आपत्तिजनक कॉन्टेंट से जुड़ी नीति में अपडेट (फ़रवरी 2024)

Google के सहायता केंद्र में दिए गए लेख, कई भाषाओं में अनुवाद किए गए हैं. हालांकि, अनुवाद की वजह से कॉन्टेंट से जुड़ी नीतियों में कोई बदलाव नहीं होता. नीतियों को लागू करने के लिए, आधिकारिक भाषा के तौर पर हम अंग्रेज़ी का इस्तेमाल करते हैं. इस लेख को किसी दूसरी भाषा में देखने के लिए, पेज के सबसे नीचे मौजूद भाषा के ड्रॉपडाउन मेन्यू का इस्तेमाल करें.

Google, फ़रवरी 2024 में आपत्तिजनक कॉन्टेंट से जुड़ी नीति को अपडेट करेगा. ऐसा संवेदनशील घटनाओं या स्थितियों की परिभाषा को ज़्यादा बेहतर तरीके से समझाने के लिए किया जा रहा है.

अचानक होने वाली किसी घटना या स्थिति को "संवेदनशील घटना या स्थिति" कहते हैं. इसकी वजह से Google लोगों को अच्छी क्वालिटी, काम की, और सटीक जानकारी नहीं दे पाता. साथ ही, Google की अहम और कमाई करने वाली सुविधाओं को असंवेदनशील और शोषण की गतिविधि वाले कॉन्टेंट से बचाने में भी समस्या आ सकती है. किसी संवेदनशील घटना या स्थिति के दौरान, हम इन खतरों को कम करने के लिए कई तरह की कार्रवाइयां कर सकते हैं.

संवेदनशील घटनाओं या स्थितियों में, सामाजिक, सांस्कृतिक या राजनैतिक तौर पर गहरा असर डालने वाली घटनाएं शामिल हैं. जैसे- आम लोगों के लिए लगाया गया आपातकाल, प्राकृतिक आपदाएं, लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ी आपातकालीन स्थिति, आतंकवाद और इससे जुड़ी गतिविधियां, संघर्ष या बड़े पैमाने पर हिंसा

हम इनकी अनुमति नहीं देते (इस सूची में पूरी जानकारी नहीं है:

  • संवेदनशील घटना या स्थिति का फ़ायदा उठाने, उसे खारिज करने या उनकी अनदेखी करने वाली सेवाएं या प्रॉडक्ट. जैसे- प्रॉडक्ट या सेवाओं की कीमतों को बढ़ाना या कीमत को ज़बरदस्ती इतना बढ़ा देना कि लोग ज़रूरी चीज़ों को ज़रूरत के हिसाब से न खरीद पाएं या बिलकुल न खरीद पाएं; ऐसे प्रॉडक्ट या सेवाओं की बिक्री करना जिनकी सप्लाई, संवेदनशील घटना के दौरान मांग के मुताबिक न हो
  • किसी संवेदनशील घटना या स्थिति से जुड़े कीवर्ड का इस्तेमाल करके, ज़्यादा ट्रैफ़िक पाने की कोशिश करना
  • ऐसे दावे जो किसी संवेदनशील घटना के दौरान पीड़ितों के साथ हुए हादसे के लिए उन्हें ही ज़िम्मेदार बताते हों या इस तरह के मामलों के लिए, पीड़ितों पर ही आरोप लगाते हों. वे दावे जिनमें यह कहा गया हो कि किसी संवेदनशील घटना के पीड़ित लोग, किसी भी तरह की राहत या मदद के हकदार नहीं हैं. वे दावे जिनमें यह कहा गया हो कि दुनिया भर में आई किसी स्वास्थ्य समस्या के लिए, कुछ खास देशों के पीड़ित ही ज़िम्मेदार हैं या इस समस्या का उन देशों में होना स्वाभाविक है

(9 जनवरी, 2024 की पोस्ट)

क्या यह उपयोगी था?

हम उसे किस तरह बेहतर बना सकते हैं?
true
खोजें
खोज हटाएं
खोज बंद करें
Google ऐप
मुख्य मेन्यू