क्लिक करें.
    4. अपने पेजों को ठीक करें और फिर ठीक किए जाने की पुष्टि करें पर क्लिक करें ताकि Google आपके पेज फिर से क्रॉल करे. Google आपको इस बात की सूचना देगा कि पुष्टि की प्रोसेस कहां तक पहुंची है. पुष्टि होने में एक-दो दिन से लेकर दो हफ़्ते तक का समय लग सकता है, इसलिए अगर थोड़ा इंतज़ार करना पड़े तो परेशान न हों. 
  • शुरू की गई: आपने पुष्टि की प्रोसेस का अनुरोध किया और अभी तक समस्या का कोई इंस्टेंस नहीं मिला है. अगला चरण: जैस-जैसे पुष्टि की प्रोसेस आगे बढ़ेगी Google आपको सूचनाएं भेजेगा. साथ ही ज़रूरी होने पर आपको बताएगा कि आपको क्या करना होगा.
  • सब ठीक लग रहा है: आपने पुष्टि करने का अनुरोध किया और अब तक समस्या के जितने भी इंस्टेंस मिले हैं उन्हें ठीक कर लिया गया है. अगला चरण: कुछ भी नहीं, लेकिन जैसे-जैसे पुष्टि की प्रोसेस आगे बढ़ेगी, Google आपको सूचनाएं भेजेगा और बताएगा कि आपको क्या करना है.
  • पास: समस्या के सभी पहचाने गए इंस्टेंस अब मौजूद नहीं हैं (या अब वह यूआरएल उपलब्ध नहीं है जिस पर असर हुआ था). इस स्थिति में आने के लिए आपने ज़रूर "ठीक किए जाने की पुष्टि करें" पर क्लिक किया होगा (अगर इंस्टेंस आपके अनुरोध के बिना ही दिखाई नहीं दे रहे हैं, तो पुष्टि की स्थिति बदलकर 'लागू नहीं' हो जाएगी). अगला चरण: अब और कुछ नहीं करना.
  • लागू नहीं: Google को पता चला कि सभी यूआरएल पर समस्या को ठीक कर लिया गया है, हालांकि आपने कभी भी पुष्टि करने का अनुरोध नहीं किया था. अगला चरण: अब और कुछ नहीं करना.
  • फ़ेल: जब आपने "पुष्टि करें" पर क्लिक किया था उसके बाद भी एक तय सीमा तक के पेजों पर अभी भी यह समस्या मौजूद है. अगले चरण: समस्या ठीक करें और दोबारा पुष्टि का अनुरोध करें.

इंस्टेंस की पुष्टि की स्थिति

पुष्टि का अनुरोध करने के बाद, किसी खास समस्या के लिए हर इंस्टेंस को खास स्थिति के तौर पर दिखाया जाता है. यह स्थिति पुष्टि की नीचे दी गईं स्थितियों में से एक होती है (इंडेक्स की स्थिति की रिपोर्ट में पास और कुछ और वाली स्थितियों का इस्तेमाल नहीं किया जाता) :

  • अभी पुष्टि बाकी है: पुष्टि किए जाने के लिए सूची में जोड़ लिया गया है. पिछली बार जब Google ने क्रॉल किया था तब इंस्टेंस मौजूद था.
  • पास: Google ने समस्या का इंस्टेंस ढूंढने की कोशिश की और पाया कि अब इसका कोई इंस्टेंस मौजूद नहीं है. समस्या इस स्थिति में सिर्फ़ तभी पहुंच सकती है, जब आपने इस समस्या के इंस्टेंस के लिए पुष्टि करें पर क्लिक किया हो.
  • फ़ेल: Google ने जाँचा और पाया कि समस्या का इंस्टेंस अभी भी मौजूद है. समस्या इस स्थिति में सिर्फ़ तभी पहुंच सकती है, जब आपने इस समस्या के इंस्टेंस के लिए पुष्टि करें पर क्लिक किया हो.
  • अन्य: Google उस यूआरएल पर नहीं पहुंच पाया, जो इंस्टेंस होस्ट कर रहा था या (व्यवस्थित डेटा के लिए) अब पेज पर वह चीज़ नहीं ढूंढ पा रहा है. इसे पास के बराबर ही माना जाता है.

इस बात पर ध्यान दें कि अलग-अलग समस्याओं के लिए एक ही यूआरएल की अलग-अलग स्थितियों हो सकती हैं. उदाहरण के लिए, अगर किसी एक ही पेज पर X और Y दोनों तरह की समस्याएं हैं, तो हो सकता है कि X समस्या की पुष्टि की स्थिति पास हो और उसी पेज पर Y समस्या की पुष्टि की स्थिति पुष्टि नहीं हुई है के रूप में दिखाई दे.

 

जिन समस्याओं के बारे में पहले से जानकारी है

नए Search Console के इस बीटा वर्शन में कुछ ऐसी गड़बड़ियां हैं जिनके बारे में हम पहले से जानते हैं. इन गड़बड़ियों की जानकारी यहां दी गई है. इन समस्याओं के बारे में हमें रिपोर्ट करने की ज़रूरत नहीं है. हालांकि, हम चाहते हैं कि आप इसमें मिलने वाली दूसरी सुविधाओं या समस्याओं के बारे में अपने सुझाव ज़रूर दें. नेविगेशन बार में मौजूद सुझाव देने का तरीका इस्तेमाल करें.

  • कुछ समस्याओं के नाम लंबे हैं जो समझने में आसान नहीं हैं.
  • आपकी साइट पर बहुत ज़्यादा समस्याएं मौजूद होने पर (भले ही कोई चालू इंस्टेंस हो या न हो), रिपोर्ट में सिर्फ़ शुरुआती 200 समस्याएं दिखाई जाएंगी, जिन्हें इंस्टेंस के हिसाब से क्रम में लगाया जाएगा.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?