Google खोज के साथ वेबसाइट परीक्षण के लिए सर्वोत्तम प्रक्रियाएं

अपने साइट URL या सामग्री में भिन्नताओं का परीक्षण करें

इस पेज में बताया गया है कि कैसे यह सुनिश्चित करें कि पेज की सामग्री या पेज URL में भिन्नताओं का परीक्षण आपके Google खोज के प्रदर्शन को न्यूनतम प्रभावित करे. यह इस बात के निर्देश नहीं देता कि परीक्षणों का निर्माण या डिज़ाइन कैसे होना चाहिए, लेकिन आपको पेज के अंत में परीक्षण से संबंधित और अधिक संसाधन मिल सकते हैं.

परीक्षण का अवलोकन

वेबसाइट परीक्षण तब होता है जब आप अपनी वेबसाइट (या अपनी वेबसाइट के किसी हिस्से) के अलग-अलग वर्शन को आजमाते हैं और इस संबंध में डेटा एकत्र करते हैं कि उपयोगकर्ता प्रत्येक वर्शन के प्रति कैसी प्रतिक्रिया करते हैं. आमतौर पर आप सॉफ़्टवेयर का उपयोग करके अपने पेजों (किसी पेज के कुछ हि्स्से, सभी पेज या सभी एक से ज्यादा पेज के प्रवाह) की दो अलग-अलग भिन्नताओं के साथ व्यवहार की तुलना करेंगे और ट्रैक करेंगे कि कौन सा वर्शन आपके उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे अधिक प्रभावी है.

A/B परीक्षण तब होता है जब आप किसी पेज के अनेक वर्शन बनाकर परीक्षण करते हैं, जिसमें प्रत्येक वर्शन का अपना अलग URL होता है. जब उपयोगकर्ता मूल URL को एक्सेस करने का प्रयास करते हैं, तब आप उनमें से कुछ को प्रत्येक भिन्नता URL पर रीडायरेक्ट करते हैं और फिर यह देखने के लिए उपयोगकर्ताओं के व्यवहार की तुलना करते हैं कि कौन सा पेज सबसे अधिक प्रभावी है.

बहुविविध परीक्षण तब होता है, जब आप अपनी वेबसाइट के अलग-अलग हिस्सों को शीघ्र परिवर्तित करने के लिए सॉफ़्टवेयर का उपयोग करते हैं. आप पेज के अनेक हिस्सों जैसे कि शीर्षक, फ़ोटो, ‘कार्ट में शामिल करें’ बटन में परिवर्तनों का परीक्षण कर सकते हैं और सॉफ़्टवेयर उपयोगकर्ताओं को इनमे से प्रत्येक अनुभागों की भिन्नताओं को विभिन्न संयोजनों में दिखाएगा और फिर आंकड़ों के साथ विश्लेषण करेगा कि कौन सी भिन्नताएं सबसे अधिक प्रभावी हैं. केवल एक URL शामिल होता है; भिन्नताएं गत्यात्मक रूप से पेज पर शामिल की जाती हैं.

आप जिस सामग्री का परीक्षण कर रहे हैं, उसके प्रकार के आधार पर यह संभवतः ज्यादा मायने भी न रखे कि परीक्षण के दौरान Googlebot आपकी कुछ सामग्री को क्रॉल करता है या नहीं अथवा उन्हें अनुक्रमित करता है या नहीं. छोटे परिवर्तन जैसे कि आकार, रंग अथवा बटन या छवि के प्लेसमेंट या आपके “कॉल-टू-एक्शन” (“कार्ट में शामिल करें” बनाम “अब खरीदें!”) के लिखित संदेश में परिवर्तनों का उपयोगकर्ताओं के आपके पेज के साथ इंटरैक्शन पर आश्चर्यजनक प्रभाव पड़ सकता है, लेकिन उस पेज के खोज परिणाम स्निपेट या रैंकिंग पर बहुत कम या कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता है.

इसके अतिरिक्त, अगर हम आपके प्रयोग का पता लगाने और उसे अनुक्रमित करने के लिए आपकी साइट को पर्याप्त बार क्रॉल करते हैं, तो ऐसे में जब आप प्रयोग पूरा कर लेंगे, तब हम आपकी साइट में हुए अंतिम अपडेट संभवतः काफी तेजी से अनुक्रमित करेंगे.

परीक्षण के दौरान सर्वोत्तम प्रक्रियाएं

साइट संबंधी भिन्नताओं का परीक्षण करते समय आपके Google खोज व्यवहार पर कोई बुरा प्रभाव पड़ने से बचाने के उद्देश्य से सर्वोत्तम प्रक्रियाओं की एक सूची यहां दी गई है:

अपने परीक्षण पेज क्लोक नहीं करें

Googlebot को URL का एक समूह और मानवों को कोई दूसरा समूह नहीं दिखाएं. यह क्लोकिंग कहलाता है और हमारे वेबमास्टर दिशानिर्देशों के खिलाफ़ है, चाहे आप परीक्षण कर रहे हैं या नहीं. याद रखें कि हमारे दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के कारण आपकी साइट को Google खोज परिणामों में अवनत किया जा सकता है या निकाला जा सकता है, जो कि संभवतः आपके परीक्षण का वांछित परिणाम न हो.

क्लोकिंग मायने रखता है, चाहे आप इसे सर्वर लॉजिक या robots.txt के माध्यम से करें या किसी अन्य विधि से करें. इसके बजाय, आगे वर्णित किए गए अनुसार लिंक या रीडायरेक्ट का उपयोग करें.

rel="canonical" लिंक का उपयोग करें

अगर आप एकाधिक URL के साथ A/B परीक्षण कर रहे हैं, तो आप अपने सभी वैकल्पिक URL पर rel=“canonical” लिंक विशेषता का उपयोग करके संकेत दे सकते हैं कि मूल URL ही पसंदीदा वर्शन है. हम noindex मेटा टैग के बजाय rel=“canonical” का उपयोग करने का सुझाव देते हैं, क्योंकि इस स्थिति में यह आपके इंटेंट से अधिक मेल खाता है. उदाहरण के लिए, अगर आप अपने मुखपृष्ठ की भिन्नताओं की जांच कर रहे हैं और आप नहीं चाहते कि खोज इंजन आपके मुखपृष्ठ को अनुक्रमित करे, आप सिर्फ इतना चाहते हैं कि वे समझें कि सभी परीक्षण URL, मूल URL के करीबी डुप्लिकेट या भिन्नताएं हैं और उन्हें मूल URL के साथ प्रामाणिक के रूप में समूहीकृत किया जाना चाहिए. ऐसी स्थिति में rel=“canonical” के बजाय noindex का उपयोग करने से अनपेक्षित बुरे प्रभाव हो सकते हैं.

302 रीडायरेक्ट का उपयोग करें, 301 रीडायरेक्ट का नहीं

अगर आप ऐसा A/B परीक्षण कर रहे हैं, जो उपयोगकर्ताओं को मूल URL से भिन्नता URL की ओर रीडायरेक्ट करता है, तो 302 (अस्थायी) रीडायरेक्ट का उपयोग करें, 301 (स्थायी) रीडायरेक्ट का नहीं. यह खोज इंजनों को बताता है कि यह रीडायरेक्ट अस्थायी है—यह केवल तब तक रहेगा जब तक आप परीक्षण कर रहे होंगे—और उन्हें रीडायरेक्ट (परीक्षण पेज) के लक्ष्य के बजाय मूल URL को ही अपनी अनुक्रमणिका में रखना चाहिए. JavaScript आधारित रीडायरेक्ट भी ठीक हैं.

प्रयोग को तब तक चलाएं, जब तक यह आवश्यक हो

विश्वसनीय परीक्षण के लिए लगने वाला समय आपकी रूपांतरण दरों और आपकी वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफ़िक जैसे कारकों पर निर्भर करेगा; एक अच्छे परीक्षण टूल को विश्वसनीय निष्कर्ष निकालने के लिए जरूरी पर्याप्त डेटा एकत्र हो जाने पर आपको सूचित करना चाहिए. परीक्षण पूरा कर लेने के बाद, आपको अपनी साइट को वांछित सामग्री भिन्नता(भिन्नतीएओं) से अपडेट कर देना चाहिए तथा परीक्षण के सभी तत्वों जैसे कि वैकल्पिक URL या परीक्षण स्क्रिप्ट और मार्कअप को जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी निकाल देना चाहिए. अगर हमें ऐसी किसी साइट का पता चलता है, जो अनावश्यक लंबे समय से प्रयोग चला रही हो, तो हम इसे खोज इंजन को धोखा देने की कोशिश मानकर उसके अनुसार कार्रवाई कर सकते हैं. ऐसा विशेष रूप से तब सही होता है, जब आप किसी एक सामग्री भिन्नरूप को अपने बहुत सारे उपयोगकर्ताओं को प्रदर्शित कर रहे हों.

परीक्षण के बारे में अधिक जानकारी

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?