रिच मीडिया फ़ाइल की सर्वोत्तम प्रक्रियाएं

Google किस प्रकार की फाइलें इंडेक्स कर सकता है?

Google ज़्यादातर प्रकार के पेज और फ़ाइलों को इंडेक्स कर सकता है. कुछ खास रिच मीडिया प्रकारों के बारे में यहां कुछ जानकारी दी गई है:

सामान्य सर्वोत्तम प्रक्रियाएं

अगर आप अपनी साइट पर रिच मीडिया इस्तेमाल करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको समस्याओं से बचाने के लिए ये सुझाव मौजूद हैं.

  • जहां ज़रूरत हो, सिर्फ़ वहीं रिच मीडिया का इस्तेमाल करें. हमारा सुझाव है कि आप सामग्री और मार्गदर्शक के लिए HTML का इस्तेमाल करें. 
  • पेज के लेख वाले वर्शन उपलब्ध कराएं. अगर आप साइट के होम पेज पर बिना HTML वाली स्प्लैश स्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं, तो उस मुख्य पेज पर किसी लेख वाले पेज का नियमित HTML लिंक शामिल कर लें, जहां साइट इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति (या Googlebot) बिना रिच मीडिया की सहायता के आपकी साइट पर कहीं भी जा सके.

आमतौर पर, सर्च इंजन लेख वाले होते हैं. इसका मतलब है कि क्रॉल और इंडेक्स किए जाने के लिए, आपकी सामग्री लेख फ़ॉर्मैट में होनी चाहिए. (Google अब फ़्लैश फ़ाइलों में शामिल लेख सामग्री को इंडेक्स कर सकता है, लेकिन दूसरे सर्च इंजन शायद ही ऐसा कर सकते हैं.)

इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपनी साइट पर रिच मीडिया जैसे कि फ़्लैश, सिल्वरलाइट ( Silverlight) या वीडियो नहीं जोड़ सकते; इसका मतलब सिर्फ़ इतना है कि इन फ़ाइलों में आप जो भी सामग्री जोड़ते हैं, वह लेख फ़ॉर्मैट में भी उपलब्ध होनी चाहिए. ऐसा न होने पर मुमकिन है कि वह सामग्री सभी सर्च इंजन के लिए सुलभ न हो. नीचे दिए गए उदाहरणों में बिना लेख वाली सामग्री के सबसे आम प्रकारों पर ज़ोर दिया गया है, लेकिन दूसरे प्रकारों के लिए भी यही दिशानिर्देश हैं: बिना लेख वाली सभी फ़ाइलों के लिए एक जैसा लेख उपलब्ध कराएं. (ध्यान रखें कि फ़्लैश ज़्यादातर मोबाइल ब्राउज़र पर काम नहीं करता.)

इससे न सिर्फ़ आपकी सामग्री को सफलतापूर्वक क्रॉल और इंडेक्स करने की Googlebot की क्षमता बढ़ेगी, बल्कि इससे आपकी सामग्री की सुलभता और ज़्यादा बढ़ जाएगी. कई लोग, जैसे कि दृष्टि बाधित उपयोगकर्ता जो कि स्क्रीन रीडर का इस्तेमाल करते हैं या फिर ऐसे लोग जिनके पास कम बैंडविड्थ का कनेक्शन होता है, वे वेब पेज पर इमेज नहीं देख पाते. जब आप वही सामग्री लेख में उपलब्ध कराते हैं, तो आपकी साइट पर ज़्यादा लोग आने लगते हैं.

वीडियो

वीडियो की सर्वोत्तम प्रक्रियाएं देखें

IFrames

IFrames का इस्तेमाल कभी-कभी वेब पेज पर सामग्री दिखाने के लिए किया जाता है. मुमकिन है कि iFrames के ज़रिए दिखाई गई सामग्री इंडेक्स न की गई हो और Google के सर्च नतीजों में दिखने के लिए मौजूद न हो. हमारा सुझाव है कि आप सामग्री दिखाने के लिए iFrames का इस्तेमाल न करें. अगर आप फिर भी iFrames शामिल करते हैं, तो पक्का करें वहां जो सामग्री दिख रही है, उसके लिए अतिरिक्त लेख वाले लिंक उपलब्ध कराएं ताकि Googlebot इस सामग्री को क्रॉल और इंडेक्स कर सके.

फ़्लैश

ज़्यादातर मोबाइल वेब ब्राउज़र में फ़्लैश काम नहीं करता है. साथ ही, Adobe ने साल 2020 तक फ़्लैश का समर्थन रोकने की योजना बनाई है. हमारा सुझाव है कि आप किसी दूसरे फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल करें, जैसे कि HTML5.

Googlebot लगभग हर उस लेख को इंडेक्स कर सकता है, जो आपके उपयोगकर्ता को आपकी साइट पर कोई भी फ़्लैश SWF फ़ाइल खोलने पर दिखाई देगा और वह उस लेख का इस्तेमाल स्निपेट जेनरेट करने या Google सर्च में क्वेरी शब्द मिलाने के लिए कर सकता है. इसके अलावा, Googlebot SWF फ़ाइलों में यूआरएल को खोजकर (उदाहरण के लिए, आपकी साइट के दूसरे पेज के लिंक) उन लिंक को फ़ॉलो भी कर सकता है.

हम इस सामग्री को उसी तरह से क्रॉल और इंडेक्स करेंगे, जिस तरह से हम आपकी साइट की अन्य सामग्री को क्रॉल और इंडेक्स करते हैं—आपको कोई खास कार्रवाई नहीं करनी होगी. हालांकि, हम यह गारंटी नहीं देते कि हम सभी सामग्री, फ़्लैश या अन्य को क्रॉल या इंडेक्स करेंगे.

जब कोई SWF फ़ाइल किसी दूसरी फ़ाइल से सामग्री लोड करती है—चाहे वह लेख, HTML, XML, कोई दूसरी SWF, वगैरह हो—Google इस बाहरी सामग्री को भी इंडेक्स कर सकता है और उसे पेरेंट SWF फ़ाइल और उसे एम्बेड करने वाले किसी भी दस्तावेज़ से जोड़ सकता है.

हम फ़्लैश फ़ाइलों को इंडेक्स करने के हमारे तरीकों को सुधारने के लिए लगातार काम कर रहे हैं, लेकिन इसकी कुछ सीमाएं हैं: उदाहरण के लिए, हम फिलहाल फ्लैश फ़ाइलों में दो-दिशाओं वाली भाषा सामग्री (उदाहरण के लिए, हिब्रू या अरबी) को इंडेक्स नहीं कर सकते हैं.

ध्यान दें कि Google फ़्लैश फ़ाइलों की सामग्री को इंडेक्स कर सकता है, लेकिन मुमकिन है कि दूसरे सर्च इंजन ऐसा नहीं कर पाएं. इसलिए, हमारा सुझाव है कि आप फ़्लैश जैसी रिच मीडिया तकनीकों का इस्तेमाल सजावट के उद्देश्यों के लिए करें और सामग्री और मार्गदर्शक के लिए HTML का इस्तेमाल करें. इससे आपकी साइट क्रॉलर के लिए ज़्यादा अनुकूल बन जाएगी और साथ ही बड़े पैमाने पर दर्शकों के लिए सुलभ भी हो जाएगी. दर्शकों में, उदाहरण के लिए, दृष्टि बाधित रीडर जिनको स्क्रीन रीडर का इस्तेमाल करने की ज़रूरत होती है, पुराने या गैर-मानक ब्राउज़र के उपयोगकर्ता और सीमित या कम-बैंडविड्थ कनेक्शन, जैसे कि मोबाइल फ़ोन या मोबाइल डिवाइस, वाले उपयोगकर्ता शामिल हैं. कोई अतिरिक्त लाभ है? मार्गदर्शक के लिए HTML का इस्तेमाल करने से उपयोगकर्ता सामग्री को बुकमार्क कर सकेंगे और सीधे ईमेल में लिंक भेज सकेंगे.

आप sIFR (बढ़ाने योग्य इनमैन फ़्लैश प्रतिस्थापन) का इस्तेमाल करने के बारे में भी सोच सकते हैं. sIFR (एक ओपन-सोर्स प्रोजेक्ट) से वेबमास्टर, लेख तत्वों को फ़्लैश समकक्षों से बदल सकते हैं. इस तकनीक का इस्तेमाल करके सामग्री और मार्गदर्शक को जोड़े गए फ़्लैश ऑब्जेक्ट के ज़रिए दिखाया जाता है लेकिन, चूंकि सामग्री HTML स्रोत में शामिल होती है, इसलिए उसे गैर-फ़्लैश उपयोगकर्ता (सर्च इंजन भी शामिल हैं) पढ़ सकते हैं.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?