अपने साइटमैप प्रबंधित करें

वीडियो के साइटमैप और इसके विकल्प

वीडियो का साइटमैप एक ऐसा साइटमैप है जिसमें अापके पेजाें पर हाेस्ट हाेने वाले वीडियाे के बारे में ज़्यादा जानकारी हाेती है. वीडियाे का साइटमैप बनाना एक बेहतरीन तरीका है जिससे अाप Google को अपनी साइट पर माैजूद वीडियो सामग्री ढूंढने और समझने में मदद कर सकते हैं. खास ताैर पर, इस तरीके से साइट पर हाल ही में जाेड़ी गई सामग्री या ऐसी सामग्री ढूंढी जा सकती है जिसे क्रॉलिंग के सामान्य तरीके से शायद न खाेजा जा सके. Google वीडियो साइटमैप मानक साइटमैप का एक्सटेंशन है.

हालांकि Google वीडियो के साइटमैप इस्तेमाल करने की सलाह देता है लेकिन एमआरएसएस फ़ीड का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

'Google सर्च' में आपके वीडियो अच्छी तरह दिखाए जाने के लिए वीडियो खोजना आसान बनाने के सबसे अच्छे तरीके अपनाएं.

वीडियो के साइटमैप से जुड़े दिशा-निर्देश

वीडियो के साइटमैप से जुड़े कुछ सामान्य दिशा-निर्देश यहां दिए गए हैं:

  • आप अपनी सुविधा के हिसाब से सिर्फ़ वीडियो के लिए एक अलग साइटमैप बना सकते हैं या मौजूदा साइटमैप में वीडियो का साइटमैप जाेड़ सकते हैं. आपको इनमें से जो तरीका बेहतर लगे, उसे अपना सकते हैं.
  • आप एक वेब पेज पर एक से ज़्यादा वीडियो होस्ट कर सकते हैं.
  • साइटमैप में डाली गई हर एंट्री एक ऐसे पेज का यूआरएल है जो एक या उससे ज़्यादा वीडियो होस्ट करता है. किसी साइटमैप में यूआरएल शामिल करने का तरीका नीचे बताया गया है:
    <url>
       <loc>https://example.com/mypage</loc>      <!-- होस्ट पेज का यूआरएल -->
       <video> ... पहले वीडियो के बारे में जानकारी ... </video>
       ... आप जितने <video> वीडियो डालना चाहते हैं ...
    </url>
  • सूची में ऐसे वीडियो न शामिल न करें जो होस्ट पेज से नहीं जुडे़े हैं. उदाहरण के लिए, ऐसा वीडियो जिसमें पेज पर मौजूद जानकारी थोड़े में दी गई है या यह मुख्य लेख सामग्री से नहीं जुड़ा है.
  • वीडियो के साइटमैप की हर एंट्री में, पेज से जुड़े ऐसे ज़रूरी, सुझाए गए या वैकल्पिक मान होते हैं जो आपने दिए हैं. सुझाए गए और वैकल्पिक मानों में ऐसा उपयोगी मेटाडेटा होता है जो नतीजों में आपका वीडियो दिखाई देने की संभावना बढ़ा सकता है. इससे Google के लिए भी आपके वीडियो को खोज नतीजों में शामिल करना आसान हो जाता है. साइटमैप में शामिल किए जाने वाले एलिमेंट के लिए नीचे दी गई सूची देखें
  • अगर Google को लगता है कि पेज पर मौजूद लेख साइटमैप में दी गई जानकारी से ज़्यादा उपयोगी है, तो वह वीडियो के लैंडिंग पेज पर साइटमैप के लेख के बजाय पेज पर मौजूद लेख इस्तेमाल कर सकता है.
  • Google इस बात की गारंटी नहीं दे सकता कि आपका पेज इंडेक्स होगा या नहीं या कब इंडेक्स होगा. ऐसा इसलिए है क्योंकि Google इंडेक्स करने के लिए मुश्किल एल्गोरिद्म इस्तेमाल करता है.
  • आपने जो यूआरएल दिया है Google को अगर उस पर कोई वीडियो सामग्री नहीं मिलती है, तो साइटमैप एंट्री पर ध्यान नहीं दिया जाएगा.
  • आप साइटमैप की जो भी फ़ाइल देते हैं, उसमें 50,000 से ज़्यादा यूआरएल एलिमेंट नहीं होने चाहिए. अगर आपकी साइट पर 50,000 से ज़्यादा वीडियो हैं, तो आप एक से ज़्यादा साइटमैप और एक साइटमैप इंडेक्स फ़ाइल सबमिट कर सकते हैं. साइटमैप में साइटमैप इंडेक्स फ़ाइल को नेस्ट नहीं किया जा सकता. ध्यान रखें कि अगर आप वैकल्पिक टैग जोड़ते हैं, तो ऐसा हो सकता है कि 50,000 वीडियो जोड़ने से पहले ही आपके लिए तय की गई 50 एमबी (बिना आकार कम की गई) की सीमा पूरी हो जाए.
  • Google स्रोत फ़ाइल या प्लेयर को एक्सेस कर पाए (इसका मतलब है कि फ़ाइल या प्लेयर पर robots.txt के ज़रिए रोक न लगी हो, लॉग इन की ज़रूरत न हो या ये ऐसे होने चाहिए जिन्हें Googlebot एक्सेस कर पाए). जिन मेटा फ़ाइल में स्ट्रीमिंग प्रोटोकॉल के ज़रिए स्रोत को डाउनलोड करने की ज़रूरत होती है, वे एक्सेस नहीं की जा सकतीं.
  • सभी फ़ाइलें ऐसी होनी चाहिए जिन्हें Googlebot एक्सेस कर पाए. अगर आप चाहते हैं कि <player_loc> या <content_loc> यूआरएल पर मौजूद आपकी वीडियो सामग्री को स्पैम करने वाले एक्सेस न कर पाएं, तो यह अच्छी तरह जाँच लें कि आपका सर्वर एक्सेस कर रहा बॉट वाकई Googlebot है.
  • आपकी robots.txt फ़ाइल के ज़रिए किसी भी साइटमैप एंट्री के साथ-साथ किसी और चीज़ (इसमें होस्ट पेज का यूआरएल, वीडियो का यूआरएल और थंबनेल का यूआरएल शामिल हैं) पर रोक नहीं लगी होनी चाहिए. robots.txt के बारे में ज़्यादा जानकारी.
  • Google जाँचता है कि आपने हर वीडियो के लिए जो जानकारी दी है, वह साइट पर मौजूद जानकारी से मेल खाती है या नहीं. जानकारी मेल न खाने पर शायद आपका वीडियो इंडेक्स न किया जाए.
  • आप एक साइटमैप में अलग-अलग साइट के पेजों के बारे में बता सकते हैं. यह ज़रूरी है कि आपके साइटमैप वाली साइट के साथ ही, बाकी सभी साइटों की भी Search Console में पुष्टि हो चुकी हो. एक से ज़्यादा साइट वाले साइटमैप को प्रबंधित करने के बारे में ज़्यादा जानकारी.

साइटमैप के उदाहरण

यहां वीडियो के साइटमैप का एक उदाहरण दिया गया है जिसमें एक पेज पर एक वीडियो को होस्ट किया गया है. इस उदाहरण में वे सभी टैग शामिल हैं जो Google इस्तेमाल करता है.

<urlset xmlns="http://www.sitemaps.org/schemas/sitemap/0.9"
        xmlns:video="http://www.google.com/schemas/sitemap-video/1.1">
   <url>
     <loc>http://www.example.com/videos/some_video_landing_page.html</loc>
     <video:video>
       <video:thumbnail_loc>http://www.example.com/thumbs/123.jpg</video:thumbnail_loc>
       <video:title>Grilling steaks for summer</video:title>
       <video:description>Alkis shows you how to get perfectly done steaks every
         time</video:description>
       <video:content_loc>
           http://streamserver.example.com/video123.mp4</video:content_loc>
       <video:player_loc>
         http://www.example.com/videoplayer.php?video=123</video:player_loc>
       <video:duration>600</video:duration>
       <video:expiration_date>2021-11-05T19:20:30+08:00</video:expiration_date>
       <video:rating>4.2</video:rating>
       <video:view_count>12345</video:view_count>
       <video:publication_date>2007-11-05T19:20:30+08:00</video:publication_date>
       <video:family_friendly>yes</video:family_friendly>
       <video:restriction relationship="allow">IE GB US CA</video:restriction>
       <video:price currency="EUR">1.99</video:price>
       <video:requires_subscription>yes</video:requires_subscription>
       <video:uploader
          info="http://www.example.com/users/grillymcgrillerson">GrillyMcGrillerson
       </video:uploader>
       <video:live>no</video:live>
     </video:video>
   </url>
</urlset>

एक्सएमएल नेमस्पेस

वीडियो के साइटमैप के बारे में नीचे दिए गए नेमस्पेस में बताया गया है:

xmlns:video="http://www.google.com/schemas/sitemap-video/1.1"

वीडियो के साइटमैप में मौजूद टैग की जानकारी

rssboard.org पर आप मीडिया के साइटमैप से जुड़े ज़्यादा दस्तावेज़ देख सकते हैं.

टैग ज़रूरी है? जानकारी
<url> ज़रूरी है आपकी साइट पर मौजूद होस्ट पेज का पेरेंट टैग. यह साइटमैप के सामान्य फ़ॉर्मैट में होता है.
<loc> ज़रूरी है

उस होस्ट पेज के बारे में बताता है जिसमें एक से ज़्यादा वीडियो होस्ट किए गए हैं. जब कोई उपयोगकर्ता 'Google सर्च' में दिखने वाले नतीजों में किसी वीडियो पर क्लिक करता है, तो उन्हें इस पेज पर भेजा जाता है. यह यूआरएल, साइटमैप में मौजूद बाकी यूआरएल से अलग होना चाहिए. यह साइटमैप के सामान्य फ़ॉर्मैट में होता है.

एक पेज पर एक से ज़्यादा वीडियो मौजूद होने पर उस पेज के लिए <loc> टैग बनाएं. इसमें उस पेज के हर वीडियो के लिए चाइल्ड <video> टैग होना चाहिए.

<video:video> ज़रूरी है

पेज पर मौजूद उस वीडियो के बारे में जानकारी देने के लिए पेरेंट टैग जो <loc> में दिया गया है.

<video:thumbnail_loc> ज़रूरी है

वीडियो के थंबनेल की इमेज फ़ाइल का यूआरएल. थंबनेल से जुड़ी ज़रूरी शर्तें देखें.

<video:title> ज़रूरी है

वीडियो का शीर्षक. सभी एचटीएमएल वाली इकाइयां सीडेटा ब्लॉक में एस्केप या रैप करनी चाहिए. यह सुझाव दिया जाता है कि यह वेब पेज पर दिखाए गए वीडियो के शीर्षक से मेल खाता हो.

<video:description> ज़रूरी है

वीडियो के बारे में जानकारी. ज़्यादा से ज़्यादा 2048 वर्ण. सभी एचटीएमएल वाली इकाइयां सीडेटा ब्लॉक में एस्केप या रैप करनी चाहिए. यह वेब पेज पर दिखाई गई जानकारी से मेल खानी चाहिए (ज़रूरी नहीं कि दोनों जगह बिल्कुल एक जैसे शब्द हों).

<video:content_loc>

ज़रूरी है: या तो
video:content_loc
या
video:player_loc

वीडियो की मूल मीडिया फ़ाइल का यूआरएल. यह ऐसे फ़ॉर्मैट में होना चाहिए जो इंडेक्स किया जा सके.

एचटीएमएल के फ़ॉर्मैट को इंडेक्स नहीं किया जा सकता. Flash इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन ज़्यादातर मोबाइल ब्राउज़र पर अब यह काम नहीं करता. इस वजह से शायद यह ठीक तरह से इंडेक्स न हो पाए.

<loc> यूआरआरएल से अलग होना चाहिए.

यह उसी तरह इस्तेमाल किया जाता है जिस तरह व्यवस्थित डेटा में VideoObject.contentUrl इस्तेमाल होता है.

सबसे अच्छा तरीका: अगर आप चाहते हैं कि आपकी सामग्री को एक्सेस करने पर पाबंदी हो लेकिन उसे क्रॉल किया जा सके, तो यह पक्का करें कि Googlebot रिवर्स डीएनएस लुकअप इस्तेमाल करके आपकी सामग्री एक्सेस कर पाए.

<video:player_loc> ज़रूरी है: या तो
video:content_loc
या
video:player_loc

किसी खास वीडियो के लिए प्लेयर का यूआरएल. आम तौर पर, यह जानकारी <embed> टैग के src एलिमेंट में होती है. <loc> यूआरआरएल से अलग होना चाहिए. YouTube पर मौजूद वीडियो के लिए video:content_loc के बजाय इस मान का इस्तेमाल करना चाहिए. यह उसी तरह इस्तेमाल किया जाता है जिस तरह व्यवस्थित डेटा में VideoObject.embedUrl इस्तेमाल होता है.

<loc> यूआरआरएल से अलग होना चाहिए.

विशेषताएं:

  • allow_embed [वैकल्पिक] Google, वीडियो को खोज नतीजों में एम्बेड कर सकता है या नहीं. इसका मान yes या no हो सकता है. 

सबसे अच्छा तरीका: अगर आप चाहते हैं कि आपकी सामग्री को एक्सेस करने पर पाबंदी हो लेकिन उसे क्रॉल किया जा सके, तो यह पक्का करें कि Googlebot रिवर्स डीएनएस लुकअप इस्तेमाल करके आपकी सामग्री एक्सेस कर पाए.

<video:duration> सुझाए गए

सेकंड में वीडियो की अवधि. इसका मान 1 से 28800 (आठ घंटे) के बीच होना चाहिए.

<video:expiration_date> जहां लागू हो वहां इस्तेमाल करने का सुझाव दिया जाता है

जिस तारीख के बाद वीडियो उपलब्ध नहीं होगा, वह W3C फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए. अगर आपका वीडियो देखने के लिए उपलब्ध न रहने की कोई आखिरी तारीख नहीं है, तो इस टैग का इस्तेमाल न करें. अगर यह टैग मौजूद होगा, तो 'Google सर्च' में इस तारीख के बाद आपका वीडियो दिखाई नहीं देगा.

इसका मान पूरी तारीख (YYYY-MM-DD) या घंटों, मिनट, सेकंड और समयक्षेत्र के साथ पूरी तारीख (YYYY-MM-DDThh:mm:ss+TZD) होना चाहिए.

उदाहरण: 2012-07-16T19:20:30+08:00.

<video:rating> वैकल्पिक

वीडियो की रेटिंग. इसका मान 0.0 (कम से कम) से 5.0 (ज़्यादा से ज़्यादा) के बीच कोई भी फ़्लोट नंबर होना चाहिए.

<video:view_count> वैकल्पिक

वह संख्या जितनी बार वीडियो देखा गया है.

<video:publication_date> वैकल्पिक

वह तारीख जब वीडियो को पहली बार W3C फ़ॉर्मैट में प्रकाशित किया गया था. इसका मान पूरी तारीख (YYYY-MM-DD) या घंटों, मिनट, सेकंड और समयक्षेत्र के साथ पूरी तारीख (YYYY-MM-DDThh:mm:ss+TZD) होनी चाहिए.

उदाहरण: 2007-07-16T19:20:30+08:00

<video:family_friendly> वैकल्पिक

अगर 'सुरक्षित खोज' चालू होने पर वीडियो उपलब्ध होता है, तो yes (या इस्तेमाल नहीं किया गया).

no अगर वीडियो सिर्फ़ तब उपलब्ध होगा जब 'सुरक्षित खोज' बंद हो.

<video:restriction> वैकल्पिक

आपके वीडियो को कुछ खास देशों में खोज नतीजों में छिपाया जाए या नहीं.

ISO 3166 फ़ॉर्मैट में देशों के कोड खाली जगह के ज़रिए अलग करके एक सूची में लिखे होने चाहिए. हर वीडियो के लिए सिर्फ़ एक <video:restriction> टैग इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर कोई <video:restriction> टैग नहीं है, तो Google मानता है कि वीडियो किसी भी जगह चलाया जा सकता है. ध्यान रखें कि इस टैग से सिर्फ़ खोज नतीजों पर असर पड़ता है. इसके बावजूद, उपयोगकर्ता पाबंदी लगाई गई जगहों पर दूसरे तरीकों से आपका वीडियो ढूंढ सकते हैं और चला सकते हैं. देश से जुड़ी पाबंदी लगाने के बारे में ज़्यादा जानें.

विशेषताएं:

  • relationship [ज़रूरी है] कुछ खास देशों में खोज नतीजों में दिखाई देगा या नहीं. इसका मान allow या deny हो सकता है. अगर इसका मान allow है, तो सूची में दिए गए देशों में वीडियो दिखाई देगा, बाकी में नहीं. अगर इसका मान deny है, तो सूची में दिए गए देशों में दिखाई नहीं देगा, बाकी देशों में दिखाई देगा.

उदाहरण: इस उदाहरण में, वीडियो सिर्फ़ कनाडा और मेक्सिको में खोज नतीजों में दिखाई देगा:

<video:restriction relationship="allow">CA MX</video:restriction>

<video:platform> वैकल्पिक

आपका वीडियो किसी खास ब्राउज़र में खोज नतीजों में दिखाया जाए या नहीं. इसमें ब्राउज़र के नामों को खाली जगह के ज़रिए अलग करके सूची में डाला गया है. ध्यान दें कि इससे सिर्फ़ खास डिवाइस पर दिखाई देने वाले खोज नतीजों पर असर होता है, इसके बावजूद उपयोगकर्ता आपके वीडियो को उन डिवाइस पर देख पाएंगे जिन पर पाबंदी लगाई गई है.

हर वीडियो के लिए एक ही <video:platform> टैग हो सकता है. अगर <video:platform> टैग नहीं है, तो Google यह मानता है कि वीडियो को किसी भी ब्राउज़र पर चलाया जा सकता है. ब्राउज़र से जुड़ी पाबंदी लगाने के बारे में ज़्यादा जानें.

ये मान दिए जा सकते हैं:

  • web - ज़्यादातर डेस्कटॉप और लैपटॉप पर इस्तेमाल किए जाने वाले ब्राउज़र.
  • mobile - मोबाइल ब्राउज़र, जैसे वे ब्राउज़र जो मोबाइल फ़ोन या टैबलेट पर इस्तेमाल होते हैं.
  • tv - टीवी ब्राउज़र, जैसे वे ब्राउज़र जो गेम कंसोल या फिर उन डिवाइस पर उपलब्ध हैं जिन पर GoogleTV काम करता है.

विशेषताएं:

  • relationship [ ज़रूरी है ] यह बताता है कि खास प्लैटफ़ॉर्म पर वीडियो दिखाई देगा या नहीं. इसका मान allow या deny हो सकता है. अगर इसका मान allow है, तो उन प्लैटफ़ॉर्म पर वीडियो दिखाई नहीं देगा जो सूची में नहीं हैं. इसका मान deny होने पर वीडियो उन प्लैटफ़ॉर्म पर दिखाई देगा जो सूची में नहीं हैं.

उदाहरण: नीचे दिए गए उदाहरण में वेब या टीवी के ब्राउज़र पर वीडियो दिखाई देगा लेकिन मोबाइल डिवाइस पर नहीं.
<video:platform relationship="allow">web tv</video:restriction>

<video:price> वैकल्पिक

वीडियो को डाउनलोड करने या देखने के लिए कितने पैसे देने पड़ते हैं. ऐसे वीडियो के लिए यह टैग इस्तेमाल न करें जिसे देखने या डाउनलोड करने के लिए पैसे नहीं देने पड़ते. एक से ज़्यादा <video:price> एलिमेंट जोड़े जा सकते हैं (उदाहरण के लिए, अलग-अलग मुद्रा, खरीदने के विकल्प या रिज़ॉल्यूशन).

विशेषताएं:

  • currency [ज़रूरी है] ISO 4217 फ़ॉर्मैट में मुद्रा बताता है.
  • type [वैकल्पिक] खरीदने के विकल्प बताता है. इसके मान rent और own हो सकते हैं. अगर इसका कोई मान तय नहीं किया जाता तो डिफ़ॉल्ट रूप से इसका मान own होता है.
  • resolution [वैकल्पिक] खरीदे गए वर्शन का रिज़ॉल्यूशन बताता है. इसके मान hd और sd हो सकते हैं.
<video:requires_subscription> वैकल्पिक

यह बताता है कि वीडियो देखने के लिए सदस्यता (मुफ़्त या पैसे लेकर) लेने की ज़रूरत है या नहीं. इसका मान yes या no हो सकता है.

<video:uploader> वैकल्पिक

वीडियो को अपलोड करने वाले का नाम. एक वीडियो के लिए सिर्फ़ एक <video:uploader> हो सकता है. स्ट्रिंग का मान, यह ज़्यादा से ज़्यादा 255 वर्ण का हो सकता है.

विशेषताएं:

  • info [वैकल्पिक] इस टैग में इस अपलोडर के बारे में ज़्यादा जानकारी वाले वेबपेज का यूआरएल होता है. <loc> टैग में दिया गया डोमेन और यह यूआरएल एक ही होना चाहिए.
<video:live> वैकल्पिक

यह बताता है कि कोई वीडियो लाइव स्ट्रीम है या नहीं. इसका मान yes या no हो सकता है.

<video:tag> वैकल्पिक

वीडियो की जानकारी देने वाला स्ट्रिंग टैग जो बिना किसी खास शर्त या फ़ॉर्मैट के लिखा जाता है. टैग में वीडियो या उसके किसी हिस्से से जुड़ी मुख्य जानकारी कम शब्दों में होती है. एक वीडियो में कई टैग हो सकते हैं, हालांकि वे एक ही श्रेणी के होते हैं. उदाहरण के लिए, कश्मीरी पुलाव बनाने का एक वीडियो, "पुलाव" की श्रेणी में हो सकता है, लेकिन इसे "चावल", "कश्मीरी पकवान" और "मीठे पुलाव" की श्रेणियों में भी टैग किया जा सकता है. किसी वीडियो से जुड़े हर टैग के लिए एक नया <video:tag> एलिमेंट बनाएं. ज़्यादा से ज़्यादा 32 टैग जोड़े जा सकते हैं.

<video:category> वैकल्पिक

वीडियो की श्रेणी के बारे में कम शब्दों में जानकारी होती है. यह स्ट्रिंग 256 वर्णों से लंबी नहीं हो सकती. सामान्य तौर पर, श्रेणियां ऐसे समूह होते हैं जिनमें सामग्रियों को उनके विषय के हिसाब से बाँटा जाता है. आम तौर पर, एक वीडियो एक श्रेणी में होता है. उदाहरण के लिए, खाना पकाने से जुड़ी किसी साइट में "तले जाने वाले पकवान", "भूने जाने वाले पकवान" और "सेंके जाने वाले पकवान" की श्रेणियां हो सकती हैं.

<video:gallery_loc> इस्तेमाल नहीं किया जाता

अब इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता.

साइटमैप के विकल्प

Google, वीडियो को मार्कअप करने के लिए वीडियो के साइटमैप और schema.org के VideoObject इस्तेमाल करने की सलाह देता है. इसके लिए एमआरएसएस फ़ीड का भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

एमआरएसएस

Google एमआरएसएस को क्रॉल कर सकता है. एमआरएसएस एक ऐसा आरएसएस मॉड्यूल है जिसमें आरएसएस 2.0 से ज़्यादा विशेषताएं होती हैं. एमआरएसएस फ़ीड काफ़ी हद तक वीडियो के साइटमैप जैसे होते हैं. साइटमैप की तरह इनकी जाँच की जा सकती है. इन्हें सबमिट और अपडेट भी किया जा सकता है.

हर एमआरएसएस फ़ीड का आकार बिना छोटा किए 50एमबी होना चाहिए. इसमें 50,000 से ज़्यादा वीडियो नहीं होने चाहिए. अगर आपकी फ़ाइल का आकार छोटा किए बिना 50एमबी से ज़्यादा है या आपके पास 50,000 से ज़्यादा वीडियो हैं, तो आप एक से ज़्यादा एमआरएसएस फ़ीड और साइटमैप की इंडेक्स फ़ाइल सबमिट कर सकते हैं. साइटमैप के इंडेक्स में एमआरएसएस हो सकते हैं.

आरएसएस बनाम एमआरएसएस – एमआरएसएस, आरएसएस का ऐसा एक्सटेंशन है जिसका इस्तेमाल मल्टीमीडिया फ़ाइलों को ऑफ़लाइन बाँटने के लिए किया जाता है. इसमें सामग्री के बारे में आरएसएस मानक से ज़्यादा जानकारी दी जा सकती है.

एमआरएसएस के उदाहरण

यहां एक एमआरएसएस एंट्री का उदाहरण दिया गया है जिसमें उन सभी मुख्य टैग के बारे में बताया गया है Google जिनका इस्तेमाल करता है. इसमें <dcterms:type>live-video</dcterms:type> शामिल है. इसका इस्तेमाल ऐसे वीडियो की पहचान करने में किया जा सकता है जो लाइव स्ट्रीम किए जा रहे हैं.

<?xml version="1.0" encoding="UTF-8"?>
<rss version="2.0" xmlns:media="http://search.yahoo.com/mrss/" xmlns:dcterms="http://purl.org/dc/terms/">
<channel>
<title>Example MRSS</title>
<link>http://www.example.com/examples/mrss/</link>
<description>MRSS Example</description>
  <item xmlns:media="http://search.yahoo.com/mrss/" xmlns:dcterms="http://purl.org/dc/terms/">
    <link>http://www.example.com/examples/mrss/example.html</link>
    <media:content url="http://www.example.com/examples/mrss/example.flv" fileSize="405321"
      type="video/x-flv" height="240" width="320" duration="120" medium="video" isDefault="true">
      <media:player url="http://www.example.com/shows/example/video.swf?flash_params" />
      <media:title>Grilling Steaks for Summer</media:title>
      <media:description>Get perfectly done steaks every time</media:description>
      <media:thumbnail url="http://www.example.com/examples/mrss/example.png" height="120" width="160"/>
      <media:price price="19.99" currency="EUR" />
      <media:price type="subscription" />
    </media:content>
    <media:restriction relationship="allow" type="country">us ca</media:restriction>
    <dcterms:valid xmlns:dcterms="http://purl.org/dc/terms/">end=2020-10-15T00:00+01:00; scheme=W3C-DTF</dcterms:valid>
    <dcterms:type>live-video</dcterms:type>
  </item>
</channel>
</rss>

एमआरएसएस टैग

टैग ज़रूरी है? जानकारी
<media:content> ज़रूरी है

वीडियो के बारे में जानकारी होती है.

विशेषताएं:

  • medium [ज़रूरी है] सामग्री का प्रकार. इसका मान video सेट करना चाहिए.
  • url [ज़रूरी है] ऐसे वीडियो का डायरेक्ट यूआरएल जिसमें किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है. अगर इसका मान तय नहीं किया गया है, तो आपको <media:player> टैग का मान तय करना चाहिए.
  • duration [ज़रूरी है] सेकंड में वीडियो की अवधि. यह वैकल्पिक विशेषताएं हैं लेकिन हमारी सलाह है कि आप इसका इस्तेमाल करें.

बाकी सभी वैकल्पिक विशेषताएं और <media:content> टैग के चाइल्ड फ़ीड के लिए, एमआरएसएस की जानकारियां देखें.

<media:player> ज़रूरत के हिसाब से इस्तेमाल किया जाता है

आपको <media:content> में <media:player> या url में से कम से कम एक विशेषता का मान तय करना ज़रूरी है.

किसी खास वीडियो के लिए प्लेयर का यूआरएल. आम तौर पर, यह <embed> टैग के src एलिमेंट में दी गई जानकारी होती है. यह <loc> टैग में दी गई सामग्री जैसी नहीं होनी चाहिए. इसमें <link> टैग में दिया गया यूआरएल नहीं हो सकता. <link> में ऐसे पेज का यूआरएल होना चाहिए जो वीडियो को होस्ट कर रहा हो. जबकि इस टैग में प्लेयर का यूआरएल होना चाहिए.

<media:title> ज़रूरी है

वीडियो का शीर्षक. ज़्यादा से ज़्यादा 100 वर्ण. सभी एचटीएमएल एंटिटी को सीडेटा ब्लॉक में एस्केप या रैप करना चाहिए.

<media:description> ज़रूरी है

वीडियो के बारे में जानकारी. ज़्यादा से ज़्यादा 2048 वर्ण. सभी एचटीएमएल एंटिटी को सीडेटा ब्लॉक में एस्केप या रैप करना चाहिए.

<media:thumbnail> ज़रूरी है थंबनेल की झलक का यूआरएल. थंबनेल से जुड़ी ज़रूरी शर्तें देखें.
<dcterms:valid> वैकल्पिक

वीडियो प्रकाशित होने और देखने के लिए उपलब्ध रहने की आखिरी तारीख. dcterms:valid की सभी विशेषताएं.

उदाहरण:

<dcterms:valid>
  start=2002-10-13T09:00+01:00;
  end=2002-10-17T17:00+01:00;
  scheme=W3C-DTF
<dcterms:valid>
<media:restriction> वैकल्पिक

जिन देशों में वीडियो चलाया जा सकता है या नहीं चलाया जा सकता, उनके नामों को खाली जगह के ज़रिए अलग करके बनाई गई सूची. ISO 3166 फ़ॉर्मैट में दिए गए देशों के कोड के रूप में मान दिए जा सकते हैं. अगर कोई <media:restriction> टैग नहीं है, तो Google मानेगा कि वीडियो किसी भी जगह चलाया जा सकता है.

ज़रूरी विशेषता type का मान country होना चाहिए. सिर्फ़ देश के हिसाब से लगाई गई पाबंदियां काम करती हैं.

ज़रूरी विशेषता relationship बताता है कि वीडियो कुछ खास देशों में दिखाया जा सकता है या नहीं. इसका मान allow या deny हो सकता है.

देश के हिसाब से पाबंदी लगाने के बारे में ज़्यादा जानें.

<media:price> वैकल्पिक

वीडियो को डाउनलोड करने या देखने के लिए कितने पैसे देने पड़ते हैं. यह टैग ऐसे वीडियो के लिए न इस्तेमाल करें जिसे देखना या डाउनलोड करना मुफ़्त है. एक से ज़्यादा <media:price> एलिमेंट जोड़े जा सकते हैं (उदाहरण के लिए, अलग-अलग मुद्रा या खरीदने के विकल्प बताने के लिए)

विशेषताएं:

  • currency [ज़रूरी है] मुद्रा ISO 4217 फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए.
  • type [ज़रूरी है] खरीदने का विकल्प. इसके मान rent, purchase, package और subscription हो सकते हैं.

एमआरएसएस की सभी जानकारियों में और कई वैकल्पिक टैग, इससे जुड़े सबसे अच्छे तरीके और उदाहरण शामिल हैं. एक बार एमआरएसएस फ़ीड बनाने के बाद, आप साइटमैप की तरह उसकी जाँच कर सकते हैं और उसे सबमिट कर सकते हैं.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?