साइट की अनुमतियां बदलना

आप अपनी डिफ़ॉल्ट सेटिंग बदले बिना किसी साइट के लिए अनुमतियां सेट कर सकते हैं.

सभी साइटों की सेटिंग में बदलाव करना

  1. अपने कंप्यूटर पर, Chrome खोलें.
  2. सबसे ऊपर दाईं ओर, ज़्यादा और देखें इसके बाद सेटिंग पर क्लिक करें.
  3. "निजता और सुरक्षा" में जाकर, साइट की सेटिंग पर क्लिक करें.
  4. उस अनुमति को चुनें जिसे आप अपडेट करना चाहते हैं.

आप जिन साइटों पर गए हैं उन सभी पर अनुमतियां और डेटा सेव करने का तरीका बदलने के लिए, आप सभी साइटों की अनुमतियां और उनका सेव किया गया डेटा देखें को भी चुन सकते हैं. 

ऐसी अनुमतियां जिन्हें आप बदल सकते हैं
  • कुकी: आप जिन वेबसाइट पर जाते हैं उनकी बनाई गई फ़ाइलें कुकी कहलाती हैं. वे ब्राउज़िंग की जानकारी को सेव करके, आपके ऑनलाइन अनुभव को और भी आसान बना देती हैं. कुकी प्रबंधित करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • इमेज: इमेज के लिए डिफ़ॉल्ट रूप से अनुमति दी जाती है.
  • JavaScript: JavaScript से साइटों को और ज़्यादा इंटरैक्टिव बनाने में मदद मिलती है.
  • हैंडलर: Chrome, बाहरी ऐप्लिकेशन और वेब सेवाओं को कुछ लिंक खोलने की अनुमति देता है. उदाहरण के लिए, कुछ लिंक की मदद से Gmail जैसी साइट या iTunes जैसे प्रोग्राम भी खोले जा सकते हैं. अगर आपने किसी तरह के लिंक के लिए डिफ़ॉल्ट कार्रवाई सेट की है, लेकिन अब आप उसे मिटाना चाहते हैं, तो अपना ब्राउज़िंग डेटा मिटाएं और "कुकी और अन्य साइट का डेटा" को चुनें.
  • पॉप-अप: डिफ़ॉल्ट रूप से, पॉप-अप को ब्लॉक करके रखा जाता है, ताकि वे अपने-आप न दिखें. पॉप-अप प्रबंधित करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • विज्ञापन: कुछ साइटों पर तंग करने वाले विज्ञापन दिखाए जाते हैं. चुनें कि आप ऐसी साइटों पर विज्ञापन देखना चाहते हैं या नहीं.
  • जगह की जानकारी: डिफ़ॉल्ट रूप से, Chrome आपसे पूछता है कि क्या आपने किसी साइट को अपनी जगह की सटीक जानकारी देखने की अनुमति दी है. अपनी जगह की जानकारी शेयर करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • सूचनाएं: Google Calendar जैसी कुछ वेबसाइटें, आपके कंप्यूटर के डेस्कटॉप पर सूचनाएं दिखा सकती हैं. डिफ़ॉल्ट रूप से, Chrome आपसे पूछता है कि क्या कोई साइट सूचनाएं दिखा सकती है. सूचनाओं के बारे में ज़्यादा जानें.
  • माइक्रोफ़ोन: कुछ साइटें आपका कैमरा और माइक्रोफ़ोन इस्तेमाल करने के लिए अनुमति मांग सकती हैं. कैमरा और माइक्रोफ़ोन इस्तेमाल करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • कैमरा: कुछ साइटें आपका कैमरा और माइक्रोफ़ोन इस्तेमाल करने के लिए अनुमति मांग सकती हैं. कैमरा और माइक्रोफ़ोन इस्तेमाल करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • सैंडबॉक्स नहीं किए गए प्लग इन का ऐक्सेस: कुछ साइटों को प्लग इन की ज़रूरत होती है, ताकि उनकी मदद से आप वीडियो स्ट्रीम करने या सॉफ़्टवेयर इंस्टॉल करने जैसे काम कर सकें. डिफ़ॉल्ट रूप से, Chrome आपसे पूछता है कि क्या किसी साइट का प्लग इन, आपके कंप्यूटर को ऐक्सेस करने के लिए, Chrome के सैंडबॉक्स को बायपास कर सकता है.
  • अपने-आप होने वाले डाउनलोड: अगर आप किसी साइट से कई फ़ाइलें डाउनलोड करना चाहते हैं, तो चुनें कि उन्हें अपने-आप डाउनलोड करना है या नहीं.
  • एमआईडीआई डिवाइस: कुछ वेबसाइटें, एमआईडीआई (म्यूज़िकल इंस्ट्रुमेंट डिजिटल इंटरफ़ेस) वाले डिवाइस का पूरा ऐक्सेस पाने के लिए, सिस्टम एक्सक्लूज़िव (SysEx) मैसेज का इस्तेमाल करना चाहती हैं.
  • यूएसबी डिवाइस: आप किसी वेबसाइट को यूएसबी डिवाइस से कनेक्ट कर सकते हैं. इससे, वह वेबसाइट डिवाइस की जानकारी को कंट्रोल और रिकॉर्ड कर पाती है. Chrome को यूएसबी डिवाइस से जोड़ने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • बैकग्राउंड सिंक: अगर आपका कंप्यूटर कोई काम (जैसे कि चैट मैसेज या फ़ोटो अपलोड) करते समय बीच में ऑफ़लाइन हो जाता है, तो कुछ साइटें कंप्यूटर के वापस ऑनलाइन होने पर उस काम को पूरा कर सकती हैं. सिंक की प्रोसेस बैकग्राउंड में जारी रहेगी, भले ही आप वेबसाइट से चले जाएं.
  • फ़ॉन्ट: साइटें आपसे पूछ सकती हैं कि वे आपके लोकल डिवाइस पर इंस्टॉल किए गए फ़ॉन्ट इस्तेमाल कर सकती हैं या नहीं. आप ऐसी साइटों को फ़ॉन्ट इस्तेमाल करने से रोक सकते हैं या उन्हें इसकी अनुमति दे सकते हैं.
  • ज़ूम का लेवल: कुछ साइटों में, आप अपने लिए ज़ूम का लेवल तय कर सकते हैं. ज़ूम इन या ज़ूम आउट करने के बारे में ज़्यादा जानें.
  • पीडीएफ़ दस्तावेज़: डिफ़ॉल्ट रूप से, Chrome, पीडीएफ़ दस्तावेज़ों को 'Chrome पीडीएफ़ व्यूअर' से खोलता है. पीडीएफ़ दस्तावेज़ों को खोलने के बजाय डाउनलोड करने के लिए, Chrome में पीडीएफ़ फ़ाइलें अपने-आप खोलने के बजाय उन्हें डाउनलोड करें को चालू करें.
  • सुरक्षित कॉन्टेंट: Chrome को सुरक्षित कॉन्टेंट चलाने देने का विकल्प चुनें. साथ ही, Windows या Chromebook पर, साइटों को आपके डिवाइस से जुड़ी ज़रूरी जानकारी देखने देने का विकल्प भी चुनें. सुरक्षित कॉन्टेंट के बारे में ज़्यादा जानें.
  • मोशन सेंसर जोड़ना
  • सैंडबॉक्स नहीं किए गए प्लग इन का ऐक्सेस
  • सीरियल पोर्ट
  • फ़ाइल में बदलाव करना
  • क्लिपबोर्ड
  • पेमेंट हैंडलर
  • ऑगमेंटेड रिएलिटी (एआर)
  • वर्चुअल रियलिटी
  • असुरक्षित कॉन्टेंट
  • इमेज

किसी साइट की सेटिंग में बदलाव करना

आप किसी साइट के लिए अनुमतियां दे सकते हैं या अनुमतियों को रोक सकते हैं. साइट, डिफ़ॉल्ट सेटिंग के बजाय अपनी सेटिंग इस्तेमाल करेगी. आप किसी साइट से जुड़ा डेटा मिटा भी सकते हैं.

  1. अपने कंप्यूटर पर, Chrome खोलें.
  2. किसी वेबसाइट पर जाएं.
  3. वेब पते की बाईं ओर दिखने वाले आइकॉन पर क्लिक करें: लॉक लॉक, जानकारी साइट की जानकारी देखें या खतरनाक खतरनाक.
  4. साइट की सेटिंग पर क्लिक करें.
  5. अनुमति की सेटिंग में बदलाव करें. आपके बदलाव अपने-आप सेव हो जाएंगे.

मिलते-जुलते लेख