Search Console के बारे में जानकारी

Google की मुफ़्त सेवा, Google Search Console की मदद से आप अपनी साइट के प्रदर्शन पर नज़र रख सकते हैं और इसका रखरखाव कर सकते हैं. साथ ही, इसके ज़रिए आप Google के खोज नतीजों में अपनी साइट के दिखने में हो रही समस्याओं को हल कर सकते हैं. अपनी साइट को Google के खोज नतीजों में दिखाए जाने के लिए, Search Console में साइन अप करना ज़रूरी नहीं है. हालांकि, Search Console से आपको यह समझने में मदद मिलती है कि Google आपकी साइट को कैसे देखता है. साथ ही, इसके ज़रिए आप खोज नतीजों में दिखाने के लिए अपनी साइट को बेहतर बना सकते हैं.

नीचे दी गईं चीज़ों के लिए अाप Search Console में दिए गए टूल और रिपोर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • इस बात की पुष्टि करने के लिए कि Google आपकी साइट को ढूंढ सकता है और उसे क्रॉल कर सकता है.
  • साइट को इंडेक्स करने में हो रही समस्याओं को ठीक करने और नई या अपडेट की गई सामग्री काे फिर से इंडेक्स करने का अनुराेध करने के लिए.
  • 'Google सर्च' के ज़रिए साइट पर अाने वाले ट्रैफ़िक का डेटा देखने के लिए: इसमें 'Google सर्च' में आपकी साइट कितनी बार दिखाई जाती है, खाेज की किस क्वेरी के जवाब में आपकी साइट दिखाई जाती है, उपयोगकर्ता कितनी बार इन खोज नतीजों के ज़रिए आपकी साइट पर क्लिक करते हैं और कई दूसरी चीज़ों का डेटा शामिल होता है.
  • Google को आपकी साइट इंडेक्स करने में मिली, स्पैम से जुड़ी, और दूसरी समस्याओं के बारे में सूचना पाने के लिए.
  • आपकी साइट का लिंक देने वाली वेबसाइटों की जानकारी पाने के लिए.
  • एएमपी, माेबाइल पर साइट के इस्तेमाल, अाैर 'सर्च' की दूसरी सुविधाअाें से जुड़ी समस्याअाें काे हल करने के लिए.

Search Console का इस्तेमाल किसे करना चाहिए?

कोई भी व्यक्ति जिसके पास वेबसाइट है! सामान्य उपयोगकर्ता से लेकर विशेषज्ञ तक और नए से लेकर अनुभवी उपयोगकर्ता तक, Search Console सभी की मदद कर सकता है.

  • काराेबारी: भले ही आप खुद Search Console का इस्तेमाल न करने वाले हों, लेकिन आपको इसके बारे में पता होना चाहिए. साथ ही, आपको सर्च इंजन के लिए अपनी साइट को बेहतर बनाने की बुनियादी बाताें की जानकारी होनी चाहिए और आपको 'Google सर्च' में मौजूद सुविधाओं के बारे में भी पता होना चाहिए.
  • एसईओ के विशेषज्ञ या मार्केटर: अगर आप ऑनलाइन मार्केटिंग के क्षेत्र में काम करते हैं, तो वेबसाइट के ट्रैफ़िक पर नज़र रखने और साइट की रैंक को बेहतर बनाने में Search Console आपकी मदद करेगा. साथ ही, खोज नतीजों में आपकी साइट कैसी दिखाई देगी, इस बारे में बेहतर फ़ैसले लेने में भी आपको मदद मिलेगी. Search Console में दी गई जानकारी का इस्तेमाल करके आप वेबसाइट के लिए तकनीकी फ़ैसले ले सकते हैं. साथ ही, Analytics, Google रुझान और Google Ads जैसे Google के दूसरे टूल के साथ इस जानकारी का इस्तेमाल करके, आप मार्केटिंग के बारे में बारीकी से आकलन कर सकते हैं.
  • साइट के एडमिन: साइट के एडमिन के तौर पर आप चाहते हैं कि आपकी साइट बेहतर ढंग से काम करती रहे. Search Console के ज़रिए आप सर्वर की गड़बड़ियों, साइट लोड होने में हो रही समस्याओं के साथ ही, साइट हैक होने और मैलवेयर जैसी सुरक्षा से जुड़ी समस्याओं पर नज़र रख सकते हैं. कुछ मामलों में आप इन समस्याओं को हल भी कर सकते हैं. इसका इस्तेमाल करके आप यह देख सकते हैं कि जब आप अपनी साइट का रखरखाव या उसमें कोई बदलाव करें, तो वे बिना किसी परेशानी के हो जाएं. साथ ही, इनकी वजह से खोज नतीजों में आपकी साइट के प्रदर्शन पर कोई बुरा असर न हो.
  • वेब डेवलपर: अगर आप अपनी साइट के लिए खुद मार्कअप और/या कोड बना रहे हैं, तो Search Console के ज़रिए आप मार्कअप में आम तौर पर होने वाली समस्याओं पर नज़र रख सकते हैं और उन्हें हल कर सकते है. इन समस्याओं में व्यवस्थित डेटा में होने वाली गड़बड़ियों जैसी समस्याएं शामिल हैं.

 

अगला लेख: Search Console का इस्तेमाल शुरू करना

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?