ऐसे डिवाइसों को देखना और उन पर पाबंदी लगाना जिन पर आपका ऐप्लिकेशन काम करता है

अपने Play Console में कम से कम एक APK अपलोड करने के बाद, उपलब्ध डिवाइसों की सूची देखी जा सकती है. इस सूची में यह देखा जा सकता है कि आपका ऐप्लिकेशन किन डिवाइसों पर काम करता है. ऐप्लिकेशन ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को उपलब्ध हो, यह पक्का करने के लिए आप इस सूची को नियमित तौर पर देखें. इससे आपको पता चलता रहेगा कि आपका ऐप्लिकेशन किन डिवाइसों के साथ काम कर रहा है और किनके साथ नहीं.

ध्यान रखें कि डिवाइस सूची का इस्तेमाल, इंस्टैंट ऐप्लिकेशन के लिए नहीं किया जा सकता.

आपका ऐप्लिकेशन किन डिवाइसों के साथ काम करता है, इसके बारे में जानना

आपका ऐप्लिकेशन किन डिवाइसों पर काम करता है और किन पर नहीं, इसके बारे में पता लगाने के लिए:

  1. Play Console में साइन इन करें.
  2. कोई ऐप्लिकेशन चुनें.
  3. बाएं मेन्यू में, रिलीज़ मैनेजमेंट > डिवाइस सूची पर क्लिक करें.
    • अगर आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है, तो सेवा की शर्तों को पढ़ें और उन्हें स्वीकार करें.
  4. सभी, काम करने वाले या बाहर निकाले गए टैब चुनें.
    • डिवाइस की सूची को CSV फ़ाइल के रूप में डाउनलोड करने के लिए, पेज के दाईं तरफ़ मौजूद, डिवाइस सूची डाउनलोड करें पर क्लिक करें.

सेवा की शर्तों की जानकारी

डिवाइस सूची और उसकी सुविधाओं को ऐक्सेस करने के लिए, सेवा की शर्तों की समीक्षा करके उन्हें स्वीकार करें. नई शर्तें स्वीकार करने के लिए आपको खाते का मालिक या ऐसा उपयोगकर्ता होना चाहिए जिसके पास वैश्विक "मैनेज्ड प्रॉडक्शन रिलीज़" की अनुमति हो. अपने खाते में एक ऐप्लिकेशन की शर्तें स्वीकार कर लेने पर, आप अपने सभी ऐप्लिकेशन के लिए डिवाइस सूची का इस्तेमाल जारी रख सकेंगे.

अगर सेवा की शर्तें स्वीकार नहीं की जाती हैं, तो:

  • डिवाइस सूची को ऐक्सेस नहीं किया जा सकेगा.
  • डिवाइस को डिस्ट्रिब्यूशन से बाहर नहीं रखा जा सकेगा.

डिवाइस सूची का फ़ॉर्मैट

अपने ऐप्लिकेशन की डिवाइस सूची देखते समय यह ध्यान में रखें कि एक डिवाइस के बहुत से मॉडल हो सकते हैं. मिलते-जुलते मॉडल एक ही डिवाइस नाम के साथ ग्रुप किए जाएंगे और हर मॉडल के लिए, अलग से ज़्यादा से ज़्यादा डिस्ट्रिब्यूशन दिए जा सकते हैं.

डिवाइस बनाने वाली कंपनी या डिवाइस की विशेषताओं के आधार पर, सूची को क्रम से लगाना या फ़िल्टर करना

आपको डिवाइस बनाने वाली कंपनी के आधार पर, क्रम से लगाई गई अपनी डिवाइस सूची दिखेगी. नीचे दिए गए तरीकों से भी अपनी सूची देखी जा सकती है:

  • डिवाइस बनाने वाली कंपनी के जिन डिवाइसों पर आपका ऐप्लिकेशन काम करता है उन्हें देखने के लिए: कंपनी के नाम के आगे, और डिवाइस दिखाएं पर क्लिक करें.
  • डिवाइस बनाने वाली कंपनी, डिज़ाइन के नाम या सार्वजनिक डिवाइस के नाम (उदाहरण: Nexus 6) के आधार पर अलग-अलग डिवाइस खोजने के लिए: पेज के सबसे ऊपर, खोज बार का इस्तेमाल करें.

डिवाइस और मॉडल की स्थिति

सहायता की स्थिति से जुड़ी जानकारी

आपको अपने ऐप्लिकेशन से जुड़े सभी चालू APK के लिए, सहायता की स्थिति से जुड़ी जानकारी दिखेगी. 

ऐसा हो सकता है कि आपने अलग-अलग ट्रैक (प्रोडक्शन, ऐल्फ़ा, बीटा, संगठन में काम करने वालों के लिए उपलब्ध जांच) पर, अलग-अलग APK रिलीज़ किया हो, इसलिए आपको हर ट्रैक की स्थिति भी दिखेगी. उदाहरण के लिए, अगर आपके ऐप्लिकेशन के बीटा वर्शन को प्रोडक्शन वर्शन से ज़्यादा सुविधाओं की ज़रूरत है, तो आप देख सकते हैं कि कोई डिवाइस प्रोडक्शन में काम करता है, लेकिन बीटा में नहीं. 

किन डिवाइसों पर काम करता है

आपका ऐप्लिकेशन किस डिवाइस के साथ काम करता है.

ऐप्लिकेशन का कुछ हिस्सा काम करता है

अगर किसी डिवाइस के बहुत से मॉडल हैं, तो आपको यह स्थिति सिर्फ़ तब दिखेगी, जब आपके ऐप्लिकेशन के मेनिफ़ेस्ट की शर्तों के हिसाब से, सिर्फ़ कुछ मॉडल काम करते होंगे. 

किन डिवाइसों पर काम नहीं करता है

आपके ऐप्लिकेशन में ऐसी विशेषता या प्रॉपर्टी (उदाहरण, स्क्रीन का आकार, SDK लेवल वगैरह) शामिल है जो डिवाइस पर उपलब्ध नहीं है. उदाहरण के लिए, हो सकता है कि कुछ डिवाइसों में कंपास सेंसर मौजूद नहीं हो. अगर आपके ऐप्लिकेशन के मुख्य फ़ंक्शन के लिए कंपास सेंसर का इस्तेमाल करना ज़रूरी हो, तो आपका ऐप्लिकेशन उन डिवाइसों के साथ काम नहीं करता है.

आपको यह स्थिति तब दिखेगी, जब किसी डिवाइस के सभी मॉडल ऐप्लिकेशन के साथ काम नहीं करते हैं. अगर ऐप्लिकेशन डिवाइस के कुछ मॉडल पर काम करता है, तो आपको स्थिति में, "कुछ सुविधाओं के लिए काम करता है" दिखेगी.

वह स्थिति जिसमें आपके ऐप्लिकेशन को डिवाइस पर उपलब्ध नहीं कराया गया है

डिवाइस सूची में किसी डिवाइस मॉडल को शामिल न करने पर, आपको उस मॉडल के लिए, शामिल न करने की स्थिति दिखेगी. डिवाइस को शामिल न करना हर रिलीज़ या ट्रैक के बजाय हर ऐप्लिकेशन के हिसाब से मैनेज किया जाता है.

शामिल नहीं किए गए

सूची में मौजूद ऐसे डिवाइस जिन्हें आपने नियम के अनुसार या मैन्युअल रूप से शामिल नहीं किया है.

ऐसे डिवाइस जिन पर आपके ऐप्लिकेशन का कुछ हिस्सा उपलब्ध नहीं कराया गया है

अगर किसी डिवाइस के बहुत से मॉडल हैं, तो यह स्थिति सिर्फ़ तब दिखेगी, जब अपने ऐप्लिकेशन को इस्तेमाल करने के लिए, किसी डिवाइस के कुछ मॉडल को शामिल नहीं किया जाता. 

ऐसे डिवाइस जिन्हें सर्टिफ़ाइड नहीं किया गया है

अगर कोई डिवाइस सर्टिफ़ाइड नहीं किया गया है, तो इसका मतलब है कि Google ने डिवाइस को सर्टिफ़िकेट नहीं दिया है. साथ ही, Google के पास टेस्ट के ऐसे नतीजों का कोई रिकॉर्ड नहीं है जिनसे पता चल सके कि आपका डिवाइस Android पर काम करता है या नहीं.

कृपया यह ध्यान रखें कि:

  • बिना सर्टिफ़िकेट वाले डिवाइस नुकसानदेह हो सकते हैं.
  • हो सकता है कि बिना सर्टिफ़िकेट वाले डिवाइस को Android के सिस्टम अपडेट या ऐप्लिकेशन अपडेट नहीं मिल पाएं.
  • हो सकता है कि बिना सर्टिफ़िकेट वाले डिवाइस पर ऐप्लिकेशन और विशेषताएं ठीक से काम नहीं करें.
  • हो सकता है कि बिना सर्टिफ़िकेट वाले डिवाइस पर सुरक्षित रूप से डेटा का बैक अप नहीं लिया जा सके.

ऐप्लिकेशन के साथ काम करने से जुड़ी सलाह

  • आपके ऐप्लिकेशन की डिवाइस के साथ काम करने से जुड़ी सूची, मेनिफ़ेस्ट फ़ाइल की सेटिंग के मुताबिक होती है और इसे समय-समय पर अपडेट किया जाता है.
  • उदाहरण के लिए, अगर आपके APK की मेनिफ़ेस्ट फ़ाइल बड़ा स्क्रीन साइज़ बताती है, तो काम करने वाले डिवाइस की सूची में ज़रूरी स्क्रीन साइज़ वाले वे डिवाइस शामिल होंगे जिन्हें आपका ऐप्लिकेशन Google Play पर ऐक्सेस कर सकता है.
  • आपके ऐप्लिकेशन के मूल्य निर्धारण और वितरण पेज पर दी गई सूची में शामिल देशों से, आपके ऐप्लिकेशन के साथ काम करने वाले डिवाइसों की सूची पर असर नहीं पड़ता.

डिवाइस का जानकारी देखना

डिवाइस सूची पेज पर ज़रूरत का डेटा वाला डिवाइस चुनने पर, यह जानकारी दिखेगी:

  • चालू डिवाइसों पर किए गए इंस्टॉल (पिछले 30 दिन)
  • सारी रेटिंग का औसत
  • आय (पिछले 30 दिन)
  • तकनीकी विशेषताएं जैसे कि स्क्रीन का साइज़, डिवाइस का नाप या साइज़, चिप पर सिस्टम (SoC), रैम, सीपीयू, एबीआई, जीपीयू और SDK टूल

ध्यान दें:

  • डिवाइस की विशेषताएं, डिवाइस बनाने वाली कंपनी की ओर से दी जाती हैं और उनकी पुष्टि नहीं की जाती है.
  • Google के पास ऐसे कुछ डिवाइसों के बारे में बहुत कम डेटा है जो Google की पुष्टि करने की प्रक्रिया से नहीं गुज़रे हैं. इनमें से कुछ डिवाइस सूची में शामिल नहीं होंगे, लेकिन अब भी उन डिवाइसों पर उपयोगकर्ताओं को देखा जा सकता है.

अपने ऐप्लिकेशन को कुछ डिवाइसों के लिए उपलब्ध न करना

जिन डिवाइसों पर ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराना है उनकी सूची, आपके हाल ही में अपलोड किए गए APK के मुताबिक होती है. अगर किसी अलग मेनिफ़ेस्ट वाली फ़ाइल की मदद से, नया APK अपलोड किया जाता है, तो यह सूची बदल जाएगी.

ध्यान दें: किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध न कराने के नियम, जांच से जुड़े संगठन में काम करने वाले लोगों पर लागू नहीं होते हैं. 

हर ऐप्लिकेशन के हिसाब से, उन डिवाइसों को मैनेज करना जिन पर आपको अपने ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराना हैं

ऐप्लिकेशन बंद होने से बचने के लिए, अपने ऐप्लिकेशन को Google Play पर अलग-अलग डिवाइसों पर उपलब्ध होने से रोका जा सकता है. मैन्युअल रूप से यह बदलाव करने से आपका पूरा ऐप्लिकेशन बाहर हो जाता है— अलग-अलग APKs नहीं निकाले जा सकते.

जो डिवाइस ऐप्लिकेशन के साथ काम नहीं करते हैं उन्हें मैन्युअल रूप से सूची में शामिल न करके, अपने उपयोगकर्ताओं को बेहतर अनुभव दिया जा सकता है.

किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराना

  1. Play Console में साइन इन करें.
  2. कोई ऐप्लिकेशन चुनें.
  3. बाएं मेन्यू से, रिलीज़ मैनेजमेंट > डिवाइस सूची चुनें.
  4. कोई डिवाइस चुनें.
  5. स्क्रीन पर सबसे नीचे, शामिल न करें को चुनें.

एक से ज़्यादा मॉडल वाले किसी डिवाइस के लिए, सूची में कुछ मॉडल शामिल न करना

  1. Play Console में साइन इन करें.
  2. कोई ऐप्लिकेशन चुनें.
  3. बाएं मेन्यू से, रिलीज़ मैनेजमेंट > डिवाइस सूची चुनें.
    • अगर आपका ऐप्लिकेशन अभी तक प्रकाशित नहीं हुआ है, तो डिवाइस सूची चुनें.
  4. कोई डिवाइस चुनें. कई मॉडल वाले डिवाइस लेबल किए गए हैं.
  5. किसी डिवाइस के सभी मॉडल पर, अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने के लिए, सबसे ऊपर दाएं कोने में जाएं और किसी डिवाइस के सभी मॉडल पर, ऐप्लिकेशन को उपलब्ध न कराएं चुनें.
    • दूसरे मॉडल, पहले मॉडल की जानकारी के तहत सूची में शामिल होते हैं. सभी दूसरे मॉडल की जानकारी देखने के लिए, स्क्रीन के दाईं ओर जाएं और डाउन ऐरो ड्रॉप-डाउन तीरचुनें.
    • डिवाइस के एक मॉडल को बाहर निकालने के लिए, किसी मॉडल के विवरण के निचले दाएं कोने पर जाएं और बाहर निकालें चुनें.

नोट: डिवाइस बनाने वाली किसी एक कंपनी के बनाए सभी डिवाइसों से अपना ऐप्लिकेशन बाहर निकालने के लिए, आपको एक समय में एक डिवाइस को बाहर निकालना होगा.

परफ़ॉर्मेंस इंडिकेटर की मदद से, उन डिवाइसों को मैनेज करना जिन पर आपको ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराना है

अगर आपको परफ़ॉर्मेंस इंडिकेटर की मदद से, डिवाइसों पर अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराना है, तो रैम की मेमोरी या चिप पर सिस्टम (SoC) के हिसाब से, टारगेट किए जाने वाले नियम बनाएं. 

टारगेट किए जाने वाले नियम, सूची में जोड़े गए उन सभी नए डिवाइसों पर अपने-आप लागू हो जाते हैं जो शामिल न किए जाने की शर्तों को पूरा करते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपका ऐप्लिकेशन डिवाइस में बहुत ज़्यादा मेमोरी लेता, तो 512 एमबी मेमोरी से कम रैम वाले डिवाइसों पर अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराने के लिए, नियम सेट अप किए जा सकते हैं.

ध्यान दें: रैम के नियम सिर्फ़ SDK 16+ वाले डिवाइसों पर काम करते हैं और Google APK के Wear OS पर लागू नहीं होते. रैम से जुड़े नियम, डिवाइस में मौजूद मेमोरी (TotalMem) के हिसाब से तय किए जाते हैं, ब्रैंड में बताई गई मेमोरी के मुताबिक नहीं.

नियम सेट अप करना

  1. Play Console में साइन इन करें.
  2. कोई ऐप्लिकेशन चुनें.
  3. बाएं मेन्यू पर, डिवाइस सूची चुनें.
    • अगर आपका ऐप्लिकेशन प्रकाशित है, तो रिलीज प्रबंधन > डिवाइस सूची चुनें.
  4. "ऐसे डिवाइस जिन पर आप अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराना चाहते हैं" टैब चुनें.
  5. "किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने से जुड़े नियम" के आगे, किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने से जुड़े नियम मैनेज करें चुनें. 

  6. "उन डिवाइसों पर अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध न कराना जो आगे दी गई किसी बात से मेल नहीं खाते हैं" में जाकर, ड्रॉप-डाउन चुनें.
  7. रैम या चिप पर सिस्टम चुनें.
    • कई सारे नियम जोड़ने के लिए, या बटन चुनें. दूसरा चुनने वाला दिखेगा.
    • किसी नियम को हटाने के लिए, 'रद्द करें' आइकॉन चुनें.
    • SafetyNet को शामिल न करने से जुड़ी ज़्यादा जानकारी पाने के लिए, Android डेवलपर की साइट पर जाएं.
  8. अपनी स्क्रीन के सबसे नीचे दिखाई देने वाली डिवाइस सूची पर नज़र डालें.
  9. आपका नियम सही डिवाइस सूची पर टारगेट हो जाने के बाद, अपने बदलाव सेव करें.
आपका ऐप्लिकेशन Android पर काम करता है या नहीं, इसके हिसाब से उन डिवाइसों को मैनेज करना जिन पर आपका ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं है

आपका ऐप्लिकेशन SafetyNet की सेवाओं और Android Oreo (Go वर्शन) पर काम करता है या नहीं, इसके हिसाब से आप कुछ डिवाइसों पर, अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध होने से रोक सकते हैं.

SafetyNet की जानकारी

SafetyNet आपको यह आकलन करने में मदद करता है कि जिन Android डिवाइसों पर आपका ऐप्लिकेशन उपलब्ध कराया जा रहा है उन पर आपका ऐप्लिकेशन सुरक्षा से जुड़ी ज़रूरी शर्तों को पूरा करता है या नहीं. साथ ही, इन Android डिवाइसों पर काम करता है या नहीं. SafetyNet उस डिवाइस की प्रोफ़ाइल बनाने के लिए, सॉफ़्टवेयर और हार्डवेयर की जानकारी की जांच भी करता है. इसके बाद, SafetyNet की सेवा, डिवाइस के मॉडल की सूची में से इस प्रोफ़ाइल वाले मॉडल को ढूंढने की कोशिश करती है. इस सूची में डिवाइस के उन मॉडल की जानकारी होती है जो Android के साथ काम करने के लिए होने वाली ज़रूरी जांच पर खरे उतरते हैं. इस काम को करने के लिए SafetyNet की सेवा, इस सूची का इस्तेमाल करती है.

Android Oreo (Go वर्शन) की जानकारी

Android Oreo (Go वर्शन), Android 8.1 (API (एपीआई लेवल 27) और 1 जीबी या उससे कम मेमोरी वाले रैम या उससे नए वर्शन पर चल रहे कम सुविधाओं वाले सस्ते डिवाइस पर, Android के अनुभव को ऑप्टिमाइज़ करता है. Android (Go वर्शन) चला रहे डिवाइसों के लिए अपने ऐप्लिकेशन ऑप्टिमाइज़ करने का तरीका जानें.

SafetyNet या Android (Go वर्शन) के लिए, अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध न कराने के नियम सेट अप करना

  1. Play Console में साइन इन करें.
  2. कोई ऐप्लिकेशन चुनें.
  3. बाएं मेन्यू पर, डिवाइस सूची चुनें.
  4. "ऐसे डिवाइस जिन पर आप अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध नहीं कराना चाहते हैं" टैब चुनें.
  5. "किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने से जुड़े नियम" के आगे, किसी डिवाइस पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने से जुड़े नियम मैनेज करें चुनें. 

  6. “SafetyNet पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराना” या “Android Go पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराना” के आगे दिया गया कोई विकल्प चुनें:
    • ​​SafetyNet पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराना
      • SafetyNet को प्रमाणित करने वाले एपीआई के हिसाब से, डिवाइसों पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने का काम न करें: डिफ़ॉल्ट तौर पर चुना हुआ.
      • केवल ऐसे डिवाइस शामिल न करें जो बुनियादी अखंडता का पालन नहीं करते हैं: इससे आपको यह तय करने में सहायता मिलती है कि क्या किसी खास डिवाइस में छेड़छाड़ की गई है या उसे किसी दूसरे तरीके से बदला गया है.
      • उन डिवाइसों पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध न कराएं जो बुनियादी सुरक्षा की सुविधा भी न दे पाते हों. साथ ही, उन डिवाइसों पर भी जिन्हें Google की ओर से प्रमाणित नहीं किया गया है: इससे आपको यह तय करने में सहायता मिलती है कि क्या किसी खास डिवाइस में छेड़छाड़ की गई है, उसमें बदलाव किया गया है या उसे Google ने प्रमाणित नहीं किया है.
    • Android Go पर अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं करना
      • Android Go के डिवाइसों पर, अपने ऐप्लिकेशन को उपलब्ध नहीं कराने का काम न करें: डिफ़ॉल्ट तौर पर चुना हुआ.
      • Android Go डिवाइस शामिल न करें: Android Oreo (Go वर्शन) से चलने वाले डिवाइसों को, Google Play पर अपना ऐप्लिकेशन इंस्टॉल करने से रोकें.

नोट:

  • SafetyNet और Android Go शामिल नहीं करने से आपके ऐप्लिकेशन की उपलब्धता सिर्फ़ Google Play तक सीमित हो जाती है. अगर SafetyNet और Android Go के पास आपके ऐप्लिकेशन की APK फ़ाइल का ऐक्सेस है, तो उपयोगकर्ता अब भी आपके ऐप्लिकेशन को सीधे इंस्टॉल कर सकते हैं.
  • SafetyNet की सेवाओं का इस्तेमाल करके, ऐप्लिकेशन के गलत इस्तेमाल किए जाने से जुड़ी ज़्यादा सुरक्षा पाने के लिए, अपने ऐप्लिकेशन में SafetyNet को प्रमाणित करने वाला एपीआई को जोड़ सकते हैं. आप गैर-फ़िज़िकल डिवाइसों (जैसे कि एम्युलेटर) और रूट किए गए सिस्टम चला रहे डिवाइसों पर अपना ऐप्लिकेशन उपलब्ध न कराएं. ऐसा करने के लिए, आप SafetyNet एक्सक्लूज़न की बुनियादी सुरक्षा देने वाली सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

true
खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
92637
false