आप Chrome में Google की जिन सुविधाओं का इस्तेमाल करते हैं उन्हें चुनना

You can make your browsing experience better when you sync and personalize Chrome. Customize your settings to make pages open faster, autocomplete your searches, and get your Chrome info on all your devices.

सिंक करने की सेटिंग बदलना

जब आप सिंक करने की सुविधा चालू करते हैं, तो आपकी प्रोफ़ाइल की पूरी जानकारी, जैसे कि बुकमार्क, इतिहास, और पासवर्ड, आपके Google खाते में सेव हो जाती है. आप अपने सभी डिवाइस पर अपनी Chrome जानकारी देख सकते हैं.

अगर आप सब कुछ सिंक नहीं करना चाहते हैं, तो यह बदल सकते हैं कि किस जानकारी को सेव किया जाए.

  1. अपने Android डिवाइस पर Chrome ऐप्लिकेशन Chrome खोलें.
  2. सबसे ऊपर दाईं ओर, प्रोफ़ाइल प्रोफ़ाइल पर टैप करें.
  3. सिंक प्रबंधित करें पर टैप करें.
  4. "सब कुछ सिंक करें" को बंद करें.
  5. आप जिस डेटा को अपने खाते में सिंक नहीं करना चाहते उससे चुने गए का निशान हटाएं.

दूसरी Google सेवाओं के बारे में जानना

नीचे ऐसी सेवाओं की सेटिंग के बारे में जानकारी दी गई है जो आपके मनमुताबिक नहीं होतीं. इनके बारे में जानें और तय करें कि आप किन सेटिंग को रखना चाहते हैं.

  • अपने-आप पूरी होने वाली खोजें और यूआरएल: अगर Google आपका डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन है, तो Chrome वह टेक्स्ट Google को भेज सकता है जो आप पता बार में लिखते हैं. इससे Google को खोज के लिए शब्द सुझाने में मदद मिलती है. ये सुझाव मिलती-जुलती वेब खोजों, आपके ब्राउज़िंग इतिहास, और लोकप्रिय वेबसाइटों के आधार पर होते हैं.
  • किसी पेज के न मिलने पर मिलते-जुलते पेज के सुझाव दिखाएं: जब आप किसी वेबपेज पर पहुंच नहीं पाते, तब आपको उस पेज से मिलते-जुलते पेज के सुझाव मिल सकते हैं. आपको सुझाव देने के लिए Chrome, Google को उस पेज का वेब पता भेजता है जिस पर आप पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं.
  • सुरक्षित ब्राउज़िंग: जब भी Chrome को ऐसा लगेगा कि आप जिस वेबसाइट पर जा रहे हैं वह नुकसान पहुंचा सकती है, तब आपको चेतावनी मिलेगी. जब आप किसी वेबसाइट पर जाते हैं, तो Chrome उसकी जांच आपके कंप्यूटर पर सेव की गई गलत मानी जाने वाली वेबसाइटों की सूची से करता है. अगर वेबसाइट उस सूची में मौजूद किसी भी साइट से मेल खाती है, तो आपका ब्राउज़र Google को पते की एक आंशिक कॉपी भेज देता है. इससे यह पता लगाया जाता है कि कहीं आप जोखिम भरी साइट पर तो नहीं जा रहे हैं. सुरक्षित ब्राउज़िंग सुरक्षा के बारे में ज़्यादा जानें.
  • Chrome की सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद करें: Chrome समय-समय पर Google को सिस्टम की कुछ जानकारी और पेज सामग्री भेजेगा, ताकि हमें उन खतरों के बारे में पता चल सके जो आपको हो सकते हैं. Chrome यह डेटा उस समय भी भेजेगा जब आप किसी संदिग्ध साइट पर जाएंगे. इस बारे में ज़्यादा जानें कि किस डेटा से Chrome को गलत डाउनलोड ब्लॉक करने और मैलवेयर का पता लगाने में मदद मिलती है.
  • Chrome की सुविधाओं और परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाने में मदद करें: Chrome को अनुमति दें कि वह इस्तेमाल के ये आंकड़े और खराबी की रिपोर्ट अपने-आप Google को भेज सके. इससे हम ऐसी सुविधाओं और सुधारों को प्राथमिकता दे पाएंगे जिन पर हमें काम करना चाहिए. इस्तेमाल के आंकड़े और खराबी रिपोर्ट के बारे में ज़्यादा जानें.
  • खोजों और ब्राउज़िंग को बेहतर बनाएं: Google को आपकी देखी गई साइटों के बारे में, आपकी पहचान छिपाकर डेटा इकट्ठा करने की अनुमति दें. इससे हमें Chrome और आपके ब्राउज़िंग अनुभव को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी. अगर "खोजों और ब्राउज़िंग को बेहतर बनाएं" चालू है, तो Chrome के इस्तेमाल के आंकड़ों में आपके देखे गए वेब पेज और उनके इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी शामिल होती है.
  • खोजने के लिए टैप करें: जब आप Chrome में शब्दों को हाइलाइट करेंगे, तो आपको पेज पर सबसे नीचे, हाइलाइट किए गए शब्दों के बारे में खोज नतीजे दिखाई देंगे.
  • डेटा के गलत इस्तेमाल की वजह से पासवर्ड सार्वजनिक होने पर आपको चेतावनी देता है: अगर आप किसी तीसरे पक्ष की वेबसाइट या ऐप्लिकेशन पर डेटा लीक में ज़ाहिर हो चुके पासवर्ड और उपयोगकर्ता नाम का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको Chrome इसकी सूचना दे सकता है.

मिलते-जुलते विषय