ऑटोमैटिक प्लेसमेंट (विज्ञापन के लिए अपने-आप सही जगह ढूंढने वाली सुविधा): परिभाषा

Google Ads की रिपोर्टिंग में इस्तेमाल किया जाने वाला एक शब्द, जो Display Network के उन वेबपेजों, वीडियो, और ऐप्लिकेशन को दिखाता है जहां आपके विज्ञापन आपकी चुनी हुई टारगेटिंग (विज्ञापन के लिए सही दर्शक चुनना) के आधार पर अपने-आप दिखते हैं. आप अपने विज्ञापनों में वेबपेजों, वीडियो, और ऐप्लिकेशन जैसे प्लेसमेंट को अलग-अलग टारगेट कर सकते हैं. ऑटोमैटिक प्लेसमेंट, आपके विज्ञापनों को आपके टारगेट करने के दूसरे तरीकों, जैसे कि कीवर्ड या विषयों के आधार पर जगह देने का नतीजा होता है.

यहां ऑटोमैटिक प्लेसमेंट के काम करने का तरीका बताया गया है

  • अगर आप इस तरह का कैंपेन इस्तेमाल करते हैं जो सिर्फ़ Display Network पर चलता है और अगर आप उन कैंपेन में ‘चुने गए प्लेसमेंट‘ के अलावा, टारगेट करने के किसी दूसरे तरीके का भी इस्तेमाल करते हैं, तो आपके विज्ञापन Display Network वेबसाइटों पर अपने-आप दिखाई दे सकते हैं. ये Google Ads में आपके “प्लेसमेंट” पेज पर आंकड़ों की टेबल में ऑटोमैटिक प्लेसमेंट के रूप में दिखाई देंगे.
  • अगर आप ऑटोमैटिक प्लेसमेंट में अपने विज्ञापन नहीं दिखाना चाहते हैं, तो आप खास तौर से प्लेसमेंट टारगेटिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं. अपने विज्ञापन ग्रुप में प्लेसमेंट जोड़ें, ताकि आपके विज्ञापन सिर्फ़ आपकी चुनी वेबसाइटों पर ही दिखें.

उदाहरण

अगर आप अपने विज्ञापन ग्रुप में टारगेटिंग के लिए कीवर्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो हम अन्य कारकों के साथ-साथ, आपकी कीवर्ड सूची के आधार पर प्रासंगिक प्लेसमेंट से, आपके विज्ञापनों का मिलान करने का प्रयास करेंगे. उदाहरण के लिए, अगर आपके पास पुरुषों के जूतों से मिलते-जुलते कीवर्ड वाला कोई विज्ञापन ग्रुप है, तो आपके उस विज्ञापन ग्रुप के विज्ञापनों को जूतों से संबंधित वेबपेज पर दिखाया जा सकता है. वे वेबसाइटें, Google Ads में आपके “प्लेसमेंट” पेज पर आंकड़े की टेबल में, ऑटोमैटिक प्लेसमेंट के रूप में दिखाई देंगी.

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके