[GA4] रिपोर्टिंग आइडेंटिटी

जानें कि Google Analytics सभी डिवाइस और प्लैटफ़ॉर्म पर उपयोगकर्ताओं की गिनती कैसे करता है.

कोई ग्राहक अलग-अलग डिवाइसों और प्लैटफ़ॉर्म का इस्तेमाल करके, अक्सर आपके कारोबार से इंटरैक्ट करता है. उदाहरण के लिए, ऐसा हो सकता है कि कोई व्यक्ति नाश्ते के समय, Pixel Tablet पर आपके प्रॉडक्ट ब्राउज़ करे. इसके बाद, लंच के समय अपने ऑफ़िस के कंप्यूटर पर आपके प्रॉडक्ट के बारे में ज़्यादा जानकारी इकट्ठा करे और फिर रात के खाने के बाद, अपने iPhone से प्रॉडक्ट खरीदे. हालांकि, इनमें से हर गतिविधि एक अलग सेशन है, लेकिन इन तरीकों का इस्तेमाल करके, Google Analytics 4 उन्हें आपस में जोड़कर एक ही क्रॉस-डिवाइस उपयोगकर्ता गतिविधि बना सकता है:

  • User-ID
  • उपयोगकर्ता से मिला डेटा
  • डिवाइस आईडी
  • मॉडलिंग

Analytics, किसी आइडेंटिटी से जुड़े सभी डेटा के लिए, एक उपयोगकर्ता गतिविधि बनाता है. इन आइडेंटिटी स्पेस का इस्तेमाल सभी रिपोर्ट में किया जाता है. इससे, उपयोगकर्ताओं का डेटा डुप्लीकेट होने से रोका जा सकता है. साथ ही, अपने कारोबार के साथ उनके जुड़ाव के बारे में ज़्यादा बारीकी से पता लगाया जा सकता है.

आइडेंटिटी स्पेस

ऊपर बताए गए आइडेंटिफ़ायर को आइडेंटिटी स्पेस कहा जाता है और आपकी Analytics प्रॉपर्टी के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले आइडेंटिटी स्पेस को रिपोर्टिंग आइडेंटिटी कहा जाता है.

User-ID

साइन इन करने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए, खुद के इस्तेमाल के मकसद से स्थायी आईडी बनाए जा सकते हैं. इन आईडी का इस्तेमाल, अलग-अलग डिवाइसों पर उपयोगकर्ता की गतिविधियों को मेज़र करने के लिए किया जा सकता है. इस आइडेंटिटी स्पेस का इस्तेमाल करने के लिए, आपको अपने उपयोगकर्ताओं को लगातार आईडी असाइन करना होगा. साथ ही, आईडी के साथ Analytics को भेजा जाने वाला डेटा भी शामिल करना होगा. User-ID सबसे सटीक आइडेंटिटी स्पेस है, क्योंकि यह उस डेटा का इस्तेमाल करता है जिसे उपयोगकर्ताओं की पहचान के लिए इकट्ठा किया जाता है.

User-ID इस्तेमाल करने का तरीका जानें.

उपयोगकर्ता से मिला डेटा

अगर आपने Google Analytics को भेजे जाने वाले डेटा के साथ, यूज़र आईडी के बिना उपयोगकर्ता से मिला डेटा (हैश किया गया, सहमति वाला निजी डेटा) इकट्ठा किया है, तो User-ID आइडेंटिटी स्पेस में, उपयोगकर्ता से मिले डेटा को आइडेंटिफ़ायर के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है. ऐसा होने पर, हर सेशन के लिए Analytics, उपयोगकर्ता से मिले डेटा को इस क्रम में रखेगा: ईमेल, फ़ोन नंबर, नाम, और पता.

उपयोगकर्ता से मिले डेटा को इकट्ठा करने की सुविधा के बारे में ज़्यादा जानें.

डिवाइस आईडी

Analytics, डिवाइस आईडी का इस्तेमाल आइडेंटिटी स्पेस के तौर पर भी कर सकता है. वेबसाइटों पर, डिवाइस आईडी की वैल्यू Client-ID से हासिल होती है. ऐप्लिकेशन पर, डिवाइस आईडी ही ऐप्लिकेशन-इंस्टेंस आईडी होता है.

मॉडलिंग

जब उपयोगकर्ता, कुकी जैसे Analytics आइडेंटिफ़ायर को अस्वीकार करते हैं, तब उन उपयोगकर्ताओं के व्यवहार से जुड़ा डेटा उपलब्ध नहीं होता. Analytics इस कमी को दूर करने के मकसद से, उसी प्रॉपर्टी के लिए कुकी को सहमति देने वाले ऐसे ही उपयोगकर्ताओं के डेटा का इस्तेमाल करता है, ताकि कुकी को अस्वीकार करने वाले उपयोगकर्ताओं के व्यवहार का मॉडल बनाया जा सके. ज़्यादा जानें

Analytics, रिपोर्टिंग आइडेंटिटी कैसे तय करता है

Analytics, आपकी रिपोर्टिंग आइडेंटिटी को इस आधार पर तय करता है कि आपको कौनसे आइडेंटिटी स्पेस इकट्ठा करने हैं. साथ ही, आपने किन स्पेस को नीचे दिए गए विकल्पों के ज़रिए उपलब्ध कराया है.

रिपोर्टिंग आइडेंटिटी के विकल्प

  • ब्लेंड किए जाने के आधार पर: User-ID से, डिवाइस आईडी से, फिर मॉडलिंग से. अगर यूज़र आईडी इकट्ठा किया गया है, तो उसी का इस्तेमाल किया जाता है. अगर User-ID की जानकारी उपलब्ध नहीं है, तो Analytics, डिवाइस आईडी का इस्तेमाल करता है. अगर कोई आइडेंटिफ़ायर उपलब्ध नहीं है, तो Analytics, मॉडलिंग का इस्तेमाल करता है.
  • देखे जाने के आधार पर: User-ID से, फिर डिवाइस आईडी से. अगर यूज़र आईडी इकट्ठा किया गया है, तो उसी का इस्तेमाल किया जाता है. अगर User-ID की जानकारी उपलब्ध नहीं है, तो Analytics, डिवाइस आईडी का इस्तेमाल करता है.
  • डिवाइस के आधार पर: रिपोर्टिंग आइडेंटिटी का यह विकल्प, सिर्फ़ डिवाइस आईडी का इस्तेमाल करता है और इकट्ठा किए गए अन्य सभी आईडी को अनदेखा करता है.

पहले दो विकल्पों का पूरा फ़ायदा पाने के लिए, आपको यूज़र आईडी इकट्ठा करने होंगे. इसके अलावा, आपकी वेबसाइट या ऐप्लिकेशन में साइन-इन किए हुए उपयोगकर्ताओं की इतनी गतिविधि शामिल होनी चाहिए कि उनकी पहचान छिपाई जा सके. इस वजह से आपकी रिपोर्ट, डेटा थ्रेशोल्ड के मुताबिक होती हैं.

ध्यान दें: आपके चुने गए विकल्प से, डेटा इकट्ठा करने या उसे प्रोसेस करने के तरीके पर असर नहीं पड़ता. डेटा पर कोई स्थायी असर डाले बिना, किसी भी समय एक विकल्प की जगह दूसरा विकल्प चुना जा सकता है.

अपनी प्रॉपर्टी के लिए, रिपोर्टिंग आइडेंटिटी सेट करना

  1. एडमिन पेज पर, डेटा डिसप्ले में जाकर, रिपोर्टिंग आइडेंटिटी पर क्लिक करें.
  2. वह रिपोर्टिंग आइडेंटिटी चुनें जिसका इस्तेमाल करना है.
  3. सेव करें पर क्लिक करें.

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
false
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू