खोज
खोज साफ़ करें
खोज बंद करें
Google ऐप
खास मेन्यू
true

वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड के बारे में

वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड ऐसे प्रकार के संसाधन रिकॉर्ड होते हैं जिनका मिलान एक या उससे ज़्यादा उप डोमेन से होगा — अगर इन उप डोमेन के कोई भी निर्धारित संसाधन रिकॉर्ड न हों. वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड सबसे बाएं डोमेन नाम लेबल के रूप में निर्दिष्ट किए जाते हैं, जिनके लिए यहां बताए अनुसार एक एस्टरिस्क (*) उसके बाद एक डॉट (.) का उपयोग किया जाता है: *.example.com. (ध्यान रखें कि रूट डोमेन के अनुरोधों, example.com से कभी भी *.example.com वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड ट्रिगर नहीं होगा.)

वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड का उपयोग NS (नाम सर्वर) रिकॉर्ड को छोड़कर किसी भी DNS संसाधन रिकॉर्ड प्रकार के साथ किया जा सकता है.

नीचे दिए गए उदाहरण में, अगर info.example.com और support.example.com का कोई भी निर्धारित संसाधन रिकॉर्ड न हो, तो इन उप डोमेन के DNS लुकअप से mailhost1.example.com की ओर संकेत करने वाला एक MX रिकॉर्ड मिलेगा

*.example.com MX 1h 10 mailhost1.example.com.

नीचे दिए गए उदाहरण में, अगर learning.resouces.example.com और career.resources.example.com का कोई भी निर्धारित संसाधन रिकॉर्ड न हो, तो इन उप डोमेन के DNS लुकअप से mailhost2.example.com का संकेत करने वाला एक MX रिकॉर्ड मिलेगा.

*.resources.example.com MX 1h 10 mailhost2.example.com.

आप Google Domains सिंथेटिक रिकॉर्ड के लिए भी वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड बना सकते हैं.

*.example.com Forwarding 1h www.example.com
*.example.com App Engine 1h app-id

अगर ठीक से उपयोग न किया जाए, तो वाइल्डकार्ड रिकॉर्ड से अप्रत्याशित रूप से गलत परिणाम मिल सकते हैं. अधिक विस्तृत जानकारी के लिए RFC 1034 (धारा 4.3.3) और RFC 4592 देखें. अधिक उदाहरणों के लिए RFC 4592 (धारा 2.2.1) देखें.

 

क्‍या यह लेख उपयोगी था?
हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?