वित्तीय सेवाएं

हम ऐसे ऐप्लिकेशन को अनुमति नहीं देते जो धोखा देने वाले या नुकसान पहुंचाने वाले फ़ाइनेंशियल प्रॉडक्ट और सेवाएं मुहैया कराते हैं.

इस नीति के तहत, हम पैसों और आभासी मुद्राओं के मैनेजमेंट या निवेश के काम को फ़ाइनेंशियल प्रॉडक्ट और सेवा मानते हैं. इसमें, इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति की ज़रूरतों के हिसाब से सुझाव देना भी शामिल है.

अगर आपके ऐप्लिकेशन में फ़ाइनेंशियल प्रॉडक्ट और सेवाएं शामिल हैं या ऐप्लिकेशन से इनका प्रमोशन किया जाता है, तो आपका ऐप्लिकेशन जिस इलाके या देश के लोगों को टारगेट कर रहा है उस इलाके या देश के स्थानीय कानूनों का आपको पालन करना होगा. उदाहरण के लिए, आपको स्थानीय कानून के मुताबिक ज़रूरी जानकारी ज़ाहिर करनी होगी.

अगर किसी ऐप्लिकेशन में फ़ाइनेंशियल फ़ीचर शामिल हैं, तो आपको Play Console में फ़ाइनेंशियल फ़ीचर के बारे में एलान वाला फ़ॉर्म भरना ज़रूरी है.

बाइनरी विकल्प

हम ऐसे ऐप्लिकेशन को मंज़ूरी नहीं देते जो उपयोगकर्ताओं को बाइनरी विकल्प का कारोबार करने की सुविधा देते हैं.

 

निजी क़र्ज़

हमारे हिसाब से, किसी व्यक्ति का किसी दूसरे व्यक्ति, संगठन या इकाई से पैसा उधार लेना निजी क़र्ज़ है. यह एक बार में लिया जाता है और इसका इस्तेमाल अचल संपत्ति खरीदने या पढ़ाई करने के लिए नहीं किया जाता. निजी क़र्ज़ लेने वालों को क़र्ज़ की क्वॉलिटी, सुविधाओं, शुल्क, पैसे लौटाने का शेड्यूल, जोखिमों, और उस क़र्ज़ से होने वाले फ़ायदों की जानकारी होनी चाहिए, ताकि वे क़र्ज़ लेने या न लेने के बारे में फ़ैसला ले सकें.

  • निजी क़र्ज़ के उदाहरण: निजी क़र्ज़, दिन के हिसाब से मिलने वाले क़र्ज़ (पेडे क़र्ज़), आपस में सीधे एक-दूसरे को दिए जाने वाले क़र्ज़ (पीयर-टू-पीयर लोन), गाड़ी को गिरवी रखकर मिलने वाले क़र्ज़ (टाइटल लोन)
  • ये निजी क़र्ज़ नहीं हैं: संपत्ति या घर गिरवी रखकर लिया जाने वाला क़र्ज़, कार के लिए लिया जाने वाला क़र्ज़, बैंक या वित्तीय संस्थानों की तय की गई सीमा के अंदर लिया जाने वाला क़र्ज़ (जैसे कि क्रेडिट कार्ड या पर्सनल लाइन ऑफ़ क्रेडिट)

निजी क़र्ज़ देने वाले ऐप्लिकेशन को Play Console में ऐप्लिकेशन कैटगरी के तौर पर “वित्तीय” सेट करना होगा. इनमें, वे ऐप्लिकेशन शामिल हैं जो सीधे तौर पर क़र्ज़ देते हैं, लीड जनरेट करते हैं, और ग्राहकों को क़र्ज़ देने वाले तीसरे पक्ष से मिलाते हैं. इनमें, ऊपर बताए गए उदाहरणों के अलावा, और अन्य तरह के ऐप्लिकेशन भी शामिल हो सकते हैं. इन ऐप्लिकेशन को मेटाडेटा में नीचे बताई गई जानकारी भी ज़ाहिर करनी होगी:

  • पैसे लौटाने के लिए तय की गई कम से कम और ज़्यादा से ज़्यादा अवधि
  • ब्याज की ज़्यादा से ज़्यादा सालाना दर (एपीआर), जिसमें आम तौर पर साल भर के लिए ब्याज की दर, शुल्क, और अन्य लागतें शामिल होती हैं या फिर जिसमें स्थानीय कानून के हिसाब से लगने वाली इसी तरह की अन्य दरें शामिल होती हैं
  • क़र्ज़ की कुल लागत का एक उदाहरण, जिसमें क़र्ज़ पर ली गई रकम और लागू होने वाले सभी शुल्क शामिल होंगे
  • ऐसी निजता नीति जिसमें वित्तीय सेवाओं से जुड़ी नीति में बताई गई पाबंदियों के हिसाब से, उपयोगकर्ता के निजी और संवेदनशील डेटा को ऐक्सेस करने, इकट्ठा करने, इस्तेमाल करने, और शेयर करने से जुड़ी जानकारी ज़ाहिर की गई हो

हम निजी क़र्ज़ का प्रमोशन करने वाले ऐसे ऐप्लिकेशन को अनुमति नहीं देते जो क़र्ज़ की पूरी रकम लौटाने के लिए, 60 दिनों या उससे कम समय की शर्त रखते हैं (इन्हें हम "कम अवधि वाले निजी क़र्ज़" कहते हैं).

इस नीति के अपवादोंं के तौर पर, उन देशों में निजी क़र्ज़ की सुविधा देने वाले ऐप्लिकेशन को अपवाद माना जाएगा जहां कुछ नियमों के तहत कम समय के लिए ऐसे क़र्ज़ देने की अनुमति हो. ऐसे कुछ मामलों में, अपवादों का आकलन मौजूदा देश के स्थानीय नियम और कानून के दिशा-निर्देशों के मुताबिक किया जाएगा.

निजी क़र्ज़ की सेवा देने की आपकी क्षमता की पुष्टि करने के लिए, आपने जो लाइसेंस या दस्तावेज़ दिए हैं उनके और आपके डेवलपर खाते के बीच संबंध, साफ़ तौर पर दिखना चाहिए. हम पक्का करेंगे कि आपका खाता, सभी स्थानीय नियमों और कानूनों के हिसाब से है या नहीं. इसके लिए, आपसे ज़्यादा जानकारी या दस्तावेज़ मांगे जा सकते हैं.

निजी क़र्ज़ देने वाले या निजी क़र्ज़ दिलाने में मुख्य रूप से सहायता करने वाले ऐप्लिकेशन (जैसे, लीड जनरेट करने वाले या सहायता करने वाले ऐप्लिकेशन) या लोन से जुड़े ऐक्सेसरी ऐप्लिकेशन (लोन कैलकुलेटर, लोन गाइड वगैरह) के लिए, फ़ोटो या संपर्क जैसी संवेदनशील जानकारी को ऐक्सेस करने पर पाबंदी लगी होती है. यहां दी गई अनुमतियों पर पाबंदी है:

  • Read_external_storage
  • Read_media_images
  • Read_contacts
  • Access_fine_location
  • Read_phone_numbers
  • Read_media_videos
  • Query_all_packages
  • Write_external_storage

संवेदनशील जानकारी या एपीआई का इस्तेमाल करने वाले ऐप्लिकेशन पर, अन्य ज़रूरी शर्तें और पाबंदियां लागू होती हैं. कृपया ज़्यादा जानकारी के लिए, अनुमतियों की नीति देखें.

ज़्यादा एपीआर वाले निजी क़र्ज़

हम अमेरिका में ऐसे ऐप्लिकेशन को निजी क़र्ज़ देने की मंज़ूरी नहीं देते जिनके ब्याज की सालाना दर (एपीआर) 36% या इससे ज़्यादा होती है. अमेरिका में निजी क़र्ज़ की सुविधा देने वाले ऐप्लिकेशन को, ट्रूथ इन लेंडिंग ऐक्ट (TILA) के तहत मैक्सिमम एपीआर दिखाना ज़रूरी है.

यह नीति उन ऐप्लिकेशन पर लागू होती है जो सीधे तौर पर क़र्ज़ की सुविधा देते हैं, लीड जनरेट करते हैं, और क़र्ज़ देने वाले तीसरे पक्ष के लोगों से ग्राहकों को मिलाते हैं.

देश के हिसाब से ज़रूरी शर्तें

सूची में शामिल देशों में निजी क़र्ज़ की सुविधा देने वाले ऐप्लिकेशन को अन्य ज़रूरी शर्तों को पूरा करना होगा. साथ ही, Play Console में अन्य ज़रूरी दस्तावेज़ भी जमा करने होंगे. ऐसा, वित्तीय सुविधाओं के एलान के तौर पर करना ज़रूरी है. Google Play के अनुरोध पर, आपको लागू होने वाले कानून और लाइसेंस की ज़रूरी शर्तों को पूरा करने से जुड़ी अन्य जानकारी या दस्तावेज़ उपलब्ध कराने होंगे.

  1. भारत
    • अगर आपको निजी क़र्ज़ की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने लाइसेंस दिया है, तो आपको अपने लाइसेंस की कॉपी सबमिट करनी होगी. हम उसकी जांच करेंगे.
    • अगर आप क़र्ज़ पर पैसे देने से जुड़ी गतिविधियों में सीधे तौर पर शामिल नहीं हैं और आपने सिर्फ़ एक ऐसा प्लैटफ़ॉर्म उपलब्ध कराया है जिसका इस्तेमाल करके, रजिस्ट्रेशन करा चुकी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (एनबीएफ़सी) या बैंक लोगों को क़र्ज़ पर पैसे दे सकते हैं, तो आपको एलान में साफ़ तौर पर इसके बारे में बताना होगा.
      • इसके अलावा, आपके ऐप्लिकेशन के ब्यौरे में, रजिस्टर की गई सभी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और बैंक के नाम साफ़ तौर पर ज़ाहिर किए जाने चाहिए.
  2. इंडोनेशिया
    • अगर आपका ऐप्लिकेशन, OJK के रेगुलेशन नंबर 77/POJK.01/2016 (इसमें समय-समय पर बदलाव भी हो सकता है) के मुताबिक, पैसे क़र्ज़ पर देने की इन्फ़ॉर्मेशन टेक्नोलॉजी आधारित सेवाओं से जुड़ी गतिविधि में शामिल है, तो आपको अपने मान्य लाइसेंस की एक कॉपी सबमिट करनी होगी. हम उसकी जांच करेंगे.
  3. फ़िलिपींस
    • ऑनलाइन लेंडिंग प्लैटफ़ॉर्म (ओएलपी) की मदद से क़र्ज़ देने वाली सभी फ़ाइनेंसिंग और क़र्ज़ देने वाली कंपनियों को, फ़िलिपींस सिक्योरिटी ऐंड एक्सचेंज कमीशन (पीएसईसी) से एसईसी रजिस्ट्रेशन नंबर और सर्टिफ़िकेट ऑफ अथॉरिटी (सीए) नंबर लेना होगा.
      • साथ ही, फ़ाइनेंसिंग/क़र्ज़ देने वाली कंपनी के तौर पर काम करने के लिए, आपको अपने ऐप्लिकेशन के ब्यौरे में कॉर्पोरेट नाम, कारोबार का नाम, पीएसईसी रजिस्ट्रेशन नंबर, और सर्टिफ़िकेट ऑफ़ अथॉरिटी के बारे में जानकारी देनी होगी.
    • कुछ ऐप्लिकेशन, क़र्ज़ के लिए चंदे के तौर पर पैसे जुटाने से जुड़ी गतिविधियों में शामिल होते हैं. इन गतिविधियों में, आपस में एक-दूसरे को क़र्ज़ देने की सुविधा (P2P) या चंदा जुटाने से जुड़ी गतिविधियों पर लागू होने वाले नियमों और कानूनों (चंदे से जुड़े नियम) के तहत परिभाषित गतिविधियां शामिल हैं. इन ऐप्लिकेशन के लिए ज़रूरी है कि वे लेन-देन को प्रोसेस करने के लिए, उन प्लैटफ़ॉर्म की मदद लें जो चंदे से जुड़ी गतिविधियों में मध्यस्थता करने वाले प्लैटफ़ॉर्म के तौर पर पीएसईसी में रजिस्टर हैं.
  4. नाइजीरिया
    • डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म पर क़र्ज़ देने की सुविधा उपलब्ध कराने वालों (डिजिटल मनी लेंडर यानी डीएमएल) को फ़ेडरल कॉम्पिटीशन ऐंड कंज़्यूमर प्रोटेक्शन कमीशन (एफ़सीसीपीसी) ऑफ़ नाइजीरिया की ओर से जारी किए गए, लिमिटेड इंटरिम रेगुलेटरी/ रजिस्ट्रेशन फ़्रेमवर्क ऐंड गाइडलाइन्स फ़ॉर डिजिटल लेंडिंग, 2022 (इसमें समय-समय पर बदलाव भी हो सकता है) के नियमों का पालन करना होगा और ज़रूरी शर्तों को भी पूरा करना होगा. साथ ही, एफ़सीसीपीसी से ऐसा अप्रूवल लेटर लेना होगा जिसकी पुष्टि की जा सके.
    • लोन एग्रीगेटर को, डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म पर क़र्ज़ देने की सेवाओं के लिए, ज़रूरी दस्तावेज़ और/या सर्टिफ़िकेट देना होगा. साथ ही, डीएमएल की सेवा देने वाले अपने हर एक पार्टनर की संपर्क जानकारी भी देनी होगी.
  5. केन्या
    • डिजिटल क्रेडिट प्रोवाइडर (डीसीपी) को, डीसीपी के रजिस्ट्रेशन से जुड़ी प्रक्रिया पूरी करनी होगी. साथ ही, सेंट्रल बैंक ऑफ़ केन्या (सीबीके) से लाइसेंस लेना होगा. आपको अपने एलान के तौर पर, सीबीके से मिले लाइसेंस की कॉपी देनी होगी.
    • अगर आप क़र्ज़ पर पैसे देने से जुड़ी गतिविधियों में सीधे तौर पर शामिल नहीं हैं और आपने सिर्फ़ एक ऐसा प्लैटफ़ॉर्म उपलब्ध कराया है जिसका इस्तेमाल करके, रजिस्ट्रेशन करा चुके डीसीपी क़र्ज़ दे सकते हैं, तो आपको एलान में साफ़ तौर पर इसके बारे में बताना होगा. साथ ही, आपको इसमें शामिल अपने पार्टनर के डीसीपी लाइसेंस की कॉपी भी उपलब्ध करानी होगी.
    • फ़िलहाल, हम सिर्फ़ उन संस्थाओं के एलानों और लाइसेंस को स्वीकार करते हैं जो सीबीके की आधिकारिक वेबसाइट पर, डिजिटल क्रेडिट प्रोवाइडर की डायरेक्ट्री में पब्लिश किए गए हैं.
  6. पाकिस्तान
    • क़र्ज़ देने वाली हर गैर-बैंकिंग फ़ाइनेंस कंपनी (एनबीएफ़सी), सिर्फ़ एक डिजिटल लेंडिंग ऐप्लिकेशन (डीएलए) पब्लिश कर सकती है. एक एनबीएफ़सी पर एक से ज़्यादा डीएलए पब्लिश करने की कोशिश करने वाले डेवलपर के डेवलपर खाते और उसके अन्य खातों को बंद किया जा सकता है.
    • पाकिस्तान में डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म पर क़र्ज़ की सेवा देने या इसके लिए सहायक के तौर पर काम करने के लिए, एसईसीपी से अनुमति मिलने का सबूत सबमिट करना होगा.
  7. थाईलैंड
    • थाईलैंड में, 15% या इससे ज़्यादा ब्याज दर पर निजी क़र्ज़ की सुविधा देने वाले ऐप्लिकेशन को बैंक ऑफ़ थाईलैंड (बीओटी) या वित्त मंत्रालय (एमओएफ़) से मान्य लाइसेंस लेना होगा. डेवलपर को ऐसे दस्तावेज़ जमा करने होंगे जिनसे यह पता चले कि उन्हें थाईलैंड में निजी क़र्ज़ देने या इसके लिए सहायक के तौर पर काम करने के लिए अनुमति मिली है. इसके लिए यह दस्तावेज़ देना होगा:
      • निजी क़र्ज़ देने वाले या नैनो फ़ाइनेंस ऑर्गनाइज़ेशन के तौर पर काम करने के लिए, बैंक ऑफ़ थाईलैंड से मिले लाइसेंस की कॉपी.
      • क़र्ज़ देने वाले पीको या पीको-प्लस ऑर्गनाइज़ेशन के तौर पर काम करने के लिए, वित्त मंत्रालय से मिले पीको-फ़ाइनेंस के कारोबार से जुड़े लाइसेंस की कॉपी.
आम तौर पर होने वाले उल्लंघनों के उदाहरण

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू