महीने के इनवॉइस की कीमतें कंट्रोल करना

जब आपको महीने के इनवॉइस से पैसे चुकाने की अनुमति मिल जाती है, तब हम आपको एक क्रेडिट लाइन असाइन करते हैं. जिसकी मदद से आप अपना रोज़ का औसत बजट तय कर सकते हैं. इस तरह, आप अपने कैंपेन के खर्च को एक तय समयावधि के लिए आसानी से बांट सकते हैं. इसे इस्तेमाल करने का तरीका यहां देखें:

उदाहरण

मान लें कि आपके Google Ads खाते में दो कैंपेन हैं और आप 30 दिन के महीने में कुल ₹7,50,000 खर्च करना चाहते हैं. यह पक्का करने के लिए कि ₹7,50,000 की रकम पूरे महीने चले, सबसे पहले तय करें कि आप हर कैंपेन के लिए कितना खर्च करना चाहते हैं. मान लें कि आप कैंपेन #1 पर ₹5,62,500 और कैंपेन #2 पर ₹1,87,500 खर्च करना चाहते हैं. हर कैंपेन का रोज़ का औसत बजट जानने के लिए, उसके लिए तय की रकम को 30 से भाग दें:

₹5,62,500 / 30 = ₹18,750

₹1,87,500 / 30 = ₹6,250

इस फ़ॉर्मूले का इस्तेमाल करके, आप कैंपेन # 1 का रोज़ का औसत बजट ₹18,750 और कैंपेन # 2 का रोज़ का औसत बजट ₹6,250 तय करेंगे.

ध्यान रखें कि अगर आप हर महीने ₹7,50,000 खर्च करना चाहते हैं और बिल के पैसे चुकाने के लिए आपके पास 30 दिन हैं, तो आपकी क्रेडिट लाइन कम से कम ₹15,00,000 होनी चाहिए. क्यों? पहला महीने बीतने पर, आप क्रेडिट लाइन के ₹7,50,000 खर्च कर चुके होंगे. इसलिए, बिल के पैसे चुकाने तक (यानी कि 30 दिन बाद), आप उस दूसरे महीने में Google पर ₹7,50,000 और खर्च कर चुके होंगे. इसलिए, आपकी क्रेडिट लाइन कम से कम ₹15,00,000 होनी चाहिए.

आपके कैंपेन का रोज़ का खर्च, औसत बजट से थोड़ा कम या ज़्यादा हो सकता है. हालांकि, किसी कैंपेन के लिए आपको सिर्फ़ उतने ही पैसे चुकाने होंगे जो उस अवधि में दिनों की संख्या को रोज़ के औसत बजट से गुणा करने पर मिलते हैं, उससे ज़्यादा नहीं. इसे ओवर डिलीवरी कहा जाता है.

अपना कैंपेन बजट सेट करते समय, ध्यान रखें कि आपकी क्रेडिट लाइन में खाते के सभी खर्च के साथ-साथ ये खर्च भी शामिल होंगे:

  • आपके खाते (खातों) के रोज़ के खर्च जिनका अब तक बिल नहीं भेजा गया है.
  • ऐसे खर्च जिनके लिए आपको इनवॉइस भेजा गया है, लेकिन आपने अब तक पैसे नहीं चुकाए हैं.
  • ऐसे खर्च जो पिछले महीने का भुगतान प्रोसेस (हमारा सिस्टम उस रकम का हिसाब लगाता है जो आपको चुकानी है) होने के दौरान आपके खाते में हुए (कई दिनों के कम से कम खर्च).

अगर आप हर दिन, रोज़ का औसत बजट खर्च नहीं करते हैं, तो महीने का खर्च आपकी उम्मीद से कम रह सकता है. इसलिए, हमेशा अपनी खर्च हो रही रकम की जांच करते रहें, ताकि जब चाहें बोली बढ़ा सकें.

आप कैंपेन पेज पर जाकर कैंपेन पर हुए खर्च का पता लगा सकते हैं. सही अवधि तय करके, तारीख की सीमा सेट करें. फिर टेबल के आखिरी कॉलम में हर कैंपेन का खर्च देखें .

मिलते-जुलते लिंक

क्या यह उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?

और मदद चाहिए?

मदद के दूसरे तरीकों के लिए साइन इन करें ताकि आपकी समस्या झटपट सुलझ सके