क्रॉस-नेटवर्क एट्रिब्यूशन के बारे में जानकारी

उपभोक्ता को समझना आसान नहीं है. इसके लिए, मार्केटर को ऐसे टूल की ज़रूरत होती है जिससे वे यह जान सकें कि अलग-अलग नेटवर्क, कैंपेन, और विज्ञापन मिलकर कन्वर्ज़न कैसे दिलाते हैं. YouTube और Google Display Network कैंपेन, अक्सर कन्वर्ज़न पाथ में सहायक की भूमिका निभाते हैं, लेकिन ये भूमिकाएं ऐसे Google Ads "कैंपेन" के पेज पर नहीं दिखतीं जो डिफ़ॉल्ट तौर पर लास्ट क्लिक मॉडल का इस्तेमाल करते हैं. ये अहम जानकारी पाने में मार्केटर की मदद के लिए, YouTube और Google Display Network विज्ञापन के जुड़ाव को अब एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में इंटिग्रेट कर दिया गया है. साथ ही, शर्तें पूरी करने वाले खातों के लिए, नॉन-लास्ट क्लिक एट्रिब्यूशन मॉडल में भी इंटिग्रेट कर दिया गया है.

आप "डाइमेंशन" ड्रॉप-डाउन मेन्यू में नेटवर्क चुनकर, इन रिपोर्ट में YouTube और Google Display Network विज्ञापन की यूज़र ऐक्टिविटी देख सकते हैं.

एट्रिब्यूशन रिपोर्ट के बारे में ज़्यादा जानें.

फ़ायदे

एट्रिब्यूशन रिपोर्ट:

  • इनमें आप यह देख सकते हैं कि कन्वर्ज़न बढ़ाने के लिए, Search Network, YouTube, और Google Display Network के कैंपेन कैसे एक साथ मिलकर काम करते हैं
  • इनमें आप, कन्वर्ज़न पाने के पाथ में प्रॉडक्ट को मिले क्लिक, YouTube पर मिले क्लिक और वीडियो से जुड़ाव, और Display पर मिले क्लिक देख सकते हैं
  • इनमें कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस के बारे में अहम जानकारी मिलती है
  • इनमें कौनसे कैंपेन और नेटवर्क से कन्वर्ज़न मिल रहे हैं, यह देखकर आप tCPA या बजट सेटिंग जान सकते हैं

ज़रूरी शर्तें

क्रॉस-नेटवर्क के पाथ दिखने के लिए, आपको:

  • Google Search Network और YouTube या Google Display Network पर विज्ञापन देना होगा
    ध्यान दें: अगर आपके पास अलग-अलग Google Ads खाते हैं जो Search Network, YouTube, और Google Display Network पर ट्रैफ़िक को एक ही वेबसाइट पर एक ही मकसद (जैसे कि लेन-देन) के लिए ले जाते हैं, तो कई खातों में होने वाले कन्वर्ज़न को ट्रैक करने की सुविधा इस्तेमाल करना न भूलें. इसके लिए, मैनेजर खाता (एमसीसी) होना ज़रूरी है.
  • Google Ads कन्वर्ज़न ट्रैकिंग का इस्तेमाल करना होगा
    ध्यान दें: Google Analytics के लक्ष्यों/कन्वर्ज़न और ऑफ़लाइन कन्वर्ज़न ट्रैकिंग से कुछ YouTube जुड़ाव नहीं मेज़र किए जा सकते. ये कन्वर्ज़न टाइप सिर्फ़ Search Network और YouTube क्लिक में पाथ दिखाएंगे.

कई खातों में होने वाले कन्वर्ज़न को ट्रैक करने के लिए सबसे सही तरीके

एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में क्रॉस-नेटवर्क गतिविधि दिखाने के लिए, आपको Search Network, YouTube, और Google Display Network के कैंपेन में, Google Ads की कन्वर्ज़न ट्रैकिंग सुविधा इस्तेमाल करनी होगी. अगर आप कई खातों में होने वाले कन्वर्ज़न को ट्रैक करने की सुविधा का इस्तेमाल करते हैं, तो पक्का करें कि अलग-अलग खातों के Search Network, YouTube, और Google Display Network कैंपेन, मैनेजर खाते (एमसीसी) के लेवल के मुताबिक कन्वर्ज़न ट्रैक करते हों.

Google Ads में खाते का मैप सुविधा का इस्तेमाल करके पुष्टि करें कि आपका खाता सही तरीके से क्रॉस-नेटवर्क रिपोर्टिंग दिखाने के लिए सेट अप किया गया है.

कई खातों में होने वाले कन्वर्ज़न की ट्रैकिंग के सेट अप की जांच करने का तरीका यहां बताया गया है:

  1. Google Ads खाते में साइन इन करें.
  2. सबसे ऊपर दाएं कोने में, टूल आइकॉन Google Ads | टूल [आइकॉन] पर क्लिक करें.
  3. "सेट अप करें" में जाकर, खाते का मैप चुनें.
  4. नेविगेशन मेन्यू में, कन्वर्ज़न ट्रैकिंग पैरंट पर क्लिक करके देखें कि किन खातों में, मैनेजर-लेवल के हिसाब से कन्वर्ज़न ट्रैकिंग की जाती है.
  5. अगर किसी खाते के बगल में सही का निशान नहीं दिखता, तो वह खाता, खाते के लेवल के हिसाब से कन्वर्ज़न ट्रैकिंग का इस्तेमाल करता है. साथ ही, क्रॉस-नेटवर्क एट्रिब्यूशन की रिपोर्ट में उन खातों का कोई भी कन्वर्ज़न और कैंपेन डेटा नहीं दिखेगा. एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में सभी ज़रूरी जानकारी शामिल हो, यह पक्का करने के लिए कई खातों में होने वाले कन्वर्ज़न को ट्रैक करना सेट अप करें.

इसके बाद क्या होगा

अपने एट्रिब्यूशन मॉडल में अपडेट की तरह ही, जब आप सिर्फ़-Search Network एट्रिब्यूशन मॉडल से क्रॉस-नेटवर्क (Search Network, YouTube, और Google Display Network) एट्रिब्यूशन मॉडल पर जाते हैं, तो आपको "कैंपेन" रिपोर्टिंग में कुछ बदलाव दिख सकते हैं:

  • क्रेडिट में हिस्सा किसी खास कन्वर्ज़न का क्रेडिट, आपके चुने गए एट्रिब्यूशन मॉडल के हिसाब से, उन सभी विज्ञापन इंटरैक्शन के बीच बांटा जाता है जो कन्वर्ज़न में योगदान देते हैं. इस वजह से, जब आप नॉन-लास्ट क्लिक मॉडल पर स्विच करते हैं, तब आपको कुछ कैंपेन और नेटवर्क टाइप के लिए पहली बार, "कन्वर्ज़न" और "सभी कन्वर्ज़न" कॉलम में दशमलव दिखेंगे.
  • समय का अंतर: Google Ads, विज्ञापन इंटरैक्शन की तारीख के हिसाब से कन्वर्ज़न की रिपोर्ट करता है. नॉन-लास्ट क्लिक एट्रिब्यूशन मॉडल, कन्वर्ज़न के क्रेडिट को अलग-अलग इंटरैक्शन के बीच बांट देता है, क्योंकि हर इंटरैक्शन का समय अलग था. इसलिए, आपकी "कैंपेन" रिपोर्टिंग में समय का अंतर बढ़ सकता है. इस वजह से, अपना एट्रिब्यूशन मॉडल बदलने के बाद आपको शुरुआत के दिनों में कन्वर्ज़न की संख्या में थोड़ी कमी दिख सकती है.
  • क्रेडिट शिफ़्ट: अपने एट्रिब्यूशन मॉडल में किसी भी तरह का बदलाव करने पर, आपको उस कन्वर्ज़न कार्रवाई का इस्तेमाल करने वाले अलग-अलग कैंपेन, नेटवर्क, विज्ञापन ग्रुप, और कीवर्ड के लिए, कन्वर्ज़न क्रेडिट में बदलाव दिख सकता है.

रिपोर्टिंग अलग-अलग कैसे होती है

यहां बताया गया है कि क्रॉस-नेटवर्क एट्रिब्यूशन रिपोर्ट बनाम "कैंपेन" पेज में कन्वर्ज़न की रिपोर्ट अलग-अलग तरीके से कैसे की जाती है:

  एट्रिब्यूशन रिपोर्ट "कैंपेन" पेज
इवेंट का समय कन्वर्ज़न का समय जिस क्लिक से कन्वर्ज़न हुआ उससे पहले वाली विज्ञापन क्वेरी का समय. (एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में, रिपोर्टिंग का समय मैच करने के लिए, "कैंपेन" पेज में "कन्वर्ज़न के समय के हिसाब से" कॉलम जोड़ें)
नेटवर्क का कवरेज Search Network, YouTube (इसमें Google वीडियो पार्टनर शामिल हैं), और Google Display Network Search Network (इसमें सर्च पार्टनर शामिल हैं), YouTube (इसमें Google वीडियो पार्टनर शामिल हैं), Google Display Network, Gmail, Google Maps
कैंपेन का कवरेज सर्च, शॉपिंग (इसमें स्मार्ट शॉपिंग कैंपेन शामिल है), वीडियो, डिसप्ले कैंपेन (इसमें कन्वर्ज़न के लिए पैसे चुकाना शामिल नहीं है) सर्च, शॉपिंग (इसमें स्मार्ट शॉपिंग कैंपेन शामिल है), वीडियो, डिसप्ले, डिस्कवरी, ऐप्लिकेशन, होटल कैंपेन
वीडियो फ़ॉर्मैट का कवरेज

विज्ञापन का क्रम, बंपर, स्किप नहीं किया जा सकने वाला इन-स्ट्रीम, स्किप किया जा सकने वाला इन-स्ट्रीम

बंपर, मास्टहेड, स्किप नहीं किया जा सकने वाला इन-स्ट्रीम, आउट-स्ट्रीम, स्किप किया जा सकने वाला इन-स्ट्रीम, वीडियो डिस्कवरी
कन्वर्ज़न का कवरेज

Google Ads कन्वर्ज़न ट्रैकिंग*, Google Analytics लक्ष्य और कन्वर्ज़न इंपोर्ट, ऑफ़लाइन कन्वर्ज़न इंपोर्ट, कॉल कन्वर्ज़न (क्लिक टू कॉल, कॉल इंपोर्ट, वेबसाइट के कॉल कन्वर्ज़न)

*ध्यान दें: YouTube वीडियो के व्यू, सिर्फ़ Google Ads की कन्वर्ज़न ट्रैकिंग का इस्तेमाल करके कैप्चर किए जाते हैं

एट्रिब्यूशन रिपोर्ट के सभी स्रोतों के साथ-साथ, ऐप्लिकेशन कन्वर्ज़न और स्टोर विज़िट कन्वर्ज़न
हिस्ट्री विंडो

एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में "कन्वर्ज़न विंडो" उसी तरह लागू होती हैं जिस तरह "कैंपेन" पेज के लिए होती हैं.

इसके अलावा, आप एट्रिब्यूशन रिपोर्ट में "लुकबैक विंडो" का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे यह तय करने में मदद मिलती है कि आप रिपोर्ट में किसी कन्वर्ज़न से कितनी देर पहले के डेटा के लिए, विज्ञापन इंटरैक्शन शामिल करना चाहते हैं. उदाहरण के लिए, हो सकता है कि आप कन्वर्ज़न की कन्वर्ज़न विंडो पर ध्यान दिए बिना, सिर्फ़ 30 दिनों के भीतर होने वाले विज्ञापन इंटरैक्शन को शामिल करना चाहें.

"मॉडल की तुलना" की रिपोर्ट में, "डिफ़ॉल्ट" लुकबैक विंडो का विकल्प भी होता है. "डिफ़ॉल्ट" विकल्प अपनी कन्वर्ज़न विंडो पर, हर कन्वर्ज़न के लिए लुकबैक विंडो सेट करता है.

हर कन्वर्ज़न कार्रवाई के लिए "कन्वर्ज़न विंडो" सेट की जाती है. इसके लिए, टूल > माप > कन्वर्ज़न में जाएं. Google Ads में कन्वर्ज़न विंडो के अंदर, पहले के विज्ञापन इंटरैक्शन के बिना होने वाला कोई भी कन्वर्ज़न नहीं गिना जाता. कन्वर्ज़न विंडो के बारे में ज़्यादा जानें.
क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके

खोजें
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू
खोज मदद केंद्र
true
73067
false