मोबाइल पर काम करने वाला जांच टूल

आपके पास मोबाइल पर काम करने वाली वेबसाइट होना, आपकी ऑनलाइन मौजूदगी का एक ज़रूरी हिस्सा है. कई देशों में अब स्मार्ट फ़ोन ट्रैफ़िक, डेस्कटॉप ट्रैफ़िक से ज़्यादा हो गया है. अगर आपने अपनी वेबसाइट को मोबाइल पर काम करने लायक नहीं बनाया है, तो आपको बना लेना चाहिए. Search Console का मोबाइल पर काम करने वाला जांच टूल यह पता लगाने का एक तेज़ और आसान तरीका है कि आपकी साइट का कोई पेज मोबाइल पर काम करने लायक है या नहीं.

मोबाइल पर काम करने वाला जांच टूल खोलें

 

टूल इस्तेमाल करने का तरीका

मोबाइल पर काम करने वाला जांच टूल इस्तेमाल में आसान है; बस उस वेब पेज का पूरा यूआरएल लिखें जिसे आप जांचना करना चाहते हैं. पेज से दूसरे वेबलिंक पर भेजे जाने के बाद जांच शुरू हो जाएगी. आमतौर पर इस जांच में एक मिनट से कम समय लगता है.

किसी मोबाइल डिवाइस पर Google को पेज कैसा दिखाई देता है, इसका एक स्क्रीनशॉट जांच के नतीजों में शामिल होता है. साथ ही, इस जांच के ज़रिए मोबाइल के इस्तेमाल से जुड़ी जिन समस्याओं का पता लगाया जाता है, उन समस्याओं की सूची भी इन नतीजों का हिस्सा होती है. मोबाइल के इस्तेमाल से जुड़ी समस्याएं ऐसी समस्याएं हैं, जो किसी मोबाइल (छोटी स्क्रीन वाली) डिवाइस के ज़रिए पेज देखने वाले व्यक्ति को प्रभावित कर सकती हैं. इनमें छोटे फ़ॉन्ट आकार (जिन्हें किसी छोटी स्क्रीन पर पढ़ना मुश्किल होता है) और Flash (जो ज़्यादातर मोबाइल डिवाइस पर काम नहीं करता है) का इस्तेमाल करना शामिल है.

पेज को एक्सेस नहीं कर पाने पर होने वाली कार्रवाई

अगर किसी वजह से टूल किसी पेज का इस्तेमाल नहीं कर पाता है, तो वह समस्या के बारे में बताते हुए कोई गड़बड़ी दिखाएगा. इस्तेमाल से जुड़ी समस्याओं में नेटवर्क से जुड़ने की समस्याएं या साइट का ऑफ़लाइन होना शामिल हैं.

यह टूल, पेज को Googlebot के रूप में (यानी आपके क्रेडेंशियल का इस्तेमाल करने के बजाय Google के रूप में) एक्सेस करता है. इसका मतलब है कि इस पर robots.txt फ़ाइल के ज़रिए रोक लगाई जा सकती है.
पेज पर मौजूद संसाधन, लोड न हो पाने पर होने वाली कार्रवाई

अगर किसी पेज पर इस्तेमाल किए गए सभी संसाधन जाँच के दौरान लोड नहीं हो पाते हैं, तो आपको एक चेतावनी मिलेगी. पेज में शामिल की गई इमेज, CSS या स्क्रिप्ट फ़ाइल जैसी बाहरी चीज़ें, संसाधन कहलाती हैं. ऐसा कई वजहों से हो सकता है:

  • संसाधन उचित समय में लोड नहीं हो सकता था. ऐसा होने पर, टेस्ट को फिर से चलाने की कोशिश करें. अगर ऐसा लगातार होता है, तो संसाधन को कहीं और होस्ट करने पर विचार करें, या फिर होस्ट का जवाब नहीं मिलने की वजह ढूंढने और उसे ठीक करने की कोशिश करें.
  • जगह की दी गई सूची में संसाधन मौजूद नहीं है (404 गड़बड़ी). संसाधन यूआरएल को ठीक करें.
  • संसाधन ऐसे इस्तेमाल करने वालों की पहुंच से बाहर है, जिन्होंने लॉग इन नहीं किया है. टेस्ट, पेज तक एक अनजान इस्तेमाल करने वाले के रूप में पहुंचता है; यह पक्का कर लें कि सभी संसाधन अनजान इस्तेमाल करने वालों के लिए उपलब्ध हों.
  • robots.txt फ़ाइल के ज़रिए, संसाधन पर Googlebot के लिए रोक लगा दी गई है. अगर संसाधन ज़रूरी है (नीचे देखें) और अगर यह आपकी अपनी साइट पर मौजूद है, तो आपको Googlebot के लिए संसाधन पर लगी रोक हटा लेनी चाहिए; अगर यह किसी और साइट पर है, तो आप साइट के वेबमास्टर से संपर्क कर सकते हैं और इस पर लगी रोक हटाने के लिए कह सकते हैं.

ज़रूरी संसाधनों पर से रोक हटाने का तरीका

जिस संसाधन पर रोक लगाई गई है, अगर वह ज़रूरी है तो Google के पेज को समझने के तरीके पर बड़ा प्रभाव पड़ सकता है. उदाहरण के लिए, एक बड़ी इमेज जिस पर रोक लगाई गई है, किसी पेज को मोबाइल पर काम करने लायक नहीं होने के बावजूद उसे इसके लायक दिखा सकती है. इसके अलावा, एक CSS फ़ाइल जिस पर रोक लगाई गई है, उसकी वजह से कोई गलत स्टाइल लागू हो सकता है (जैसे किसी डिवाइस के लिए बहुत छोटा फ़ॉन्ट). यह मोबाइल के इस्तेमाल पर तो असर डालता ही है, साथ ही आपके पेज को क्रॉल करने की Google की क्षमता को भी प्रभावित करता है. आपको यह पक्का करना चाहिए कि robots.txt की वजह से Googlebot को ज़रूरी संसाधन (वेबपेज में लोड होने वाले सीएसएस या इमेज) क्रॉल करने से रोका न गया हो और ये संसाधन आम तौर पर इस्तेमाल किया जा सकें.

जाँच नतीजों में गड़बड़ी/पेज लोड होने में समस्याएं

अगर आप लोड न होने वाले संसाधन या पेज लोड होने में किसी दूसरी समस्या का सामना कर रहे हैं तो, आपको हर बार जाँच करने पर थोड़े अलग नतीजे दिखाई दे सकते हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हर बार जाँच करने पर लोड होने वाले संसाधन अलग हो सकते हैं. कोई बदलाव किए बिना अगर हर बार जाँच करने पर रेंडर होने वाला पेज अलग दिखाई देता है, तो देखें कि क्या "पेज लोड करने में समस्याएं" चेतावनी दिखाई दे रही है. अगर चेतावनी दिखाई दे रही है, तो उस पर क्लिक करके देखें कि किस वजह से पेज सही तरीके से और एक जैसा रेंडर नहीं हो पा रहा है.

मोबाइल के इस्तेमाल से जुड़ी गड़बड़ियां

मोबाइल पर काम करने वाला जांच टूल, मोबाइल के इस्तेमाल से जुड़ी गड़बड़ियों को पहचान सकता है:

गड़बड़ियों की सूची

पेज पर ऐसे प्लग-इन होना, जो कई ब्राउज़र पर नहीं चलते

पेज में Flash जैसे कुछ प्लग-इन शामिल हैं, जो ज़्यादातर मोबाइल ब्राउज़र पर काम नहीं करते हैं. हमारा सुझाव है कि आप एचटीएमएल5 जैसी नई और ज़्यादा कारगर वेब तकनीकों का इस्तेमाल करके अपना पेज फिर से डिज़ाइन करें. वेब ऐनिमेशन के दिशा-निर्देशों के बारे में ज़्यादा जानें.

व्यूपोर्ट सेट नहीं होना

आपके पेज पर viewport की प्रॉपर्टी पहले से सेट नहीं है. इसके ज़रिेए ब्राउज़र को बताया जाता है कि पेज की लंबाई-चौड़ाई और उसमें मौजूद चीज़ों के आकार में क्या बदलाव किए जाएं, ताकि पेज को स्क्रीन के आकार के हिसाब से सबसे अच्छी तरह दिखाया जा सके. आपकी साइट पर आने वाले लोग बड़े डेस्कटॉप मॉनीटर से लेकर टैबलेट और छोटे स्मार्टफ़ोन तक—अलग-अलग आकार की स्क्रीनों वाले तरह-तरह के डिवाइस इस्तेमाल करते हैं. इसलिए, आपके पेज के लिए meta viewport टैग का इस्तेमाल करके कोई व्यूपोर्ट तय किया जाना चाहिए. रिस्पॉन्सिव (बदलने वाले) वेब डिज़ाइन की सामान्य बातों के बारे में ज़्यादा जानें.

व्यूपोर्ट, "डिवाइस की चौड़ाई" के हिसाब से सेट नहीं होना

आपके पेज पर viewport की प्रॉपर्टी में चौड़ाई पहले से सेट है, जिसका मतलब है कि आपकी साइट के पेजों का आकार स्क्रीन के मुताबिक नहीं बदल सकता. इस गड़बड़ी को ठीक करने के लिए, अपनी साइट के पेजों के लिए स्क्रीन के मुताबिक बदलने वाले डिज़ाइन अपनाएं. साथ ही, व्यूपोर्ट को इस तरह सेट करें कि पेज की चौड़ाई को डिवाइस की चौड़ाई के बराबर करके, उसी के हिसाब से, पेज पर मौजूद चीज़ों के आकार में बदलाव करके दिखाया जाए. व्यूपोर्ट को सेट करने का तरीका पढ़ें.

स्क्रीन की तुलना में सामग्री ज़्यादा चौड़ी होना

यह रिपोर्ट उन पेजों के बारे में बताती है जहां पेज पर शब्दों और इमेज को देखने के लिए आगे-पीछे स्क्रोल करना ज़रूरी होता है. ऐसा तब होता है जब पेज CSS घोषणाओं में पूरे मानों का इस्तेमाल करते हैं, या एक खास चौड़ाई वाले ब्राउज़र (जैसे कि 980 पिक्सेल) में सबसे अच्छी तरह देखे जाने वाले इमेज का इस्तेमाल करते हैं. इस गड़बड़ी को ठीक करने के लिए, यह पक्का कर लें कि पेज CSS में मौजूद चीज़ों के लिए मिलती-जुलती चौड़ाई और जगह के मानों का इस्तेमाल करते हैं, और यह भी देखें कि इमेज को मापा जा सकता है. व्यूपोर्ट के मुताबिक सामग्री का आकार बदलने के बारे में ज़्यादा पढ़ें.

लेख के वर्ण इतने छोटे होना कि उन्हें पढ़ा न जा सके

यह रिपोर्ट ऐसे पेजों की पहचान करती है, जहां पेज पर इस्तेमाल किए गए फ़ॉन्ट का आकार पढ़े जाने के हिसाब से बहुत छोटा है और मोबाइल इस्तेमाल करने वालों को इसे पढ़ने के लिए “पिंच करके ज़ूम” करना होगा. अपने वेब पेजों के लिए एक व्यूपोर्ट बताने के बाद, अपने फ़ॉन्ट आकारों को व्यूपोर्ट के अंदर सही तरीके से मापने के लिए सेट करें. सही आकार के फ़ॉन्ट इस्तेमाल करने के सबसे अच्छे तरीकों के बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारा लेख पढ़ने लायक आकारों में फ़ॉन्ट इस्तेमाल करें देखें.

क्लिक की जाने वाली चीज़ों का एक दूसरे के बहुत पास होना

यह रिपोर्ट उन साइटों के यूआरएल दिखाती है, जहां छूकर इस्तेमाल की जाने वाली चीज़ें, जैसे कि बटन और नेविगेशन के लिंक, एक दूसरे के काफ़ी करीब हैं. इसकी वजह से मोबाइल इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति आस-पास की चीज़ों को टैप किए बिना, उंगली से अपनी पसंद की चीज़ को आसानी से टैप नहीं कर सकता है. इन गड़बड़ियों को ठीक करने के लिए, यह पक्का करें कि बटनों के आकार और उनके बीच की खाली जगह को सही ढंग से इस्तेमाल किया गया है और नेविगेशन लिंक आपके मोबाइल का इस्तेमाल करने वालों की सुविधा के मुताबिक हैं. टैप की जाने वाली जगहों को सही आकार दें में ज़्यादा पढ़ें.

अगले चरण

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
true
क्या आप Search Console पहली बार इस्तेमाल कर रहे हैं?

क्या आपने पहले कभी Search Console इस्तेमाल नहीं किया? चाहे आप इसे सीखना चाहते हों, एसईओ विशेषज्ञ हों या वेबसाइट डेवलपर हों, आप यहां से शुरुआत कर सकते हैं.

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
83844
false