अपनी निजता सेटिंग चुनना

आप निजता सेटिंग की मदद से अपने ब्राउज़िंग अनुभव को बेहतर बना सकते हैं. उदाहरण के लिए, जब आप किसी वेबपेज पर जाते हैं, तो पेज के लिंक के आधार पर पेज को अपने-आप लोड करने के लिए Chrome, वेब सेवा का इस्तेमाल कर सकता है.

इनमें से ज़्यादातर सेटिंग डिफ़ॉल्ट तौर पर चालू होती हैं. हालांकि, आप चुन सकते हैं कि आप किन्हें चालू या बंद करना चाहते हैं.

  1. अपने कंप्यूटर पर, Chrome खोलें.
  2. सबसे ऊपर दाईं ओर, ज़्यादा ज़्यादा उसके बाद सेटिंग पर क्लिक करें.
  3. "निजता और सुरक्षा" में जाकर, वे सेटिंग चुनें जिन्हें बंद करना है.
    • आप यह तय कर सकते हैं कि Chrome किसी साइट के लिए कॉन्टेंट और अनुमतियों को कैसे प्रबंधित करे. ऐसा करने के लिए साइट की सेटिंग पर क्लिक करें.
    • ब्राउज़िंग गतिविधि से अपनी जानकारी, जैसे कि ब्राउज़िंग इतिहास, कुकी या सेव किए गए पासवर्ड मिटाने के लिए, ब्राउज़िंग डेटा मिटाएं पर क्लिक करें.
    • यह तय करने के लिए कि Chrome, कुकी और ट्रैकिंग को किस तरह प्रबंधित करेगा, कुकी और साइट का अन्य डेटा पर क्लिक करें.
    • सुरक्षित ब्राउज़िंग और सुरक्षा को प्रबंधित करने के लिए, सुरक्षा पर क्लिक करें.

नीचे दी गई सूची से निजता के हर विकल्प के बारे में जानें:

  • तेज़ी से ब्राउज़ करने और खोजने के लिए पहले से लोड किए गए पेज: ब्राउज़र किसी वेबपेज को लोड करने के लिए, आईपी पते का इस्तेमाल करते हैं. जब आप किसी वेबपेज पर जाते हैं, तो Chrome पेज के उन सभी लिंक के आईपी पते खोजकर लोड कर सकता है जिन पर आप जा सकते हैं. यह सेटिंग चालू करने पर, पहले से लोड की गई वेबसाइटें और जोड़ी गई सारी सामग्री खुद की कुकी सेट कर सकती हैं. साथ ही, उन्हें इस तरह से पढ़ सकती हैं, जैसे कि आप उन वेबसाइटों पर जाकर पढ़ते हैं. भले ही, आप उन वेबसाइटों पर पहले न गए हों. 
  • अपने ब्राउज़िंग ट्रैफ़िक के साथ "नज़र न रखें" अनुरोध भेजें: आप अपने ब्राउज़िंग ट्रैफ़िक के साथ "नज़र न रखें" अनुरोध भेज सकते हैं. हालांकि, कई वेबसाइटें सुरक्षा को बेहतर बनाने, अपनी वेबसाइट पर सामग्री, सेवाएं, विज्ञापन और सुझाव उपलब्ध कराने, और रिपोर्ट बनाने से जुड़े आंकड़े जनरेट करने के लिए, आपका ब्राउज़िंग डेटा अब भी इकट्ठा करेंगी और उनका इस्तेमाल करेंगी.
  • साइटों को देखने दें कि आपने पैसे चुकाने के तरीके सेव किए हैं या नहीं: अगर आपने Chrome में पैसे चुकाने के तरीके सेव किए हैं, तो Chrome को सेव की गई जानकारी दिखाने दें, ताकि फ़ॉर्म आसानी से भरे जा सकें. फ़ॉर्म अपने-आप भरने के तरीके के बारे में ज़्यादा जानें
  • सुरक्षित ब्राउज़िंग: जब भी Chrome को ऐसा लगेगा कि आप जिस वेबसाइट पर जा रहे हैं वह नुकसान पहुंचा सकती है, तब आपको चेतावनी मिलेगी. जब आप किसी वेबसाइट पर जाते हैं, तो Chrome उसकी जांच आपके कंप्यूटर पर सेव की गई गलत मानी जाने वाली वेबसाइटों की सूची से करता है. अगर वेबसाइट उस सूची में मौजूद किसी भी साइट से मेल खाती है, तो आपका ब्राउज़र Google को पते की एक आंशिक कॉपी भेज देता है. इससे यह पता लगाया जाता है कि कहीं आप जोखिम भरी साइट पर तो नहीं जा रहे हैं. सुरक्षित ब्राउज़िंग सुरक्षा के बारे में ज़्यादा जानें.
  • वेब पर सभी के लिए सुरक्षा को बेहतर बनाने में मदद करें: Chrome समय-समय पर Google को सिस्टम की कुछ जानकारी और पेज का कॉन्टेंट भेजेगा, ताकि हमें उन खतरों के बारे में पता चल सके जो आपको हो सकते हैं. Chrome यह डेटा उस समय भी भेजेगा जब आप किसी संदिग्ध साइट पर जाएंगे. इस बारे में ज़्यादा जानें कि किस डेटा से Chrome को गलत डाउनलोड को ब्लॉक करने और मैलवेयर का पता लगाने में मदद मिलती है.
  • डेटा के गलत इस्तेमाल की वजह से पासवर्ड सार्वजनिक होने पर आपको चेतावनी देता है: अगर आप किसी तीसरे पक्ष की वेबसाइट या ऐप्लिकेशन पर डेटा लीक में ज़ाहिर हो चुके पासवर्ड और उपयोगकर्ता नाम का इस्तेमाल करते हैं, तो Chrome आपको इसकी सूचना दे सकता है.

मिलते-जुलते विषय